POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: समय

Blogger: प्रमोद जोशी at जिज्ञासा...
एक मोटा अनुमान है कि देश में करीब 12 करोड़ प्रवासी मजदूर काम करते हैं. ये सारे मजदूर किसी रोज तय करें कि उन्हें अपने घर वापस जाना चाहिए, तो अनुमान लगाएं कि उन्हें कितना समय लगेगा. हाल में जो रेलगाड़ियाँ चलाई गई हैं, उनमें एकबार में 1200 लोग जाते हैं. ऐसी एक हजार गाड़ियाँ हर रोज... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   1:07pm 19 May 2020 #समय
Blogger: jyoti dehliwal at आपकी सहेली ज्...
ज्यादा मूल्यवान क्या हैं, जिंदगी या समय? मुझे पूरा विश्वास हैं कि आप कहेंगे कि जिंदगी ज्यादा मूल्यवान हैं। जिंदगी रहीं तो ही समय का उपयोग कर पायेंगे! यदि जिंदगी ही नहीं बची तो समय का क्या करेंगे? लेकिन दोस्तों, कई बातों की तरह इस मामले में भी हमारी कथनी और करनी में फर्क ह... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   3:16am 1 Jun 2018 #समय
Blogger: Sumit at मेरी दुनिया.. ...
ज़िन्दगी की दुकान पर हम सबकी उधारी है,चलती हुई सांसो का उधार, बहुत भारी है॥ज़िन्दगी है कभी बहार, तो कभी पतझङ भी है,कभी फूल की पत्ती है, तो कभी चिँगारी है॥हमेशा खुद की ही राहों में, ज़िन्दगी गुजारी है,अब तो धुप भी हमारी है, छाव भी हमारी है॥इन मासूम और सीधे चहरो पर, ऐतबार मत ... Read more
clicks 363 View   Vote 0 Like   7:00am 23 Oct 2013 #समय
Blogger: विजय राज बली माथुर at पूनम वाणी ...
 (1 )बात  है :परसों की है बातबना रही थी रोटी सातकलम और कागज की है बात  चकले  और बेलन की है बात न कागज था न दवात आ रहे थे मन में खयालात चूल्हे पर सेंक रही थी रोटी कभी चकले पर रोटी कभी तवे पर रोटी ख्याल आ -जा रहे थे जैसे पकने और जलने जैसे हाथ का काम कलम से भी था ह... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   10:33am 4 Oct 2013 #समय
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
1999 में पीयूष झा की एक फिल्म आई थी चलो अमेरिका। इसमें वह पूरी मानसिकता चित्रित की गई थी कि आज के भारतीय युवाओं के लिए अमेरिका और वहां जाने का मतलब क्या है। यही नहीं अगर वह अमेरिका की धरती पर पैर नहीं रखता है तो कैसे उसके जीवन के सारे अरमान बिखर जाते हैं। जिंदगी की बड़ी से ब... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   8:57am 17 Jun 2013 #समय
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
   मई का महीना मेरे रिहायशी इलाके मिशिगन में बसन्त ऋतु के समय का होता है, और इस महीने के आने पर मेरा मन करता है कि काश किसी प्रकार मैं समय को रोक पाता। शीत काल की पतझड़ से सूखे ठूँठ हुए पेड़ों की डालियों पर नई कोंपलें फूटने लगती हैं और बर्फ की नमी के बाद सूख कर कड़क हुई धरती ... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   3:15pm 1 May 2013 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
दोस्तों , अगर कोई मुश्किल दौर से गुजर रहे है तो बस इतना सा यकीन रखे ... कि ये दिन भी गुजर जायेंगे ... [  this shall too pass ....as they say ]  बस ज़िन्दगी और अपने इश्वर पर भरोसा रखे ... मैं दिल से आप सभी के लिए प्रार्थना करता हूँ .आपका अपनाविजय... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   3:49am 10 Apr 2013 #समय
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
मिट्टी को कंचन करे, नहीं लगाता देर।व्यर्थ न समय गवाँइए, इससे मुँह मत फेर।१।समय-समय की बात है, समय-समय के ढंग।जग में होते समय के, बहुत निराले ढंग।२।पल-पल में है बदलता, सरल कभी है वक्र।रुकता-थकता है नहीं, कभी समय का चक्र।३।समय न करता है दया, जब अपनी पर आय।ज्ञानी-ध्... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   7:48am 4 Mar 2013 #समय
Blogger: anurag anveshi at जिरह...
