POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN
POPULAR POST - LATEST
 चीन ने 26 अक्तूबर को याओगान-30रिकोनेसां उपग्रहों के सातवें समूह का प्रक्षेपण किया है, जिसपर अमेरिका और भारत दोनों की निगाहें हैं। इस साल चीन का यह 31वाँ अंतरिक्ष प्रक्षेपण था। आमतौर पर वैज्ञानिक भाषा में इन्हें सुदूर संवेदन उपग्रह (रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट) कहा जाता है, ... Read more
clicks 10 View  Vote Like 0  3:42pm 28 Oct 2020
 ... Read more
clicks 8 View  Vote Like 0  2:56pm 28 Oct 2020
डाक टिकट किसी भी राष्ट्र की सभ्यता, संस्कृति एवं विरासत के संवाहक हैं। तभी तो डाक टिकट को नन्हा राजदूत कहा जाता है। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने राष्ट्रीय डाक दिवस के क्रम में वाराणसी प्रधान डाकघर में आयोजित फिलेटली दि... Read more
clicks 8 View  Vote Like 0  10:47pm 28 Oct 2020
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--आज की पोस्ट में ये पंक्तियाँ समीचीन हैं..नभ से बादल छँट गये, निर्मल हुए पहाड़।अपने-अपन भवन को, लोग रहे हैं झाड़।।--बारिश से जो हो गयीं, दीवारें बदरंग।उन पर अब पुतने लगे, फिर से नूतन रंग।।--गीत  "... Read more
clicks 7 View  Vote Like 0  12:01am 28 Oct 2020
 काँटा सा जो चुभा था वो लौ दे गया है क्याघुलता हुआ लहू में ये ख़ुर्शीद सा है क्यापलकों के बीच सारे उजाले सिमट गएसाया न साथ दे ये वही मरहला है क्यामैं आँधियों के पास तलाश-ए-सबा में हूँतुम मुझ से पूछते हो मिरा हौसला है क्यासागर हूँ और मौज के हर दाएरे में हूँसाहिल पे कोई नक... Read more
clicks 6 View  Vote Like 0  9:20am 28 Oct 2020
नौका में छल-छद्म की, मतलब के सब मीत। कृष्ण-सुदामा सी नहीं, आज नहीं है प्रीत।।--मिलते हैं संसार में, भाँति-भाँति के लोग।होती तब ही मित्रता, जब बनता संयोग।।--कर्मों के अनुसार ही, मिलता सबको भोग।खुद के बस में है नहीं, विरह और संयोग।।--नहीं सरल है सीखना, जीवन का संगीत।शब्दों क... Read more
clicks 6 View  Vote Like 0  7:26am 28 Oct 2020
भारत और अमेरिका के बीच रक्षा से जुड़े निम्नलिखित समझौते हुए हैं। इनमें GSOMIA, LEMOAऔर COMCASAके बाद BECAचौथा सबसे महत्वपूर्ण समझौता है।सैनिक गतिविधियाँ बारहों महीने और चौबीसों घंटे चलती हैं। सारी दुनिया सो जाए, पर सेना कहीं न कहीं जागती रहती है। बेका उसी जागते रहने का समझौता है। ज... Read more
clicks 6 View  Vote Like 0  4:36pm 28 Oct 2020
शरद पूर्णिमा वाले दिन लोग चांदनी रात में खीर बनाकर क्यों रखते हैं?... Read more
clicks 6 View  Vote Like 0  10:03pm 28 Oct 2020
 (पिछली पोस्ट 'व्यामोह'के तारतम्य में -) मनस्विनी रत्ना ,जिस सुहाग पर मायके में इठलाती थी,उसकी विलक्षण विद्वत्ता-वाग्मिता,का दम भरती थी उसके कथा-वाचन के अर्थ-गांभीर्य पर गर्व करती थी, आदर्शवाद पर फूलती थी,जिसे मान्य-पुरुष मान कर निश्चिंत थी आज वही  सारी मर्यादायें त... Read more
clicks 5 View  Vote Like 0  6:13am 28 Oct 2020
भरोसा... Read more
clicks 5 View  Vote Like 0  8:34pm 28 Oct 2020
राष्ट्रीय डाक सप्ताह का अंतिम दिन गुरुवार को मेल दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर का प्राथमिक कार्य मेल का संग्रह, प्रसंस्करण, प्रसारण और वितरण रहा है। डाक सेवाओं... Read more
clicks 4 View  Vote Like 0  11:49pm 28 Oct 2020
पाकिस्तानी साप्ताहिक फ्राइडे टाइम्स से साभारपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार 27 अक्तूबर को कहा कि हम भारत के साथ बातचीतके लिए तैयार हैं, बशर्ते ‘कश्मीरियों का उत्पीड़न’रोका जाए और समस्या का समाधान हो। उन्होंने यह बात ‘कश्मीर के काले दिन’के मौके पर एक ... Read more
clicks 4 View  Vote Like 0  8:11am 29 Oct 2020
 कृष्ण की कटी उंगली में बांधा था साड़ी का पल्लारक्षाबंधन हिंदुओं का महान पर्व है जिसमें भाई की कलाई में बहन राखी बांधती है और भाई उसकी रक्षा का वचन देता है। यों तो रक्षाबंधन की प्रथा के प्रारंभ होने के बारे में ऐतिहासिक और धार्मिक कई आख्यान हैं लेकिन सर्वाधिक प्रच... Read more
clicks 3 View  Vote Like 0  10:30pm 28 Oct 2020
 ... Read more
clicks 3 View  Vote Like 0  8:59am 29 Oct 2020
 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है ग्वाले हैं भयभीत आज के हालत पर दोहे लॉकर में बंद लालसा सुबह की धूप क्षणिकाएँ हम और अस्तित्त्व  इलाहाबाद के पथ पर दलित स्त्री अतीत के झरोखे सेकाश अब भी तुम मेरे साथ होते धन्यवाद दिलबागसिंह विर्क ... Read more
clicks 2 View  Vote Like 0  3:00am 29 Oct 2020
 कोई रूठा हुआ शख्स आज बहुतयाद आया.....एक- गुजरा हुआ वक्त आज बहुतयाद आया.....छुपा लेता था जो मेरे दर्द को सीनेमे अपने.....आज- फिर दर्द हुआ तो वह बहुतयाद आया.www.akhtarkhanakela.blogspot.com... Read more
clicks 2 View  Vote Like 0  6:55am 29 Oct 2020
मध्यम वर्गीय परिवार मूल्यों और दाम्पत्य जीवन के बेचारगी को रेखांकित करती एक कहानी ... Read more
clicks 2 View  Vote Like 0  1:50pm 29 Oct 2020