POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: ईश्वर

Blogger: vijay kumar sappatti at THE INNER JOURNEY ::: अंतर...
हनुमान चालीसाश्री गुरू चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि,बरनउं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि ॥1॥बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार,बल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेस बिकार ॥2॥जय हनुमान ज्ञान गुन सागर,जय कपीस तिहुं लोक उजागर ॥3॥राम दूत अतुलित बल धामा,अंजनि-पुत... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   12:03pm 23 Jul 2013 #ईश्वर
Blogger: vijay kumar sappatti at THE INNER JOURNEY ::: अंतर...
प्रिय दोस्तों ,नमस्कार ...कल मैंने पुछा था ....सोचो ; साथ क्या ले जाओंगे यारो .....उसका सीधा सा जवाब है ... हम कुछ भी साथ लेकर नहीं आये थे ... लेकिन हाँ, जाते समय , बहुत कुछ साथ जायेंगा , हमारा भलापन, हमारी अच्छाई , हमारा प्रेम , हमारी दया , हमारी क्षमा , जीवन के वो पल , जिनमे हमने इस दुनिया क... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   2:44am 9 Jun 2013 #ईश्वर
Blogger: vijay kumar sappatti at THE INNER JOURNEY ::: अंतर...
प्रिय आत्मन , नमस्कार .मैं कुछ देर पहले ओशो के पत्र पढ़ रहा था . जो की उन्होंने अपने सन्यासियों को लिखा था . एक पत्र था जो उन्होंने अपने मित्र और सन्यासी श्री कोठारी जी को लिखा था . उसमे उन्होंने कहा था " हम चाहना ही नहीं जानते , वरना सत्य कितना निकट है " ये वाक्य मेरे मन मे... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   3:40pm 4 Jun 2013 #ईश्वर
Blogger: admin - nastikon ka blog at नास्तिकों का ...
व्यंग्यपता नहीं कौन लोग रहें होंगे, कैसे लोग रहे होंगे जिन्होंने ईश्वर को बनाया। और बनाए रखने के लिए तरह-तरह की स्थापनाएं और दलीलें खड़ी कीं। मैं जब कभी इन तर्कों की ज़द में आ जाता हूं, मेरी हालत विचित्र हो जाती है। ईश्वरवालों का कहना है कि ईश्वर हर जगह मौजूद है, वह सब कु... Read more
clicks 256 View   Vote 0 Like   11:57am 10 May 2013 #ईश्वर
Blogger: संतोष त्रिवेदी at बैसवारी baiswari...
बड़ा आसान हो गया  है ईश्वर को अपराधी ठहराना  अपनी उंगली उधर उठा देना ईश्वर बड़ा निरीह हो गया है आज वह प्रतिकार नहीं करता है उसके पास न किराये की पुलिस है और न आंसू गैस के गोले हम बड़ी सहजता से अपना गुस्सा अपने प्रवचन अपनी शिकायतें उसकी ओर उछाल देते हैंवह जवाब तक नहीं द... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   7:11am 25 Jan 2013 #ईश्वर
Blogger: Arun Sharma at प्रणय - प्रेम -...
माँ के चरणों में भेजा है,मैंने एक संदेश,या तो मेरे घर आओ,या मुझको दो आदेश,मन का दरवाजा खोला,माँ कर लो ना प्रवेश,सेवा करने की खातिर,मैं खिदमत में हूँ पेश,न्योछावर जीवन करना,अब मेरा है उद्देश्य,चलना सच्ची राहों पे,माँ देती हैं उपदेश।।।।... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   5:31am 31 Oct 2012 #ईश्वर
Blogger: Arun Sharma at प्रणय - प्रेम -...
मारा-मारा फिरता है,प्राणी चारों धाम,मन के भीतर खोजा ना,कैसे मिलते राम,जीवन कैसा जीता है,प्राणी हो गुमनाम,एक दूजे के हिस्से हैं,श्री राधे-घनश्याम,किस्मत अपनी रूठे तो,बनता बिगड़े काम,होनी-अनहोनी सब,भगवन तेरे नाम,श्री राधा के चरणों में,नतमस्तक प्रणाम।।... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   11:44am 27 Oct 2012 #ईश्वर
Blogger: समय at समय के साये म...
और तब ईश्वर का क्या हुआ?स्टीवन वाइनबर्ग( 1933 में पैदा हुए अमेरिका के विख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीवन वाइनबर्ग, अपनी अकादमिक वैज्ञानिक गतिविधियों के अलावा, विज्ञान के लोकप्रिय और तार्किक प्रवक्ता के रूप में पहचाने जाते हैं। उन्होंने इसी संदर्भ में काफ़ी ठोस लेखन कार्य क... Read more
clicks 165 View   Vote 3 Like   12:09pm 16 Jun 2012 #ईश्वर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
चाटुकारिता का तर्पण अर्पणजीवन मेंकष्ट और मृत्यु के भय से चाटुकारिता का तर्पण अर्पण ईश्वर को याद करना व्यर्थ हैईश्वर को पाना है तो उसे मन में बसाओकथनी करनी में विरोधाभास ना होकर्म ईश्वर की इच्छा अनुरूप हों ,सच्ची भक्ती का यही स्वरुप है आत्म तुष्टी का मूल मन्त्र है17-04-20124... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   7:33pm 12 Jun 2012 #ईश्वर
Blogger: समय at समय के साये म...
