POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: अपना पंचू

Blogger: lokendra singh rajput
 ज ब पत्रकारिता मिशन से हटकर प्रोफेशन हो गई हो तब सिद्धांतों को लेकर काम करना किसी के लिए भी आसान नहीं होता। आपके पास दो ही विकल्प हैं, या तो आप सिद्धांत चुनिए या फिर पत्रकारिता करिए। हालांकि बीच का रास्ता भी कुछ लोग निकालते हैं लेकिन बीच का रास्ता ज्यादा लम्बा नहीं हो... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   3:30am 27 Oct 2014 #मीडिया विमर्श
Blogger: lokendra singh rajput
 आ प सबने निश्चित ही चमत्कारी पत्थर पारस की खूबी के बारे में सुना होगा। पारस से जंग लगे लोहे को स्पर्श भी करा दिया जाए तो वह चौबीस कैरेट का खरा सोना बन जाता है। पत्रकारिता और साहित्य के क्षेत्र में विष्णु नागर ऐसा ही एक नाम है। उन्होंने जिस काम को भी हाथ लगाया, वे ख्याति... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   3:30am 18 Oct 2014 #मीडिया विमर्श
Blogger: lokendra singh rajput
 स्प ष्ट सोच, तर्कपूर्ण बात, साफगोई और बेबाकी का अद्भुत समन्वय अभय कुमार दुबे है। जब हम टीवी चैनल्स पर होने वाली लाइव बहस देखते हैं तो चख-चख तौबा-तिल्ला के बीच सार्थक बात और जनमानस से जुड़े सवालों की उम्मीद अभय कुमार दुबे से रहती है। वे इस भरोसे को निभाते भी हैं। जनता को... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   10:09am 16 Oct 2014 #मीडिया विमर्श
Blogger: lokendra singh rajput
 ब ल्देव भाई शर्मा के नाम में ही 'भाई'नहीं बल्कि उनके व्यवहार में भी अपने अधीनस्थों और सहयोगियों के प्रति बड़े भाई जैसा लाड़-प्यार रहता है। अपने इसी व्यवहार और विश्वास के बलबूते बल्देवभाई शर्मा ने हिन्दी पत्रकारिता में सम्मानित स्थान सुनिश्चित किया है। संयमित और अन... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   11:53am 15 Oct 2014 #मीडिया विमर्श
Blogger: lokendra singh rajput
 स ब जानते हैं कि नदियों के किनारे ही अनेक मानव सभ्यताओं का जन्म और विकास हुआ है। नदी तमाम मानव संस्कृतियों की जननी है। प्रकृति की गोद में रहने वाले हमारे पुरखे नदी-जल की अहमियत समझते थे। निश्चित ही यही कारण रहा होगा कि उन्होंने नदियों की महिमा में ग्रंथों तक की रचना क... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   8:18am 7 Oct 2014 #जल संकट
Blogger: lokendra singh rajput
 द शहरा प्रतीक का पर्व है। बुराई की हार और अच्छाई की जीत का प्रतीक पर्व। शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा की साधना, उपासना के साथ ही आध्यात्मिक और सद्शक्तियों के जागरण के पर्व नवरात्र के दौरान ही बुराइयों के पिण्ड रावण को जलाने के लिए सब ओर तैयारियां शुरू हो जाती हैं। मोहल्ल... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   5:41am 3 Oct 2014 #राम
Blogger: lokendra singh rajput
"नायिका"में प्रकाशित कहानी "बंटवारा" आ ज वेद बहुत खुश है। कमीज एक ओर पेंट में दबी है तो दूसरी ओर से निकली हुई है। उछलते हुए, नाचते हुए और खुशी से चिल्लाते हुए वह स्कूल से घर की ओर चला जा रहा है। अपनी मस्ती में, बस्ते को लहराते हुए वेद बढ़ा चला जा रहा है। आनंद विहार में उसके घ... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   8:42am 20 Sep 2014 #सभ्यता और संस्कृति
Blogger: lokendra singh rajput
कमोडिटीज कंट्रोल डॉट कॉम के सम्पादक कमल शर्मा से बातचीत 'स मय परिवर्तनशील है। जब आप समय के साथ जुड़ते हैं तो आपका विकास निश्चित है। बदलाव को समझिए और उसके साथ हो लीजिए, यह ही जीवन है। समूची पत्रकारिता में आ रहे बदलाव को हम सब महसूस कर रहे हैं। वेब मीडिया एक क्रांतिकारी... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   7:25am 17 Sep 2014 #मीडिया
Blogger: lokendra singh rajput
