POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Daily Bread-रोज़ की रोटी

Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के गुण (1) - प्रभु के वचनों में बना रहता है       पिछले लेखों में हमने मरकुस 3:14-15 से प्रभु के अपने शिष्यों के लिए तीन प्रयोजनों को देखा था, कि शिष्य प्रभु के साथ रहें, और जब तथा जहाँ भी प्रभु उन्हें भेजे, वहाँ जाकर वह प्रचार करें जो प्रभु उन्हें करने को क... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   3:00pm 25 Oct 2021 #मसीही विश्वास
Blogger: rozkiroti
    मसीही विश्वासी के प्रयोजन (7) - प्रचार के लिए तैयार (2)प्रभु यीशु मसीह का, मरकुस 3:14-15 में, अपने शिष्यों के लिए दूसरा प्रयोजन था“वह उन्हें भेजे, कि प्रचार करें”, और हमने इसके तीसरे भाग, शिष्य“प्रचार करें” को पिछले लेख में देखना आरंभ किया। अपने स्वर्गारोहण के समय प्रभु ... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   3:00pm 23 Oct 2021 #प्रचार
Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के प्रयोजन (6) - प्रचार के लिए तैयार (1)मसीही विश्वास एवं शिष्यता के अध्ययन के अंतर्गत हम मरकुस 3:14-15 से प्रभु यीशु द्वारा अपने शिष्यों के लिए रखे गए प्रयोजनों पर मनन कर रहे हैं। शिष्यों के लिए प्रभु के दूसरे प्रयोजन“वह उन्हें भेजे, कि प्रचार करें” के पहले और द... Read more
clicks 5 View   Vote 0 Like   3:00pm 22 Oct 2021 #प्रचार
Blogger: rozkiroti
     मसीही विश्वासी के प्रयोजन (5) - जाने को तैयार मसीही विश्वास एवं शिष्यता के अंतर्गत हम मरकुस 3:14-15 से प्रभु द्वारा अपने शिष्यों के लिए रखे गए प्रयोजनों पर मनन कर रहे हैं। पिछली बार हमने प्रभु के दूसरे प्रयोजन“वह उन्हें भेजे, कि प्रचार करें” के पहले भाग को, कि प्रभु ... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   3:00pm 21 Oct 2021 #जब
Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के प्रयोजन (3)        पिछले लेखों में हमने देखा है कि मसीही विश्वासी का जीवन प्रभु के लिए उपयोगी होने और प्रभु के लिए कार्यरत रहने में सक्रिय जीवन होता है। प्रभु का अपने सभी अनुयायियों के लिए कुछ-न-कुछ प्रयोजन है। प्रभु द्वारा प्रत्येक के लिए निर... Read more
clicks 21 View   Vote 0 Like   3:00pm 19 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के प्रयोजन (2) पिछले लेख में हमने देखा था कि परमेश्वर का कोई कार्य कभी निरुद्देश्य नहीं होता है। वह स्वयं कार्यरत है, और अपने अनुयायियों से भी अपेक्षा करता है कि वे उसके लिए कार्यरत रहें। उसने अपने शिष्यों को उद्धार और मसीही विश्वास का जीवन व्यर्थ गँवा... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   3:00pm 18 Oct 2021 #जीवन
Blogger: rozkiroti
 मसीही विश्वासी के प्रयोजन (1) हमने पिछले लेखों में देखा है कि परमेश्वर के वचन बाइबल के अनुसार प्रभु यीशु का अनुयायी होना किसी धर्म का निर्वाह करना नहीं है; और न ही यह वंशागत - किसी परिवार विशेष में जन्म ले लेने के द्वारा स्वाभाविक रीति से और स्वतः ही प्राप्त हो जाने वा... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   3:00pm 17 Oct 2021 #कार्य
Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के गुण - अलगाव (2)       पिछले लेखों में हम पिन्तेकुस्त के दिन, पवित्र आत्मा से भर जाने के बाद पतरस द्वारा यरूशलेम में एकत्रित हुए“भक्त यहूदियों” को किए गए सुसमाचार प्रचार के प्रभावों को देखते आ रहे हैं। मसीह यीशु पर लाए गए विश्वास से प्राप्त होने ... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   3:00pm 15 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
