POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चिकोटी

Blogger: Anshu Mali Rastogi
 आखिर दिल्ली पुस्तक मेला, महामारी की बेरहमी के चलते, टालना ही पड़ा। प्रकाशकों के साथ-साथ लेखकों ने भी खुद को तसल्ली दी, अभी नहीं तो अगले बरस सही। किताबें तो आती, छपती और बिकती रहेंगी, फिलहाल इंसान का बचा रहना जरूरी है।किंतु, मेरे मुहल्ले के एक कवि पुस्तक मेला टलने से विक... Read more
clicks 38 View   Vote 0 Like   6:52am 14 Jan 2022 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 हमारे दफ्तर में एक सज्जन हैं। ‘ऊंची छोड़ने’ के लिए कुख्यात। जहां, जिधर, जब चांस मिल जाए ऊंची छोड़ने से नहीं चूकते। जान-पहचान के मामले में उनका कोई जवाब नहीं। शहर और देश में शायद ही ऐसा कोई नेता, अफसर, विधायक, बुद्धिजीवी, नीम-हकीम होगा जिसे वे जानते न हों! जिससे उनके ‘दां... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   1:15pm 9 Jan 2022 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
कितना आसान होता है नेताओं के लिए इस्तीफा देना। पार्टी से जरा नाराजगी हुई नहीं कि दो लाइनों का इस्तीफा हाजिर। भविष्य में क्या करेंगे इसकी खास परवाह उन्हें रहती नहीं। क्योंकि ये पार्टी नहीं तो दूसरी पार्टी उन्हें अपने यहां जमा ही लेगी। जन सेवा ही तो करनी है- चाहे इस पार... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   2:18am 11 Oct 2021 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
सफलता का शार्ट कट होता है। लेकिन जो यह कहते हैं कि सफलता का कोई शार्ट कट नहीं होता, वे दरअसल बेवकूफ हैं। शार्ट कट के साथ सफलता पाना उतना ही आसान है, जितना लेखन में पुरस्कार पाना। शार्ट कट के लिए भी मेहनत करनी पड़ती है। बिना मेहनत करे तो आजकल बाप भी अपने बेटों को जायदाद में हिस्सा नहीं देता। मेरे दिल में उन लोगो... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   2:09am 28 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
अमां, छोड़िए भी- क्या कीजिएगा इतनी प्राइवेसी का! व्हाट्सएप या फेसबुक पर रहकर प्राइवेसी पर चिंता जतलाना हमें शोभा नहीं देता। वहां हमने प्राइवेसी लायक कुछ रख छोड़ा ही नहीं फिर काहे की हाय-हाय, काएं-काएं। व्हाट्सएप अखबारों में बड़े-बड़े विज्ञापन देकर कह तो रहा है कि सबकी प्राइवेसी सुरक्षित है, तो मान लीजिए- है। ह... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   7:19am 21 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
भावनाएं चारों तरफ आहत हो रही हैं। किसी की ज्यादा, किसी की कम। भावनाएं भी इतना नाजुक हो गई हैं कि बात-बात पर आहत हो बैठती हैं। सोचती ही नहीं कि कब किस बात पर आहत होना है। बस आहत होने से मतलब। कुछ की भावनाएं तो इस बात पर ही आहत हो जाती हैं कि व्हाट्सएप पर संदेश देखने के बाद भी जवाब क्यों नहीं दिया। तो कुछ की इस बात प... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   12:17am 20 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
भावनाएं चारों तरफ आहत हो रही हैं। किसी की ज्यादा, किसी की कम। भावनाएं भी इतना नाजुक हो गई हैं कि बात-बात पर आहत हो बैठती हैं। सोचती ही नहीं कि कब किस बात पर आहत होना है। बस आहत होने से मतलब। कुछ की भावनाएं तो इस बात पर ही आहत हो जाती हैं कि व्हाट्सएप पर संदेश देखने के बाद भी ... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   12:15am 20 Feb 2021 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
न न कोई न रो रहा। न कोई सरकार को कोस रहा। हर कोई खुश है। जिंदगी को अच्छे से एन्जॉय कर रहा है। जरा-बहुत ही तो तेल और सिलेंडर के दाम बड़े हैं। इतना तो आम जनता झेल सकती है। क्या पहले की सरकारों में दाम नहीं बढ़ते थे? बढ़ते थे, खुब बढ़ते थे। तब भी जनता झेल लेती थी, अब भी झेल रही है। लोकत... Read more
clicks 495 View   Vote 0 Like   6:09am 19 Feb 2021 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