जरूरी नहीं कि सारे सच कहे ही जाएंया कि देखे जाएंसच कहना नहीं चाहते तो न कहेंनहीं देखना चाहते, तो न देखेंपर ऐसा कुछ भी करने सेसच का चेहरा जरा भी नहीं बदलताजो बदलाव होता है वह आप में होता हैकि आप जानते हैं कि सच आपने नहीं देखाकि आप जानते हैं कि सच आपने नहीं सुनाकि आप जानते ह... Read more
clicks 297 View   Vote 0 Like   4:47am 12 Feb 2013 #समय
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
उसी घड़ी में कुछ घट जाता वक्त का दरिया बहता जातायूँ लगता कुछ कहता जाता !कल का सूरज कहाँ खो गयाआयेगा जो किधर से आये,अभी “अभी” था अभी हुआ मृतकिसी अतल में गुमता जाता !दूर सितारों से गर देखें धरा गेंद सी डोल रही है,एक आवरण में लिपटी सी भेद किसी के खोल रही है !सब कुछ पल में थिर हो ... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   2:55am 9 Feb 2013 #समय
Blogger: प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पल...
बस, बीस मिनटयदि आपके पास बीस मिनट का समय हो, तो आप क्या करेंगे? बड़ा ही अटपटा प्रश्न है और उत्तर इस बात पर निर्भर करेगा कि कहाँ पर हैं और किस मनस्थिति में हैं। बहुत संभव हो कि आप कुछ न करें, बीस मिनट में भला किया भी क्या जा सकता है? ऐसे बीस मिनट के बहुत से अवसर आते हैं, प्रत्ये... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   10:30pm 1 Feb 2013 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
वैसे , मरा कौन है ? वो बच्ची , दामिनी , निर्भया तो नहीं मरी . निश्चिंत ही . वो तो सदा ही जीवित रहेंगी हमारे बीच , हमेशा ही . बल्कि मरे तो हम सब है , ये समाज है , ये देश है , यहाँ का कानून है , यहाँ की सरकार है , यहाँ का total system है , यहाँ की सोच मर गयी है . और तो और , यहाँ का सच्चा पुरुष ही मर गया ... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   5:39am 29 Dec 2012 #समय
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
आज गुमनामी में ज़िन्दगी गुजार रहा हैचमकता था आकाश में सूरज की तरह आज वक़्त के बादलों के पीछे छुपा हुआ है वक़्त इकसार नहीं रहता अब जान गया है अगर नहीं चढ़ता गरूर दिमाग में वक़्त की चाल पहचान लेता हर एक से हँस कर मिलता रहता आज अकेले बैठाआसूं नहीं बहा रहा होता800-42-25-10-2012गुमना... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   6:54pm 25 Nov 2012 #समय
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
मौजूदा दौर की एकिक और सामूहिक मानवीय प्रवृतियों पर गौर करें तो कहना पड़ेगा कि यह दौर कड़वाहट और फूहड़ता के साझे का है। साझे के इस मांझे में ही निजी से लेकर सार्वजनिक जिंदगी उलझी हुई है। सुलझाव की कोशिशें इतनी सतही और बेइमान हैं कि उलझन में और नई गांठ ही पड़ती जा रही हैं। ... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   11:20am 4 Nov 2012 #समय
Blogger: धीरेन्द्र सिंह at काव्यान्जलि...
 समय ठहर उस क्षण,है जाता,,,ज्वार मदन का जब है आता रश्मि-विभा में रण ठन जाता,तभी उभय नि:शेष समर्पणह्रदयों का उस पल हो जाता,  समय ठहर उस क्षण,है जाता,,,   श्वास सुरभि सी आती जाती अधरों से मधु रस छलकाती, आलिंगन आबद्ध युगल तबप्रणय पाश में है बँध जाता,    समय ठहर उस क्षण,है जाता,,,          ... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   6:45pm 22 Sep 2012 #समय
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
खामोश ख़ामोशी और हम की अगली कवयित्री हैं, उत्तर प्रदेश की शिखाकौशिक जिनके ब्लॉग पर सुंदर कवितायें तथा स्वरचित गीत सुनने को मिलते हैं.शिखा जी शोधार्थी हैं और हिंदी के महिला उपन्यासकारों के उपन्यासों में स्त्रीविमर्श पर शोध कर रही हैं. इनके माता-पिता वकील हैं.इस संकलन ... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   7:26am 9 Sep 2012 #समय
Blogger: Rachana Dixit at रचना रवीन्द्...
