POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: खुदा

Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
भोर के तारे सा छुप जाएगा जग  बंद आँखों से जमाना देखते हैं हम कहाँ अक्सर हकीकत देखते हैं चाह की चादर ओढ़ायी थी  किसी ने यूँही अपना हक समझ कर देखते हैं दोनों हाथों से जकड़कर चलते रहे दिल को ही बढ़कर खुदा से देखते हैं जिस राह पर दुश्वारियां मंजिल नहीं ख़्वाब उस के ही हृदय ... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   10:41am 6 Nov 2019 #खुदा
Blogger: anshumala at mangopeople...
                                          बनारस और उसके आसपास में जो भाषा बोली जाती हैं उसमे ढेर सारे उर्दू के शब्द इस तरह घुलेमिले होते हैं जिनके बारे में कई बार वहां के बोलने वालों को भी नहीं पता होता |मुंबई आने के बाद भी कई सालों तक मेरा बोलने का  लहजा... Read more
clicks 52 View   Vote 0 Like   2:30am 26 Aug 2019 #खुदा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
ईद के मौके पर एक इबादत इक ही अल्लाह, एक ही रब है, एको खुदाया, उसी में सब है ! अंत नहीं उसकी रहमत का करें शुक्रिया हर बरकत का, जो भी करता अर्चन उसकी क्या कहना उसकी किस्मत का ! जग का रोग लगा बंदे को ‘नाम’ दवा, कुछ और नहीं है, मंजिल वही, वही है रस्ता उसके सिवाय ठौर नहीं है ! ... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   8:51am 15 Jun 2018 #खुदा
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
मन तो बहुत होता है खुदा झूठ ना बुलाये अब खुदा बोल गये भगवान नहीं बोले समझ लें मतलब वही है उसी से है जो कहीं है कहीं नहीं है सुबह हाँ तो बात मन के बहुत होने से शुरु हुई थी और सुबह सबके साथ होता है रोज होता है वही होता है जब दिन शुरु होता है प्रतिज्ञा लेने जैसा कुछ ऐसा कि राजा... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   2:21pm 23 Nov 2016 #खुदा
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
हे दुनिया के लोगो ,जिस दुनिया को हमने बनाया है और जब हम सब एक है तो तुम सब अलग अलग कैसे हो सकते हो . कौन सा धर्म और मज़हब......हमने तो इंसान बनाकर दुनिया में तुम्हे भेजा था तुम हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई और पता नहीं क्या क्या हो गए हो....एक बार फिर से इंसान बनकर तो देखो...हम तुममे में ह... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   3:34am 8 Dec 2015 #खुदा
Blogger: vijay kumar sappatti at कविताओं के मन...
एक ज़िन्दगीऔर कितने सारे ख्वाबबस एक रात की सुबह का भी पता नहीं ....कितनी किताबे पढना है बाकीकितने सिनेमा देखना है बाकीकितने जगहों पर जाना है बाकीहक़ीकत में एक पूरी ज़िन्दगी जीना है बाकी !एक ज़िन्दगीऔर कितने सारे ख्वाबबस एक रात की सुबह का भी पता नहीं ....© विजय... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   2:53am 17 Oct 2015 #खुदा
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
सब को पता होता है आसान नहीं होता है खुद ही लिख लेना खुद को और दे देना पढ़ने के लिये किसी दूसरे या तीसरे को सब लिखना जानते हैं लिखते भी हैं कुछ कम लिखते हैं कुछ ज्यादा लिखते है कुछ इसको लिखते हैं कुछ उसको लिखते हैं खुद को लिखने की कितने सोचते हैं पता नहीं पर कहीं पर खुद को लिख... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   1:28pm 16 Oct 2014 #खुदा
Blogger: vijay kumar sappatti at कविताओं के मन...
