POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: shabdshringaar

Blogger: Kunal Verma
Jo phisla Mere Hath se wo pal nahi Mila..Mera Guzra hoa kal Mujhe wapis nahi mila..Logon se bhari Duniya me dhonda bohat Magar..Farishtay milay Bohat Mujhe Insan nahi mila..Socha kisi k Dil me ab Ghar hi Bana lon..Lekin kisi ka Dil Mujhe Sabit nahi mila..Aisa nahi hai k Mujhe Manzil nahi mili..Manzil mili Magar kabhi Raasta nahi mila..Barson Main ne Dhonda Lekin sanam... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   12:33pm 3 Feb 2013 #
Blogger: Kunal Verma
"Race mn jeetny wala GHORRA nhi janta k kamyabi keya hoti hai..?,WO dorrta hey tO sirf apney maalik ke traf se milney wali takleef ke waja sey.,TO jab kbhi tum khud kO takleefmn paaO,,TO samajh jana k tmhara MAALIK, chahta hai K JEET tumhari hO.... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   5:59am 23 Oct 2012 #
Blogger: Kunal Verma
Socha nahi acha Bura, Dekha Suna kuch b nahiManga Khuda se her Waqt, Tere siwa Kuch b nahiDekha Tujhe Chaha tujhe, Socha Tujhe Pooja TujheMeri Wafa Meri Khata, Teri Khata kuch b nahiJis per Hamari Aankh ne, Moti bichaye Raat bharBheja wohi Kagaz usey, Hum ne likha Kuch b nahiAur Ek Shaam ki Dehleez per, Bethey rahe wo Dair takAankhon se ki Batain boht, Munh se kaha kuch b nahi... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   8:51am 12 Oct 2012 #
Blogger: Kunal Verma
मेरे गीतों को होठों से छू लो जराज़ुल्फ बिखरा के छत पे ना आया करो , आसमाँ भी ज़मीं पर उतर आयेगा.वक़्त बे वक़्त यूँ ना लो अंगड़ाइयां, देखने वाला बेमौत मर जायेगा.होंठ तेरे गुलाबी,शराबी नयन.संगमरमर सा उजला है ,तेरा बदन.रूप यूँ ना सजाया - संवारा करो, टूट कर आईना भी बिखर जायेगा.ज़ुल्... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   6:39am 7 Apr 2012 #Love
Blogger: Kunal Verma
प्यार - एक ऐसा शब्द जो मात्र शब्द नही- शक्ति है ,जीवन का आधार है ,एक ऐसी पूँजी है जिसे पाने के लियेहम खुशी - खुशी अपना सब कुछ लुटा सकते हैं ।प्यार एक ऐसा शब्द जिसकी हर किसी के लिये अपनी एक अलग परिभाषा है ,हर किसी के लिये इसके अलग- अलग मायनेहै ,हर किसी का अपना - अपना तरीका है इसे म... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   3:37pm 31 Mar 2012 #Love
Blogger: Kunal Verma
Hanste Hue, Aankhon Main Kyun Aa Jaate Hain Ye AansooYun Khushi Ko Adhoora Sa Bana Jaate Hain Ye AansooDard Itna Hai Saha, Khaali Ho Gaya Samandar Ashkon KaJaane Kahan Se Aankhon Main Bhar Jaate Hain Ye AansooKhush Hoon Main, Koi Shikwa Zamane Se Na Taqdeer SeMeri Iss Baat Ko Jhoota Kyun Bana Jaate Hain Ye AansooShayad Khabar Hai In Ko Bhi Kis Qadar Tanha Hoon MainTanhaayi Main Mera Saath... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   5:22am 26 Jan 2012 #Love
Blogger: Kunal Verma
>>> Romantic Poetry <<<<A kash wo raat jaldi se aaye,jb wo apni unglion se mere balon ko sehlaye,mae dheere dheere juda karun libas uske jism se,or wo madhoshi mae mujhse lipat jaye,mae choomon uske jism ko kuch istarahk bekhudi mae uski aah nikal jayemere jalte hont jab milen uske honton semere dehekte jism mae halchal c mach jayemae usy raat bhar itna pyar karunk uske jism ka ek ek... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   4:31am 26 Dec 2011 #Love
Blogger: Kunal Verma