प्रेमिका जब भूतपूर्व हो जाती है तब वह अधिक आकर्षित करती है। उसके प्रति चाह और चार्म बढ़ जाता है। नॉस्टेल्जिया बना रहे ऐसा मन करता है। जीवन में उमंग और तरंग वापस लौट आती है। तब बीवी का भी इतना डर नहीं रहता। बार-बार दिल करता है वेलेंटाइन डे भूतपूर्व प्रेमिका संग ही सेलिब्रेट किया जाए। बता दूं कि मैं- जमाने की ... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   12:43am 14 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
सोशल मीडिया के खेल निराले हैं। यहां अक्सर कुछ न कुछ 'हास्यास्पद'चलता ही रहता है। यह भी दो धड़ों में विभक्त हो गया है। एक धड़े में 'ट्विटरजीवी हैं तो दूसरे धड़े में 'कूजीवी'। सत्ता के साथ तालमेल बैठाई सहमत आवाजें धीरे-धीरे 'कू'पर अपना अड्डा जमा रही हैं। मगर असहमत आवाजें अब भी ट... Read more
clicks 234 View   Vote 0 Like   6:35am 13 Feb 2021 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
तो, किसान आंदोलनकारी नहीं आंदोलनजीवी हैं! और उनके समर्थक परजीवी। देश में सचमुच रामराज्य आया हुआ है। कोई किसी को कुछ भी कह-बोल सकता है। ध्यान केवल इस बात का रखना है कि स्वर में असहमति या आलोचना का पुट न हो। नहीं तो भक्त मंडली तैयार खड़ी है समझाने को। उनके समझाने में भी प्रायः दादागिरी झलकती है। मगर झेलिए कि आप ... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   3:12am 12 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
भीतर से अर्थव्यवस्था की हालत जो हो पर बाहर से टनाटन बनी हुई है। बढ़ते सेंसेक्स ने अर्थव्यवस्था को पहाड़ पर चढ़ा दिया है। दलाल पथ पर रौनक बढ़ गई है। तेजड़ियों के चेहरे खिल गए हैं। ठंड में गर्मी का एहसास हो रहा है। शेयर सोना उगल रहे हैं। मगर देश की धरती के सोना उगलने वाले किसान 60 दिन से आंदोलनरत हैं, उनकी चिंता किसी क... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   2:06pm 9 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
इतिहास गवाह है, बचपन से लेकर जवानी तक मैंने एक भी टीका नहीं लगवाया। डॉक्टर्स ने भतेरा समझाया, घर वालों ने खूब जिद की लेकिन मैं अड़ा रहा। क्यों लगवाऊं टीका? नहीं लगवाता। मेरी मर्जी। कान खोलकर सुन ले हर कोई मैं कोरोना का टीका भी नहीं लगवाऊंगा। ईश्वर जाने टीके में क्या हो! टीका लगते ही कहीं मैं बुद्धिजीवी बन गय... Read more
clicks 235 View   Vote 0 Like   12:55pm 8 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
ठंड आतंक मचाए हुए है। रजाई से बाहर निकलने का मन नहीं करता। न नहाने का दिल करता है। जी करता है पूरे टाइम रजाई में सिकुड़े पड़े रहो। लेकिन मैं दाद देता हूं उन चोरों को जो भीषण ठंड में भी चोरी कर रहे हैं। ठंड में चोरी करना आसान काम नहीं। जब लोग अपनी-अपनी रजाइयों में छिपे-दुबके बैठे होते हैं, तब चोर उनके घरों में चोरी ... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   2:46am 7 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
बाजार को पूरा बजट समझ आ गया। सेंसेक्स ने दो कों के गाल सुर्ख हो गए। अर्थव्यवस्था को पंख लग गए। सरकार ने अपनी पीठ थपथपाई। फिलहाल, मैं यह समझने की जुगत में जुटा हूं कि बजट में ऐसा क्या खास रहा, जो सेंसेक्स ताबड़तोड़ बढ़ लिया। वैसे, सेंसेक्स के गिरने और बढ़ने का कोई गणित नहीं है। यह कब किस बात पर ढह जाए और किस बात पर ब... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   2:41pm 6 Feb 2021 #Vyangya
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 अक्सर रात में मुझे भूतों के दिलकश सपने आते हैं। डरिए मत। मैं सच कह रहा हूं। लगता, मैं भूतों के बीच हूं। उनसे बातें कर रहा हूं। वे मुझसे गप्पे लड़ा रहे हैं। देश-दुनिया का हाल-चाल मुझसे ले रहे हैं। ये वो भूत नहीं होते, जो अक्सर फिल्मों और किस्से-कहानियों में देखने व सुनने क... Read more
clicks 267 View   Vote 0 Like   1:28pm 18 Oct 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 प्रिय सेंसेक्स,बहुत दिन हुए तुम्हारा हालचाल लिए। आशा है, स्वस्थ व प्रसन्न होगे। तुम भी सोचते होगे, साल-छह महीने बाद ही मैं तुमसे रू-ब-रू होता हूं। लेकिन यकीन मानना तुम्हारा ख्याल मुझे रहता हर पल है। तुम्हारा दिन कैसा गुजरा मुझे खबर रहती है। तुम्हारा मूड इन दिनों कैसा ... Read more
