POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: गंगा

Blogger: प्रमोद जोशी at जिज्ञासा...
उत्तराखंड के पंच प्रयाग हैं। विष्णुप्रयाग, नंदप्रयाग, कर्णप्रयाग, रूद्रप्रयाग और देवप्रयाग। नदियों का संगम भारत में बहुत ही पवित्र माना जाता है। नदियां देवी का रूप मानी जाती हैं। प्रयाग में गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम के बाद गढ़वाल-हिमालय के क्षेत्र के संगमों को ... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   4:00am 21 Feb 2021 #गंगा
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
पता नहींये मौके फिर कभी औरहाथ में आयें चलो कुछ भटके हुओं को कुछ और भटकायें कुछ शरीफ से इतिहास पन्नों में लिख कर लायें बेशरम सी पुरानी किताबों को गंगा में धो कर के आयेंंकरना कराना बदसूरत सा अपना ना बतायेंखूबसूरत तस्वीरें लाकर गलियों में फेंक आयें अच्छा लिखा अच्छे आदमी ... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   2:37pm 24 Sep 2018 #गंगा
clicks 174 View   Vote 0 Like   12:51pm 10 May 2018 #गंगा
Blogger: एम.आर.अयंगर at लक्ष्मीरंगम -...
आस्था : बहता पानी                तैरना सीखने की चाह में,                वह समुंदर किनारे                 अठखेलियाँ करने लगी.                                लहरें कभी पाँव भिगोते तो                कभी तन ही को भिगो जाते.          ... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   10:55am 6 Sep 2017 #गंगा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
श्रावण की पूनम गगन पर छाए मेघ लगे हरियाली के अंबार बेला और मोगरे की सुगंध से सुवासित हुई हवा आया राखी का त्योहार गाने लगी फिजां ! भाई-बहन के अजस्र निर्मल नेह का अजर स्रोत सावन की जल धाराओं में ही तो नहीं छुपा है ! श्रावण की पूनम के आते ही याद आते हैं रंग-बिरंगे धागे क... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   5:01am 5 Aug 2017 #गंगा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
लौट आना है उसे घर घूम कर सारा जहाँ लौट आना है उसे घर, गंगोत्री से उमगी धारा जा पहुँची जो गंगा सागर  ! हुई वाष्पित उडी गगन में बरसी जा पहुँची शिखरों पर, पिघली, बही पुनः लौटी यही चक्र चलता है अविरत ! कुछ बूंदें रह गयीं जमीं ही कुछ ने सागर को घर माना, वंचित हैं बहने के सुख से नील... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   9:24am 24 Jan 2017 #गंगा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at सृजन मंच ऑनला...
                     कहाँ जाती हैं गंगा में विसर्जित अस्थियाँ ?              एक दिन देवी गंगा श्री हरि से मिलने बैकुण्ठ धाम गई और उन्हें जाकर बोली,"प्रभु ! मेरे जल में स्नान करने से सभी के पाप नष्ट हो जाते हैं लेकिन मैं इतने पापों का बो... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   6:15pm 5 May 2016 #गंगा
Blogger: प्रमोद जोशी at Gyaankosh ज्ञानकोश...
हवाई जहाज की उड़ान के दौरान उसके बारे में तमाम जानकारियाँ एक जगह दर्ज होती जाती हैं.विमान की गति, ऊँचाई, इंजन तथा अन्य यंत्रों की ध्वनि, यात्रियों और पायलटों की बातचीत आदि, दर्ज होती रहती है। इन सूचनाओं के विश्लेषण द्वारा विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की स्थिति में दुर... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   3:23pm 3 Jul 2015 #गंगा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at सृजन मंच ऑनला...
