POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरी अभिVयक्ति

Blogger: Deepak Kumar Bhanre
आसमान में आये बादल , काले काले श्यामल श्यामल ।गरज रहे मस्ती में बादल ,चमक रही बिजली भी कड़कड़ ।गर्जना से जब होता कंपन ,बढ़ा जाती है दिल की धड़कन ।एक साथ जब बरसी बूंदे , चारों दिशा टिप टिप से गूंजे ।कोई लगा हाथों से छूने , कोई भरता अंजुली में  बूंदे ,छपाक कर गड्डे में क... Read more
clicks 46 View   Vote 0 Like   5:03am 12 Jun 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 है कहते  ये तो #ईश्वर की है #मर्जी ।हैं बात बड़ी ये बेदर्दी  ,जीवन अब तक साथ बिताये ,सुख दुख में रहे एक दूजे के साये ,सुखद भविष्य के कितने स्वप्न सजाये,पर एक पल में दुनिया उजड़ दी । सांसों के वो खेल अजब थे ,हम सब भी बहुत सजग थे ,न दवा काम आई न दुआ ,एक पल में सांसे उखड़ दी ।उ... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   4:33pm 3 Jun 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
#महामारीके इस दौर ने किसी न किसी अपनों को घेरा है, जिनके इलाज और दवाओं के लिये कोना कोना टटोला है । पर विपरीत परिस्थितियां और बिगड़ी व्यवस्थाओं ने झँझोड़ा है,स्वार्थी और निर्दयी इन्सानों ने भी कुकृत्यों की सारी हदें तोड़ा है । इन झंझावतों से लड़कर कुछ अपनों को मिला नया सबे... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   12:57pm 20 May 2021 #कुचक्र
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 ऐ इंसानी गिद्ध ! खुद के दलदल से क्या तुम भी बच पाओगे ,उसी दलदल में कल खुद को या किसी अपने को भी पाओगे।  साँसों का सौदा ,व्यापार जहर का ,मनमानी लूटमारजिंदा को तो नौच खा रहे  ,  न  बकशा अंतिम संस्कार ।ऐसे नौचे हुये रुपयों  के चीथड़ों को क्या घर ले जाओगे ,बच्चों और परिवा... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   1:03pm 11 May 2021 #vulture
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
साडी बात बात बाकी की बकवास ,बची रहे अपनी, बाकी की खल्लास, हमेशा अपनी ढपली अपनी राग ,ऐसे ही जिंदगी धकेली है  ,बस बुरा न माने होली है ।कभी दिखाते रहे पीठ  ,कभी बन जाते ढीठ  ,तलवे भले ही चाटने पड़े, पर पाये अच्छी सीट  ,चाहे होती रही जग ठिठोली है ,बस बुरा न माने होली है । ... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   7:09am 29 Mar 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 पेड़ के पत्ते साख से , जब जाते है टूट ,साथ अपने लोगों का  ,तब जाता है  छूट ।उड़ते  आवारा से इधर उधर , शहरों की गलियों में जाए बिखर, कभी कुचले जाते है पैरों तले आकर, तो कभी धूप में पड़ जाते है सूख,कभी निवाला बन मिटाते है भूख । साथ जब मेघ से , बूंदों का जाता है छूट ,न कु... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   3:46pm 12 Mar 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 शक्ति और संयम का संगम ,ममता और स्नेह का दामन ,राधा सीता और है मरियम , करती तन और मन  समर्पण ,ताकि दुनिया को मिले पूरापन ।एक हाथ में बेलन है तो ,एक हाथ में है तलवार ,जल थल नभ में धूम मचाती ,हर चुनौती से लड़ने को तैयार ,ताकि दुनिया को दे सके पूर्ण आधार । इश्वर भी होते है अधू... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   6:36pm 7 Mar 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
हर वक्त जब यूं #मुस्कुराकर चले जाते हो , न जाने कितने दिलों की #उलझने बढ़ाते हो । ठहरा भी करो कभी पल दो पल,गुफ्तगू हो जाये कुछ तो अगर , मिल जाये दिल को कोई डगर ,पता नहीं  दिलों  की सदा को कब समझ पाते हो ।आवो हवा जमाने कि जो रही है मिल , कुछ इस तरह से हो गई है कातिल , कि घ... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   2:35pm 26 Feb 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 साथ चलते चलते उनके ,आ गया इतना तो हुनर ,साथ चलते चलते कैसे ,कर जाते असर दिल पर ।