POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: poem on thoughts in train

Blogger: Sujit Kumar Lucky at  ...
खिड़की की ओर नजर ले जाओ,धुँधली सी तस्वीर बनाओ !देखो तुम जब नजर फिराये,हर चीज भागे बन के पराये !रातों में फैला कल का एक शोर,पाषाण राहों में चलने का बस होड़ !बचपन का कौतुहल मन ...कहाँ से आती कहाँ को जाती रेल,आज रात की नींद चुराये, छुक छुक करती जैसे हो कोई खेल !आँखे चुराये रात जो भागी... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   6:23pm 14 Jun 2012 #poem on thoughts in train
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3993) कुल पोस्ट (195242)