POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: मदर्स डे

Blogger: Sawai Singh Rajpurohit at AAJ KA AGRA...
रोटी किसी माँ कि कभी ठंडी नहीं होती,                मैने फुटपाथ पे भी जलते हुए चुल्हे देखे हैं॥                      अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   7:25pm 26 Apr 2019 #मदर्स डे
Blogger: jyoti dehliwal at आपकी सहेली ज्...
दोस्तों, माँ... एक ऐसा शब्द है, जो न मस्तिक बुनता है और न जुबां बया करती है,माँ...जो आत्मा से निकलता है और वही उसे उच्चारित भी करती है,माँ... जो रुप से छोटा सही किंतु किरदार में ब्रम्हांड से बडा‌‌ है,माँ...जिसे कोई उपमा न दी जा सके,माँ... त्याग और प्यार की सच्ची मुरत होती है,माँ...धरत... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   3:42am 8 May 2018 #मदर्स डे
Blogger: pradeep singh beedawat at चेतना के स्वर...
मैं सुबह से देख ही रहा था - तमाम आये हुए संदेशों को ,वाट्सअप और फेसबुक पर -तमाम दूसरे लोगों और समूहों को फॉरवर्ड कर हम समारोहपूर्वक मदर्स डे मना रहेथे। ये हमारे फॉरवर्ड होने की निशानी भी कही जा सकती है। पर ऐसा करने में कोईबुराई भी नहीं है। -- यहाँ  मेरा सवाल दूसरा है।  मा... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   5:10pm 8 May 2016 #मदर्स डे
Blogger: RAHUL MISHRA at खामोशियाँ...!!!...
ठुमक के चलतेबस्ता लादे...!!ऊपर की पाकिट मेधीरे से भर देतीचमकती अठन्नी..!!आज कुछ नामिलेगा उससे..!!पर एहसास तो रहेगाज़िंदा ताउम्र..!!©खामोशियाँ... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   6:00am 12 May 2013 #मदर्स डे
Blogger: RAHUL MISHRA at खामोशियाँ...!!!...
ज़रा गौर से देख...सारे मदीनेयहीं ताकते हैं...!!रहमतो को उनकेहर रोज़ आंकते हैं...!!कभी कमी ना होतीआयतो की दर पे..!!सुना हैमाँ की पुतलियो से भगवान झांकते हैं..!!©खामोशियाँ... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   5:49am 12 May 2013 #मदर्स डे
Blogger: atul shrivastava at सत्‍यमेव जयत...
मार्च 1973 की तस्‍वीर। जब मैं दो महीने का था.... अपनी मां की गोद में। बगल में मेरा 2 साल का भाई बैठा है। यूं ही ननिहाल में पुराने एलबम पलटते समय बडे भाई को यह तस्‍वीर मिल गई और उसने मुझे भेज दिया। शायद मेरी मां के साथ मेरी यह इकलौती तस्‍वीर है........मां। दुनिया का सबसे प्‍यारा शब्‍... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   6:52pm 12 May 2012 #मदर्स डे
Blogger: pradeep singh beedawat at चेतना के स्वर...
भाषा विज्ञानियों के लिए भले ही पहला शब्द ‘ए’ अथवा ‘अ’ या फिर ‘अलीफ’ या ‘बे’ होता होगा, लेकिन व्यावहारिकता में यह फार्मूला बेमानी लगता है। दुनिया में किसी बच्चे के कंठों से फूटने वाली पहली किलकारी में ‘मां’ शब्द छिपा हुआ रहता है। कहना गलत नहीं होगा कि कोई शब्द इससे पहल... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   7:31pm 8 May 2010 #मदर्स डे
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194069)