POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN
clicks 392 View   Vote 0 Like   4:41pm 25 Apr 2013   Catogery: ashish kumar bal kavita  
Blogger: Bal Sajag at बाल सजग...
    हुई बहस हुई बहस ,यह कैसी बहस ,जिंदगीसे जुड़ी  बहस ,राहों पर है खड़ी बहस ,इन्तजार करती बस एक घड़ी ,बहस हो खड़ी ,बहस से लड़ी ,सुबह सो कर जल्दी उठने की पड़ी ,न तो बहस हो जायेगी खड़ी ,शाम नींदों से भरी ,रात सोने की पड़ी ,ये जिंदगी की घड़ी ,हमको है जीने की पड़ी ,हो हाथो में छड़ी ,बहस दूर हो जाए कड़ी ...
 
Read this post on बाल सजग

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194092)