Kuch Teer se darte hain,...Kuch Talwar se darte hain,.....Koi do Nayano ke vaar se dartehain,.....Bahut tej chalte hai kuch logzindagi mai,....Kuch aise bhi hain jo rafter sedarte hain,.....Yakin hai agar Rabb ki rehmatpar,.....Phir kyon log intezaar se dartehain,.....Karte hain Mohhabat to rakhte hainparda,....Pata nahi kyon izhar se dartehain,....Lagi hai chot Dil par jinke,....... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   4:23am 19 Nov 2011 #Shayari
Blogger: Kunal Verma
wo waqt bada hiacha tha,Jab main chhota bacha tha!Goliya-Tof iya khata tha,Us time petrol sasta tha,... Par me paidal chlata tha!Na Ladkiyo ka zikr krta tha,Mai to padhai ki fikr krta tha!Na facebook pe status likhta tha,Na MSword pe paint sikhta tha!Tab yaar mere sab sath the,Ab waqt ne apni chaal badli!School chhod aa gaye colege me,Qki zindgi ka sawal h!Yaha group me rhna padta h... Read more
clicks 217 View   Vote 0 Like   5:00am 5 Nov 2011 #Bachpan
Blogger: Kunal Verma
मैने तो जब देखा अम्मा आँखें खोले होती हैजाने किस पल जगती है वो जाने किस पलसोती हैबँटवारे की खट्टी मीठी कड़वी सी कुछयादें हैंछूटा था जो घर आँगन उस पर बसअटकी साँसें हैंआँखों में मोती है उतरा पर चुपके सेरोती हैजाने किस पल जगती है वो जाने किस पलसोती हैमंदिर वो ना जाती फिर भ... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   3:09am 7 Oct 2011 #माँ
Blogger: Kunal Verma
बीज जो बिखर चुके हैंअंधड़ों में मर चुके हैं,चाह जिनकी खो चुकी हैया उम्मीदें सो चुकी हैं,उनको थामो, अब उठाओ,कह दो ये उनका समय है,उनको अब बोना होगा।आँखें जो सोई नहीं हैंहैं व्यथित, रोई नहीं हैं,बस विरह के गीत गातीदेख स्वप्न, दण्ड पाती,पुचकार दो उनको जरा साकह दो अब उनकी विजय ह... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   2:06pm 27 Sep 2011 #ग़ज़ल
Blogger: Kunal Verma
हमारे देश मेँ हमेँशा से प्रशासन को जनता का रक्षक बताया गया है। इसका कारण प्रशासन ही है। बिहार के कुछ राज्योँ मेँ कुछ दिनोँ से डकैती,बलात्कार,खून,चोरी और बच्चा चोरी का मामला आम हो गया है।और पुलिस हाथ पे हाथ धरकर बैठी है। जनता जाए तो जाए कहाँ? बच्चा चोरी की दहशत ऐसी हो गयी ... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   11:11am 26 Sep 2011 #दहशत
Blogger: Kunal Verma
अपने कुछ जरूरी कामोँ की वजह से कुछ दिन और मैँ अपनी ग़ज़लेँ पेश करने मेँ असमर्थ रहुँगा।अत: विभिन्न जगहोँ से एकत्रित अच्छी-अच्छी ग़ज़लेँ पेश कर रहा हुँ ताकि हमारे ब्लॉग पर आने के बाद आपको निराशा हाथ न लगे।धन्यवाद।अपने दिल को दोनों आलम सेउठा सकता हूँ मैंक्या समझती हो कि तुमक... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   9:21am 18 Jul 2011 #ग़ज़ल
Blogger: Kunal Verma
वो मेरे नक्श-ओ-निशा मिटनेआया थाऔर मैं ज़मी में ख़ुदको छुपा आया थातेरे सितम का निशान लाया साथअपनेशब्'ऐ फिराक का एकलम्हा चुरा आया थाकिसी नज़र को तो मेरी तलाश नही थीसो मैं ख़ुद से ही नज़र बचा आया थावो बस अपने फ़राह के लिए आते थेमिलनेउन्हें अपना समझ मैं ज़ख्मदिखा आया थादिल क... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   2:14am 15 Jul 2011 #ग़ज़ल
Blogger: Kunal Verma
परिंदा क़ैद में हैआशियाना देखता हैपरिंदा क़ैद में हैआशियाना देखता हैवो बंद आँखों सेसपना सुहाना देखता हैतू ही समझ न सका अहमियत मोहब्बतकीतेरे तरफ तो येसारा ज़माना देखता हैतू ही तबीब, तू ही रहनुमा तूही रहबरतेरे करमको तो सारा ज़माना देखता हैतू आशिकों का है आशिक़, ये शान... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   8:29pm 3 Jul 2011 #ग़ज़ल
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (195025)