POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चर्चामंच

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन !शुक्रवार की चर्चा मंच प्रस्तुति में आप सभी विद्वजनों का हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन ।विश्व पर्यावरण दिवस की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं इस संकल्प के साथ कि  "हम प्रकृति के संरक्षण हेतु कम से कम एक वृक्ष लगा कर उसके पल्लवन का दायित्व लेने के साथ-साथ प्रकृत... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   6:31pm 4 Jun 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैमन हो गया विभोरएक अफ़सोस विडम्बना लाल मिर्च के औषधीय उपयोग इश्क है मेहमान दिल मेंतेरी याद संग लिली खिली हैसमर क्षेत्र कौशल किन्नर हो क्रिमिनल नहींदुःख को कोई कैसे लिख सकता हैजीवन दर्शन की बात करता कविता-संग्रहधन्यवाददि... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   7:30pm 3 Jun 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन !आ. कामिनी सिन्हा जी अनुपस्थिति  में आज मंगलवार की प्रस्तुति में मैं आप सबका अभिनन्दन करती हूँ । शीघ्र ही वे अगली प्रस्तुति के साथ वे आपके सम्मुख होंगी । आज की चर्चा का आरम्भ सुभद्रा कुमारी चौहान की कलम से निसृत "तुम मुझे पूछते हो"कवितांश से -"यह मुरझाय... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   6:31pm 1 Jun 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन।सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।--शब्द-सृजन- 24  का विषय है- मसी /क़लम आप इस विषय पर अपनी रचना  (किसी भी विधा में) आगामी शनिवार (सायं 5 बजे) तक चर्चा-मंच के ब्लॉगर संपर्क फ़ॉर्म (Contact Form ) के ज़रिये हमें भेज सकते हैं।  चयनित रचनाएँ आगामी रविवासरीय चर्चा-अंक... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   6:31pm 31 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन। रविवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।  --पेश है शब्द-सृजन का नया अंक जिसका विषय दिया गया था-मानवता / इंसानीयत --मानवता अर्थात ऐसा मूल्य जो व्यक्ति को मानव होने, सामाजिक होने, संवेदनशील होने, सकारात्मक होने, सहअस्तित्त्ववादी होने का एहसास कराता ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   6:31pm 30 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
शुक्रवार की प्रस्तुति में चर्चा मंच पर  आपका  हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन । आज की चर्चा का आरम्भ  महादेवी जी  के "दीपशिखा"कवितांश से  -सब बुझे दीपक जला लूंघिर रहा तम आज दीपक रागिनी जगा लूंक्षितिज कारा तोडकर अबगा उठी उन्मत आंधी,अब घटाओं में न रुकतीलास तन्मय तड़ित... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   6:31pm 28 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों!           जेठ की गर्मी ने अपने तीखे तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। मंगलवार को पारा एक बार फिर से 44 डिग्री के पार चला गया। इस हफ्ते लोगों को गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही है।            पिछले हफ्ते पहाड़ों और एनसीआर में अच्छी बारिश हुई थी। हल... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   6:31pm 26 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन।  आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। हर तरफ दुःख -दर्द और मायूसी का वातावरण है.. मौत तांडव कर रही हैं.. ऐसे में "ईद "का आगमन थोड़ी देर के लिए ही सही यकीनन थोड़ा  सुकून तो दे ही जाएगा "ईद का मुबारक चाँद "हमें इस त्रासदी से जल्द से जल्... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   6:31pm 25 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।पढ़िए कविवर दुष्यंत कुमार जी की कविता 'सूना घर'का एक अंश-सूने घर में किस तरह सहेजूँ मन को।पहले तो लगा कि अब आईं तुम, आकरअब हँसी की लहरें काँपी दीवारों परखिड़कियाँ खुलीं अब लिये किसी आनन को।पर कोई आया गया न कोई बोलाखु... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   6:31pm 24 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन। रविवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। शब्द- सृजन-२२ का विषय दिया गया था-"मज़दूर/ मजूर /श्रमिक/श्रमजीवी"पेश है शब्द-सृजन का नया अंक---श्रमजीवी जीवन अभावों और चुनौतियों से भरा जीवन है जहाँ अनेक प्रकार की विवशताएँ, विसंगतियाँ, शोषण का चक्रव्यूह, स... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   6:31pm 23 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। --बादल अपने मौसम में ही सुहाने लगते हैं किंतु कभी-कभी असमय बादलों के लिए गुहार लगाई जाती है। बादलों की जीवन में व्यावहारिक उपयोगिता हो या साहित्य के कल्पनालोक में क़िस्म-क़िस्म की परछाइयाँ हों सभी मिलकर बादल... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:31pm 22 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