 मसीही विश्वासी के गुण - अलगाव (1)       हम देखते आ रहे हैं कि पतरस द्वारा पिन्तेकुस्त के दिन संसार भर से धार्मिक पर्व मनाने और व्यवस्था की विधि को पूरा करने के लिए आए हुए“भक्त यहूदियों के हृदय छिद गए, और उन्हें इस बात का बोध हुआ कि उनकी यह धर्म-कर्म-रस्म की धार्म... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   3:00pm 14 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
 मसीही विश्वासी के गुण - पश्चाताप (2) पिछले लेख में हमने देखा था कि पतरस द्वारा पिन्तेकुस्त के दिन संसार भर से धार्मिक पर्व मनाने और व्यवस्था की विधि को पूरा करने के लिए आए हुए“भक्त यहूदियों के हृदय छिद गए, और उन्हें इस बात का बोध हुआ कि उनकी यह धर्म-कर्म-रस्म की धार्मि... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   3:00pm 13 Oct 2021 #धारणा
Blogger: rozkiroti
 मसीही विश्वासी के गुण - पश्चाताप (1)       पिछले लेखों में हमने परमेश्वर के वचन बाइबल की प्रेरितों के काम पुस्तक, जो प्रथम चर्च या मण्डली के आरंभ तथा गतिविधियों का संक्षिप्त इतिहास है, में से उस मण्डली के लोगों, अर्थात मसीही  विश्वासियों से संबंधित सात बातों ... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   3:00pm 12 Oct 2021 #धारणा
Blogger: rozkiroti
मसीही विश्वासी के गुण        पिछले लेखों में हमने परमेश्वर के वचन बाइबल की प्रेरितों के काम पुस्तक, जो प्रथम चर्च या मण्डली के आरंभ तथा गतिविधियों का संक्षिप्त इतिहास है, में से उस मण्डली के लोगों से संबंधित पाँच बातों को देखा, जिनमें वे“लौलीन” रहते थे। साथ ही ह... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   3:00pm 11 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
बपतिस्मा - गणित का समीकरण? (6)   पिछले लेखों में हमने देखा कि मसीही विश्वास के स्थान पर मसीही या ईसाई धर्म का निर्वाह करने वाले प्रेरितों 2:42 में दी गई मसीही विश्वासियों के लिए‘लौलीन’ रहने वाली चार बातों (वचन की शिक्षा पाना, संगति रखना, प्रभु-भोज में सम्मिलित होना, प्रा... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   3:00pm 10 Oct 2021 #धारणा
Blogger: rozkiroti
प्रभु भोज - गणित का समीकरण? (5)        पिछले लेखों में हम देख रहें हैं कि मसीही विश्वास के स्थान पर मसीही या ईसाई धर्म का निर्वाह करने वाले प्रेरितों 2:42 में दी गई मसीही विश्वासियों के लिए‘लौलीन’ रहने वाली चार बातों (वचन की शिक्षा पाना, संगति रखना, प्रभु-भोज में सम... Read more
clicks 51 View   Vote 0 Like   3:00pm 9 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
 संगति रखना - गणित का समीकरण? (4) पिछले लेख में हमने देखा कि मसीही विश्वास के स्थान पर मसीही या ईसाई धर्म का पालन करने वाले प्रेरितों 2:42 की चारों बातों (वचन की शिक्षा पाना, संगति रखना, प्रभु-भोज में सम्मिलित होना, प्रार्थना करना) को उद्धार या नया जन्म प्राप्त कर लेने के लि... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   3:00pm 8 Oct 2021 #एकता
Blogger: rozkiroti
   बाइबलअध्ययनऔरप्रार्थना - गणितकासमीकरण? (3)   पिछले लेख में हमने देखा कि प्रेरितों 2:42 की चारों बातों (वचन की शिक्षा पाना, संगति रखना, प्रभु-भोज में सम्मिलित होना, प्रार्थना करना) को उद्धार या नया जन्म प्राप्त कर लेने के लिए गणित के एक समीकरण के समान देखना, एक रस्म ... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   3:00pm 7 Oct 2021 #धारणा
Blogger: rozkiroti
  मसीहीविश्वास - गणितकासमीकरण? (2)      कल हमने मसीही विश्वास के स्थान पर मसीही धर्म या ईसाई धर्म के मानने वालों तथा उस धर्म की बातों को पूरा करने वालों में विद्यमान एक धारणा के बारे में देखा था - परमेश्वर को स्वीकार्य होने के लिए गणित के एक समीकरण के समान धारणा र... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   3:00pm 6 Oct 2021 #कर्म
