POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरी दुनिया

Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
अंजुली में हैं सजाये सुमन अधरों से झरे।नैन झिलमिल दीप हो मन को उजाले से भरे।छवि तुम्हारी ओ प्रिये हरती सदा मन की थकन,इस दशा में कौन तुमको दूर अपने से करे।पूर्णिमा का चाँद सम्मुख हो रही साकार होस्वर्ग से उतरी परी का स्वर्णमय आकार होतुम हमारे सदन-उपवन-वन-विजन में बस गयी,प... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   12:34pm 16 Sep 2021 #श्रृंगार
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
जोड़ने का वायदा था तोड़ने में लग गया हूँ।पागलों की भाँति गति है सोचते हैं जग गया हूँ।जन्म लेकर ऋषिगणों के उच्च कुल में दीन -सा मैं,हर जगह बनकर भिखारी श्रेष्ठता पर हग गया हूँ।।1।।जाति के बंधन हटाये जायेंगे कुछ सब्र कर लो।किन्तु निज पहचान का फिर क्या करोगे युक्ति कर लो।पूर... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   4:23pm 27 Aug 2021 #
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
हर जन की गणना करवा आरक्षित कर दो चारा।अस्पताल श्मशान रेलवे खेल सिनेमा कारा।कौन जाति के कितने भैया कौन सड़क से जायें।अखबारों में एक सूचना रोज सुबह छपवायें।कौन जाति वालों को कितनी पानी हवा मिलेगी।अमुक जाति का पिसना आये चक्की तभी चलेगी।जब तक कोटे भर मरीज हों नहीं किसी क... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   8:47am 12 Aug 2021 #व्यंग्य
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
यह दुबली पतली काया श्री जय जय राम निवासी ग्राम उरली वि0ख0 टोडरपुर हरदोई की है। मेरे जीवन से यदि इस व्यक्ति को हटा दें तो शायद मैं ही न रहूँ न रहेगा माँ भारती विद्या मन्दिर पूर्व माध्यमिक विद्यालय अयारी, हरदोई। 1998 में मुझसे और मेरे विद्यालय से जुड़कर हम दोनों का जो पथ प्रदर... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   10:59am 13 Jul 2021 #
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
अब न हाथ में किताबें, कन्धों पर बस्ते होंगे,सड़क पर मिल जायें तो भी एक न रस्ते होंगे।जो बिक चुके हैं दूसरे की दहलीज पर प्यारे,क्या करें महबूब का महबूब जो सस्ते होंगे।।अन्तर्जाल से साभारकृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   3:33am 21 Jun 2021 #
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
जीवन की दोपहर बीतने वाली है।तन है तृप्त तृषित मन सम्मुख, घट थोड़ा सा खाली है।कहने को ही समय बहुत है,छिपी काल की व्याली है।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   10:40am 3 Jun 2021 #
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मैं बड़ा प्रयास कर रहा हूँ लेकिन जहाँ मैं हूँ वहाँ ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था दूर की कौड़ी है। अव्वल तो मेरे पास ही संसाधन कम हैं। मैं संसाधन जुटा लूँ और व्हाट्सएप्प वीडियो इत्यादि से काम चला लूँ तो अधिकाँश बच्चों के पास एंड्राइड फोन नहीं हैं। फोन है तो डेटा नहीं है बड़ी मु... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   3:16am 23 Apr 2021 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 48 View   Vote 0 Like   3:01pm 17 Apr 2021 #कोरोना
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
तिश्नगी है उम्र की चिन्ता न कोई रिस्क की।पाठशाला खोल दी ट्रेनिंग मिलेगी इश्क की।।प्रिंसिपल का पद सुरक्षित है उसी के वास्ते,डर कोरोना का नहीं या फिर जरूरत विक्स की।।ऑनलाइन क्लास तो सपना मुँगेरीलाल का,अपने बच्चों की जगह हमने तबेला फिक्स की।।छोड़ दूँ घरबार मैं इतना निक... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   8:01am 15 Apr 2021 #कविता