मुस्कुराकर हर बार मिले ,सुकून चेहरे पर झलके , यूं ही हो जाते दिल के मेहमा , अपनेपन का अहसास जताकर । धूप हो या  छांव पड़े , रहते है वो साथ खड़े , लगते है वो तो रहनुमा ,जब थाम लेते हैं हाथ बढ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   6:26pm 18 Feb 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 सजाने को मेरे देश की धरती ,कायनात हर रोज उतरती ।नदियां , झरने और सरोवर ,निर्मल जल से करते कल कल ,फसलें सुनहरी हरे भरे वन से ,देश धारा श्रृंगार है करती  चांद सितारों का उजियारा ,करते दूर निशा अंधियारा ,रवि किरणें हर सुबह आकर,भारत मां के चरण चूमती ।अलग अलग सब धरम के बंदे ,... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   12:38am 26 Jan 2021 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 ऐ बीते  हुये पल ,शुक्रिया तहे दिल , तेरी ही पनाहों में , जीवन रहा निकल ।कभी सपाट तो ,कभी उबड़ खाबड़ ,राहें मिलती पल पल ।थोड़ा गिरे तो ,कभी थोड़ा डरे , तो कभी थोड़ा गए फिसल ।आहिस्ते से कदम जमाते , चीजें पकड़ सहारे पाते , चले है संभल संभल ।हां कुछ तो खोया है , पर कुछ प... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   5:48pm 26 Dec 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 ऐसे तो अचानक न आया करो , जरा आने से पहले बताया तो करो ।समेट सकें जीवन के बिखरे पन्नों को , सजा सकें दिल के धूल भरे कोनों को , संवरने का मौका तो मिले कम से कम ,सांसों की खुशबू से हवा महकाया तो करो ।न जाने किस हाल में बैठे हैं बेदम  ,बहके से कदम और बहके से हो हम ,छुपाने का ... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   6:14pm 13 Dec 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
गर पा गए उड़ने का हुनर ,और पा गए उड़ने का माद्दा ,न समझ खुद को सितारा ,न बसा अपना एक अलग जहां ,लौट इक दिन वापस आना है ,क्योंकि वो तो उधार का है आसमां ।उड़ते उड़ते जब थक जाओगे ,किसी उलझन में उलझ जाओगे ,मुसीबतों में तब हमदर्द बनकर ,अपने ही बनेंगे  इक आसरा , काम न आएगा सितारों का ... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   2:28am 12 Nov 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 हर गली में चलकर देखा , वक्त और चाल बदलकर देखा , कितनी राह तकेंगे लो ,किस मोड़ पर मिलेंगे वो ।कितनी ही ठोकर खाई ,अपनों से भी हुई रुसवाई ,दिल डूब रहा अब तो , किस मोड़ पर मिलेंगे वो ।पत्थर दिल भी पिघल जाते हैं,ढूंढे से भगवान भी मिल जाते हैं,अब मिल जाओ ज्यादा न बनो  ,किस मो... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   5:57pm 1 Nov 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 देखा करते थे शीशा जब तब ,छुपाते थे चेहरे के एब तब तब ,शीशे ने कहा "लग रहे हो खूबसूरत" , फिर दिल कहां संभाले संभालता , लो अब हाथ से है उछलता , शीशा अब टूटकर है बिखरता । शीशा जब टूटकर है बिखरता , हर टुकड़ा खुद एक शीशे में है ढलता,टुकड़े टुकड़े में तस्वीर नजर आती है , पर ... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   5:59pm 21 Oct 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
 अश्क आंखों से यूं गिराया न करो ,गम के समंदर में दुनिया  डुबाया न  करो ,बमुश्किल से आती है साहिल पर कश्ती जिंदगी की ,तूफान उठाकर यूं भंवर में उलझाया न करो ।माना कि हर आरज़ू को मिलती नहीं मंजिल ,हालात होते है तमन्नाओं के कत्ल में शामिल , हर हादसे पर यूं आहत न हो जाया करो... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   2:05am 7 Oct 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
न भूख प्यास की याद , न स्कूल कॉलेज की क्लास,दिनभर करते रहते बकवास,और बोली में ठेट देसी अल्फ़ाज़ ,यही है #दोस्तीके मस्ती भरे अंदाज ।दिनभर करते कोई काम नहीं ,आवारा से फिरते बर्बाद यूं ही ,छोड़ क्यों नहीं देते साथ भई ,मिलती घर वालों की डांट यही,फिर भी #दोस्तोंका छूटा साथ नहीं।... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   5:46pm 2 Aug 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
