POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: hypocrisy

Blogger: Sanjay Grover at saMVAdGhar संवादघर...
पुरस्कार क्यों लिए-दिए जाते हैं, इसपर किसीने भी सवाल नहीं उठाया, कोई उठाएगा इसकी उम्मीद भी न के बराबर ही है।इस देश में लेखकों की रचनाएं, संपादक और प्रकाशक, चाहे वे वामपंथीं हों या संघी, किस आधार पर छापते हैं, इसपर भी सवाल कम ही उठते हैं, कम ही उठेंगे।यह सवाल भी नहीं उठा कि ए... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   1:45pm 19 Oct 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at पागलखाना PAAGAL-KHA...
ग़ज़ल़उनका इनसे समझौता हैघिन का घिन से समझौता है13-07-2014ज़रा चुभाना, बड़ा दिखानाख़ून और पिन का समझौता हैइधर भी छुरियां, उधर भी छुरियांऔर मक्खन का समझौता है17-10-2015नामुमकिन कुछ कहां रहा अबसब मुमक़िन है, समझौता हैशाम को दोनों वहीं मिलेंगेरात और दिन का समझौता है13-07-2014-संजय ग्रोवर17-1... Read more
clicks 142 View   Vote 0 Like   1:29pm 17 Oct 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at saMVAD-JUNCTIon...
छोटी कहानीवे आए थे।श्रद्धा के मारे मेरा दिमाग़ मुंदा जा रहा था।यूं भी, हमने बचपन से ही, प्रगतिशीलता भी भक्ति में मिला-मिलाकर खाई थी।चांद खिला हुआ था, वे खिलखिला रहे थे, मैं खील-खील हुई जा रही थी।जड़ नींद में अलंकार का ऐसा सुंदर प्रदर्शन! मैंने ख़ंुदको इसके लिए पांच अंक दिए... Read more
clicks 294 View   Vote 0 Like   7:46am 29 Jun 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at Pre-Mortem फ़िल्म, सम...
परिवारवाद राष्ट्रवाद का संक्षिप्त संस्करण है। मनोजकुमार तथाकथित राष्ट्रवाद पर फ़िल्में बनाते थे और सबसे महान राष्ट्रवादी का रोल ख़ुद कर लेते थे। आजकल नारीवाद और नारीवादी की अच्छी प्रतिष्ठा है। ज़ोया ने अपने भैय्या (फ़रहान) को महान नारीवादी का रोल दिया है। लोग दूसरों ... Read more
clicks 282 View   Vote 0 Like   7:30am 21 Jun 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)आजकल जगह-जगह सुनने को मिलता है कि औरतें तो समझदार हो गईं हैं अब तो बस मर्द को बदलना है।क्या वाक़ई ऐसा है? क्या हम ज़रा-सा सच सुनने या पढ़ने को तैयार हैं ? वे कौन औरतें हैं जो यह सुनकर ख़ुश हो रहीं हैं कि ‘हर औरत का सम्मान करना चाहिए’ या ‘मैं स्त्रियों का बड़ा सम्मान कर... Read more
clicks 257 View   Vote 0 Like   10:35am 22 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)इस वीडियो में ज़्यादा आपत्तिजनक तो कुछ नहीं है मगर नया भी कुछ नहीं है। दुनिया-भर में, भारत में भी पत्र-पत्रिकाओं, इंटरनेट की बहसों और टीवी सीरियलों में पिछले कई सालों से ये बातें कही जा रहीं हैं और इस वीडियो से बेहतर ढंग से कही जा रहीं हैं। इस वीडियो का सबसे कमज़... Read more
clicks 219 View   Vote 0 Like   9:29am 7 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)(पिछला भाग)यहां देखिए, नायिका को सीधी बात में मज़ा नहीं आ रहा, वह चाहती है कि नायक कुछ घुमा-फिराकर कहे। यह तो फ़िल्मी सिचुएशन है मगर बाहर की दुनिया में भी घुमाने-फिराने को बड़ी प्रतिष्ठा मिली हुई है। घुमाने-फिराने के सबसे ज़्यादा शौक़ीन हमारे कवि और साहित्यकार हैं... Read more
clicks 255 View   Vote 0 Like   6:30am 7 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)हे देश के पवित्र महात्मागणों, फूफा-फूफिओं, दादा-दादिओं, नाना-नानिओं, जीजा-जीजिओं, पिताओं-माताओं, तुम जो ये झंडे ले-लेके एकाएक क्रांतिकारी हो उठे हो, ये न सोच बैठना कि जो लोग बलात्कार नहीं करते वे बहुत महान हैं। उन्हींमें से बहुत-सारे लोग सरिता-मुक्ता-मेट्रो नाऊ... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   9:09am 4 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)जब सानिया मिर्ज़ा जीतती हैं, साइना नेहवाल जीतती हैं, सचिन तेंदुलकर रिकॉर्ड बनाते हैं, धोनी वर्ल्ड कप दिलाते हैं तो तुम कहते हो कि ये हमारे आदमी हैं, हमें इनपर गर्व है। तुम्हारे बेटे-बेटी क्लास में सबसे ज़्यादा नंबर लाते हैं, अच्छी नौकरी पाते हैं तो तुम कहते हो क... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   12:48pm 2 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
(पिछला भाग)चंद रोज़ पहले उसने सुना कि एक भीड़ ने क़ानून अपने हाथ में लेकर एक बलात्कारी की हत्या कर दी। सोचने की बात यह है कि हत्या और बलात्कार में फ़र्क़ क्या है ? दोनों ही तरह के लोग बातचीत में या तो यक़ीन नहीं रखते या उनमें इतना धैर्य नहीं होता। कहीं न कहीं उन दोनों में दूसरों क... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   9:57am 2 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: Sanjay Grover at सरल की डायरी Sa...
एन डी टी वी इंडिया अकसर रविवार को मुहिम जैसा कुछ चलाता रहता है।साल-भर हुआ होगा शायद। स्त्रियों की स्थिति को लेकर बातचीत चल रही थी।किसी गांव में मौजूद एक संवाददाता स्टूडियो में मौजूद अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की बातचीत किसी ख़ाप पंचायत के मुखिया से करा रहा था। मुखिया ... Read more
clicks 254 View   Vote 0 Like   8:45am 1 Apr 2015 #hypocrisy
Blogger: mansoor ali hashmi at Aatm-Manthan ~ आत्म मं...
पैसे वसूल अब जो भी है, जैसे भी है करलो क़बूल,खेल; अभी जारी, मगर पैसे  वसूल ! जो नहीं हासिल लुभाता  है बहुत,मिल गया जो वह तो बस मानिन्दे धूल.हो रही बातें , परिवर्तन की फिर ,अबकि तो बस, हो फ़क़त आमूल-चूल.सख्त हो कानून सबके वास्ते,ख़ुद पे बस लागू न हो कोई भी 'रूल'.है निरंतर, नेको-... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   4:42pm 27 Jun 2012 #hypocrisy
[Prev Page] [Next Page]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3931) कुल पोस्ट (193274)