उसकी सोच ये कि,उसने मुझे सिर्फ आशिक समझा;जबकि मुझे ये हौसला कि,मैं इंसान भी बेहतर हूँ !उसको ये फ़िक्र किजमीन और ज़माने का क्या करे;जबकि मैं ख्वाबो और आसमान की बाते करता रहा !उसने मेरे और अपने बीच बंदिशों के जहान को ला दिया;जबकि मैं अपने इश्क के जूनून से फुर्सत न पा सका !मोहब्... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   2:01pm 27 Feb 2014 #खुदा
Blogger: Alaknanda singh at ख़ुदा के वास्...
आइनाखुद को इतना ऊंचा भी न उठान पाल खुदाई का फ़ितूरये इम्‍तिहान तेरा है, कि दे अपने  होने का भी सबूतकैसा खुदा है तू कि ना तोबचा पाता है लाज किसीकीन रख पाता है नाजो-ताज़हरसूं बस नज़र आते रहना ही तो,काम खुदा का नहीं होतासंभल जा अब भी वक्‍त हैज़मीं की पेशानी पर पड़ रहे हैं ब... Read more
clicks 256 View   Vote 0 Like   6:06am 2 Sep 2013 #खुदा
Blogger: विजय राज बली माथुर at क्रांति स्वर...
आज फेसबुक पर आदरणीय डॉ मोहन श्रोतरीय साहब की यह टिप्पणी पढ़ी--- http://www.facebook.com/mohan.shrotriya.1/posts/180761168743029***यह बहु-दलीय प्रणाली को नष्ट करने की साज़िश तो नहीं है?***...............सवाल यह है कि दूसरी पार्टियां इस खतरे को भांप क्यों नहीं पा रही हैं.? -मोश्रोमुझे प्रतीत होता है कि सभी पार्टियां और राजनीति... Read more
clicks 217 View   Vote 0 Like   1:22pm 5 Apr 2013 #खुदा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
या खुदातेरे पैरों कीआहट भी नहीं हूँतुझे सदा कैसे दूंदिल में बसा रखा तुझेनिरंतर तेरी इबादतकरता हूँमुझे धन दौलतनहीं चाहिएतेरी नज़रें मुझ परबनी रहेतेरा रहम-ओ-करमबरसता रहेबस इतनी सी दुआकरता हूँ822-06-03-11-2012सदा=आवाज़खुदा,सदा,इबादत,रहम-ओ-करमDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   4:52am 6 Dec 2012 #खुदा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
या खुदा जी भर कर केसज़ा दे दे मुझेबस इतनी सी इल्तजा तुमसेजितनी भी सज़ा देनी हैएक बार ही दे दे मुझेयूँ तिल तिल कर नामार मुझेहर लम्हा ना रुला मुझेकभी जीने का मौक़ाभी दे दे मुझेरुआंसे चेहरे पर कभीहँसी भी दे दे मुझे26-08-2012700-60-08-12हँसी,खुशी,सज़ा ,इल्तजा,खुदाDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   2:32pm 4 Oct 2012 #खुदा
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
ईश्वर जरुर एक स्त्री है ...वह इतना दयालु जो है .... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   7:32am 9 Jun 2012 #खुदा
Blogger: Randhir Singh Suman at लो क सं घ र्ष !...
खुदा ही जिम्मेदार है हरएक जुर्म नाम है जो नाम संगसार है वो नाम बेकुसूर है कुसूरवार भूख है जो मुद्दों से रायफिल है , चीख है पुकार है यही गुनहगार है नही ये भूख तो किसी महल की पहरेदार है गरीब ताबेदार है गुनहगार है महल मगर महल तो खुद सियासतों का इश्तहार है सियासतों के इर्द ग्... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   3:34pm 14 May 2012 #खुदा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
जब सूरज थका मांदा सा ढलने वाला हो  पहाड़ों के पीछे छुपने वाला हो शाम धीरे धीरे कदम बढ़ा रही होमेरे चेहरे पर मायूसी छाने लगेउस वक़्त अगर वो आ जाए मेरी आँखों की चमक लौट जाए चेहरा दमकने लगेवो आगे बढ़ कर मेरी पलकों को चूम लेमैं चाँद सितारों के बीच पहुँच जाऊंखुद को ज़न्नत का फ़... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   5:52pm 11 Feb 2012 #खुदा
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194093)