POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: शरारती बचपन

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कबीर साहब के पास आने - जाने वाले एक मिथिला निवासी ने काशी मरने से मुक्ति एवं मगहर मरने से अमोक्ष की प्राप्ति की बात कही इसी बात पर काशी छोड़ अतीर्थ मगहर न जाने का निवेदन किया | कबीर साहब अपनी दृढ भक्ति और गहन आत्मानिष्ठा के स्वर में लोगो को व्यामोह की ओर इशारा किये | बीजक मे... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   8:31am 14 Mar 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अमर शहीद - ए - वतन अशफाक उल्ला_खां का जन्म - शहादत व मजार स्थल का अब तक सफरजहां अक्सर आना जाना लगा रहता हैं। कौमी एकता की मिसाल अशफ़ाक कहते हैं :-👍बिस्मिल हिंदू हैं कहते हैं, 'फिर आऊंगा,फिर आऊंगा,फिर आकर ऐ भारत मां तुझको आजाद कराऊंगा.'...जी करता है मैं भी कह दूं पर मजहब से बंध जात... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   8:30am 14 Mar 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरआजादी के पहले दिन रहे भूखेदेश का बटवारा हुआ | हालाकी बाहरी दुनिया की घटनाओ के प्रति मैं बहुत सचेत नही था , लेकिन मानसिक रूप से मुझे बहुत दुख पहुचा | जो सयुकत परिवार से आया है , उसे परिवार का टूटना बुरा लगेगा ही | यह देश का टूटना था , इससे तकलीफ होनी स्व... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   9:25am 17 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरआजादी के पहले दिन रहे भूखेदेश का बटवारा हुआ | हालाकी बाहरी दुनिया की घटनाओ के प्रति मैं बहुत सचेत नही था , लेकिन मानसिक रूप से मुझे बहुत दुख पहुचा | जो सयुकत परिवार से आया है , उसे परिवार का टूटना बुरा लगेगा ही | यह देश का टूटना था , इससे तकलीफ होनी स्व... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   9:25am 17 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरआजादी के पहले दिन रहे भूखेदेश का बटवारा हुआ | हालाकी बाहरी दुनिया की घटनाओ के प्रति मैं बहुत सचेत नही था , लेकिन मानसिक रूप से मुझे बहुत दुख पहुचा | जो सयुकत परिवार से आया है , उसे परिवार का टूटना बुरा लगेगा ही | यह देश का टूटना था , इससे तकलीफ होनी स्व... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   9:25am 17 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरगांधी जी का नाम 1940 मे सुना उन्ही दिनो मैं आर्यसमाज के गहरे संपर्क मे आया | मऊ का आर्यसमाज मंदिर काफी सजग और सचेत था | आर्यसमाज के लोग राष्ट्रीय आंदोलनो से बहुत ही गहरे जुड़े हुये थे | वही पर मैंने आर्यसमाजियों के साथ पहले पहल प्रभात फेरिया निकाली | रा... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   7:43am 16 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरगांधी जी का नाम 1940 मे सुना उन्ही दिनो मैं आर्यसमाज के गहरे संपर्क मे आया | मऊ का आर्यसमाज मंदिर काफी सजग और सचेत था | आर्यसमाज के लोग राष्ट्रीय आंदोलनो से बहुत ही गहरे जुड़े हुये थे | वही पर मैंने आर्यसमाजियों के साथ पहले पहल प्रभात फेरिया निकाली | रा... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   7:43am 16 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चंद्रशेखरगांधी जी का नाम 1940 मे सुना उन्ही दिनो मैं आर्यसमाज के गहरे संपर्क मे आया | मऊ का आर्यसमाज मंदिर काफी सजग और सचेत था | आर्यसमाज के लोग राष्ट्रीय आंदोलनो से बहुत ही गहरे जुड़े हुये थे | वही पर मैंने आर्यसमाजियों के साथ पहले पहल प्रभात फेरिया निकाली | रा... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   7:43am 16 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चन्द्र्शेखरपढ़ने के लिए रोज पैदल जाता था दस किलोमोटर ऐसी थी वह बेबसी , एक अभाव की जिन्दगी | ज़िंदगी की जो पहली घटना जो मुझे याद है वह 1934 की है | उसी साल भूकंप आया था | 1934मे सात वर्ष की उम्र मे पहली बार स्कूल गया | उसके पहले ननिहाल मे था एक मुंशी दयाशंकर जी थे ए मुझे प... Read more