और तब ईश्वर का क्या हुआ?स्टीवन वाइनबर्ग      ( 1933 में पैदा हुए अमेरिका के विख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीवन वाइनबर्ग, अपनी अकादमिक वैज्ञानिक गतिविधियों के अलावा, विज्ञान के लोकप्रिय और तार्किक प्रवक्ता के रूप में पहचाने जाते हैं। उन्होंने इसी संदर्भ में काफ़ी ठोस लेखन का... Read more
clicks 171 View   Vote 3 Like   2:41pm 9 Jun 2012 #ईश्वर
Blogger: ajay kumar jha at झा जी कहिन...
"भाई साहब मुझे भी "मंदिर की कतार में खडे उस शख्स ने, जो यूं तो एकटक मंदिर के प्रवेश द्वार के पीछे भगवान की मूरत और वहां साथ ही दीवार पर लगी पर अपना ध्यान लगाए हुए थे , अचानक ही मुड कर उस आवाज़ की ओर देखा । हमेशा की तरह ,मंगलवार और शनिवार को एक निश्चित समय पर कुछ गरीब लोगों नुमा ज... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   8:42am 3 Jun 2012 #ईश्वर
Blogger: समय at समय के साये म...
और तब ईश्वर का क्या हुआ?स्टीवन वाइनबर्ग       ( 1933 में पैदा हुए अमेरिका के विख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीवन वाइनबर्ग, अपनी अकादमिक वैज्ञानिक गतिविधियों के अलावा, विज्ञान के लोकप्रिय और तार्किक प्रवक्ता के रूप में पहचाने जाते हैं। उन्होंने इसी संदर्भ में काफ़ी ठोस लेखन का... Read more
clicks 163 View   Vote 3 Like   1:16pm 2 Jun 2012 #ईश्वर
Blogger: ali at ummaten...
एक दिन परमात्मा ने आकाश से धरती पर देखा तो पाया कि दो बहने , सेम की फलियां तोड़ रही थीं ! वो आकाश से उतर कर उनके पास आया और पूछा कि तुम लोग क्या कर रही हो ? छोटी बहन जिसका नाम फुकान था , उसने कहा , हम लोग सेम इकट्ठा कर रहे हैं , लेकिन इसमें बहुत समय लग रहा है ! परमात्मा ने बड़ी बह... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   12:30pm 31 May 2012 #ईश्वर
Blogger: समय at समय के साये म...
और तब ईश्वर का क्या हुआ?स्टीवन वाइनबर्ग    ( 1933 में पैदा हुए अमेरिका के विख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीवन वाइनबर्ग, अपनी अकादमिक वैज्ञानिक गतिविधियों के अलावा, विज्ञान के लोकप्रिय और तार्किक प्रवक्ता के रूप में पहचाने जाते हैं। उन्होंने इसी संदर्भ में काफ़ी ठोस लेखन कार्... Read more
clicks 182 View   Vote 2 Like   2:40pm 26 May 2012 #ईश्वर
Blogger: प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पल...
कहते हैं कि उत्तर प्रश्न से उत्पन्न होते हैं, यदि प्रश्न न हों तो उत्तर किसके? किन्तु जब उत्तर ही प्रश्न उत्पन्न करने लगें तो मान लीजिये कि विषय में गजब की ऊँचाई है, गजब की ढलान है, ऐसी ढलान जिसके एक टिके टिकाये उत्तर को हटाने से प्रश्नों का लुढ़कना प्रारम्भ हो जाता है, वह ... Read more
clicks 78 View   Vote 1 Like   10:30pm 4 May 2012 #ईश्वर
Blogger: प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पल...
नास्तिकों का एक बड़ा तर्क है, यदि ईश्वर है तो यह अन्याय और अव्यवस्था क्यों? यदि वह ईश है और दयालु है तो किसी को कोई दुख होना ही नहीं चाहिये। तर्क श्रंखला बढ़ती जाती है और अन्ततः जगत में व्याप्त समस्त दोषों और दुखों के लिये ईश्वर को उत्तरदायी मान लिया जाता है, दोषी मानकर अ... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   10:30pm 13 Apr 2012 #ईश्वर
Blogger: sangam pandey at कदाचित...
ईश्वर की खोज में मनुष्य सदियों से लगा है। ऋग्वेद के जमाने से लेकर तरह तरह के सवाल उसे लेकर उठते रहे हैं। कि आखिर उसका स्वरूप कैसा है? अगर वो स्रष्टा और नियंता है तो इस समूची सृष्टि को लेकर उसका प्रयोजन क्या है? हमारे दैनंदिन जीवन में उस पर आस्था की भूमिका क्या है? क्या वो ह... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   3:01am 25 Feb 2012 #ईश्वर
Blogger: admin - nastikon ka blog at नास्तिकों का ...
सरल मेरा दोस्त है। अपनी सरलता की ही वजह से मेरा दुश्मन भी है। मौलिक है, नास्तिक है, विद्रोही है। जाहिर है ऐसे आदमी के रिश्ते सहज ही किसी से नहीं बनते। बनते हैं तो तकरार, वाद-विवाद, तूतू मैंमैं भी लगातार बीच में बने रहते हैं। यानि कि रिश्ता टूटने का डर लगातार सिर पर लटकता र... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   3:53pm 6 Feb 2011 #ईश्वर
Blogger: admin - nastikon ka blog at नास्तिकों का ...
          दुनिया के सबसे अनोखे देव इस समय भारतवर्ष के कुछ गली कूचों में आ बिराजे हैं, भक्त समाज अपने दिमाग की खिड़कियाँ बंदकर उनकी भक्ति में लीन हो गया है। आठ दस दिन बाद इन्हें नदी तालाबों में विसर्जित कर प्रदूषण बढ़ाया जाएगा।          भारतीयों की उदारता का कोई जवाब नहीं है। ... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   2:51am 13 Sep 2010 #ईश्वर
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194332)