Blogger: rozkiroti
 मसीहीविश्वास - गणितकासमीकरण? (1)पिछले दो लेखों का सम्मिलित निष्कर्ष था कि परमेश्वर के वचन बाइबल के अनुसार प्रभु यीशु मसीह पर विश्वास करने का अर्थ है यह ग्रहण करना और अपने जीवन में कार्यान्वित करना कि केवल और केवल प्रभु यीशु मसीह ही मुझे मेरे पापों से छुड़ा सकता है, सुर... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   3:00pm 5 Oct 2021 #धारणा
Blogger: rozkiroti
 मसीही में विश्वास (2)  कल हमने प्रभु यीशु मसीह में विश्वास करने के अर्थ को देखना आरंभ किया था। हमने इसे समझने के लिए परमेश्वर के वचन बाइबल में से दो पदों, मत्ती 1:21 और यूहन्ना 1:12 को लिया था। हमने मत्ती 1:12 के आधार पर कल यह देखा था कि प्रभु यीशु मसीह का जन्म ही लोगों को उनके ... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   3:19pm 4 Oct 2021 #ग्रहण
Blogger: rozkiroti
 मसीहीमेंविश्वास (1)       मसीही विश्वास एवं शिष्यता से संबंधित बातों को देखते हुए, हम पिछले दो लेखों से जान चुके हैं कि न तो मसीही विश्वास कोई धर्म है, और न ही किसी धर्म परिवर्तन की बात है, वरन आरंभिक मसीही विश्वासी स्वेच्छा से प्रभु यीशु मसीह की शिष्यता को स्... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   3:00pm 3 Oct 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
 आरंभिकमसीहीविश्वासी मसीही विश्वास और शिष्यता पर इस नई शृंखला के पहले लेख में हमने कल परमेश्वर के वचन बाइबल में दिए गए इस विषय से संबंधित कुछ मूल तथ्यों को देखा था। हमने देखा था कि प्रभु यीशु मसीह ने न तो कोई धर्म बनाया, न अपने शिष्यों से बनवाया, न किसी धर्म के प्रचार... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   3:00pm 2 Oct 2021 #क्षमा
Blogger: rozkiroti
मसीहीविश्वाससेसंबंधितकुछमूलतथ्य    पिछले लेखों में हम दो महत्वपूर्ण विषयों को देख चुके हैं कि (i) बाइबल को क्यों परमेश्वर का वचन कहा जाता है, तथा (ii) बाइबल के अनुसार पाप और उद्धार तथा इनमें निहित अभिप्राय क्या हैं, और इनसे जुड़ी हुई महत्वपूर्ण बातें क्या हैं। आज से ह... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   3:00pm 1 Oct 2021 #क्षमा
Blogger: rozkiroti
पाप का समाधान - उद्धार - 32 - कुछ संबंधित प्रश्न और उनके उत्तर (5)       पिछले 4 लेखों में हम प्रभु यीशु मसीह में विश्वास द्वारा मिलने वाली पापों की क्षमा, उद्धार, और नया जन्म पाने से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण और सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्नों को देखते आ रहे हैं। पिछल... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   3:00pm 30 Sep 2021 #क्लेश
Blogger: rozkiroti
पाप का समाधान - उद्धार - 26 - उद्धार के परिणाम, आशीषें, और सुरक्षा पिछले लेख में हमने देखा था कि प्रभु यीशु मसीह को स्वेच्छा और सच्चे मन से अपना उद्धारकर्ता ग्रहण करने और उसका शिष्य होकर उसकी आज्ञाकारिता में उसे समर्पित जीवन जीने का निर्णय लेने को ही उद्धार या नया जन्म ... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   3:00pm 24 Sep 2021 #उद्धार
Blogger: rozkiroti
 पाप का समाधान - उद्धार - 25 - उद्धार के परिणाम और नया जन्म पिछले लेख में हमने देखा कि किस प्रकार प्रभु यीशु मसीह ने समस्त मानवजाति के संपूर्ण पापों को अपने ऊपर लेकर, उनके लिए आवश्यक बलिदान और प्रायश्चित का कार्य प्रभु ने पूरा कर दिया; और अपने मृतकों में से पुनरुत्था... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   3:00pm 23 Sep 2021 #उद्धार
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3993) कुल पोस्ट (195281)