POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: बस यूँ ही..........WRITINGS OF SILENCE......

Blogger: vijay kumar sappatti
मोहब्बत कुछ तुझमे ,कुछ मुझमे अब तलक है बाकी ....दिल में तेर और मेरे भी , आग अब तलक है बाकी ...तुम कहते हो कि राख का ढेर है ;मैं कहता हूँ कि थोडा सा कुरेदो ;तुम पाओंगे कि इश्क की चिंगारियां अब तलक है बाकी ....!!... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   3:40am 7 Dec 2012 #प्यार
Blogger: vijay kumar sappatti
हिंदी ब्लॉगर और हिंदी फेसबूकिया , इस धरती को महान भारत देश की अमूल्य देन है . इन दोनों महान रूपों ने , मनोरंजन , ज्ञान और प्रेम के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान दिया है . जिसे कभी भी कमतर करके नहीं आंका जा सकता है . और मुझे गर्व है की मैं इन दोनों रूपों में समाहित हूँ .  वैसे हिंदी... Read more
clicks 171 View   Vote 1 Like   7:46am 26 Nov 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
क्या वाकई हम आज़ाद है .... ?ऊपर बैठे क्रांतिकारी और देश को आज़ाद करानेवाले शहीद जरुर आज देश की गति देखकर रोते होंगे. और सोचते होंगे कि क्या उन्होंने इसी तरह के देश की कल्पना की थी ...जो आज के मौजूदा हाल में है . जय हिंद जी .विजय... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   5:37am 15 Aug 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
मेरे प्रिय दोस्तों ;आप सभी को भारतीय स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाये .आईये ;हम सब मिलकर देश को बेहतर बनाने की एक सच्ची कोशिश करे .प्रणामविजय ... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   3:17am 15 Aug 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
अक्सर जब मुड़कर देखता हूँ तो पाता हूँ कि तुम नहीं हो ...कही भी नहीं हो ...बस तुम्हारा अहसास है ..... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   8:07am 11 Aug 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
मुझसे बिछड़ कर खुश रहते हो........................मेरी तरह तुम भी झूठे हो.....!!!!!... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   7:12am 8 Aug 2012 #प्यार
Blogger: vijay kumar sappatti
मैंने आज तक वोट नहीं डाला. मुझे राजनीति पसंद नहीं है . लेकिन अगर अन्ना हजारे की टीम राजनीति में आती है तो मैं जरुर वोट डालूँगा और उनकी जीत के लिए लोगो से कहूँगा भी .. बहुत बरसो के बाद भारत में एक अच्छी लीडरशिप नज़र आ रही है . देखते है .. तब तक  के लिए सिर्फ दुआ और आमीन    !!!... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   5:43am 3 Aug 2012 #अन्ना हजारे
Blogger: vijay kumar sappatti
प्रिय जानां ,खुदा का एक और मोहब्बत भरा शगल है .वो है सपनो में जन्नत को बसाना ..अक्सर वो ऐसे सपने बुना करता है और आसमान में उछाल देता है और वो भी दोनों हाथो से !और फिर तुझ जैसे , मुझ जैसे ; खुदा के पाक बन्दे जो इश्क के जूनून को समझते है अपने दोनों हाथो से इन सपनो को एक एक करके अप... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   3:23am 27 Jul 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
दोस्तों , मैं वैसे तो तेलुगुभाषी हूँ , लेकिन हिंदी में मेरे प्राण बसते है . मैं हिंदी बोलता हूँ, हिंदी पढता हूँ , और हिंदी लिखता हूँ. और मैं ये सोचता हूँ कि आज हिंदी साहित्य में मेरी और मेरी नज्मो की  कोई पहचान है तो वो सिर्फ हिंदी की वजह से ही है .. और हिंदी का ये अहसान मैं ताउम... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   5:19am 25 Jul 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
और यकीन मानिए दोस्तों  कि आज भले ही भी कितना ही बुरा क्यों न हुआ हो और आज मन में कितनी ही कड़वाहट क्यों न हो, यह ज़िंदगी चलती रहती है और आनेवाला कल पक्का खुशगवार होगा... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   1:20am 20 Jul 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
मेरे प्रिय मित्रो ,कल मैं शाम को बहुत उदास था, राजेश खन्ना की मृत्यु के कारण . मुझे याद है , इंजीनियरिंग के पढाई के वक़्त मैं उनकी फिल्मो के गाने गाता था. लेकिन आज आनंद चला गया . लेकिन आनंद जैसे किरदार कभी नहीं मरते ..हमारे दिलो में रहते है . मैंने कल उनकी फिल्मो के गाने अपने द... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   12:59am 20 Jul 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
.......और मैं अब भी उस बारिश का इन्तजार कर रहा हूँ.....धुंध के बादल अब वापस जाने लगे है ... सोचते रहता हूँ. कि ....कोई किसी आसमां से मेरा नाम तो लेकर पुकारे.............क्योंकि अब जीवन की  उदास राहे एक मरे हुए शरीर के बोझ को ढोते ढोते थक गयी है ............पर एक  उम्मीद  है  कि कोई सूरज बनकर जरुर आयेंग... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   5:27am 19 Jul 2012 #सपने
