POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: इस्लामहिंदी.कॉम

Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
शायद आपको जानकर हैरत हो कि वुजू स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद फायदेमंद और कारगर है। नमाज से पहले पांच वक्त वुजू बनाने से इंसान ना केवल कई तरह की बीमारियों से बचा रहता है बल्कि वह तंदुरुस्त और एक्टिव  बना रहता है।ऐ ईमान वालो! जब तुम नमाज के लिए तैयार हो तो अपने मुंह और कोहनि... Read more
clicks 239 View   Vote 0 Like   4:31am 24 Mar 2013 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
हलाला शरियत का कानून नहीं है बल्कि इस्लाम के खिलाफ है। मैंने अपने लेख में बताया था कि इस्लाम के अनुसार तलाक़ क्या होती है और एक बार तलाक़ होने के बाद कोई भी महिला अपनी मर्ज़ी से दूसरा विवाह करने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र होती है।हाँ अगर किसी महिला की या उसके पति की उससे नह... Read more
clicks 352 View   Vote 0 Like   5:06am 18 Oct 2012 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
अमरीका के शिकागो स्थित बालरोग पर शोध करने वाली संस्था ‘द अमरीकन एकेडेमी ऑफ पीडीऐट्रिक्स ने अपने ताजा बयान में कहा है कि नवजात बच्चों में किए जाने वाले खतना या सुन्नत के सेहत के लिहाज से बड़े फायदे हैं। सच भी है कि समय-समय पर दुनियाभर में हुए शोधों ने यह साबित किया है कि ... Read more
clicks 342 View   Vote 1 Like   7:00am 25 Sep 2012 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
साकार या निराकार की अवधारणा की जगह, वह कुरआन में अपने बारे बताता है कि: Say: He is Allah, the One and Only! Allah, the Eternal, Absolute; He begetteth not nor is He begotten. And there is none like unto Him. [112:1-4] कहो: “वह अल्लाह यकता (अकेला ) है, अल्लाह निरपेक्ष (और सर्वाधार) है, न वह जनिता है और न जन्य (अर्थात न वह किसी का बाप / माँ है और न बेटा / बेटी), और न कोई उ... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   6:08am 2 Nov 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
पैग़म्बरे इस्लाम (स.) की एक सौ हदीसें लिख रहें हैं, जिन पर अमल कर के हम अपनी दीनी व दुनयवी ज़िन्दगी को कामयाब बना सकते हैं।  1.       आदमी जैसे जैसे बूढ़ा होता जाता है उसकी हिरस व तमन्नाएं जवान होती जाती हैं। 2.       अगर मेरी उम्मत के आलिम व हाकिम फ़ासिद होंगे तो उम्मत फ़ासिद ... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   6:09pm 7 Aug 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
आमतौर पर यह समझा जाता है कि इस्लाम 1400 वर्ष पुराना धर्म है, और इसके ‘प्रवर्तक’ पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल॰) हैं। लेकिन वास्तव में इस्लाम 1400 वर्षों से काफ़ी पुराना धर्म है; उतना ही पुराना जितना धरती पर स्वयं मानवजाति का इतिहास और हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰) इसके प्रवर्तक (Founder) नहीं, बल्क... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   9:35am 12 Jul 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
क्या इस्लाम के अनुसार प्यार की कहानी के बाद की जाने वाली शादी अधिक ठीक है या वह शादी जिसे परिवार के लोग संगठित करते हैं ?हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान केवल अल्लाह के लिए योग्य है।इस शादी का मामला इस आधार पर भिन्न होता है कि वह प्यार इस (शादी) से पूर्व कैसा था। यदि दोनों प... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   8:56am 8 Jul 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
कुछ दिनों पहले मेरा जाना बाराबंकी हुआ तो वहाँ जनाब रिजवान मुस्तफा के अनुरोध पे एक मजलिस  एहुसैन (अ.स) को सुनने का मौक़ा मिला. अरविन्द विद्रोही जी भी वहाँ मजूद थे जिनको  मैंने  वहाँ बड़े ध्यान सेडॉ कल्बे सादिक को सुनते देखा था. आज उनका यह लेख देख के अच्छा लगा. पेश है अमन और शा... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   1:58am 7 Jul 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
कुछ लोग सवाल उठाते हैं कि ईश्वर ‘इंसाफ के दिन’ अर्थात ‘क़यामत’ का इंतजार क्यों करता है, आदमी इधर हलाक हुआ उधर उसका हिसाब करे.अल्लाह ने इन्साफ का दिन तय किया, जहाँ वह सभी मनुष्यों को एक साथ इकठ्ठा करेगा ताकि इन्साफ सबके सामने हो। यह इसलिए भी हो सकता है, क्योंकि बहुत से पुन... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   8:17am 5 Jul 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
