POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: History

Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर, सन् 1835 ई. को काशी के पुण्य व पवित्र क्षेत्र असीघाट, वाराणसी में हुआ था। इनके पिता का नाम मोरोपंत तांबे और माता का नाम भागीरथी बाई था। माता भागीरथी बाई सुशील, चतुर और रूपवती महिला थीं। लक्ष्मीबाई का बचपन का नाम 'मणिकर्णिका'रखा गया परन्तु प... Read more
clicks 8 View   Vote 0 Like   5:30pm 19 Nov 2020 #History
Blogger: SAURABH at यायावरी yayavaree...
 विरासत और कला का अनूठा संगम है माहेश्‍वरी साड़ीमध्‍य प्रदेश में इंदौर से तकरीबन 95किलोमीटर दूर मौजूद महेश्‍वरन केवल नर्मदा तट पर मौजूद अपने एतिहासिक शिव मंदिर के कारण विख्‍यात है बल्कि अपनी माहेश्‍वरी साड़ियों से भी हैंडलूम की साडियों के कद्रदानों को लुभाता रहा ह... Read more
clicks 59 View   Vote 0 Like   5:39am 27 Aug 2020 #History
Blogger: Mukund Keshoraiya at मंथन...
Rig Veda 5.40.5,5.40.9यत् त्वा सूर्य स्वर्भानुस्तमसाविध्यदासुर∶Ι     अक्षेत्रविद् यथा मुग्धो भुवनान्यदीधयुःΙΙ5ΙΙयं वै सूर्यं स्वर्भानुस्तमसाविध्यदासुर∶Ιअत्रयस्तमन्वविन्दन् नह्यन्ये अशक्नुवन्ΙΙ9ΙΙ"हे सूर्य! जब आप किसी एक ऐसे से अवरुद्ध हो जाते हैं, जिसे आपने अपना प्रकाश उ... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   5:23am 21 Jun 2020 #History
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
आज चलते हैं 'पद्मावत' से चर्चित महान रचनाकार मलिक मोहम्मद जायसी के गाँव जायस में | आज उस महान रचनाकार मलिक मोहम्मद जायसी के जन्मस्थान जायस में जा पहुंचा जिसकी रचना 'पद्मावत'  के नाम पे सौ दो सौ करोड़ की फिल्म तो बन जाती है लेकिन जन्मस्थल बदहाल ही रहा | उत्तर प्रदेश के अम... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   8:25am 29 Feb 2020 #history
Blogger: Bharat Bhushan at MEGHnet...
इंसानी स्वभाव है कि वो जब चीज़ों का अध्ययन करता है तो सहूलियत के लिए उसे हिस्सों में बांट लेता है. जातियों के विभाजन के मुख्य आधार कई हैं जैसे नाम, रूप, रंग, व्यसाय और उससे जुड़ी वस्तुएँ, ध्वनियाँ, भौगोलिक स्थिति, आसपास उपलब्ध चीज़ें, जीव, पेड़, नदी, पहाड़, सामाजिक-राजनीतिक... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   3:24pm 18 Nov 2019 #History
Blogger:  at Barmer news track...
सिवाना दुर्ग का इतिहास। Fort sivana history।। BarmernewstrackAdd capसिवाना दुर्ग का इतिहास। Fort sivana history।। Barmernewstracktionसिवाना दुर्गसिवाना बाड़मेरसे 104 किलोमीटर तथा बालोतरा से 36 किलोमीटर दूर स्थित है दुर्ग पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर जिले का एकमात्र ऐतिहासिक दुर्गे है सिवाना दुर्ग का निर्माण 10 वीं शत... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   8:57am 20 Oct 2019 #history
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
पिंगली वेंकैया  (Pingali Venkayya / Venkaiah) का जन्म आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के भटलापेनुमरु (अब मचलीपट्टनम) गांव में रहने वाले हनुमंथा रायडू और वेंकट रत्नम्मा के घर 2 अगस्त, सन् 1876 ई. को हुआ था। आज इस जगह को मचलीपट्टनम के नाम से जाना जाता है। वेंकैया तेलुगु ब्राह्मण परिवार के थ... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   2:53pm 2 Aug 2019 #History
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
