POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चर्चामंच

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
प्रिय ब्लॉगर मित्रों।बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।--देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--गीत "अपनी भाषा हिन्दी" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')--भारतमाता के सुहाग की, जो है पावन बिन्दी। भोली-भाली सबसे प्यारी, अपनी भाषा हिन्दी।। उच्चारण --हिन्दी भारत की जनभाषा,... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   6:31pm 14 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 सादर अभिवादनआज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है(शीर्षक और भूमिका आदरणीया सुजाता प्रिया जी की रचना से )"भारत मां के माथे की,चमकती-सी है यह बिंदी,इसकी आन है हिन्दी,इसका प्राण है हिन्दी।"14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाते हैं.... हिंदी तो हमारी मातृभाषा है... और ह... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   6:31pm 13 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैशास्त्री जी को उनके पुत्र के जन्मदिन की हार्दिक बधाई कुछ अन्य लिंक वो तुम हो विभावरी गोपाल प्रधान का आलेख ‘पूँजी’ का यूरोप में प्रसार भारत आस्ट्रेलिया टू प्लस टूफिर सुनहली भोर आयी यादों ने उम्मीद का दामन अभी नहीं छो... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   7:00pm 12 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादनआज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है(शीर्षक आदरणीय आशा दी की रचना से)बिना किसी भुमिका के चलते हैं आज की कुछ खास रचनाओं की ओर......________है अस्तित्व तुम्ही से मेराहै अस्तित्व तुम्ही से मेराजब भी खोजा जानना चाहातारों भरी रात में खुद कोपहचानना चाहा |------------... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   6:31pm 11 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। आज की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। शीर्षक व काव्यांश आ. विभा रानी श्रीवास्तव जी की रचना से - हौले से चढ़ेएक-एक सीढ़ियाँगुरु का ज्ञान।आइए पढ़ते हैं आज की पसंदीदा रचनाएँ---संस्मरण "मेरा पुनर्जन्म"  तीन-चार दिन अस्पताल की आई.सी.यू. में रहने के बाद मे... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   6:31pm 10 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। आज की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आज गणेश चतुर्थी है। बुद्धि के देवता गणेश जी भारतीय सामाजिक जीवन में अति लोकप्रिय हैं।  उनके नाम से लोकप्रिय हुई कहावत 'श्रीगणेश कीजिए'अर्थात कार्य आरंभ कीजिए, जन-जन की ज़बान पर रहती है। गणेश चतुर्थी अर्थात ... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   6:31pm 9 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
शीर्षक पंक्ति: आदरणीय रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'सादरअभिवादन। गुरुवारीयअंकमेंआपकास्वागतहै। आइए पढ़ते हैं आज की पसंदीदा रचनाएँ-  ग़ज़ल "दिल को बेईमान न कर" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)जल-जंगल से ही जीवन हैदोहन और कटान न करजो जनता को आहत करदेऐसे कभी बयान न करपिर... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:31pm 8 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए बिना किसी भूमिका केमेरी पसन्द के कुछ लिंक---मेरा भारत महान है  तो सपना विदेश का क्यों? आपकी सहेली ज्योति देहलीवाल --"रिक्तता" ताकती परवाज़े भरती चील को..बोझिल,तन्द्रिल दृग पटल मूंदलेटकर…, धूप खाती रजाईयों पर... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   6:31pm 7 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। आज की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आदरणीया कामिनी दी कहीं व्यस्त हैं आज फिर मुझे ही पढ़िए -आइए पढ़ते हैं आज की पसंदीदा रचनाएँ--उच्चारण: गीत "गौरय्या का गाँव" नहीं रहा अब समय सलोना,बिखर गया ताना-बाना,आगत का स्वागत-अभिनन्दन,आज हो गया बेगाना,कंकड़-काँ... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   6:31pm 6 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। किसान आंदोलन लंबा खिंच अब तक सरकार के कान पर जूँ नहीं रेंगी अब तककिसान की उपेक्षा आख़िर कब तक?देखो डटा हुआ है किसान दिल्ली की सीमा पर अब तक!आइए पढ़ते हैं कुछ पसंदीदा रचनाएँ-  --शिक्षक दिवस पर पढ़िए उन कवियों ... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   6:31pm 5 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। आज की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आज शिक्षक दिवस है। हार्दिक शुभकामनाएँ। 5 सितंबर 1888 को जन्मे डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक महान शिक्षक, विश्वविख्यात दार्शनिक एवं सम्माननीय राजनीतिज्ञ के रूप में जाने जाते हैं। भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति एव... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   2:39am 5 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। शीर्षक व काव्यांश श्री बालकवि बैरागी के गीत संग्रह ‘ललकार’ ’ से -खेत मेरे! लहलहाना धान से भरपूर तुमवक्त की आई चुनौती लो करो मंजूर तुमदेश भूखा रह न जायेहम जरूरी काम पर हैंआज हम सब लाम पर हैं.....आइए पढ़... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   6:31pm 3 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी प्रबुद्धजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन ! आज की चर्चा का शीर्षक श्री उदय प्रताप सिंह जी की लेखनी से निसृत ग़ज़ल 'बैसाखी पर चलते लोग'से हैं ।   "इन ढालों के दुर्गम पथ पर देखे रोज़ फिसलते लोग फिर कैसे शिखरों... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   6:31pm 2 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है सुनने में आया है कि LPG के भाव में फिर बढ़ोतरी हुई है। दरअसल इन बातों को मीडिया या तो बताता नहीं या फिर दबी ज़ुबान में बताता है, इसलिए ऐसे समाचार पहुँचते-पहुँचते देर हो जाती है और आमतौर पर इनकी सूचना ऐसे माध्यमों से मिलती है, जिनको प्... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   7:00pm 1 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--ज्ञान परंपरा का हिस्सा बने संस्कृत: संस्कृत भारत की सभ्यता और संस्कृति के मूल को करती है परिभाषित --"धरती की करुण पुकार" हे! मानस के दीप कलश तुम आज धरा पर फिर आओ।नवयुग की रामायण रचकर ... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   2:00am 1 Sep 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--गीत "लगा रहे हैं पहरों को" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') चौकीदारी मिली खेत की, अन्धे-गूँगे-बहरों को।चोटी पर बैठे मचान की, लगा रहे हैं पहरों को।।घात लगाकर मित्र-पड़ोसी, धरा हमारी लील रहे,प... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   6:31pm 24 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन आज  की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। (शीर्षक आदरणीया मीना भरद्वाज जी की रचना से )आज बिना किसी भूमिका के चलते हैं आज की कुछ खास रचनाओं की ओर....------------------------आहान- "कटु यथार्थ""यहाँ पर तो एक फैमिली रहती थी पहले अभी तो बड़ीसुनसान लग रही है यह हवेली ।"&n... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:31pm 23 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। कल सावन गया आज से भादों मास का आरंभ। भारी बारिश,बाढ़;भूस्खलन और जलभराव के लिए ज़्यादा जाना जाता है भादों का महीना। इस माह की आठवीं तिथि धार्मिक पर्व श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के रूप में भारत में श्रद्धा-भक्ति और ... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   6:31pm 22 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन आज  की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। (शीर्षक और भूमिका आदरणीय शास्त्री सर की रचना से)ममता की इस डोर में, उमड़ा रहा है प्यार।भावनाओं से हैं बँधें, सम्बन्धों के तार।।"रक्षाबंधन"कच्ची डोर से बंधा एक पक्का रिश्ता...."वैसे तो भाई-बहन का स्नेह किस... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:31pm 21 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सादर अभिवादन। शनिवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत हैशीर्षक व काव्यांश श्री बालकवि बैरागी के कविता संग्रह ‘शीलवती आग’ से -सूर्य ने स्याही उगल करकर दिया आकाश फिर कालाचलो माँजो गगन कोरक्तवर्णी पीढ़ियों परफिर वही दायित्व आया है।हो सके तो फिर नया सूरज उगाओकिस कदर... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:31pm 20 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैमाँ की ममता के सिवा, कुछ भी नहीं असली हैबन्धनोन्मुक्त आनंदबंधन कैसा उम्‍मीदों का वजन जो व‍िस्‍फोट तक जा पहुंचा सेदोकामार्केट जैसी मिठाई*हाइकु *बस हमने यही जीवन जानायाद रखना है दो चार जिंदो का कलाम लिखागुड़ खाने के फायदे ... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   7:00pm 18 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।--गीत "माँ की ममता के सिवा, कुछ भी नहीं असली है" रात-दिन आज भी आभास मुझे होता है,मेरी माँ मेरे सदा आस-पास रहती है।मुसीबतों से कभी हारना नहीं बेटा,माँ सदा मुझसे यही कहती है।।उच्चारण--हमारा घर--27&nb... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   6:31pm 17 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मंगलवारीय प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है । आज की प्रस्तुति में बिना किसी भूमिका के अद्यतन सूत्रों का अवलोकन करते हैं। अनीता सैनी 'दीप्ति' आइए पढ़ते हैं आज की पसंदीदा रचनाएँ---दोहे "अमर रहेगा जगत में, अटल आपका नाम" अटल बिहारी आपका, करते सब गुणगान।माता के ... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   6:31pm 16 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
शीर्षक पंक्ति: आदरणीय डॉ.रूपचंद्र शास्त्री 'मयंक'जी की रचना से। सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। 15 अगस्त 2022 को हम आज़ादी की 75 वीं वर्षगाँठ मनाएँगे। अर्थात 1947+75 = 2022  इस विशिष्ट साल के तारीख़ ,महीने ;दिन गिनते जाएँगे। आइए अब पढ़ते हैं चुन... Read more
clicks 69 View   Vote 0 Like   6:31pm 15 Aug 2021 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें  सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है। (शीर्षक आदरणीय शास्त्री सर की रचना से )हर इक वासी के अंतर मनदेश प्रेम अभिमान बने।ऐसी ज्योत जगे अंतस मेंमातृ भूमि का मान बने।आदरणीया कुसुम जी की ये ... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   6:32pm 14 Aug 2021 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194952)