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
लहू तो लाल ही है भेड़ का भी भेड़ियों का भी।पत्ते हरे होते हैं नीम के और हरा होता है अंगूर भी।कलर नहीं फितरत की बात करो।खयाल छोड़ो हकीकत की बात करो।मुझे यह मत बताओ कि पानी तो पानी है,मुझे यह बताओ कि पानी की क्या कहानी है।जमीन से निकलता है पेट्रोल किन्तु पी नहीं सकते।इसी तरह स... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   6:21am 4 Apr 2021 #अकविता
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
स्कूल अब 11 अप्रैल को खुलेंगे सरकार ने घोषित कर दिया जाहिर है ये अब जुलाई से पहले नहीं खुलेंगे। तो बच्चों आओ कल से मैदान में गिल्ली-डंडा खेलने की प्रैक्टिस करते हैं। क्योंकि इसे सिखाने के लिए न तो बिल्डिंग की जरूरत है और न इन्फ्रास्ट्रक्चर की न अध्यापक की और गिल्ली-डंडा ... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   9:30am 2 Apr 2021 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
अगर आपने पहला भाग न पढ़ा होतो यहाँ पढ़ेंसबसे बड़ा रुपइयाभाग-2पिछले भाग-1 को पढ़कर कुछ लोगों ने कुछ बिंदु सुझाए उनको यहाँ शामिल करने की कोशिश है। मैं बात कर रहा था उन समाजिक बातों की जो चलती तो पैसे से हैं पर उन्हें कोई न कोई दूसरा चोला पहना दिया जाता है।2. पैसा और शिक्षा―देशसेव... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   11:50am 11 Mar 2021 #विचार
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मेंहदी कर से छूटती, पर रह जाता रंग।हरी पत्तियाँ लाल रँग, चित्त हो गया दंग।।1।।गोरी छत पर बैठ कर, करती रही सिंगार।हमसे तो बंदर भले, कर लेते दीदार।।2।।गोरी हुई सलज्ज तो, कर बैठी कर-ओट।मन मोहित, तन तरंगित, हृदय हर्ष लहालोट।।3।।भ्रमर फूल के लोभ में, चख बैठा अंगार।होना था फिर रा... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   10:30am 28 Feb 2021 #गोरी
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
1. क्लासरूम एजुकेशनअभी एक यूट्यूब वीडियो देखा मेरे ही कॉलेज का कोई फ्रेशर लड़का कॉलेज खोलने की माँग कर रहा था। बीएचयू में भी फ्रेशर्स और सेकंड ईयर के छात्र विश्वविद्यालय खोलने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। अव्वल तो मैं क्लासरूम शिक्षा व्यवस्था में ही विश्वास नहीं रखता। ... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   10:04am 25 Feb 2021 #
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
बस अड्डा (BUS STATION)इस चित्र में जो खेतों में बस खड़ी दिख रही है, अपनी राह भूलकर इधर नहीं आयी है। बन्धु यह बस अड्डा है। कौन सा? मत पूछो। यह बस अड्डा हमारे देश के असन्तुलित विकास की संतान है। वैसे तो यह बस कैमी और अंतोरा गाँव की सीमा पर खड़ी है लेकिन इस तरह के बस अड्डे उत्तर प्रदेश मे... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   8:40am 21 Feb 2021 #बस अड्डा
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
दृष्टि की बात है कौन, कहाँ और क्या देख बैठे कुछ कह नहीं सकते? मैं 100 % विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि जब-जिसने भी यह लोगो बनाया होगा उसके हृदय में रंचमात्र भी नहीं आया होगा कि इस लोगो का एक अक्षर महिलाओं के लिए अपमानजनक है। किन्तु एक महिला नाज पटेल को यह नजर आया।  कमाल इस बात ... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   2:07pm 1 Feb 2021 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मिट्टी खाई गिट्टी खाई , खा डाली सीमेंट याद है।गए पोतने दीवारों को , चेहरे पर की पेंट याद है।।1।।डाली पर दो बन्दर बैठे, मुझको ढँग से ताक रहे थे,गड्ढा खोद गिटैली रख के, ढक दी थी वो गेंद याद है।।2।।बहुत बार शैतानी करके, बच जाते थे कभी कभी हम,लेकिन फँसे सजा पाई जब, खूब दुखी थी पीठ ... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   8:58am 28 Jan 2021 #गजल