आज ही के दिन 29 जुलाई, 2015 ई. को  माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 10 (Windows 10) को लांच किया था। विंडोज 10 संस्करण में विंडोज 7, 8 और 8.1 की खूबियों के साथ कुछ अन्य सुविधाएं भी जोड़ी गई थी। यह मैप्स, मेल, कैलेंडर, फोटोज, म्यूजिक, टीवी जैसे ऐप्स से लैस है। एक साथ कई कार्य कर... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   5:00pm 29 Jul 2019 #History
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा की स्थापना | American Space Agency NASA 29 जुलाई, 1958 ई. में आज ही के दिन अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति ड्वाइट डेविड आइज़नहावर ने 'नेशनल ऐरोनॉटिक्स एंड स्पेस एक्ट'पारित करके नासा का गठन किया था। नासा (NASA) का पूरा नाम 'नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्र... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   4:54pm 29 Jul 2019 #History
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास अपने आप में ना जाने कितने रहस्यों को अपने में छुपाय  हुए है जिसकी गहराई में जितना उतरते जाओ उतना ही रहस्यमय यह जौनपुर शहर लगने लगता है |  बोद्ध धर्म भारत में लगभग १२०० वर्षों तक प्रचलित रहा | शुरू के दौर में तो इस बोद्ध धर्म का यह रूप था की उनके अनुयायी ... Read more
clicks 351 View   Vote 0 Like   6:05pm 10 Jun 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
मस्जिद हकीम मुहम्मद कोहॉल  -- आज की शिया जामा मस्जिद (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह मस्जिद शाही पुल के उत्तरी किनारे पे नवाब वजीर के बाग के भीतर स्थित है  हकीम मुहम्मद कोहाल अकबर बादशाह के जमाने मे नेत्र चिकित्सक नियुक्त किये गये थे क्यू की आप उस समय के उच्च कोटी के हकीमो मे ... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   2:40am 1 Jun 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
मस्जिद हकीम मुहम्मद कोहॉल  -- आज की शिया जामा मस्जिद (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह मस्जिद शाही पुल के उत्तरी किनारे पे नवाब वजीर के बाग के भीतर स्थित है  हकीम मुहम्मद कोहाल अकबर बादशाह के जमाने मे नेत्र चिकित्सक नियुक्त किये गये थे क्यू की आप उस समय के उच्च कोटी के हकीमो मे ... Read more
clicks 262 View   Vote 0 Like   2:40am 1 Jun 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
मस्जिद हकीम मुहम्मद कोहॉल  -- आज की शिया जामा मस्जिद (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह मस्जिद शाही पुल के उत्तरी किनारे पे नवाब वजीर के बाग के भीतर स्थित है  हकीम मुहम्मद कोहाल अकबर बादशाह के जमाने मे नेत्र चिकित्सक नियुक्त किये गये थे क्यू की आप उस समय के उच्च कोटी के हकीमो मे ... Read more
clicks 340 View   Vote 0 Like   2:40am 1 Jun 2019 #history
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
भगवान परशुराम को भगवान विष्णु के दशावतारों में छठा स्थान और चौबीस अवतारों में 18वां स्थान प्राप्त है। परशुराम का अवतरण (जन्म) वैशाख शुक्ल तृतीया को हुआ था। राजा प्रसेनजीत की सुपुत्री रेणुका और भृगुवंशीय महर्षि जमदग्नि के पांच पुत्रों में सबसे छोटे परशुराम हैं, उन्हे... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   2:57pm 7 May 2019 #History
Blogger: Bharat Bhushan at MEGHnet...
कहा जाता है कि पहले धर्म विकसित होता है और दर्शन यानी फ़लसफ़ा बाद में. यही बात इतिहास के दर्शन पर भी लागू होती है. पहले इतिहास अस्तित्व में आता है और बाद में उसकी विशेषताओं या दोषों के आधार पर उसका फ़लसफ़ा लिखा जाता है. साधारण शब्दों में कहें तो इतिहासकारों द्वारा लिखी ग... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   1:59pm 13 Apr 2019 #History
Blogger: SAURABH at यायावरी yayavaree...