      गंगा -प्रदूषण पर ...(घनाक्षरी छंद )सदियों से पुष्प बहे, दीप-दान होते रहे ,दूषित हुई न कभी नदियों की धारा है |होते रहे हैं नहान, मुनियों के ज्ञान-ध्यान,मानव का  सदा रही,  नदिया सहारा है |बहते रहे शव भी, मेले- कुंभ  होते रहे ,ग्राम नगर बस्ती के  जीवन की  धारा है |&nb... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   11:22am 11 Mar 2015 #गंगा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
विपासना का अनुभव ग्यारह फरवरी की एक शांत दोपहरी को दो बजे कोलकाता के IIM से सोदपुर स्थित विपासना केंद्र ‘धम्म गंगा’ के लिए रवाना हुई. तीन दिन पहले ही हम वहाँ आए थे. पतिदेव की ट्रेनिंग दो दिन पहले ही शुरू हो चुकी थी और मुझे अगले दस दिनों के लिए मन की ट्रेनिंग के लिए जाना था.... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   9:25am 4 Mar 2015 #गंगा
Blogger: प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पल...
रेतगंगा, श्वेतगंगा,वेगहत, अवशेष गंगा।रिक्त गंगा, तिक्त गंगा,उपेक्षायण, क्षिप्त गंगा।भिन्न गंगा, छिन्न गंगा,अनुत्साहित, खिन्न गंगा।प्राण गंगा, त्राण गंगा,थी कभी, निष्प्राण गंगा।लुप्त गंगा, भुक्त गंगा,प्रीतिबद्धा मुक्त गंगा।महत गंगा, अहत गंगा,शान्त सरके वृहत गंगा।पू... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   10:30pm 3 Jan 2015 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
मंदिर दिखतापुजारी दिखतेपंडे दिखते हैंमंदिर के ऊपर फहरातेझंडे दिखते हैंभक्तों की लाइन लगती हैगंगा के तट परलोटे में गंगाकाँधे परडंडे दिखते हैँ।कहीं गंजेड़ीकहीं भंगेड़ीकहीं भिखारीकहीं शराबीलोभी, भूखे, भोगी दिखतेबगुले भी योगीगंगा तट पर भाँति-भाँति केचित्तर दिखते है... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   11:47am 26 Nov 2014 #गंगा
Blogger: kuldeep thakur at मन का मंथन [man ka ...
मानव ने आवाहन किया,शिवजी  ने मुझे आदेश दिया,स्वर्ग का सुख छोड़ के आयी,गंगा हूं मैं, हिंद की पहचान...आयी थी मैं धरा पर,अमृत  सा पावन जल लेकर,उर्वर  बनाया बंजर को,गंगा हूं मैं, हिंद की पहचान...रोया जब  हिंद मैं भी रोई,संकटों के समय, मैं भी न सोई,अर्पण किये भिष्म से सुत,गंगा ह... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   4:13pm 1 Jun 2014 #गंगा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
सदियों से थिर थे जो पर्वत उतरी है गोमुख से गंगा गंगोत्री में तनिक ठहरती, हिम शिखरों से ले शीतल जल  चट्टानों में मार्ग बनाती ! भीम वेग, सौन्दर्य अनोखा लख ऋषियों ने गाए स्त्रोत, उर जल राशि अपार समेटे करती भूमि को ओत प्रोत ! आज हुई है रुष्ट क्यों जाने बहा ले गयी जड़-च... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   4:51am 2 Aug 2013 #गंगा
Blogger: pawan k mishra at हरी धरती Hari Dharti...
