POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: History

Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
सय्यद बड़े मीर जहा का सम्बन्ध मखदून आफताब ऐ हिन्द से मिलता है । सय्यद बड़े ने जौनपुर उत्तर प्रदेश के कजगाओ या सादात मसौन्दा को सन  १३४९ में आबाद किया । यहां पे पहाड़ अली की एक बहुत प्रसिद्ध समाधी है जिनके कारण इसे आज कल लोग कजगाओ टेढ़वा के नाम से पुकारते हैं ।इसी परिवार ... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   7:00am 23 Aug 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
राजा इदारत जहां १८५७ जनक्रांति का प्रथम शहीद किस परिवार से थे ?राजा इदारत जहां के पूर्वज सैयद आख्वंद मीर थे जो हुमायूँ के साथ ईरान से भारत आये थे । आख्वंद मीर की औलाद में  सैयदजान अली थे जो खान ज़मा अली कुलीच खान के  लिए जौनपुर सेना के साथ  भेजे गए  । उन्होंने राजा म... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   2:53am 14 Aug 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
Bazar Bhuaजौनपुर के मुहल्लों के नए और पुराने नाम और उनका इतिहास  जौनपुर शहर के मुहल्ले तो लगभग ७६ है जिनका जिक्र  पुराने इतिहासकारो ने अपनी किताबो में किया है लेकिन बहुत से मुहल्ले अब आपस मे मिल गये है और कुछ का नाम बिगड गया है | जैसे फतेहपुर अब फत्तुपूर हो गया है और राजघ... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   12:19am 12 Aug 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at S.M.MAsoom...
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हमारे घराने की गिनती जौनपुर के लगभग ७०० साल पुराने ऐतिहासिक घरानो में हुआ करती है जिसका ज़िक्र तजल्ली ऐ नूर ,जौनपुर नामा इत्यादी बहुत से मशहूर इतिहास की किताबों में मिलता है |शार्की समय में जौनपुर में १४०० से अधिक ज्ञानी , संत और सूफी का आगमन हुआ जिनम... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   4:32am 25 Jul 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास.जौनपुरजो "शिराज़-ए-हिंद"के नाम से भी मशहूर हैं, भारत के उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर एवं लोकसभा क्षेत्र है। मध्यकाल में शर्की शासकों की राजधानी रहा जौनपुर वाराणसी (भूतपूर्व बनारस) से 58 किमी. दूर है और यह  गोमती नदी के दोनों तरफ़ फैला हुआ है। गुप्तकालीन... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   3:22am 8 Jul 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास.जौनपुरजो "शिराज़-ए-हिंद"के नाम से भी मशहूर हैं, भारत के उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर एवं लोकसभा क्षेत्र है। मध्यकाल में शर्की शासकों की राजधानी रहा जौनपुर वाराणसी (भूतपूर्व बनारस) से 58 किमी. दूर है और यह  गोमती नदी के दोनों तरफ़ फैला हुआ है। गुप्तकालीन... Read more
clicks 131 View   Vote 0 Like   3:22am 8 Jul 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास.जौनपुरजो "शिराज़-ए-हिंद"के नाम से भी मशहूर हैं, भारत के उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर एवं लोकसभा क्षेत्र है। मध्यकाल में शर्की शासकों की राजधानी रहा जौनपुर वाराणसी (भूतपूर्व बनारस) से 58 किमी. दूर है और यह  गोमती नदी के दोनों तरफ़ फैला हुआ है। गुप्तकालीन... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   3:22am 8 Jul 2018 #history
Blogger: Sanjay Grover at saMVAdGhar संवादघर...
ग़ज़लदूसरों के वास्ते बेहद बड़ा हो जाऊं मैंइसकी ख़ातिर अपनी नज़रों से भी क्या गिर जाऊं मैंएक इकले आदमी की, कैसी है जद्दोजहदकौन है सुनने के क़ाबिल, किसको ये दिखलाऊं मैंजब नहीं हो कुछ भी तो मैं भी करुं तमग़े जमाबस दिखूं मसरुफ़ चाहे यूंही आऊं जाऊं मैंबहर-वहर, नुक्ते-वुक्ते, सब लग... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   5:31pm 19 Jun 2018 #history
Blogger: Nalin Chauhan at झरोखा-jharoka...