clicks 247 View   Vote 0 Like   8:05am 15 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चन्द्र्शेखरपढ़ने के लिए रोज पैदल जाता था दस किलोमोटर ऐसी थी वह बेबसी , एक अभाव की जिन्दगी | ज़िंदगी की जो पहली घटना जो मुझे याद है वह 1934 की है | उसी साल भूकंप आया था | 1934मे सात वर्ष की उम्र मे पहली बार स्कूल गया | उसके पहले ननिहाल मे था एक मुंशी दयाशंकर जी थे ए मुझे प... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   8:05am 15 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राष्ट्रपुरुष चन्द्र्शेखरपढ़ने के लिए रोज पैदल जाता था दस किलोमोटर ऐसी थी वह बेबसी , एक अभाव की जिन्दगी | ज़िंदगी की जो पहली घटना जो मुझे याद है वह 1934 की है | उसी साल भूकंप आया था | 1934मे सात वर्ष की उम्र मे पहली बार स्कूल गया | उसके पहले ननिहाल मे था एक मुंशी दयाशंकर जी थे ए मुझे प... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   8:05am 15 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
प्रथम महिला छाताधारी ----डा गीता घोष 17 जुलाई , 1959 का एक अविस्मर्णीय दिन ! भारतीय महिलाओ की एक और छ्लांग - ऐसी छ्लांग , जो उचाइयों को छूनेवाली सभी पूर्व छ्लांगों से भिन्न थी | भिन्न ई नही अद्दितीय भी --- इस रूप मे की यह छ्लांग ज्ञान - विज्ञान की किसी उचाई को छूने के लिए धरती से आकाश ... Read more
clicks 265 View   Vote 0 Like   6:11am 11 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मेहनतकशो का चहेता शायर :मख्दूम.................................मेहनतकशो के चहेते इंकलाबी शायर मख्दूम मोहिउद्दीन का शुमार हिन्दुस्तान में उन शख्सियतो में होता है , जिन्होंने अपनी पूरी जिन्दगी आवाम की लड़ाई में गुजार दी | उन्होंने सुर्ख परचम तले आजादी की लड़ाई में हिस्सेदारी की और आजादी के ... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   6:56am 6 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मेहनतकशो का चहेता शायर :मख्दूम.................................मेहनतकशो के चहेते इंकलाबी शायर मख्दूम मोहिउद्दीन का शुमार हिन्दुस्तान में उन शख्सियतो में होता है , जिन्होंने अपनी पूरी जिन्दगी आवाम की लड़ाई में गुजार दी | उन्होंने सुर्ख परचम तले आजादी की लड़ाई में हिस्सेदारी की और आजादी के ... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   6:56am 6 Jan 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अभी भी एक काँटे का ज़ख्‍़म हँसता है(उस आदमी के नाम जिसके जन्‍म से कोई संवत शुरू नहीं होता)वह बहुत देर तक जीता रहाकि उसका नाम रह सकेधरती बहुत बड़ी थीऔर उसका गाँव बहुत छोटावह सारी उम्र एक ही छप्‍पर में सोता रहावह सारी उम्र एक ही खेत में हगता रहाऔर चाहता रहाकि उसका नाम रह सक... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   9:09am 28 Dec 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अभी भी एक काँटे का ज़ख्‍़म हँसता है(उस आदमी के नाम जिसके जन्‍म से कोई संवत शुरू नहीं होता)वह बहुत देर तक जीता रहाकि उसका नाम रह सकेधरती बहुत बड़ी थीऔर उसका गाँव बहुत छोटावह सारी उम्र एक ही छप्‍पर में सोता रहावह सारी उम्र एक ही खेत में हगता रहाऔर चाहता रहाकि उसका नाम रह सक... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   9:09am 28 Dec 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगत सिंह की वैचारिक विरासत -भगत सिंह ने अपने समय के राष्ट्रीय आन्दोलन पर जो आलोचनात्मक टिपण्णी की थी अपने देश काल की जमीन पर खड़े होकर उन्होंने भविष्य की सम्भावनाओं के बारे में जो आकलन प्रस्तुत किया था , कांग्रेसी नेतृत्व का जो वर्ग विश्लेषण किया था , देश की मेहनतकश जनता... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   7:06am 11 Nov 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगत सिंह की वैचारिक विरासत -भगत सिंह ने अपने समय के राष्ट्रीय आन्दोलन पर जो आलोचनात्मक टिपण्णी की थी अपने देश काल की जमीन पर खड़े होकर उन्होंने भविष्य की सम्भावनाओं के बारे में जो आकलन प्रस्तुत किया था , कांग्रेसी नेतृत्व का जो वर्ग विश्लेषण किया था , देश की मेहनतकश जनता... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   7:06am 11 Nov 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सन्यासी विद्रोह और उसके सबक ( 1763-1800 )( क्या आज के सन्यासी , फकीर , महात्मा , धर्मगुरु व धार्मिक नेता सन्यासी विद्रोह के शहीदों व फकीरों से प्रेरणा ले सकेगे ? इन विदेशी साम्राज्यी ताकतों और उनके सहयोगी देश के धनाढ्य वर्गियो से संघर्ष कर सकेगे ? उनके द्वारा लायी गयी और देश के धन... Read more
clicks 242 View   Vote 0 Like   7:58am 26 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगीरथ की प्रतीक्षा में है माँ गंगा........................................विश्व के प्राचीनतम ज्ञान सकलन ऋग्वेद में गंगा सहित अनेक नदियों से राष्ट्र कल्याण की प्रार्थना है |गंगा भारत की पहचान है ,आस्था और संस्कृति है |मृत्यु के समय दो बूंद गंगाजल की अभीप्सा सनातन है |गंगा राष्ट्र जीवन का स्पंद... Read more
clicks 216 View   Vote 0 Like   9:26am 15 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगीरथ की प्रतीक्षा में है माँ गंगा........................................विश्व के प्राचीनतम ज्ञान सकलन ऋग्वेद में गंगा सहित अनेक नदियों से राष्ट्र कल्याण की प्रार्थना है |गंगा भारत की पहचान है ,आस्था और संस्कृति है |मृत्यु के समय दो बूंद गंगाजल की अभीप्सा सनातन है |गंगा राष्ट्र जीवन का स्पंद... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   9:26am 15 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी है जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भागउलेमाओं की राय थी की अब जो हालात है , उसके मुताबिक़ सिर्फ मुसलमानों के आन्दोलन से अंग्रेज को मुल्क से बाहर कर पाना मुश्किल ही नही बल्कि नामुमकिन है | इसी दौरान जालियाँवाला बाग़ के हादसे ने खुद - ब खुद हिन्दू मुसल... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   9:20am 14 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं ---जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भाग- चार सबकी राय के बाद विद्रोह का फैसला तय हो गया | अब सवाल हुआ कि अमीरुल - मोमनीन किसे बनाया जाए | सबकी इत्तेफाके - राय से हाजी इम्दादुल्लाह सैय्यद बहादुर को अमीरुल - मोमनीन बनाकर मजलिसे - शुरा ने आजादी का एलान कर... Read more
clicks 225 View   Vote 0 Like   8:09am 7 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आगरा रेड फोर्ट - भाग दो -अदभुत है रेड फोर्ट---------------------------इस गेट से अन्दर जाने के बाद सामने ही खुबसूरत महल पर नजर पड़ती है यह है जहाँगीर महल यह लाल पत्थरों की बनी दो मंजिला इमारत है , अकबर ने इसे अपने पुत्र के लिए बनवाया था इसकी छत और दीवारे आकर्षित रंगों से सजी हुई है इसमें सुनहर... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   7:32am 6 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आगरा रेड फोर्ट में -- भाग एक24 सितम्बर हम सब भाई एह्तेशाम और मारुफ़ भाई से मिलने के बाद सीधे राज के छोटे भाई के घर पहुचे रात वही पर व्यतीत हुआ दूसरे दिन हम लोग अंशुल के यहाँ गये वहाँ पर राज को शहीद मेला की वेव साईट की प्रगति देखनी थी , सारा काम सम्पन्न होने के बाद वापसी फिर यमुन... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   7:31am 6 Oct 2019 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194952)