POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरे गीत !

Blogger: satish saxena
22 मई 2010 को एक प्रोग्रामर लैज़लो हनी (Laszlo Hanyecz) ने, पापा जॉन के दो पिज़्जा खरीदने के लिए 10000 bitcoin दिए थे , इन्होने सपने में भी नहीं सोंचा होगा कि दो पीज़ा लायक यह डिजिटल करेंसी , सिर्फ दस साल बाद Rs 40000000000/= की होगी ,आज एक बिट कॉइन का रेट भारतीय करेंसी में 50 लाख रुपया है ! उनका पीज़ा बिल 30 $ का था और ... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   11:21am 7 Apr 2021 #क्रिप्टो
Blogger: satish saxena
हिंदी जगत में ब्लॉगिंग का आगमन , हिंदी के नवोदित लेखकों के लिए संजीवनी का काम कर गया , झिझकती लड़खड़ाती शर्मीली सैकड़ों कलमें हिंदी की चाल दिखाने के लिए फ्लोर पर पहली बार जब आयीं थी तो उनमें कितनी ही खड़े होने लायक भी नहीं थीं , मगर पाठक रुपी दर्शकों ने वाह वाह कर उन्हें प्र... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   8:14am 19 Feb 2021 #इच्छाशक्ति
Blogger: satish saxena
पिछले वर्ष की भूलें इस वर्ष न हों यही कामना है इस वर्ष , ऐसे मित्रों से रक्षा करे जो सिर्फ दिखावे का प्यार अपनापन जतायें , जिन्हें प्यार की समझ ही न हो ! मैंने जीवन भर दिखावा नहीं किया किसी को भी अगर अपना कहा तब अपनापन का अर्थ समझकर ही कहा और निभाया मगर हमारे समाज में अपनापन ... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:12am 1 Jan 2021 #पाखंड
Blogger: satish saxena
 दौड़ते दौड़ते 67वां वर्ष कब शुरू हुआ पता ही नहीं चला , शायद मैं अधिक खुशकिस्मत हूँ जिसे अपने बड़े होते बच्चों से कभी कष्ट का अनुभव ही नहीं हुआ ! बेटा 40 वर्ष का है और देखता रहता है कि पापा को घर में किस चीज की आवश्यकता है , तलाश करने से पहले घर में वह चीज आ जाती है ! इस बार मेरे हाथ ... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   2:24pm 19 Dec 2020 #रनिंग
Blogger: satish saxena
२४ मार्च २०१७ को मैराथन रनिंग प्रैक्टिस में दौड़ते दौड़ते इस रचना की बुनियाद पड़ी , शायद विश्व में यह पहली कविता होगी जिसे 21 किलोमीटर दौड़ते दौड़ते बिना रुके रिकॉर्ड किया ! लगातार घंटों दौड़ते समय ध्यान में बहुत कुछ चलता रहता है उसकी परिणिति इस रचना के रूप में हुई !न जाने दर्द ... Read more
clicks 54 View   Vote 0 Like   8:31am 22 Oct 2020 #
Blogger: satish saxena
भारत में बढ़ते डायबिटीज और हृदय रोग चिंताजनक हैं , हर चौथा व्यक्ति इसके असर में है , मेहनत न करने से बचने की आदतों ने , महिलाओं पुरुषों का वजन इतना बढ़ा दिया है कि वे चलने तक से परहेज करने लगे हैं अतः इस विषय पर जागरूक होना बेहद आवश्यक है ! रनिंग से बेहतर शरीर को स्वस्थ रखने का ... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   8:03am 30 Sep 2020 #हेल्थ ब्लंडर
Blogger: satish saxena
लोगों में इन कविताओं की, आदत नहीं रही सुन भी लें तो भी ,मन में , इबादत नहीं रही !इक वक्त था जब कवि थे देश में गिने चुने अब  भांड चारणों से , मुहब्बत नहीं रही !जब से बना है काव्य चाटुकार , राज्य का जनता को भी सत्कार की आदत नहीं रही माँ से मिली जुबान ,कब के भूल चुके हैं !... Read more
clicks 54 View   Vote 0 Like   4:33am 13 Sep 2020 #DME
Blogger: satish saxena
हम तो केवल हंसना चाहें  सबको ही, अपनाना चाहें मुट्ठी भर जीवन पाए हैं हंसकर इसे बिताना चाहें खंड खंड संसार बंटा है , सबके अपने अपने गीत । देश नियम,निषेध बंधन में, क्यों बांधा जाए संगीत ।नदियाँ,झीलें,जंगल,पर्वतहमने लड़कर बाँट लिए। पैर जहाँ पड़ गए हमारे ,टुकड़े,टुकड़े ... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   1:19pm 7 Aug 2020 #geet
Blogger: satish saxena
