POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: Review

Blogger: Sanjay Grover at Pre-Mortem फ़िल्म, सम...
फ़िल्म की शुरुआत में रश्मि शर्मा फ़िल्म्स् का लोगो/मोनोग्राम दिखाई देता है जिसमें एक मर्द, चेहरा देखनेवालों के सामने किए, बांसुरी बजा रह़ा है। सर में मोरपंख लगा है। साथ में एक स्त्री है जिसका साइड पोज़ दिखाया गया है, बल्कि उसकी पीठ दर्शकों की तरफ़ है, स्त्री भयभीत मालूम होत... Read more
clicks 307 View   Vote 0 Like   3:53pm 18 Sep 2016 #review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
अभी ज्यादा दिन नहीं हुए जब हमारा देश आजाद हुआ। इस आजादी को हासिल करने में देश वासियों ने किस प्रकार अपना खून-पसीना एक किया और किस प्रकार बच्चों से लेकर बड़ों तक ने अपनी कुर्बानी दी, यह बात वे ही लोग... [This is post summary, please read the full article on our site.]... Read more
clicks 232 View   Vote 0 Like   2:16am 15 Mar 2015 #review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
बाल कहानी: नई चुनौतियाँ नए मानदण्ड, संदर्भ उषा यादवएक सामान्य व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में दसियों तरह के कार्य सम्पादित करता है। उनमें से ज्यादातर काम एक रूटीन वर्क की तरह होते हैं। जैसे नहाना–धोना, खाना–पीना, दैनिक काम पर जाना आदि इत्यादि। ये काम इतने सामान्य होते है... Read more
clicks 318 View   Vote 0 Like   2:04pm 4 Oct 2014 #review
Blogger: pankaj kumar at Behtarlife.com बेहतर ल...
When I was surfing the Internet, I found a new website Collegedunia.com. Its name explains everything i.e. the World of Colleges. Here you can find detailed information of almost all types of courses/streams/colleges/Universities at one place. Now It makes me more eager to know more about it, so I click About Us of the Collegedunia.com web page. It says: Collegedunia.com is completely owned by ... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   11:05am 21 Sep 2014 #Review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
यह कहना शायद अतिश्‍योक्ति न होगी कि हिन्‍दी में बालसाहित्‍य को आज जो मुकाम हासिल है, वह उसे कदापि न प्राप्‍त होता, यदि उसे हरिकृष्‍ण देवसरेजैसा साहित्‍यकार न हासिल हुआ होता। हिन्‍दी बाल साहित्‍य के भंडार को भरने, हिन्‍दी ही नहीं भारतीय भाषाओं की स्‍तरीय रचनाओं को सा... Read more
clicks 377 View   Vote 0 Like   5:02am 14 Sep 2014 #review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
बाल साहित्य में ज़मीन से जुड़े पात्रों और विशेषकर अति दुर्बल वर्ग के बच्चों को आधार बनाकर शानदार कहानियां रचने वाले कथाकार श्री यादराम रसेन्द्र का लम्बी बीमारी के बाद 68 वर्ष की अवस्था में रविवार 24 अगस्त को निधन हो गया। श्री रसेन्द्र का जन्म 14 जुलाई, 1946 को अलवर, राजस्थ... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   3:24pm 26 Aug 2014 #review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
बाल साहित्य में ज़मीन से जुड़े पात्रों और विशेषकर अति दुर्बल वर्ग के बच्चों को आधार बनाकर शानदार कहानियां रचने वाले कथाकार श्री यादराम रसेन्द्र का लम्बी बीमारी के बाद 68 वर्ष की अवस्था में रविवार 24 अगस्त को निधन हो गया। श्री रसेन्द्र का जन्म 14 जुलाई, 1946 को अलवर, राजस्थ... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   3:24pm 26 Aug 2014 #review
Blogger: ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ at हिंदी वर्ल्ड ...
रवींद्रनाथ ठाकुर का नाम सुनते ही सहसा ‘गीतांजलि’ का ध्यान आता है और उनकी नोबेल पुरस्कार विजेता वाली विश्व कवि की छवि कौंध उठती है। पर ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि वे एक कुशल बाल साहित्यकार भी थे। उन्होंने कविता, कहानी, नाटक, पत्रलेखन, आत्मकथा आदि विभि‍न्न विधाओं में ... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   12:03pm 4 Aug 2014 #review
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at Iklan Hape dan Tablet...
यूसी ब्राउज़र का नया संस्करण (Version) यूसी ब्राउज़र 9.5 (U C Browser 9.5) पहले से भी तेज़ वेब सर्फिंग (Web Surfing) का नया अनुभव दे रहा है हमें। यूसी ब्राउज़र का ये संस्करण पूर्ण रूप से एक मोबाइल ब्राउज़र (Mobile Browser)है। यूसी ब्राउज़र 9.5 अलग अलग नेटवर्क कनेक्शन (Network Connection) के तहत इंटरनेट स्पीड (Internet Speed) को अपने ब्र... Read more
clicks 328 View   Vote 0 Like   4:21pm 9 Feb 2014 #Review
Blogger: Rajesh kumari at HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR...
खाकी  में इंसानमैंनेउसकोवक़्तकेथपेड़ोंतीव्रहवाओंकेझोंकोंमेंभीजलतेदेखाउसेपथरीलीराहोंमेंऔरकाँटोंपरचलतेदेखागर्दकेगुबारसेढकेआवरणकोचीरकरचमकतेदेखासागरके धरातलकोछूकर उबरतेदेखामौतकेखूनीपंजोसेजीतकरनिकलतेदेखाउसकीबातोंमेंआत्मविश्वासउसकीआँखोंमें सच... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   6:02am 6 Aug 2012 #review
Blogger: विवेक रस्तोगी at कल्पनाओं का व...
फ़िल्म जिस्म २ देखी, यह फ़िल्म देहप्रदर्शन के साथ ही संपूर्ण देह के प्रेम प्रदर्शन का अच्छा अक्स दिखाती है। जिसमें बताया गया है कि मन तो नफ़रत कर सकता है, परंतु जिस्म का क्या करें उसकी जरूरतें अपनी हैं और उस जिस्म की जरूरतें वहीं पूरी कर सकता है जो उस जिस्म को समझ सकता है।जि... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   3:19pm 5 Aug 2012 #Review
Blogger: डॉ.अरविन्द मिश्र at Science Fiction in India...
अभी हाल में ही यह कृति मुझे पढने के लिए मिली थी .यह पुस्तक बहुत ही भरोसेमंद तरीके से यह बताती है कि मौजूदा कितनी ही जुगतें, मशीनों के बारे में हमारे पुरखों ने सोचा था मगर चूंकि  तब  सटीक टेक्नोलोजी नहीं सुलभ थी इसलिए उनकी सोच बस महज कल्पनात्मक  पौराणिक कहानियों के धरोहर ... Read more
clicks 288 View   Vote 0 Like   3:23am 28 Mar 2012 #Review
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194060)