POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: short story

Blogger: Atheism Research Foundation at Atheism Justification...
बक़रईद का दिन था Jumman miyaan कुर्बानी की तैयारी में लगे थे यह पहली बार था जब Jumman miyaan के यहां केवल एक ही बकरे … The post Jumman Miyaan Ki BakarEid | जुम्मन मियां की बक़रईद appeared first on Atheism-Justification. ... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   6:29pm 1 Aug 2020 #Short Story
Blogger: सुनील कुमार सजल at ...Sochtaa hoon......! ...
लघुकथा - संतुष्ट सोच नगर के करीब ही सड़क से सटे पेड़ पर एक व्यक्ति की लटकती लाश मिली । देखने वालों की भीड़ लग गयी ।लोगों की जुबान पर तर्कों का सिलसिला शुरू हो गया ।किसी ने कहा-"लगता है साला प्यार- व्यार  के चक्कर में लटक गया ।""मुझे तो गरीब दिखता है ।आर्थिक परेशानी के चलते....... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   5:03am 11 Feb 2018 #short story
Blogger: दिनेशराय द्विवेदी at अनवरत...
“तेलुगू कहानी”गोर्की का पात्र वी. चंद्रशेखऱ रावअनुवादक - पी.वी. नरसा रेड्डीगोर्की की कहानी का अनुवाद कराकर दोगे न? वैसे तो आज रात कोई केस भी नहीं आनेवाला है। हमारे स्त्री-शक्ति संगठन की ओर से एक स्मारिका का विमोचन कराना चाहती हूँ। यह कहानी उसमें ज़रूर होनी चाहिए। प्ल... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   5:37am 3 Aug 2017 #Short Story
Blogger: दिनेशराय द्विवेदी at अनवरत...
ईदगाह-प्रेमचन्दरमजान के पूरे तीस रोजों के बाद ईद आयी है। कितना मनोहर, कितना सुहावना प्रभाव है। वृक्षों पर अजीब हरियाली है, खेतों में कुछ अजीब रौनक है, आसमान पर कुछ अजीब लालिमा है। आज का सूर्य देखो, कितना प्यारा, कितना शीतल है, यानी संसार को ईद की बधाई दे रहा है। गॉंव में क... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   2:33am 26 Jun 2017 #Short Story
Blogger: दिनेशराय द्विवेदी at अनवरत...
'कहानी'‘सृंजय’ओसारे से बाहर सिर निकालते ही माघ का तुषार बबूल के काँटे की तरह बरसा। कमलाकांत उपाध्याय के जोड़-जोड़ में सिहरन भर गयी। उनके दाँत जोरों से रपटने लगे। वह भीतर लौट आये और आलने पर के पुराने कपड़े उलटने-पुलटने लगे। पत्नी पास ही खड़ी थी। सूनी-सूखी आँख उठाकर उनकी तलाश... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   3:15am 26 Jan 2017 #Short Story
Blogger: दिनेशराय द्विवेदी at अनवरत...
‘कहानी’ माप -सृंजय "अरे...हां, हमारे गाउन का क्या हुआ?''साहब ने अपने पी. ए. से पूछा. , "'सर, तब से में दो-तीन दफा तकाज़ा कर चुका हूँ""अभी तक सिला या नहीं?’ साहब उत्सुक होकर बोले. "दर्जी कह रहा था कि एक बार हाकिम से कहते कि वो इधर तशरीफ़ लाते”. पी. ऐ- ने लगभग अनुरोध-सा करते हुए कहा. . तुम तो ... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   6:55pm 30 May 2015 #Short Story
Blogger: Sanjay Grover at saMVAdGhar संवादघर...
‘क्या लाए ?’‘जी, जो भी बन पड़ा ले आया हूं।’‘गुड, देखो हमारे यहां अपना पक्ष चुनने की पूरी स्वतंत्रता है, चाहो तो इसे मेरी दायीं जेब में डाल दो, चाहो तो बायीं में।’‘जी, मैं जानता हूं कि रास्ते अलग़-अलग़ हैं पर गंतव्य एक ही है।’‘शाबाश! बाहर लोगों को बताना मत भूलना कि मुझे अपना पक... Read more
clicks 234 View   Vote 0 Like   9:43am 4 Mar 2015 #short story
Blogger: Sanjay Grover at saMVAdGhar संवादघर...