सांध्य टाइम्स, 04 जून, 2018 दिल्ली और कुओं का बरसों-बरस पुराना, इतिहास-सम्मत नाता है। इस बात का जीवंत प्रमाण पुराना किला में देखने को मिलता है। यह एक कम जानी बात है कि दिल्ली के पुराना किला के उत्खनन (2014) में आज से 23 सौ साल पहले से लेकर 3 हजार साल पहले तक प्रचलन में रहे रिंगवेल (व... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   2:07pm 4 Jun 2018 #history
Blogger: Bharat Bhushan at MEGHnet...
दिनांक 04 मार्च 2018 को मेघ जागृति फाउँडेशन, गढ़ा, जालंधर द्वारा आयोजित एक समारोह में अपनी बात रखते हुए डॉ. ध्यान सिंह और प्रो. के.एल. सोत्रा इस बात पर एकमत थे कि मेघ मूल रूप से एक जनजाति थी जिसे शुद्धिकरण के ज़रिए हिंदू दायरे में लाया गया था. जैसा कि बताया जाता है कि मुग़लों ने ... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   2:21am 22 May 2018 #History
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जो लोग जौनपुर और आसपास के इलाक़े में आया जाया करते हैं उन्होंने यह अवश्य देखा होगा की   यहाँ जगह जगह  क़ब्रें और रौज़े बने हैं जिनपे हरी चादरें पडी रहती है या उनपे उर्स साल में एक बार लगता है या फिर ऐसी मजारें हैं जहाँ  गाँव वाले मुरादें मांगने जाया करते हैं । इसके साथ ... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   2:12am 16 May 2018 #history
Blogger: Bharat Bhushan at MEGHnet...
जब पिताजी की तब्दीली टोहाना से सिरसा हुई तो उस समय टोहाना में बीती अपनी किशोरावस्था की बहुत सारी चमकती और रोशनी में दमकती यादें लेकर मैं सिरसा गया था. पिता जी पीडब्ल्यूडी में सब-डिविज़नल इंजीनियर थे. उनके कार्यालय के साथ ही बना एक साफ़-सुथरा रिहाइशी आवास मिला. सामने बं... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   8:32am 3 May 2018 #History
Blogger: Bharat Bhushan at MEGHnet...
‘शुद्धिकरण’ शब्द सुनने में कितना ही पवित्र शब्द क्यों न लगे लेकिन जब-जब यह किसी पिछड़े समुदाय के संदर्भ में प्रयोग हुआ है, तब-तब अपमानजनक और शरारतपूर्ण सिद्ध हुआ है. किन्हीं धार्मिक संस्थाओं के हाथों में इसे राजनीतिक औज़ार के रूप में देखा गया है.मेघ समुदाय के संदर्भ म... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   3:08pm 24 Apr 2018 #History
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
मूली मक्का मक्कारी में कहीं खो गया  ऋषि मुनियों की तपस्या स्थली जौनपुर  | जौनपुर शहर गोमती नदी के किनारे बसा एक सुंदर शहर है जो अपना एक वि‍शि‍ष्‍ट ऐति‍हासि‍क, धार्मिक  एवं राजनैति‍क अस्‍ति‍त्‍व रखता है| यहाँ पे गोमती नदी की सुन्दरता आज भी देखते ही बनती है और आज भी... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   5:49am 10 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
मूली मक्का मक्कारी में कहीं खो गया  ऋषि मुनियों की तपस्या स्थली जौनपुर  | जौनपुर शहर गोमती नदी के किनारे बसा एक सुंदर शहर है जो अपना एक वि‍शि‍ष्‍ट ऐति‍हासि‍क, धार्मिक  एवं राजनैति‍क अस्‍ति‍त्‍व रखता है| यहाँ पे गोमती नदी की सुन्दरता आज भी देखते ही बनती है और आज भी... Read more
clicks 250 View   Vote 0 Like   5:49am 10 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
नगर को दो भागों में विभाजित करने वाला ,गोमती नदी पे बने ऐतिहासिक शाही पुल का र्नि‍माणअकबर के शासनकाल में उनके आदेशानुसार सन् 1564 ई० में मुइन खानखाना ने करवाया था। ये बहुत ही सुन्दर और भारत का अनूठा पुल है और विश्व का पहला पुल जिसकी मुख्‍य सड़क पृथ्‍वी तल पर र्नि‍मित है... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   1:21pm 3 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
नगर को दो भागों में विभाजित करने वाला ,गोमती नदी पे बने ऐतिहासिक शाही पुल का र्नि‍माणअकबर के शासनकाल में उनके आदेशानुसार सन् 1564 ई० में मुइन खानखाना ने करवाया था। ये बहुत ही सुन्दर और भारत का अनूठा पुल है और विश्व का पहला पुल जिसकी मुख्‍य सड़क पृथ्‍वी तल पर र्नि‍मित है... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   1:21pm 3 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