शुक्रवार की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन । आज की चर्चा का शुभारंभ स्मृतिशेष केदारनाथ जी कविता से करते हैं ---"आज नदी बिलकुल उदास थी। सोई थी अपने पानी में, उसके दर्पण पर- बादल का वस्त्र पडा था। मैंने उसको नहीं जगाया, दबे पांव घर वापस आया।"---अब बढ़ते ह... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   6:31pm 21 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन।  आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। "रमज़ान "  पाक और मुबारक महीना ..... पुरे एक महीने के कठिन "रोज़ा "रखने के बाद... वो आखिरी दिन जब चाँद खुशियाँ लेकर आता हैं और समझाता हैं ...."पुरे एक महीने मिल -बाँटकर खाया तुमने ..अब आगे भी यूँ ही खु... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   6:31pm 18 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। --आज से हम लॉकडाउन के चौथे चरण में प्रवेश कर गए हैं जो आगामी 31 मई 2020 तक के लिए घोषित हुआ है कुछ रियायतों / शर्तों के साथ। अब तक प्रचंड गर्मी की तपिश से हम बचे हुए हैं क्योंकि लगभग हरेक हफ़्ते आँधी,ओले, बारिश मौ... Read more
clicks 9 View   Vote 0 Like   6:31pm 17 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन। रविवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। शब्द- सृजन-२१ का विषय दिया गया था-'किसलय'पेश है शब्द-सृजन का नया अंक। --किसलय अर्थात नवपल्लव, अत्यंत कोमल सुनहली कोंपलें जिनका स्पर्श रोमांचित और मन हर्षित करने वाला होता है। अक्सर पतझड़ के उपरांत प्रकृति ज... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   6:31pm 16 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैअनज़ान रास्तों पे निकलना न परिन्दोंश्रमऊसर हो चुकी संवेदनामेरुदण्ड बाँसुरीव्योम के उस पारअजेय आसदोलामन साधकर जीवन को बदलने की बात करती पुस्तककवि की जीवन दृष्टि को परिलक्षित करती कविताएँमहज़ एक इंसाननाम में क्या रखा हैचुप नही... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   6:31pm 13 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों!क्या आप जानते हैं कि हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा प्रयोग आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। आइए, आपको बताते हैं बार-बार हैंड सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल करने से आपकी सेहत को क्या नुकसान पहुंच सकता है।  रक्त में मिलने के बाद यह आपकी मांसपेशियों के ऑर्डिनेशन को&nb... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   6:31pm 12 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन।  आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है।जैसे "हरि अनंत हरि कथा अनंता "वैसे ही माँ की महिमा भी अनंत हैं  ,जैसे हरि को शब्दों में नहीं समेट सकते ,वैसे ही माँ को भी चंद शब्दों में समेटना मुश्किल हैं। "माँ "और "हरि "कहने को तो हम दोनों की प... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   6:31pm 11 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।              कल मातृदिवस पर माँ को समर्पित सृजन प्रशंसनीय एवं सराहनीय रहा। वर्ष में सिर्फ़ एक दिन माँ का स्मरण हमारी संस्कृति नहीं है बल्कि हमारे लिए तो माँ सदैव स्मरणीय है। जननी के ऋण से उद्धार होना संभव ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   6:31pm 10 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन। रविवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आज विश्व मदर्स डे है। माँ को समर्पित यह दिन माँ की महिमा और स्मृतियों के बखान का विशेष अवसर है । मदर्स डे की अनंत शुभकामनाएँ । हमारी सोमवारीय प्रस्तुति माँ को समर्पित होगी जिसे लेकर आ रहे हैं आदरण... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   6:31pm 9 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन।शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। सरहदों की रक्षा के साथ-साथ सेना को आतंकवाद एवं  देश की अन्य आंतरिक सुरक्षा संबंधी चुनौतियों से जूझना पड़ रहा है।  इस बीच सैनिकों की शहादत निरंतर जारी है किंतु चर्चा अचानक ग़ाएब हो गई है। सैनिक परिवार में द... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   6:31pm 8 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन !आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। आज की चर्चा का आरम्भ स्मृति शेष श्री केदारनाथ जी के एक पारिवारिक प्रश्न से ---छोटे से आंगन में माँ ने लगाए हैंतुलसी के बिरवे दोपिता ने उगाया हैबरगद छतनारमैं अपना नन्हा गुलाबकहाँ रोप दूँ!***दोहे "बुद्ध पूर्ण... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   6:31pm 7 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैबिकने लगी शराब क्या आचार्य रामचंद्र शुक्ल जातिवादी और साम्प्रदायिक हैं ? बगिया में घोंघे उसे क्षमा क्यों जो मानवता का दुश्मन हत्यारा हैस्मृतियाँ झूठ से सामना होने पर सवाल जरूर पूछेंगी विदेशी रोग समाज के उजले और कुरूप प... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   11:30pm 6 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों।हम भारतवासी भी खूब हैं, जो किसी नियम कानून में नहीं बँधें है। शासन प्रशासन के लिए तो यह चिन्ता की बात है ही किन्तु लोग इस बात को नहीं समझ रहे हैं कि वायरस से खुद उनको ही संक्रमित होकर काल के ग्रास में समाना होगा। इतने दिनों से पुलिस ने जिस मेहनत से लॉकडाउन का पा... Read more
clicks 9 View   Vote 0 Like   6:31pm 5 May 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्नेहिल अभिवादन।  आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है।सचमुच कोरोना जी ,क्या "कर दिया आपने "कुछ सवारा कुछ बिगाड़ा आपने... वर्तमान बिगाड़ रहें हैं कि भविष्य सवार रहें है.... अतीत की गलतियों की सजा दे रहें हैं या आने वाले कल के लिए सबक वो तो आप ही ज... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   6:31pm 4 May 2020 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3957) कुल पोस्ट (193627)