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
बकरियों से भर गया उद्यान है।और बकरा हो गया जवान है।पत्थरों की आ गई शामत यहाँ,रख रहा छुरों पे कोई शान है।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   3:03pm 27 Jan 2021 #मुक्तक
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
भाई लोग कभी कभी बहुत निराश हो जाते हैं। कभी स्वयं को कभी विधाता को दोष देते हैं। बन्धु धैर्य रखें समय बड़ा बलवान है। वह हर घाव का इलाज रखता है।सन 91 में दो लाइन लिखी निजी अनुभव से सब सोये मैं जागा फिर भी रहा अभागा।एक सोने का हंस बनाया लोग कह गए कागा।।फिर 2021 के विकट कोरोना क... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   2:13pm 25 Jan 2021 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
समय परिवर्तनशील होता है किन्तु इतिहास-कथायें शाश्वत। यद्यपि यह हो सकता है कि समय-समय पर व्याख्याकार निजी प्रयोजनों के वशीभूत कुछ तथ्य छिपा लें, कुछ क्षेपक जोड़ दें या फिर घटनाओं की मनमानी व्याख्या कर दें। आप सबने संस्कृत-कथा "नील श्रृगालः" अवश्य पढ़ी होगी। एक सियार था... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   8:48am 17 Jan 2021 #रजकः
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
आज 16 जनवरी है। मेरे लिए सबसे मनहूस दिन है। आज ही 2020 में मेरे पिता जी मुझे इस जगत की जिम्मेदारी सौंप कर अनन्त यात्रा के नवीन गन्तव्य की ओर प्रस्थान कर गए थे। यूँ तो आना-जाना संसार का शाश्वत सत्य है, अतः सुखी अथवा दुःखी होने का कोई कारण नहीं है फिर भी अपने को समझा पाना अति कठि... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   9:41am 16 Jan 2021 #विचार
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
शेयर मार्केट चढ़ रही, लेकिन मैं बेहाल।खुले नहीं स्कूल हैं, कोरोना की चाल।।1।।ले न सके हैं कोर्स या, मोबाइल कुछ बन्धु।बच्चे उनके भी हुए, बिना पढ़े गुण-सिन्धु।।2।।अजब समझ सरकार की, करती खूब कमाल।बसें भरी हैं ठसाठस, ट्रेनें करें सवाल।।3।।रोगी जब घटने लगे, बिना दवा-वैक्सीन।क्... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   10:54am 30 Dec 2020 #दवा-वैक्सीन
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
पानी में दूध मिला, खोये में रवा।चीनी में रेत मिली, गेहूँ में जवा।असली की बात गई, नकली का शोर।औषधि में जहर मिला, जहरीली हवा।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   2:43pm 23 Dec 2020 #कविता
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
लोग पूछते हैं यार तू कविता क्यों लिखता है? तो उत्तर देना लाजिमी है। बन्धु कविता लिखना सरल है इसलिए कविता लिखता हूँ। एक दो चार छः पंक्तियाँ या जितनी मर्जी हो लिख दो। तुक-बेतुक, हेतु-अहेतुक, गद्य-पद्य-गदापद्य सब कविता में समाहित हो जाता है। कविता के नाम पर लोकलाज छोड़ लोकभा... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   3:45pm 20 Dec 2020 #विचार
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
नीरो जिन्दा है अभी, जनता रही कराह।आँखे पथराने लगीं, कोर हो गईं स्याह।कोर हो गईं स्याह, हेर पथ अच्छे दिन का।टूट गया विश्वास, हरे सावन से मन का।वणिक, खेतिहर, छात्र, दुःखी दिखते हैं सभी।राष्ट्रवाद ले ओट, नीरो जिन्दा है अभी।।9198907871विमल कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहि... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   3:12pm 28 Nov 2020 #कुण्डलिया
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3993) कुल पोस्ट (195281)