आदि गंगा गोमती के पावन तट पर बसा जौनपुर भारत के इतिहास में अपना विशेष स्थान रखता है। यह शहर कभी बौध धर्म का केन्द्र रहा था और जब उजड़ा तो एक बार फिर से शर्कीकाल में समृध्दशाली राजवंश ने इसे सजाया और जौनपुर को अपनी राजधानी बनाकर इसकी सीमा दूर दूर तक फैलाया। ऋषि-मुनियो ने त... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   11:36am 2 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
आदि गंगा गोमती के पावन तट पर बसा जौनपुर भारत के इतिहास में अपना विशेष स्थान रखता है। यह शहर कभी बौध धर्म का केन्द्र रहा था और जब उजड़ा तो एक बार फिर से शर्कीकाल में समृध्दशाली राजवंश ने इसे सजाया और जौनपुर को अपनी राजधानी बनाकर इसकी सीमा दूर दूर तक फैलाया। ऋषि-मुनियो ने त... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   11:36am 2 Jan 2018 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
कभी महर्षि यमदग्नि की तपोस्थली व शर्की सल्तनत की राजधानी रहा जौनपुर आज भी अपने ऐतिहासिक एवं नक्काशीदार इमारतों के कारण न केवल प्रदेश में बल्कि पूरे भारत वर्ष में अपना एक अलग वजूद रखता है. प्राचीन काल से शैक्षिक व ऐतिहासिक दृष्टि से समृद्धिशाली शिराजे हिन्द जौनपुर नग... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   2:04am 21 Dec 2017 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास अपने आप में ना जाने कितने रहस्यों को अपने में छुपाय  हुए है जिसकी गहराई में जितना उतरते जाओ उतना ही रहस्यमय यह जौनपुर शहर लगने लगता है |  बोद्ध धर्म भारत में लगभग १२०० वर्षों तक प्रचलित रहा | शुरू के दौर में तो इस बोद्ध धर्म का यह रूप था की उनके अनुयायी ... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   4:26am 19 Dec 2017 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर का इतिहास अपने आप में ना जाने कितने रहस्यों को अपने में छुपे हुए है जिसकी गहराई में जितना उतारते जाओ उतना ही रहस्यमय यह जौनपुर शहर लगने लगता है |  बोद्ध धर्म भारत में लगभग १२०० वर्षों तक प्रचलित रहा | शुरू के दौर में तो इस बोद्ध धर्म का यह रूप था की उनके अनुयायी कि... Read more
clicks 305 View   Vote 0 Like   4:26am 19 Dec 2017 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
जौनपुर में  जगह जगह पुराने समय की इबारतें और खंडहर देखने को मिल जाया करते हैं जिनमे से कुछ शार्की समय के कुछ मुग़ल या बहुत बार उस से भी पुरानी सभ्यता के यहाँ मौजूद होने की तरफ इशारा किया करते हैं |ऐसे ही एक पुराने कुंवे पे लिखी इस इबारत ने मेरा ध्यान आकर्षित किया जिसपे लि... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   11:24am 14 Oct 2017 #history
Blogger: S.M.MAasum at हमारा जौनपुर ...
बचपन से सुना करता था कि कभी यह गज-सिंह मूर्ति ,पास ही मैं बने किले मैं हुआ करती थी और बाद मैं इसको शाही पुल के पहले एक चबूतरे पे बिठा दिया गयानगर को दो भागों में विभाजित करने वाला ,गोमती नदी पे बने   ऐतिहासिक शाही पुल , का र्नि‍माण अकबर के शासनकाल में उनके आदेशानुसार सन् ... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   6:24am 7 Oct 2017 #history
Blogger: Navin Joshi at नवीन समाचार : ...
-ऐपण और च्यूड़ों का होता था प्रयोग नवीन जोशी, नैनीताल। वक्त के साथ हमारे परंपरागत त्योहार अपना स्वरूप बदलते जाते हैं, और बहुधा उनका परंपरागत स्वरूप याद ही नहीं रहता। आज जहां दीपावली का अर्थ रंग-बिरंगी चायनीज बिजली की लड़ियों से घरों-प्रतिष्ठानों को सजाना, महंगी से महंगी... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   4:44pm 4 Oct 2017 #History

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194948)