POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ENDEAVOUR, एक प्रयास

Blogger: Anshuman Aashu
कमरे के कोने में बैठाशायद घंटों बीत गए थे,एक और शाम यूँही ढल गयी थीशायद बाहर अँधेरा हो आया था.कोई फर्क नहीं पड़ता,बाहर के अँधेरे से,अब डर नहीं लगता.आदत सी हो गयी है.आखिर मन में अँधेरा ही तो है.मन में अँधेरा?सचमुच?नहीं, अँधेरे की आदत नहीं लगीबस अब महसूस नहीं होता,यादों के उज... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   2:45pm 26 Nov 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
बिहारी चुनाव समर आज आखिरकार अपने अंतिम पड़ाव पर पहुँच गया. वोटों की गिनती और परिणाम घोषित होने के साथ पूर्ण बहुमत की सरकार बनने का रास्ता साफ़ हो गया. नीतीश कुमार नीत जदयू-भाजपा गठबंधन की सरकार के शपथ लेते ही एक महीने से चल रही इस पूरी लीला का पटाक्षेप हो जायेगा. आज घ... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   3:42pm 24 Nov 2010 #Thoughtful
Blogger: Anshuman Aashu
तीन कमरे का एक छोटा सा मकान. छोटे-छोटे कमरे, सब मिलकर एक कमरे के बराबर. 5 लोगों का परिवार. 1-2 की संख्या में अतिथि हमेशा मौजूद. एस्बेस्टस की छत. ऊंचाई इतनी कि एक पंखा भी न टाँगा जा सके. जेठ की झुलसती गर्मी में बदहवास होते बच्चों पर तरस खाकर मकान-मालिक ने एक पुराना-खटारा टेब... Read more
clicks 132 View   Vote 0 Like   8:40pm 21 Nov 2010 #Personal
Blogger: Anshuman Aashu
कई बार आपने देखा होगा किसी किशोर या किशोरी को कि अचानक उनमे कुछ बदलाव आ जाता है. उनकी ज़िन्दगी में उनके परिवार से ज्यादा अहमियत किसी और की हो जाती है. बताने की जरुरत नहीं कि किसकी. अचानक पिता का रोकना-टोकना खटकने लगता है. माँ से एक दूरी सी बन जाती है. घर के मामलों से ज्याद... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   6:03pm 8 Nov 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
जी हाँ! बिहार के विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में कल हमारे यहाँ पटना में भी चुनाव हुए. हालांकि बालिग़ हुए 4 साल हो गए हैं, मगर मतदान करने का मौका पहली बार ही मिला. 2009 के आम चुनाव के समय बालिग़ था मगर निर्वाचन आयोग की लापरवाहियों की वजह से न मतदाता सूची में नाम चढ़ सका था ना ही म... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   10:58pm 1 Nov 2010 #Personal
Blogger: Anshuman Aashu
लगभग 3 साल से इस ब्लॉग पर सक्रिय हूँ. आज ये पोस्ट मेरी सौवीं पोस्ट बनकर आ रही है. जानता हूँ कि 3 साल के इस लम्बे सफ़र के लिए ये संख्या थोड़ी कम है, मगर देर आये दुरुस्त आये. इधर कुछ समय से इस पोस्ट के लिए मन में काऊंटडाउन चल रहा था और उम्मीद थी कि इसे एक स्पेशल पोस्ट बनाऊंगा. ... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   6:38pm 31 Oct 2010 #Masti
Blogger: Anshuman Aashu
आज का दिन हिन्दुस्तान में पत्नियों के लिए बहुत ही पवित्र और महत्वपूर्ण दिन था. करवा चौथ का व्रत, बिना पानी पिए चाँद के दीदार तक रहना और फिर चाँद के साथ अपने पति को देख कर उस व्रत को तोड़ना, भारत के एक बड़े हिस्से में पत्नियों के लिए एक महापर्व है. ऐसी परम्परा भारत में कब से ... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   7:00pm 26 Oct 2010 #Personal
Blogger: Anshuman Aashu
ज़िन्दगी के इस सफ़र मेंकई मोड़ हैं आते.कभी सूरज की रोशनीतो कभी अमावस की रातें.एक ऐसे ही मोड़ परआज खड़ा हूँ मैं,एक लम्बी सी सुरंग केबीचो-बीच पड़ा हूँ मैं.ज़िन्दगी के दो रौशन भागों कोजोडती ये लम्बी सुरंग,जीवन की रंगीनियों के बीचये अँधेरी बदरंग सुरंग.कल की मस्ती को पीछे ... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   5:17am 25 Oct 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
अभी अभी ब्लॉग की दुनिया में घूमते घूमते एक कविता मिली. 21वी सदी की औरत के बारे में कवयित्री काफी कुछ कह रही हैं. उनके मुताबिक़ 21वी सदी की औरत अब बेवकूफ नहीं बनती, वो चैट करती है, मर्दों से, उन्हें झांसे में रखती है अपनी सच्चाई के बारे में. ऐसा करके वो उनसे बदला लेती है जो सदि... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   6:48am 24 Oct 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
There are times when,Life throws at usInstances.To look into,To learn from,To observe,To conserve.There are times when,Life throws at usCircumstances.To understand itself,To struggle,To cope with,To emerge ultimately, the Winner.There are these same times when,Despite life throwing at usChances,We don't hold onto,We don't change,We don't improve,We remain what we were.The same person,Sometimes a fool,Sometimes arrogant,Sometimes an amateur,Most of the times, Errant and Ignorant!  ... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   6:17am 23 Oct 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
कल रात, फिर सेबिस्तर की सिलवटों में,बेचैनी की करवटों में.कई ख्याल,चंद सवाल.नींद के इंतज़ार में,मेज़ पर रखी घड़ी,टिक-टिक करती घुमती घड़ी की सुइयां,छत पर घूमता पंखा,हलकी सी बारिश में भींगीमिट्टी की भीनी -भीनी खुशबू,हल्की चलती हवाओं सेपत्तियों की सरसराहट.मन का क्या, निकल प... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   7:08am 22 Oct 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
उस शाम, राह परतुम्हारे साथ,नज़रें झुकाकर,ज़माने से बचाकरचल रहा था.कोई बात नहीं,कुछ ख़ास नहीं.बस चुपचाप.सिर्फ एक अहसास,सिर्फ दिल की एक आवाज़,कि पकड़ लूं तुम्हारा हाथ.कि ले चलूँ कहीं ज़माने से दूर.वहां जहाँ कोई नज़र न होवहाँ जहाँ किसी का कोई डर न हो.पर,झुकी नज़रों का वो डरम... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   6:49am 20 Oct 2010 #My own work
Blogger: Anshuman Aashu
वक़्त बदल गया, हम बदल गएमैं वही रह गया, तुम आगे निकल गए.सिर्फ एक साल ही तो छोटे थे तुमभाई से ज्यादा दोस्त होते थे तुम.साथ खेलना, साथ खाना, साथ उठना-बैठना,कभी कभी तो साथ इतना वक़्त बिताने के लिए मार तक खाना.दोस्ती की तकरार को भय्यारी से मिटा देनाभय्यारी की मुसीबतों को दोस्ती... Read more
clicks 132 View   Vote 0 Like   4:01am 9 Oct 2010 #Literary
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3993) कुल पोस्ट (195193)