दास्ताने कर्बला मैं उन्होंने सबसे पहले इमाम हुसैन (अ.स) के बारे मैं बताया फिर उनकी जंग यजीद से क्यों हुई और कैसे कैसे यजीद ने ज़ुल्म धाये इसका ज़िक्र बखूबी किया है. उन्सको पढने के बाद कोई भी शख्स जो इंसान का दिल रखता है उसकी आँखों मैं आंसू अवश्य आ जाएंगे. मैं उनकी किताब के ए... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   10:19am 14 Jun 2011 #दावत-ओ-तबलीग
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
प्रसिद्ध इस्लामी बुद्धिजीवी मौलाना वहीदुद्दीन खान की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि उनके संदेशों में शांति को प्राथमिकता दी जाती है। यही कारण है कि जब अयोध्या में विवादित ढांचे के ध्वस्तीकरण को लेकर पूरे देश में तूफान मचा हुआ था और लगभग सभी मुसलमान नेता गुस्से में तमतमा... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   10:32am 28 May 2011 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
छब्बीस नवंबर 2008 को मुंबई ने आतंकी हमलों का सबसे बुरा रूप देखा। दस आतंकवादी कई इमारतों में घुस गए, अंधाधुँध गोलियाँ चलाईं और कितने ही लोग मारे गए और जख्मी भी हुए। कहा जाता है कि पैगम्बर मोहम्मद के दौर में एक शख्स था। उसका मुख्य काम यही था कि पैगम्बर के बारे में अनाप-शनाप ब... Read more
clicks 239 View   Vote 0 Like   4:49am 30 Dec 2010 #Headline
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
हालांकि ये बात सभी गतिशील वस्तुओं पर लागू होती है, लेकिन चूंकि इलेक्ट्रान की गति बहुत ज्यादा होती है और पोजीशन मापने की दूरियां बहुत ही छोटी यूनिट में होती हैं, इसलिए अनिश्चितता को अनदेखा नहीं किया जा सकता। तो फिर जब हम इलेक्ट्रान की गति और पोजीशन से सम्बंधित कोई कथन... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   10:30am 24 Dec 2010 #इस्लाम और विज्ञान
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
इस्लाम में पडोसी के साथ अच्छे व्यवहार पर बडा बल दिया गया है। परन्तु इसका उद्देश्य यह नहीं है कि पडोसी की सहायता करने से पडोसी भी समय पर काम आए, अपितु इसे एक मानवीय कर्तव्य ठहराया गया है, इसे आश्यक क़रार दिया गया है और यह कर्तव्य पडोसी ही तक सीमित नहीं है बल्कि किसी साधारण... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   2:20am 23 Dec 2010 #दावत-ओ-तबलीग
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
साइंस के कण्टराडिक्शन : इससे पहले कि हम खुदा के बारे में विरोधाभासों के जवाब ढूंढें, हमें एक और सवाल का जवाब ढूंढना होगा कि क्या वास्तव में साइंस के अन्दर कोई कण्टराडिक्शन नहीं है? क्या साइंस का हर सिद्धान्त तार्किक दृष्टि से पूर्ण है? अगर साइंस का गहराई के साथ अध्ययन ... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   4:30am 17 Dec 2010 #इस्लाम और विज्ञान
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
खुदा के वजूद के कन्टराडिक्शन :बात हो रही थी कन्टराडिक्शन की। जब हम खुदा या गॉड के अस्तित्व की बात करते हैं तो बहुत से कन्टराडिक्शन पैदा हो जाते हैं। जो खुदा के वजूद को नकारते हुए महसूस होते हैं। और नास्तिकों के लिए दलीलों का काम करते हैं। कुछ कन्टराडिक्शन जो खुदा के ... Read more
clicks 234 View   Vote 0 Like   4:30am 10 Dec 2010 #इस्लाम और विज्ञान
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
वैज्ञानिक पर्वतों के महत्व को समझाते हुए कहते हैं कि यह पृथ्वी को स्थिर रखने के लिए महत्त्वपूर्ण हैं:‘पर्वतों में अंतर्निहित जड़ें होती है. यह जड़ें गहरी मैदान में घुसी हुई होती हैं, अर्थात, पर्वतों का आकार खूंटो अथवा कीलों की तरह होता है. पृथ्वी की पपड़ी 30 से 60 किलोमीट... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   2:30am 9 Dec 2010 #इस्लाम और विज्ञान
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
इस्लाम ने ब्याजखोरी का भी तीव्र निषध किया है । सिर्फ़ चोरी न करना इतना ही नहीं , आपकी आजीविका भी शुद्ध होनी चाहिए । गलत रास्ते से की गई कमाई को शैतान की कमाई कहा गया है । इसीलिए ब्याज लेने की भी मनाही की गई है । कहा गया है कि सूद पर धन मत दो , दान में दो ।मोहम्मद साहब को दर्शन ... Read more
clicks 239 View   Vote 0 Like   4:30am 4 Dec 2010 #शिक्षा
Blogger: इस्लामहिंदी.कॉम
लेकिन एक बड़ा दायरा ऐसा है जो हर मान्यता को विज्ञान के तर्कों और एक्सपेरीमेन्ट की कसौटी पर परखता है। और उन बातों को पूरी तरह नकार देता है जो उन तर्कों के विरुद्ध होती हैं। एक शब्द होता है कांट्राडिक्शन (contradiction)। जिसमें कोई कथन (Statement) किसी दूसरे कथन को झूठा या गलत करार दे दे... Read more
clicks 216 View   Vote 0 Like   4:30am 3 Dec 2010 #इस्लाम और विज्ञान
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194994)