POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Apun Bola अपुन बोला

Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
बिहार में सत्ता की दूसरी पारी खेल रही नीतीश सरकार की प्राथमिकता सूची में जो शब्द सबसे ऊॅचा स्थान रखता है, वह है शिक्षा। प्राथमिकता सूची में यह शब्द सबसे ऊपर इसलिए है, क्योंकि वास्तविकता में यह सबसे नीचे है। सरकार ने सूबे में शिक्षा का स्तर ऊंचा करने के लिए अपने तरीके से... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   4:28pm 8 Feb 2013 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
धर्म व संस्कृति से जुड़ाव, किसी भी राष्ट्र का मूल मंत्र, मूल आधार है। यह उन नागरिकों के चरित्र निर्माण का भी मूल आधार है, जिनके कंधों पर खड़ा होकर कोई राष्ट्र विकास की सीढि़यां चढ़ता है। वर्तमान समय में, जब राष्ट्र का विकास सभी सरकारों के एजेंडे में शामिल है, भूलवश नागरि... Read more
clicks 169 View   Vote 0 Like   2:36pm 11 Jan 2013 #धर्म संस्‍थापनार्थाय
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
मोहब्‍बत कर मौत के अंजाम तक पहुंची सूब्‍बी- फाइल फोटोसारण जिले के बनियापुर थाना क्षेत्र के नगडीहा गांव निवासी शशिशेखर गिरि ने अपनी पुत्री की हत्‍या महज इसलिए कर दी क्‍योंकि उसने पड़ोसी गांव के दूसरी जाति के एक लड़के से मोहब्‍बत की थी। इंटर की छात्रा सूब्‍बी की लाश रि... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   7:56am 3 Sep 2012 #आनर किलिंग
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
प्रेम, योग, ज्ञान, शक्ति...। श्रीमदभागवत गीता के उपदेशकर्ता भगवान श्रीकृष्‍ण की महिमा-बखान को हमारे पास शब्‍द नहीं परंतु हमें यह विश्‍वास है कि वे हमारी बात बिन कहे ही जान लेंगे। उनके श्रीचरणों में हमारा प्रणाम और आप सभी को जन्‍माष्‍टमी की अनंत-अनंत शुभकामनाएं। आपका ,म... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   3:31pm 9 Aug 2012 #शुभकामनाएं
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
पहले सुपर स्‍टार राजेश खन्‍ना जी का आज निधन हो गया। उन्‍होंने कुछ घंटे पहले बांद्रा स्थित अपने घर 'आशीर्वाद' में अंतिम सांस ली। हम कभी उनसे मिले नहीं, इसका गम नहीं। गम तो इस बात का है कि अब हम उनसे कभी मिल भी नहीं सकेंगे। उनकी फिल्‍म- 'अराधना', 'अमर प्रेम', 'सफर', ... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   12:26pm 18 Jul 2012 #
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
दारा सिंह रन्धावा, जन्म: 19 नवम्बर, 1928 पंजाब, मृत्यु: 12 जुलाई 2012 मुम्बई13 जुलाई को सभी अखबारों की सुर्खियों में जो खबर थी, उसने हमें अंदर तक झकझोर कर रख दिया। स्‍वीकार नहीं कर पा रहे थे कि ऐसा हो सकता है जबकि हम जानते थे कि यह तो होना ही था। खबर दारा सिंह से संबंधित थी। वे 12 जुला... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   7:57am 16 Jul 2012 #
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
ताड़ना की अधिकारी कामिनी (काल्‍पनिक)गोस्‍वामी तुलसीदास की इन दो लाइनों पर अक्‍सर विवाद होता रहता है- ढोल गवार शुद्र पशु नारी, सकल ताड़ना के अधिकारी। आप पूछेंगे- अभी तो कोई विवाद नहीं? फिर, अभी इस पर चर्चा की क्‍या आवश्‍यकता? आपके मन में सहज ही उत्‍पन्‍न इस प्रश्‍न का जव... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   10:19am 6 Jul 2012 #समाज
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
श्रावण के पहले दिन छपरा शहर के धर्मनाथ मंदिर में जलाभिषेक करती श्रद़धालु महिलाऍंसूरज की पहली किरण अभी धरती को स्पर्श करने को मचल ही रही थी, सुबह भी अलसायी-अलसायी-सी थी..। परंतु, आस्था में डूबा जनमानस से अन्य दिनों की तरह आज पूजन-अर्जन के लिए सूर्योदय की प्रतीक्षा भी लंब... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   7:17am 5 Jul 2012 #धर्म संस्‍थापनार्थाय
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