clicks 262 View   Vote 0 Like   7:32am 17 Oct 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 आखिर मैं भी 'इंस्टाग्राम'पर आ ही गया। मेरे मोहल्ले के बहुत लोग इस पर हैं। सुना है, मोहल्ले के वरिष्ठ कवि और जूनियर जेबकतरा भी इंस्टाग्राम पर आ गए हैं। दोनों की अच्छी खासी फॉलोइंग बन गई है। जब देखो तब हाथ में मोबाइल थामे कुछ न कुछ इंस्टा पर पोस्ट करते ही रहते हैं। इंस्टा... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   7:47am 16 Oct 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 'अच्छे संस्कारों'का रास्ता अपने लिए मैंने हमेशा ही रोके रखा। हालांकि घर वाले चाहते थे कि मुझमें 'अच्छे संस्कार'पड़ें। घर-परिवार और समाज के बीच मैं 'संस्कारी व्यक्ति'के तौर पर जाना व पहचाना जाऊं। लेकिन संस्कारी होने-बनने का मोह मैंने खुद ही त्याग दिया। संस्कारी होना ब... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   5:26am 16 Oct 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 बरेली के बाजार में गिरे झुमके का न मिल पाना और रसोड़े में कौन था का रहस्य न मालूम चल पाना देश की बड़ी समस्याएं हैं। मगर अफसोस इन समस्याओं की तरफ किसी का ध्यान ही नहीं। बस ऐसे ही तो समस्याएं जमा होती रहती हैं। जनता सवाल पूछती है पर जवाब किसी के पास नहीं होता। सरकार की किरक... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   1:33am 1 Sep 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
 काश! मैं मोर होता! मगर दुर्भाग्य से हो इंसान गया। मुझे इंसान नहीं होना था। इंसान होने में बड़ी कठिनाइयां हैं। पल-पल संघर्ष है। जीवन अपना न होके, गिरवी का सा लगता है। न दिन में चैन रहता है न रात सुकून से कटती है। बस यही डर लगा रहता है कि डर को मात कैसे दी जाए। इधर चार-पांच मह... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   2:38pm 31 Aug 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जिनके पास 'मीडिल फिंगर'होती है वे धन्य होते हैं। चूंकि मेरे पास मीडिल फिंगर है इस नाते मैं भी धन्य हुआ।आज की पीढ़ी के लिए मीडिल फिंगर जरूरी औजार है। जहां जिस बात या व्यक्ति पर नाराजगी जतानी चाहिए तुरंत मीडिल फिंगर निकाल कर दिखा दी। एक तीर से दो निशाने आराम से सध जाते हैं... Read more
clicks 280 View   Vote 0 Like   9:46am 8 Jun 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
लोग क्षुब्ध हैं। कह रहे हैं, तालाबंदी के बीच शराब बिक्री की छूट नहीं दी जानी चाहिए थी। इससे समाज और घरेलू हिंसा में वृद्धि होगी। बताइए, यह भी कोई बात हुई भला! आटा, दाल, चावल आदि बिक्री की छूट है पर शराब बिक्री पर 'हंगामा'बरपा हुआ है। दारू प्रेमियों पर लानत भेजी जा रही है। लो... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   9:34am 8 May 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
लॉकडाउन जब से चालू हुआ है, घर में खाना खाना बंद कर दिया है। जब भी भूख लगती है, फेसबुक पर चला आता हूं। यहां घर से कहीं अधिक स्वादिष्ट भोजन देखने को मिल जाता है। इतनी तरह के व्यंजन होते हैं कि समझ नहीं आता क्या देखूं और क्या छोड़ दूं! खाने से भी इतनी तृप्ति न मिले, जितना देखकर म... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   12:07pm 2 May 2020 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
बेमतलब सड़कों पर टहलने वाले कवि आजकल घरों में कैद हैं। घरों में रहकर 'कोरोना पर कविताएं'लिख रहे हैं। एक से एक धाकड़ कविताएं लिखी जा रही हैं। जो कभी कहानी, व्यंग्य, उपन्यास लिखा करते थे, वे भी कोरोना पर कविताएं खींच रहे हैं। कविताएं फेसबुक पर चढ़ाई जा रही हैं। इन-बॉक्स में लि... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   7:20am 1 May 2020 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3997) कुल पोस्ट (196151)