 भा रतीयों के लिए खुशी की बात है कि उनका प्रधानमंत्री दुनिया से हिन्दी में बात कर रहा है। हिन्दी के सौंदर्य, सौम्यता और समृद्धि से दुनिया को परिचित करा रहा है। विदेशी भाषा में बोलने वाले भारत का सिर, अब स्वाभिमान से थोड़ा ऊंचा हुआ है। अपनी भाषा में संवाद करके वह गौरव क... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   12:28pm 11 Sep 2014 #भाजपा
Blogger: lokendra singh rajput
 भा रतीय संस्कृति में पुरातनकाल से ही अपने शिक्षकों के आदर-सम्मान की परम्परा चली आ रही है। हिन्दुस्थान में शिक्षकों को देवतुल्य बताया गया है। विद्यार्थी उन्हें ब्रह्मा, विष्णु और महेश के रूप में पूजते रहे हैं। समाज में उनका सर्वोच्च स्थान रहा है। लेकिन, क्या आज ऐसी ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   12:06pm 4 Sep 2014 #शिक्षा व्यवस्था
Blogger: lokendra singh rajput
 हि न्दू कौन हैं? भारत में रहने वाला प्रत्येक निवासी हिन्दू है क्या? क्या भारत के मुस्लिम और ईसाई सम्प्रदाय के लोग भी हिन्दू होंगे? क्या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहनराव भागवत का कथन उचित है? ऐसे ही तमाम सवालों पर हम कुछ देर बाद लौटेंगे और जवाब टटोलने का प्... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   4:30am 2 Sep 2014 #विचारधारा
Blogger: lokendra singh rajput
भोपाल स्थित इंदिरा गाँधी मानव संग्रहालय में कई प्रकार के मुखौटों की प्रदर्शनी मैं नहीं जानता सत्य क्या हैऔर असत्य क्या? बस जानता हूं इतनाजो जी रहा हूं सत्य हैपर मृत्यु को झुठला रहा हूं, वह असत्य है। सत्य-असत्य बीच में बहुत बारीक-सा पर्दा हैजो उठ गया सत्य हैजो छु... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   5:00am 1 Sep 2014 #सत्य-असत्य
Blogger: lokendra singh rajput
पत्तों की खडख़ड़ाहटकोयल की कूक सुनी है। नीम के आंचल से चारों ओर ठण्डी हवा चली है।बादल गरजा हैबिजली कड़की हैनृत्यरत मोर देखने भीड़ बहुत उमड़ी है। बाजे ताल, मृदंगशंख ध्वनि पड़ी सुनाई है।बीती काली रात नई सुबह आई है। चिडिय़ों ने कलरव सेमातृवंदना गाई है।सूरज की ... Read more
clicks 94 View   Vote 0 Like   7:10am 28 Aug 2014 #भारत वैभव
Blogger: lokendra singh rajput
उठ जाग मातृ भू की सुप्त नव संतान रे।उठ जाग मातृ भू की वीर संतान रे।। क्यों आत्म विस्मृत हो रहाअपना अस्तित्व पहचान रे।अपने सुकर्म, स्वधर्म सेकर राष्ट्र का पुनरुत्थान रे।उठ जाग मातृ भू की राणा-सी वीर संतान रे।। कर मातृ भू की सेवातन-मन-धन-प्राण से।ले अंगड़ाई आलस्य नि... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   6:27am 23 Aug 2014 #भारत वैभव
Blogger: lokendra singh rajput
मितावली स्थित चौसठ योगिनी शिवमंदिर  अ तुलनीय भारत का दिल बेहद खूबसूरत है। घुमक्कड़ी के शौकीनों के लिए मध्यप्रदेश में कई ठिकाने हैं। यह अलग बात है कि कई शानदार पर्यटन स्थल अब भी पर्यटकों की बाट जोह रहे हैं। मुरैना जिले के मितावली गांव में स्थित चौसठ योगिनी शिवमंदि... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   6:57am 14 Aug 2014 #ग्वालियर
Blogger: lokendra singh rajput
वरिष्ठ समालोचक डॉ. विजय बहादुर सिंह  दे श के जाने-माने समालोचक और बुद्धिजीवी विजय बहादुर सिंह का समाज में बड़ा आदर है। हजारों लोगों की तरह मैं स्वयं भी उनका मुरीद हूं। उनकी ओजस्वी वाणी और सशक्त लेखनी सदैव समाजहित में कुछ नया रचने-करने को उद्देलित करती है। भोपाल में ... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   7:12am 17 Jul 2014 #मीडिया चौपाल
Blogger: lokendra singh rajput
 सो लहवीं लोकसभा का आम चुनाव अपने आप में अनोखा था। भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में यह पहला मामला था जब समस्त राजनीतिक दल सत्ताधारी पार्टी के खिलाफ न होकर एक विपक्षी पार्टी के खिलाफ मोर्चाबंदी कर रहे थे। भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को घेर... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   11:14am 3 Jul 2014 #आरएसएस