Blogger: vijay kumar sappatti
ज़िन्दगी और मौत उपरवाले के हाथ है जहाँपनाह , जिसे ना आप बदल सकते है ना में . हम सब तो रंगमंच की कटपुतलिया हैं , जिसकी डोर उपरवाले के हाथ बंधी है . कब , कौन , कैसे उठेगा , यह कोई नहीं जानता...!   हा हा हा ....बाबू मोशाय ....भले ही तुम कहो " I HATE TEARS " लेकिन आज मन में तुम्हारे लिये आंसू ही है ... त... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   11:43am 18 Jul 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
मेरे उम्र के कुछ दिन , कभी तुम्हारे साडी में अटके तो कभी तुम्हारी चुनरी में ....कुछ राते इसी तरह से ; कभी तुम्हारे जिस्म में अटके तो कभी तुम्हारी साँसों में .....मेरे ज़िन्दगी के लम्हे बेचारे बहुत छोटे थे.वो अक्सर तुम्हारे होंठो पर ही रुक जाते थे.फिर उन लम्हों के भी टुकड़े हुए ह... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   4:31am 11 Jul 2012 #यादे
Blogger: vijay kumar sappatti
किसी साहिल पर मिलने का वादा करके तुम चली गयी थी .बड़े जन्म बीत गये ...मैं अब वही खड़ा हूँ. जहाँ तुम मुझे छोड़ गयी थी .न वो साहिल मिला और न ही तुम. ....!... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   2:07am 9 Jul 2012 #यादे
Blogger: vijay kumar sappatti
संसार की सबसे छोटी प्रेमकथा सिर्फ एक ही शब्द में कही जाती है और वो शब्द है ....... [ """""काश """"""" ]... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   5:39am 29 Jun 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
ज़माने की आबोहवा को लग गयी है नज़रआजकल लोग यूँ ही बेवजह दुःख देते है ......!...खुदा आज फिर तेरी ज़रूरत है .. आजा .....!! ... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   6:02am 27 Jun 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
अकेलापन चुभता है किसी कैक्टस  की तरहऔर डसता  है एक ज़हरीले  नाग की तरह भी ;भीड़ की शोर मचाती हुई तन्हाईयाँमन को कोई सावन नहीं दिखलातीअकेलापन अब जीवन का बन गया है पर्यायमृत्यु ; क्या तुम भी इतनी ही दुखदायी होंगी ?... Read more
clicks 146 View   Vote 1 Like   5:51am 12 Jun 2012 #सपने
Blogger: vijay kumar sappatti
.......तुम्हारा मेल दोस्ती की हद को छु गया दोस्ती मोहब्बत की हद तक गई !मोहब्बत इश्क की हद तक !और इश्क जूनून की हद तक !.......अमृता प्रीतम... Read more
clicks 129 View   Vote 1 Like   5:52am 11 Jun 2012 #सपने
Blogger: vijay kumar sappatti
न होते फ़ासलों के शहर में हम,तो फिर मिलना बहुत आसान होता |-सरशार सिद्दीकी... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   12:22am 10 Jun 2012 #समय
Blogger: vijay kumar sappatti
एक नज़्म से दूसरी नज़्म के दरमियान मैं कई जन्म जी लेता हूँ ...सच्ची ...हर नज़्म मेरे लिये एक नयी प्रसव पीड़ा को लेकर आती है . और जब वो नज़्म बनती है तो मैं ऐसे खुश होता हूँ , जैसे कोई माँ अपने नवजात बच्चे को देखकर होती होंगी ......किस्से कहानिया ....नज्मे और बाते .. सब कुछ दिल से लिखता हूँ .. ... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   7:34am 9 Jun 2012 #
Blogger: vijay kumar sappatti
ईश्वर जरुर एक स्त्री है ...वह इतना दयालु जो है .... Read more
clicks 164 View   Vote 0 Like   7:32am 9 Jun 2012 #खुदा
Blogger: vijay kumar sappatti
अभी अभी खुदा से / खुद से बाते करते हुए लिखा .....!थक गया खुदा मैं ,तेरे सजदे में झुक झुक कर या तो तुम दुनिया बदल दे, या मुझे !और अगर हो सके तो खुद को ही बदल डालकि तेरी दुनिया को अब लग गयी है नज़र , खुदा मेरे.... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   10:04am 8 Jun 2012 #जीवन
Blogger: vijay kumar sappatti
पाकिस्थान के एक शायर मजहर -उल - इस्लाम ने कभी लिखा था :ऐ खुदा ! अदीबो के कहानियो और कलमो मेंसच्चाई , अमन और मोहब्बत उतार !ऐ खुदा ! लालटेन की रौशनी में लिखी हुईइस दुआ को कबूल कर !आईये दोस्तों , हम अपनी कलम में सिर्फ दोस्ती और प्यार का रंग भरे !... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   8:41am 6 Jun 2012 #जीवन
Blogger: vijay kumar sappatti
कभी कभी यादे बहुत सताती है ......इतना ज्यादा कि लगता है जिंदगी एक फैसला कर ही ले ...या तो यादे या तो जिंदगी .....क्योंकि जब यादे ;याद आती है तो जीने की कोई वजह समझ नहीं आती ..... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   4:22am 20 May 2012 #यादे

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194336)