  गंगा प्रदूषण से सम्बन्धित आंकडे निम्नलिखित है.१.गंगा में गंगोत्री से लेकर गंगासागर तक प्रतिदिन १४४.२ मिलियन क्यूबिक मलजल प्रवाहित किया जाता है.२. गंगा में लगभग ३८४० नाले गिरते है.३.गंगा तट पर स्थापित औद्योगिक इकाईया प्रतिदिन ४३० मिलियन लीटर जहरीले अपशिष्ट का उत्सर... Read more
clicks 242 View   Vote 0 Like   4:12am 9 May 2013 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
 यह तेज सिंह का किला है। मैने आपको जाड़े में यहाँ की तस्वीरेंदिखाई थी। गंगा जी बहुत बढ़ी हुई हैं। एक घाट से दूसरे घाट पर जाने का मार्ग पूरी तरह से बंद है।  आज शाम गंगा जी गया तो इस किले पर चढ़ना चाहा लेकिन यहाँ चढ़ने की अनुमति नहीं है। कुछ नवयुवक कूद फांद कर ही यहाँ चढ़ पा ... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   3:37pm 17 Aug 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
बहुत दिन हुआ। चलिए आज आपको गंगा जी की सैर कराते हैं। आज रविवार का दिन था। दिन भर आराम किया तो सोचा शाम को चलें गंगा मैया का हाल चाल लें। सुना है गंगा मैया तेजी से बढ़ रही हैं। गत वर्ष तो इस समय तक खूब बढ़ चुकी थीं। गंगा बढ़ती हैं तो एक घाट से दूसरे घाट तक पैदल जाना संभव नहीं ... Read more
clicks 198 View   Vote 1 Like   4:17pm 22 Jul 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
पिछली पोस्ट में आपने बनारस के घाटों की तश्वीरें देखी और खूब सराहा। इसके लिए धन्यवाद। आज मैं आपको घाटों के कुछ और रंग दिखाना चाहता हूँ। तश्वीरें खूबसूरत नहीं हैं लेकिन इन तश्वीरों के माध्यम से जो कहना चाहता हूँ वह रोचक है। यहाँ तैराकी, नौकायन के अलावा बहुत से खेल भी खेल... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   2:25pm 3 Jul 2012 #गंगा
Blogger: pawan k mishra at हरी धरती Hari Dharti...
मोक्ष दायनी, जीवन दायनी, पतित पावनी माँ गंगा, हमारे जीवन का आधार माँ गंगा, हमारा पालन पोषण करने वाली माँ गंगा, हमारे पापों को हरने वाली माँ गंगा, हमारे जन्म से लेकर मृत्यु तक साथ देने वाली माँ गंगा/ आज माँ गंगा को हमने खुद मृत्यु के नजदीक ला के खड़ा कर दिया है/ इस के लिए हम क... Read more
clicks 233 View   Vote 0 Like   7:38am 28 Jun 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
हरिश्चंद्र घाटसाधुओं की अड़ीकेदार घाटपंचगंगा घाटदशाश्वमेध घाट... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   1:21pm 30 May 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
गंगा में पानी है कमबीच धार में सभी तैर नहीं रहे, कुछ आराम से खड़े भी हो जा रहे हैं।परिंदों को दाना खिलाना भी क्या कमाल का शौक है!सुबह-ए-बनारस देखने उड़ कर आये ये विदेशी मेहमान क्या मस्ती है!कितनी नावों में कितने जोड़े!मैं एक ही स्थान पर बैठा हूँ..नावें बदल रही हैं।इसके पास... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   5:31am 12 May 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
पिछली पोस्टों में गंगा के चित्र दिखाते-दिखाते राजा चेतसिंह के किलेकी कुछ तश्वीरें दिखाई । इन तश्वीरों को देखते हुए मुझे स्व0 शिवप्रसाद मिश्र 'रूद्र' की  'बहती गंगा' की याद हो आई। आप ने नहीं पढ़ी हो तो अवश्य पढ़ लें। राधाकृष्ण प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड, 731, दरियागंज, ... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:59pm 5 May 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
सुनिये ! क्या कहते हैं गंगा घाट के ये परिंदे।देखा न ! हमार परिवार कितना बड़ा है !! कितने बड़े महल में रहते हैं हम !!! तुम शायद नहीं जानते। यह महाराजा चेतसिंह का किला है। इसका निर्माण काशी राज्य के संस्थापक राजा ‘बलवंत सिंह’ ने कराया था। घाट और महल शिवाला मोहल्ले में है इसल... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   3:20am 2 May 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
तेरे आगे सब नंगेहर गंगे, हर हर गंगे।... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:24am 23 Apr 2012 #गंगा
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
तेरे आगे सब नंगे हर गंगे, हर हर गंगे।कोई पूरब से आता हैकोई आता पश्चिम सेकोई उत्तर से आता हैकोई आता दक्षिण सेधुलते हैं सब पाप उसी केजो होते मन के चंगे।एक नदी के नहीं ये झगड़े तुमने माँ को बाँध दिया!देख सको तो देखो पगलेईश्वर ने दो आँख दिया!कहीं धर्म के, कहीं चर्म केचलते हैं ... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   6:17pm 21 Apr 2012 #गंगा
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194123)