इस भयावह समय में अपने आप को व्यस्त रखना और मस्त रहना बेहद आवश्यक है , इससे जीवनी शक्ति में ताजगी बनी रहती है , इस शक्ति के आगे कोरोना अपने आपको बहुत कमजोर पाता है और एक सामान्य फ्लू से अधिक नुकसान नहीं कर पाता !  अधिकतर लोग इसे बढ़ाने के लिए खाने पीने पर अधिक जोर देते है... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   5:00am 27 Jun 2020 #आत्मविश्वास
Blogger: satish saxena
ये कौम ही मिटी, तो वरदान क्या करेंगे !धूर्तों से मिल रहे ये, अनुदान क्या करेंगे ?कोरोना राज में भी, जीना लिखा के लायेबस्ती के मुकद्दर को ही  जान क्या करेंगे ?आशीष कुबेरों का लेकर, बने हैं हाकिम  लालाओं के बनाये दरबान, क्या करेंगे ?घुटनों पे बैठ , जोड़े हैं हाथ, माल... Read more
clicks 69 View   Vote 0 Like   11:20am 8 Jun 2020 #geet
Blogger: satish saxena
अनुत्तरित हैं प्रश्न तुम्हारे कैसे तुमसे नजर मिलाऊंअसहज कष्ट उठाए तुमनेकैसे हंसकर उन्हें भुलाऊंयुगों युगों की पीड़ा लेेेकरपूछ रही है नजर तुम्हारीमैं तो अबला रही शुरू सेतुम सबने, चूड़ी पहनाईं !हर दरवाजा जीतने वाला , इस दरवाजे हारा क्यों है।बचपन तेरी गोद में बीताकि... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   9:10am 15 May 2020 #
Blogger: satish saxena
काव्यमंच पर आज मसखरे छाये हैं !शायर बनकर यहाँ , गवैये आये हैं !पैर दबा, कवि मंचों के अध्यक्ष बने,आँख नचाके,काव्य सुनाने आये हैं !रजवाड़ों से,आत्मकथाओं के बदले डॉक्ट्रेट , मालिश पुराण में पाये हैं !पूंछ हिलायी लेट लेट के,तब जाकर कितने जोकर, पद्म श्री कहलाये हैं !अदब, मान ... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   6:48pm 10 Feb 2020 #
Blogger: satish saxena
मुर्दा हुए शरीर को , जीना सिखाइये !रोते हुए ज़मीर को , पीना सिखाइये !थोड़े से दर्द में ही,क्यूँ ऑंखें छलक उठी गुंडों की गली में इन्हें , रहना सिखाइये !गद्दार कोई हो , मगर हक़दार सज़ा के उस्ताद, मुसलमां को ही चलना सिखाइये  !अनभिज्ञ निरक्षर निरे जाहिल से देश को !सरकार, शाही ... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   8:26pm 19 Jan 2020 #पाखंड
Blogger: satish saxena
और अब यह बेहद आसान है अगर दो वर्ष में आप एक बार घर से दूर घूमना चाहते हैं तो कम खर्चे में आप जर्मनी, चेकिया या रोम जा सकते हैं और निश्चित ही यह आपके या परिवार के लिए उत्साहवर्धक एवं आत्मविश्वास बढाने में कामयाब होगा ,बहुत कम लोग यह जानते होंगे कि यूरोप जाना उतना ही सस्ता हो... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   2:55pm 1 Oct 2019 #Munich
Blogger: satish saxena
जो लोग बरसों से बिना पसीना बहाये, ऐयरकंडीशनर ऑफिस में काम करने के आदी हो गए हैं उन्हें यह जान लेना चाहिए कि उनके शरीर की मसल्स, फेफड़ों के नियमित कार्य , धमनियों में रक्त संचार , हाथ, पैरों, रीढ़, कमर, घुटनों व शरीर के अन्य महत्वपूर्ण जॉइंट्स, बेहद धीमी गति से चलने के आदी हो च... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   2:15pm 16 Jul 2019 #आत्मविश्वास
Blogger: satish saxena
भारत में आजकल लगभग 40 डिग्री टेम्प्रेचर है और एक नए बने रनर ट्रेनी के लिए इस गर्मी में, लम्बी दूरी दौड़ना केवल एक भयावह सपना होता है , पिछले माह जब मैं जर्मनी आया था तब अगले दिन ही यहाँ के ठन्डे मौसम में, इसार नदी के किनारे दौड़ते दौड़ते कब 21 km पूरा कर लिया पता ही नही... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   8:05pm 14 Jul 2019 #आत्मविश्वास
Blogger: satish saxena
लगा सब धर्मों का मेलाभीड़ का है रेलम पेलाअजान में है खिचाव भारीभजन में आत्मा दिल हारीबैठना , गिरिजा में चाहें ,आँख में जब आंसू आएं !मुहब्बत करना सिखलायें कतारें,  लंगर की प्यारे !सभी घर अपने से लागे,सब जगह वही प्यार इज़हार !फ़क़ीरों का अल्हड संसारहमारी सबसे यारी ... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   3:12am 31 May 2019 #love
