POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: नारी का अधिकार

Blogger: ausaf ahmad
(मुसलमान औरतों के लिये हिजाब/पर्दा)सवाल: ‘‘इस्लाम औरतों को पर्दे में रखकर उनका अपमान क्यों करता है? जवाब:विधर्मी मीडिया विशेष रूप से इस्लाम मेंस्त्रियोंको लेकर समय समय पर आपत्तिऔर आलोचना करता रहता है। हिजाब अथवा मुसलमान स्त्रियों के वस्त्रों (बुर्का) इत्यादि को अधि... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   11:28am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
Polygamy (बहुपत्नी प्रथा)सवाल :मुसलमानों को एक से अधिक पत्नी रखने की इजाज़त क्यूँ है?  अर्थात इस्लाम एक से अधिक विवाह की अनुमति क्यूँ देता है ?वाब :बहु-विवाह की परिभाषा - इसका अर्थ है ऐसी व्यवस्था जिसके अनुसार व्यक्ति की एक से अधिक पत्नी अथवा पति हों. | बहु विवाह दो प्रकार के होत... Read more
clicks 250 View   Vote 0 Like   11:25am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
Policamy (एक समय में एक से अधिक पति)सवाल:यदि एक पुरूष को एक से अधिक पत्नियाँ करने की अनुमति है तो इस्लाम में स्त्री को एक समय में अधिक पति रखने की अनुमति क्यों नहीं है?जवाब:अनेकों लोग जिनमें मुसलमान भी शामिल हैं, यह पूछते हैं कि आख़िर इस्लाम मे पुरूषों के लिए ‘बहुपत्नी’ की अनुमत... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   11:21am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
Divorce प्रश्न: क्योंइस्लाम में तलाक़ का प्रावधान है जो व्यक्तिगत स्तर पर पत्नी पर, और सामाजिक स्तर पर नारी-जाति पर अत्याचार है। व्यापक क्षेत्र में यह लिंग-समानता (Gender Equality) के भी विरुद्ध है क्योंकि औरत को, तलाक़ देने का हक़ प्राप्त नहीं है; इस प्रकार, कुल मिलाकर यह नारी-अधिकार-हन... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   11:17am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
Divorce प्रश्न: क्योंइस्लाम में तलाक़ का प्रावधान है जो व्यक्तिगत स्तर पर पत्नी पर, और सामाजिक स्तर पर नारी-जाति पर अत्याचार है। व्यापक क्षेत्र में यह लिंग-समानता (Gender Equality) के भी विरुद्ध है क्योंकि औरत को, तलाक़ देने का हक़ प्राप्त नहीं है; इस प्रकार, कुल मिलाकर यह नारी-अधिकार-हन... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   11:17am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
Divorce प्रश्न: क्योंइस्लाम में तलाक़ का प्रावधान है जो व्यक्तिगत स्तर पर पत्नी पर, और सामाजिक स्तर पर नारी-जाति पर अत्याचार है। व्यापक क्षेत्र में यह लिंग-समानता (Gender Equality) के भी विरुद्ध है क्योंकि औरत को, तलाक़ देने का हक़ प्राप्त नहीं है; इस प्रकार, कुल मिलाकर यह नारी-अधिकार-हनन ... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   11:17am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
INHERITANCEप्रश्नः इस्लामी कानून के अनुसार विरासत की धन-सम्पत्ति में स्त्री का हिस्सा पुरूष की अपेक्षा आधा क्यों है?उत्तरः पवित्र क़ुरआन में विरासत की चर्चापवित्र क़ुरआन में धन (चल-अचल सम्पत्ति सहित) के हकष्दार उत्तराधिकारियों के बीच बंटवारे के विषय पर बहुत स्पष्ट और विस्... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   11:15am 5 Aug 2011 #
Blogger: ausaf ahmad
EQUALITY OF WITNESSESप्रश्नः क्या कारण है कि इस्लाम में दो स्त्रियों की गवाही एक पुरुष के समान ठहराई जाती है?उत्तरःदो स्त्रियों की गवाही एक पुरुष की गवाही के बराबर हमेशा नहीं ठहराई जाती।(क) जब विरासत की वसीयत का मामला हो तो दो न्यायप्रिय (योग्य) व्यक्तियों की गवाही आवश्यक है।पवित्... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   11:11am 5 Aug 2011 #
clicks 221 View   Vote 0 Like   12:00am 1 Jan 1970 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (195025)