श्रावण से एक दिन पूर्व गुरू पूर्णिमा पर छपरा स्थित पार्वती आश्रम में पूजा के लिए लगी महिला श्रद़धालुओं की कतारभगवान शिव की आराधना का पर्व- श्रावण मास आज से शुरू हो रहा है। रक्षाबंधन तक चलने वाले इस पर्व के लिए सारण जनपद क्षेत्र समेत देश के शिवालय विशेष पूजन-अर्चन के लि... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   7:46am 4 Jul 2012 #
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
भारतीय रेलवे का एक स्‍लोगन है- यात्रा मुस्‍कान के साथ। जब भी किसी रेलवे स्‍टेशन पर इस स्‍लोगन पर हमारी नजर जाती है, अनायास ही मुस्‍कान तैर जाती है- इस स्‍लोगन पर। एक तरफ यह स्‍लोगन और दूसरी तरफ भारतीय रेलवे के यात्रा की सच्‍चाई। कितना विरोधाभास है? फिर, भी कितने शान से भा... Read more
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
मुम्‍बई पर हमलाका‍रगिल में लड़ाईअमेरिका की तर्ज पर भारत द्वारा पाकिस्‍तान में घुसकर आतंकियों का सफाया करने की जो चर्चा चल रही है, मेरी समझ में वह सब बिल्‍कुल बेकार बात है। मुझे लगता है कि हम धीरे-धीरे बड़बोलेपन का शिकार होते जा रहे हैं। हमारी भाषा अधिक आक्रामक होती चल... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   7:24am 10 May 2011 #विमर्श
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
तृतीय विश्‍वयद़ध की प्रबल होती आशंकाएं दुनिया को खौफ के साये में धकेल रही है। आम नागरिकों पर हमले का आरोप झेल रहे व वैश्विक दबाव के आगे अपना सिर नहीं झुकाने वाले लीबिया के राष्‍ट्रपति मुअम्‍मर गद़दाफी भले ही दोषी हों, लेकिन उनका दोष सत्‍ता लोभ तक ही दिखता है। यदि तृती... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   7:27am 8 Mar 2011 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
 बिहार इन दिनों सुर्खियां बटोरने में देश के बड़े प्रदेशों की कतार में है। भ्रष्‍टाचार और नैतिक पतन की तरफ बढ़ रहा बिहार शायद अपनी गौरवशाली अतीत को धोने में लगा है। कुछ ही दिनों पहले रूपम पाठक नाम की शिक्षिका ने बिहार के कुछ राजनेताओं के चरित्र को उजागर किया था। अभी इस ... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   7:30am 3 Mar 2011 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
बिहार में रूपम पाठक ने जो कदम उठाया है उसने बिहार के राजनीतिक नक्षत्र में पाक-साफ बनकर छाये रहे कुछ हवस के भेडि़यों के असली चरित्र को आम नजरों के सामने ला दिया है। इस घटना ने अच्‍छे चरित्र का ढिंढोरा पीटकर अपनी राजनीति चमकाने वाली भाजपा के उन चेहरों को भी जगजाहिर कर दि... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   7:31am 12 Jan 2011 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
इस समय पूरी दुनियां में भारत की धूम है। अंतर्राष्‍ट्रीय शीर्ष पत्रिकाओं-समाचार पत्रों से लेकर विश्‍व के शीर्ष राजनेताओं की जुबान पर भारत का जिक्र हर रोज हो रहा है। हमने इस दशक प्राय: हर क्षेत्र में इतना विकास किया है, कि हमारी ख्‍याति एशिया से बाहर यूरोप तक जा फैली है। ... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   7:38am 25 Dec 2010 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
2जी स्पेक्ट्रम घोटाले मामले ने जो तूल पकड़ा है और इस मामले पर संसद में बवाल से लेकर गांव की चौपालों तक जो बहस-चर्चाएं छिड़ी हैं, वह सब वैसे ही है जैसे दूध पी रही बिल्‍ली सारा दूध गटक गयी लेकिन जाते-जाते उसकी लापरवाही से कटोरी पलट गयी और आवाज होने पर हाय-तौब्‍बा होने लगे। द... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   7:40am 15 Dec 2010 #राजनीति
Blogger: मृत्‍युन्‍जय त्रिपाठी
बिहार की छवि जो पिछले वर्षों में पूरे देश-दुनिया में धूमिल हुई है, वह यूं ही नहीं हुई है। इसके पीछे पुष्‍ट कारण भी रहे हैं। पिछले 15 वर्षों के राजद शासन में तो अन्‍य काम कम, घोटाले ही अधिक हुए। पशुओं के चारा खा नेताओं ने नया इतिहास रचा और पूरी दुनिया को दिखा दिया कि बिहार मे... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   7:39am 15 Dec 2010 #राजनीति
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194406)