#लॉकडाउन खत्म हुआ है , #कोरोना नहीं , खत्म हुआ दायरा है , खतरा तो है वही . गर खुल गयी है जरूरतों के लिये डगर,उस पर बेकाम , बेमतलब दौड़ना नहीं . .........यूँ वेफिक्र बेपरवाह सा होकर ,अपना सुरक्षा घेरा को तोड़ना नहीं . ...................जब निकलना हो घर से बाहर ,चेहरे पर लगाना मास्क छोड़ना नहीं ............... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   4:10pm 11 Jun 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
कोरोना के मिले हैं कुछ राईट इफेक्ट दो चार   , नहीं सब कोरोना से बीमार  . .रहना हुआ है , घर में सब जन के , मिटे गिले शिकवे , वहम सारे मन के , सबके सानिध्य में बीते दिन चार , नहीं सब कोरोना से बीमार  . .कम हुयी जरुरतें  , खर्चे भी कम से , जीना हुआ है , किफायती ढंग से , थोड़े में सब दि... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   5:09pm 31 May 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
आदरणीय लो अब मुहावरे और  लोकोक्तिया पर भी कोरोना की वक्र दॄष्टि पड गई . जो कोरोना के संक्रमण के प्रभाव से कुछ ऐसी बन गई है . कृपया गौर फरमाइयेगा . .क़्वारनटाइनका मारा न घऱ का न घाट ..अब पछ्ताये होत क्या , जब कोरोना से हो गई भेंट . .सौ सर्दी खांसी बुखार की , एक कोरोना वार की . .सोशल ... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   5:00am 7 May 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
बड़े बड़े धुरंधर की भी ,हो गयी है नजर बंदी ,कोरोना ने ऐसे कराई है तालाबंदी ..बाहर पुलिस के डंडे सेमार की है शर्मिंदगी ,तो घऱ पर बेलन और मेडम जी ..साबून से हाथ धोने के साथ साथ ,कुछ और सामानों की भीसाफ कर रहे हैं गंदगी ..बिखरे - उलझे है बाल औरदाढ़ी भी हो गई है लंबी ,भूल गये हैं बार ब... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   7:30am 4 May 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
अगर करते हो अपनों से प्यार , तो मत घर से बाहर निकलो यार  . .गर तुम घर से बाहर जाओगे , कितनों के सम्पर्क में आओगे . न जाने किस के आस्तीन में , यह दरिंदा कोरोना छुपा पाओगे .लिपट जायेगा मौका मिलते ही तुमसे , अनजाने ही साथ घर तक ले आओगे . जब शुरु होगा संक्रमण का सिलसिला तो खुद को इसकी... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   6:13am 22 Apr 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
A SONG BY ANUSHREE AND PARTH BHANREIn Youtube- STAY HOME (घर में रह जा रे ) -CORONA WILL DEFEAT (कोरोना हारेगा)You want healthy.  You stay home.If you love family. You stay home.घर से बाहर कहीं न जा ,बस घर में ही रह जा ,सबसे दूरी बनानी रेे ,परवाह तो कर जरा ।ये कोरोना भी सबकी परेशानी बन गई ,जिसने हाथ मिलाया ये उसी की बन गई,बाहर से आए तो हाथ जरा धो जा ,धो जा धो जा रे ... Read more
clicks 390 View   Vote 0 Like   4:39am 28 Mar 2020 #
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
( इमेज गूगल साभार ) #कोरोना वायरस की रोकथाम में ,कुछ दिन तो गुजारें  अपने घर मकान में ।  मिला है मौका इस नेक काम में ,कुछ दिन तो गुजारें  अपने घर जहान में । होती थी शिकायत सबकी जुबान में ,  घर से बाहर रहते हो हमेशा काम में ,नहीं समय घर के लिये सुबह ... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   9:00am 24 Mar 2020 #ghar
Blogger: Deepak Kumar Bhanre
#कोरोना (#Corona) के विरुद्ध लड़ाई में हम , #जनताकर्फ्यू (#JantaCurfew) का करें  समर्थन ,22 मार्च रविवार को सब करेंगे पालन ,सुबह 7 से 9 रात्रि तक बरतेंगे संयम , परिवार सहित  हम सभी सदस्य गण  ,सब रहेंगे अपने घरों  में दिनभर बंद ।60 वर्ष अधिक उम्र हो या हो 10 से कम ,इनकी घर से बाहर निकासी हो कम ... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   3:28am 21 Mar 2020 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194407)