अमृतसर के नज़दीक अटारी-वाघा बॉर्डर की रिट्रीट सेरेमनी को देखना हिंदुस्‍तान के कुछ चुनिंदा और अनूठे अनुभवों में से एक है. दुनिया में शायद ही किन्‍हीं और दो देशों की सरहद पर इस तरह के जोश और जुनून से लबरेज़ रिट्रीट कार्यक्रम होता होगा जहां न केवल सीमा पर तैनात फौजी अपने-... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   11:23am 11 Apr 2019 #History
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
इलाहाबाद के खुशरो बाग का निर्माण मुगल शासक जहांगीर ने कराया था । जहांगीर के पुत्र खुशरो के नाम पर इस बाग का नाम रखा गया है। कई किलो मीटर में फैले इस बाग में मुगल निर्माण कला का शानदार नमूना देखने को मिलता है। यहां चारो ओर फैली हरियाली मकबरे की खूबसूरती में चार चांद लगात... Read more
clicks 233 View   Vote 0 Like   5:24pm 4 Mar 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
इलाहाबाद के खुशरो बाग का निर्माण मुगल शासक जहांगीर ने कराया था । जहांगीर के पुत्र खुशरो के नाम पर इस बाग का नाम रखा गया है। कई किलो मीटर में फैले इस बाग में मुगल निर्माण कला का शानदार नमूना देखने को मिलता है। यहां चारो ओर फैली हरियाली मकबरे की खूबसूरती में चार चांद लगात... Read more
clicks 254 View   Vote 0 Like   5:24pm 4 Mar 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
इलाहाबाद के खुशरो बाग का निर्माण मुगल शासक जहांगीर ने कराया था । जहांगीर के पुत्र खुशरो के नाम पर इस बाग का नाम रखा गया है। कई किलो मीटर में फैले इस बाग में मुगल निर्माण कला का शानदार नमूना देखने को मिलता है। यहां चारो ओर फैली हरियाली मकबरे की खूबसूरती में चार चांद लगात... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   5:24pm 4 Mar 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
सय्यिद नसीरुद्दीन ने जो चिराग़ ऐ दिल्ली के नाम से भी जाने जाते हैं एक ख्वाब देखा की हजरत मुहम्मद (स.अ.व) आये हैं और उनसे कह रहे है कि सय्यिद बरे नाम के शख्स को अपनी शागिर्दी में ले लो और उसे अपने ज्ञान से मालामाल करो |सय्यिद नसीरुद्दीन ने अपने दिल्ली में तलाशा तो उन्हें तीन... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   12:21pm 10 Jan 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
सय्यिद नसीरुद्दीन ने जो चिराग़ ऐ दिल्ली के नाम से भी जाने जाते हैं एक ख्वाब देखा की हजरत मुहम्मद (स.अ.व) आये हैं और उनसे कह रहे है कि सय्यिद बरे नाम के शख्स को अपनी शागिर्दी में ले लो और उसे अपने ज्ञान से मालामाल करो |सय्यिद नसीरुद्दीन ने अपने दिल्ली में तलाशा तो उन्हें तीन... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   12:21pm 10 Jan 2019 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर मे आपको मुगल समय के बहुत से बडे बडे इमामबाडे देखने को मिलेगे जिनमेसे एक है जौनपुर से 21 किलोमीटर की दुरी पे बना इमाम पुर का मश हूर इमामबाडा जहा  लोगो की मुरादे बहुत पुरी होती है | यह इमामबाडा कर्बला में मौजूद इमाम हुसैन (अ.स) के रौज़े की नकल है आपको आज भी बेहतरीन हा... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   5:55pm 12 Dec 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर मे आपको मुगल समय के बहुत से बडे बडे इमामबाडे देखने को मिलेगे जिनमेसे एक है जौनपुर से 21 किलोमीटर की दुरी पे बना इमाम पुर का मश हूर इमामबाडा जहा  लोगो की मुरादे बहुत पुरी होती है | यह इमामबाडा कर्बला में मौजूद इमाम हुसैन (अ.स) के रौज़े की नकल है आपको आज भी बेहतरीन हा... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   5:55pm 12 Dec 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
आदि गंगा गोमती के पावन तट पर बसा जौनपुर भारत के इतिहास में अपना विशेष स्थान रखता है। यह शहर कभी बौध धर्म का केन्द्र रहा था और जब उजड़ा तो एक बार फिर से शर्कीकाल में समृध्दशाली राजवंश ने इसे सजाया और जौनपुर को अपनी राजधानी बनाकर इसकी सीमा दूर दूर तक फैलाया। ऋषि-मुनियो ने त... Read more
clicks 385 View   Vote 0 Like   3:01pm 20 Nov 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
झंझरी  मस्जिद पे लिखी इबारत सुलेख की बेहतरीन मिसाल अकबर बादशाह के समय में सुलेख कला का प्रचलन सबसे अधिक था जो अंग्रेज़ों की हुकूमत के आते आते ख़त्म सा होने लगा । जौनपुर में शर्क़ी समय या मुग़ल समय की इमारतों में इस कला की सुंदरता आज भी देखने को मिल जाय करती है ।लाल दरवाज़ा... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   7:08am 27 Sep 2018 #history
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194473)