Blogger: lokendra singh rajput
 भा रत १५ अगस्त, १९४७ को आजाद हुआ। प्रधानमंत्री की कुर्सी हासिल करने में जवाहरलाल नेहरू ने सफलता पाई। हालांकि देश सरदार वल्लभ भाई पटेल को अपना मुखिया चुनना चाहता था और चुना भी था। लेकिन, महात्मा गांधी की भूल कहें या जवाहरलाल नेहरू की जिद, सरदार को सदारत नहीं मिल सकी। ब... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   10:35am 27 Jun 2014 #महात्मा गांधी
Blogger: lokendra singh rajput
 ते ज रफ्तार इलेक्ट्रोनिक मीडिया के महत्वपूर्ण और प्रमुख संवाददाता की जिंदगी भागम-भाग की होती है। वह भारत की वाचक परंपरा का प्रतिनिधि होता है। नियमित लेखन के लिए समय निकालने वाले इलेक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकार विरले ही होते हैं। एबीपी न्यूज के मध्यप्रदेश के ब्यूर... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   11:26am 19 Jun 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: lokendra singh rajput
लेखक लोकेन्द्र सिंह की पुस्तक 'देश कठपुतलियों के हाथ में'विमोचित ग्वालियर, २४ मई।पत्रकारिता सिर्फ सूचनाओं का संप्रेषण नहीं होना चाहिए। पत्रकारिता में संवेदनशील लेखन होना चाहिए। आज देश में जिस प्रकार से पत्रकारिता और राजनीति में विकृतियां उत्पन्न हो रही हैं, उनक... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   12:13pm 26 May 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: lokendra singh rajput
 न तीजे साफ हैं। एकदम खुला खेल फर्रुखाबादी टाइप। नरेन्द्र मोदी सरकार बनाएंगे। जनता ने उन्हें पूर्ण बहुमत दिया है। जनता ने मोदी के लिए अपना दिल खोलकर रख दिया है। भाजपा सरकार बनाएगी, यह जानबूझकर नहीं लिखा है क्योंकि सारा कमाल मोदी ब्रांड का है। नरेन्द्र मोदी की रणनीत... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   3:05pm 16 May 2014 #आम चुनाव-2014
Blogger: lokendra singh rajput
 पि ताजी बेहद सख्त हैं। नारियल की तरह कठोर। अंतर्मन से नरम हैं या नहीं, कह नहीं सकता, क्योंकि कभी पिताजी के भीतर झांककर नहीं देखा। लेकिन, मां का व्यवहार बेहद मुलायमियत भरा है। उसकी तुलना नहीं की जा सकती। मां सृष्टि का केन्द्र है। खुदा है। भगवान है। जब भी ऐसा लगता था कि अ... Read more
clicks 51 View   Vote 0 Like   6:21am 11 May 2014 #प्रसंगवश
Blogger: lokendra singh rajput
 'या र अखिल तेरे पास मैसेज आया क्या? समाजसेवी रूपेन्द्र गुप्ता की मां का निधन हो गया है। कल सुबह १० बजे शवयात्रा है।'सुनील शर्मा ने अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन के भीतर झांकते हुए कहा।          सब स्तब्ध रह गए। टीवी सेट के सीमित वोल्यूम के बावजूद न्यूज चैनल का वो द... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   11:03am 25 Apr 2014 #
Blogger: lokendra singh rajput
 लो कतंत्र एक ऐसी व्यवस्था है जिसकी सफलता और विफलता का दारोमदार आम जनता पर होता है। जनता अपने मताधिकार का उपयोग कर अच्छे लोगों को चुनकर सदन में भेज सकती है। ये अच्छे लोग अच्छी सरकार चलाएंगे। यदि जनता गलत लोगों के चुने जाने में मदद करेगी तो लोकतंत्र का मंदिर (संसद) अपवि... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   8:17am 17 Apr 2014 #राजनीति
Blogger: lokendra singh rajput
 लो कतंत्र की सबसे अनूठी बात यह है कि इसमें सबको समान रूप से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। अन्य तरह की किसी भी शासन व्यवस्था में इस कदर आजादी नहीं है। दरअसल, लोकतंत्र की ताकत आम जनता में निहित है। लोकतंत्र के संचालन का सूत्र लोगों के हाथ में होता है। लोकतंत्र की सफलता औ... Read more

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194331)