चोर हूँ मैंपिछले कुछ सालों से बीमार हूँएक अजीब सी लत लगी है मुझेचोरी कीजब भी कहीं भी किसी को देखती हूँमेरी बीमारी उकसाती है मुझेमन पक्का करती हूँफिर भी मजबूर हो जाती हूँचुराने कोऔर फिर....चुरा लेती हूँ..अपनी ऑंखें सबसेपिछले कुछ समय से जुटा पाई हूँकुछ साहसमिलती हूँ सबसे... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   1:30am 22 Jul 2012 #समय
Blogger: sidharth joshi at ज्योतिष दर्श...
प्रिय जातक, एक ज्‍योतिषी के रूप में जब मैं तुम्‍हारे सामने आता हूं तब दैहिक दृष्टिकोण से यह हमारी पहली ही मुलाकात होती है। तुम्‍हें ऐसा लगता होगा कि तुम मुझसे पहली बार मिल रहे हो। मुझे भी कमोबेश पहली मुलाकात में ऐसा ही लगता है। हकीकत इससे कुछ जुदा होती है। हमारे मिलने स... Read more
clicks 221 View   Vote 0 Like   10:44pm 28 Jun 2012 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
न होते फ़ासलों के शहर में हम,तो फिर मिलना बहुत आसान होता |-सरशार सिद्दीकी... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   12:22am 10 Jun 2012 #समय
Blogger: veena sethi at बात एक अनकही ...
 तपते सूरज को जब दी चुनौती .....  साथ मिला Lakme Sun Expert का    The Lakmé Diva Blogger Contest ने एक बार फिर कुछ भुला हुआ सा याद दिला दिया, चलिए..आपके साथ भी बाँट लेती हूँ. बात ये है की गर्मी अब अपने चरम पर है पर......... मै हूँ जो ये भी भूल जाती हूँ कि.........जब भी घर से बाहर निकलो तो अपने स्किन का ध्यान रखना  चाहिए.... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   2:52pm 28 May 2012 #समय
Blogger: parul at चाँद पुखराज क...
आस-पास एक मीठी दोपहर की करवट में बिना आहट किसी का करीब से गुज़रना , ध्यान बांटता है … कोई…विदेह , अजन्मा , अविरल , अनंत , जो मेरे सन्निकट था अभी और ठीक उसी पल दूरदराज़ किसी वन में कुलांचे भरते एक सुन्दर चीतल के पास से भी गुज़रा किया . जिसने मरुस्थल की उड़ती  ,सोनल रेत का स्पर्श क... Read more
clicks 94 View   Vote 1 Like   11:44am 12 May 2012 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
मुझे ऐसा लगता है कि , हमें आगे की ओर बढना चाहिए . जीवन अपने आप में एक रहस्य है और उसने अपने भीतर  बहुत कुछ छुपा रखा है . और पता नहीं जीवन में कब क्या शुभ घटित हो जाए. ... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   9:16am 20 Apr 2012 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
वक़्त तो वही करेंगा , जो हमारी ख्वाइश होंगी न !तो आओ कुछ नया सपना देखे .कुछ नए अहसासों को बोयें .एक नयी ज़िन्दगी की धड़कन को जिये ..!!!... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   1:58am 15 Apr 2012 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
सोचो साथ क्या ले जाओंगे ,खाली हाथ आये थे ;और खाली हाथ ही जाओंगे !!... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   5:57am 12 Apr 2012 #समय
Blogger: Vibha Rani at chhammakchhallo kahis...
आज एक कविता आप सबके लिए। किल्लतहर काम में लगता है समय! और यह है कि है ही नहीं!कुछ तो हो उपाय कर्ज़ा लें या उधार! इंवेस्टमेंट इन शेयर या कुछ फिक्स्ड डिपॉज़िटया कुछ कहीं कोई इंश्योरेंस! कि मिल सके सूद में ही सही,एक टुकडा समय कानहीं हो समय बैंक या साहूकार के चक्कर काटने का या उन... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   6:14am 5 Apr 2012 #समय
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194337)