छोटी कहानीजंगल में सब ठीक-ठाक चल रहा था।शेर बकरियों को खा रहे थे। हिरनों को खा रहे थे। जो भी खाने का मन हो, खाए जा रहे थे।भेड़िए भेड़ों को चबा रहे थे।मतलब शांति ही शांति थी, अनेकता में एकता थी।एकाएक पता नहीं क्या हवा चली!एक बकरी ने शेर का हाथ पकड़ लिया,‘‘बहुत हुआ, अब तुम मुझे न... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   6:37am 16 Sep 2014 #short story
Blogger: amar at Outreach...
Image Credit : http://www.cadsetterout.com This is story about the two roommates Ram Avasti and Shyam Srivastav, who were the best friends in the day and cruel enemies at the night. Both came from different cities to do their engineering. Fortunately or unfortunately both were the roommates for coming 4 years. On first day of their engineering both decided to be together in any situation that they go through. As the days passed both became very good friends. They started to share their food, share their views, thoughts and lived happily with each other. On fine day they saw exams dates on the notice board. This made them study hard and work towards achieving good grades/marks. On the result ... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   6:46pm 7 May 2014 #Short Story
Blogger: amar at Outreach...
  Image Credit : http://www.mcasd.org This is the story of one beautiful couple who loved each other but had got separated because of some misunderstandings between them. Actually the man named as raj was the business tycoon. Few days back, he had overtaken one company which required some new employees. On other side, a lady named rani was in search of a job. This was the time where god had planned some things for them. One fine day, rani happens to see an advertisement for the post of personal assistant. She was very happy because this post was according to her qualification. But she wondered who the owner of the company was.   Rani applied for the job and she got a call for the i... Read more
clicks 51 View   Vote 0 Like   7:00pm 19 Apr 2014 #Short Story
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
आखिर देबू  ने घर से भागने की ठान ली। वह आधी रात को भारी मन से चुपके से उठा और एक थैले में मैले-कुचैले कपड़े-लत्ते ठूंस-ठांसकर घर से चल पड़ा। सूनसान रात, गांव की गलियों में पसरा गहन अंधकार। अंधकार जैसे निगलने आ रहा हो। आसमान में गरजते बादल और भयानक चमकती बिजली की कड़कड़ाह... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   5:25am 23 Jan 2013 #Short Story
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
आखिर देबू  ने घर से भागने की ठान ली। वह आधी रात को भारी मन से चुपके से उठा और एक थैले में मैले-कुचैले कपड़े-लत्ते ठूंस-ठांसकर घर से चल पड़ा। सूनसान रात, गांव की गलियों में पसरा गहन अंधकार। अंधकार जैसे निगलने आ रहा हो। आसमान में गरजते बादल और भयानक चमकती बिजली की कड़कड़ाह... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   5:25am 23 Jan 2013 #Short Story
Blogger: कविता रावत at KAVITA RAWAT...
आखिर देबू  ने घर से भागने की ठान ली। वह आधी रात को भारी मन से चुपके से उठा और एक थैले में मैले-कुचैले कपड़े-लत्ते ठूंस-ठांसकर घर से चल पड़ा। सूनसान रात, गांव की गलियों में पसरा गहन अंधकार। अंधकार जैसे निगलने आ रहा हो। आसमान में गरजते बादल और भयानक चमकती बिजली की कड़कड़ाह... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   5:25am 23 Jan 2013 #Short Story
Blogger: shikha kaushik at ! नूतन !...
गंवार  लड़की ? -लघु कथा  कॉलेज कैंटीन में  बैठे  रिकी और रॉकी अपनी ओर  आती  हुई सुन्दर   लड़की को   देखकर   फूले  नहीं समां  रहे  थे  .लड़की ने उनके  पास  आकर   पूछा  -''भैया  ! अभी  अभी कुछ  देर  पहले  मैं  यही  बैठी  थी  ....मेरी  रिंग  खो  गयी  है ...आपको  तो नहीं मिली ?''रॉकी और ... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   10:19am 19 May 2012 #short story
Blogger: shikha kaushik at ! नूतन !...
[google se sabhar ]   स्कूल  में  भोजनावकाश  के  समय  कक्षा  पांच  के तीन  विद्यार्थी  राजू ,सोहन व् बंटी ने अपने टिफिन बॉक्स खोले और निवाला  मुंह में रखते हुए राजू बोला-''...पता है सोहन मेरे पापा को  मेरी  बहन बिलकुल पसंद  नहीं .पापा कहते हैं कि यदि उसकी जगह भी मेरे भाई होता तो हमारा  ... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   9:26am 6 May 2012 #short story
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3982) कुल पोस्ट (191448)