Blogger: satish saxena
मोदी -शाह की जोड़ी को आखिरकार शानदार बहुमत मिला और देश के सत्ता सिंहासन पर अगले पांच वर्षों तकबैठने का जनादेश भी , इस नाते मैं उन्हें मुबारकबाद देता हूँ और आशा करता हूँ कि वे विरोधियों का विश्वास पाने के प्रयत्न करने के साथ, देश के हर वर्गों को साथ लेकर, चलने का प्रयास करे... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   7:47am 24 May 2019 #नफरत
Blogger: satish saxena
साधू सन्यासी हमारे , लार टपकाते दिखेंकौन आएगा नमन को ,मेरे हिंदुस्तान में ?धूर्तों ने धन कमाने , घर में, कांटे बो दिए !रोयेंगी अब पीढ़िया,परिवार पुनुरुत्थान में !कौम सारी हो चुकी बदनाम,बहते खून से ,कितनीं पीढ़ी बीत जायेंगीं इसी भुगतान में ! जाहिलों की बुद्धि, कैसे शुद्ध हो ... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   1:50am 10 May 2019 #geet
Blogger: satish saxena
नमस्ते सर , अजय कुमार बोल रहा हूँ  ...कल सुबह आपके साथ दौड़ने का मन है, जहाँ कहें वहां आ जाऊंगा ...मेरे साथ अजय कुमार दौड़ेंगे ? क्यों बुड्ढे का मजाक बना रहे हो यार  ...?  और वाकई अजय सुबह सवा पांच बजे फरीदाबाद से चलकर मेरे घर के दरवाजे पर थे !अजय कुमार NCR के जबरदस्त रनर्स में शुमा... Read more
clicks 131 View   Vote 0 Like   4:34am 9 May 2019 #आत्मविश्वास
Blogger: satish saxena
लाशों पे  नाचते तुम्हें , यमजात कहेंगे !शायर और गीतकार भी बदजात कहेंगे !कातिल मनाएं जश्न,भले अपनी जीत का इस्लाम की छाती पे  , इन्हें दाग़ कहेंगे !इन्सान के बच्चों का खून,उनकी जमीं पर रिश्तों की बुनावट पे,हम आघात कहेंगे !दुनियां का धर्म पर से, भरोसा ही जाएगा !हम दूध मुंहों ... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   2:30am 25 Apr 2019 #
Blogger: satish saxena
इस हिन्दुस्तान में रहते,अलग पहचान सा लिखना !कहीं गंगा किनारे बैठ कर , रसखान सा लिखना !दिखें यदि घाव धरती के,वहां ऋणदान सा लिखना घरों में बंद,मां बहनों पे,कुछ आसान सा लिखना !किसी के शब्द शैली को चुरा के मंच कवियों औ , जुगाडू गवैयों,के बीच कुछ प्रतिमान सा लिखना !तेरी भोगी हुई अ... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   6:22am 15 Apr 2019 #आत्मविश्वास
Blogger: satish saxena
घर घर से आवाज कन्हैया जीतेगा !कौओं में परवाज़ ,कन्हैया जीतेगा !बुलेट ट्रेन,स्मार्ट सिटी के झांसों में फंदे काट तमाम,कन्हैया जीतेगा !नहले दहले, अंतिम  ठठ्ठा मार रहेमक्कारों पर गाज़,कन्हैया जीतेगा !भारत मां घायल है ,इन गद्दारों  से , जनमन लेके साथ,कन्हैया जीतेगा !लोकत... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   8:41am 12 Apr 2019 #geet
Blogger: satish saxena
आज चौथा दिन है पारंपरिक भोजन का त्याग किये , रोटी , दाल , चावल, सब्जियां बंद किये हुए , और आश्चर्य है कि मन एक बार भी नहीं ललचाया और न भूख लगी न कमजोरी ...शायद इसलिए कि अपने आपको चार दिन पहले बे इंतिहा गालियाँ दी थीं , अपना वजन देखने के बाद अगर उस दिन मशीन न देखता तो पता ही न चलता क... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   1:09pm 9 Apr 2019 #अनुरोध
Blogger: satish saxena
अंततः इंतज़ार समाप्त हुआ , विधि, गौरव की पुत्री मिट्ठी ने, आज (3April) म्युनिक, जर्मनी में जन्म लिया और मुझे बाबा कहने वाली इस संसार में आ गयी !मिट्ठी का स्वागत है अपने घर में , ढेरों प्यार से !गुलमोहर ने भी बरसाए लाखों फूल गुलाल के !नन्हें क़दमों की आहट से,दर्द न जाने कहाँ गएनानी ,द... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   7:44am 4 Apr 2019 #परिवार
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194340)