POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: feature

Blogger: Rector Kathuria at पंजाब स्क्री...
05-जून-2017 15:05 IST5 जून– विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष लेख                                           *पांडुरंग हेगड़ेवन और पर्यावरण संरक्षणके व्यापक मुद्दे पर जागरूकता बढ़ाने के लिए 1972 से दुनिया भर में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष के विश्व पर्य... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   11:30am 5 Jun 2017 #Feature
Blogger: Rector Kathuria at पंजाब स्क्री...
02-जून-2017 17:54 ISTपरमाणु ऊर्जा कार्यक्रमों में भी व्यापक स्तर पर हुई वृद्धि                                                                                           विशेष लेख//*अनुपमा ऐरीपिछले तीन वर्षों के दौरान नवीकरणीय और परमाणु ऊर्जा का... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   6:30pm 2 Jun 2017 #Feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
बूढ़े काका अखबार को इतने ध्यान से पढ़ रहे थे कि ऐसा लग रहा था जैसे उसमें समा जायेंगे। सुबह के 8 बजने को थे। चाय की प्याली आधी खाली थी। भाप उठ नहीं रही थी क्योंकि चाय ठंडी हो चुकी थी। मतलब साफ था, काका को समय बहुत बीत गया था। वे चाय पीना भूल गये थे।‘आपकी चाय पानी हो गयी।’ मैंन... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   11:29am 17 May 2014 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
उम्र बहुत जिद्दी है और मन भी। वक्त बीतते पता नहीं चलता। इंसान कब उम्रदराज हो जाता है यह भी नहीं। लोग संघर्ष करते हैं अपने-अपने तरीके से। उनकी तमाम जिंदगी गुजर जाती है इसी तरह। कई बार फल जल्दी भी मिल जाता है तो उम्र मानो बढ़ जाती है। कुछ लोग इसे उम्र थमना भी मानते हैं। एक ब... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   1:08pm 15 May 2014 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
प्रस्तुत है समय पत्रिका का ताजा अंक।समय पत्रिका का मई अंक है यात्रा विशेषांक।इस अंक में पढि़ये :मेरे कलम की खनखनाहट - अविनाश वाचस्पतिप्रकृति का स्वर्ग: अंडमान निकोबार - कृष्ण कुमार यादवचेन्नै के कप्पम बन्दरगाह पर सूर्योदय दर्शन - बलराम अग्रवालखजुराहो: कला,अध्यात्म औ... Read more
clicks 58 View   Vote 0 Like   6:29am 14 May 2014 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
समय पत्रिका का यात्रा विशेषांक इस मई उपलब्ध हो रहा है। अपनी रचनायें अब 15 अप्रैल 2014 तक इस मेल पते पर भेज सकते हैं: gajrola@gmail.com.. वृद्धग्राम की ओर से यह एक छोटा सा प्रयास है जिसका उद्देश्य हिन्दी को बढ़ावा देना तथा उसे जन-जन तक पहुंचाना है। समय पत्रिका एक आनलाइन पत्रिका है जिसक... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   5:20am 27 Mar 2014 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
हमारा देश त्योहारों और परम्पराओं का शिरोमणी देश है। वैसे तो यहां हर माह कोई न कोई त्योहार उपस्थित रहता है लेकिन दीपावली और होली दो ऐसे त्योहार हैं जिन्हें दुनिया के किसी भी कोने में मौजूद जो भी भारतीय होगा वह बहुत ही हर्ष, उल्लास और उमंग से मनायेगा।  होली का त्योहार ऐ... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   8:15am 16 Mar 2014 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
एक दिन पहले ही मालूम था कि अगले दिन क्रिसमस-डे होगा। केक काटा नहीं गया। कारण ये रहे :1) हम इसाई मित्रों के साथ नहीं रहते।2) मेरे पड़ोसी मरियम को नहीं जानते।3) मैं किसी चर्च में काम नहीं करता।4) शहर के पादरी की शक्ल मुझे याद नहीं।5) कुछ लोग कम धार्मिक नहीं हैं।पांच ‘नहीं’ हुए तो... Read more
clicks 56 View   Vote 0 Like   5:31am 5 Jan 2014 #feature
Blogger: harminder singh at School Live...
बारिश में क्रिकेट खेलना कोई बुरा आइडिया नहीं है। मैं अपने मोहल्ले के बच्चों के साथ इतना क्रिकेट खेला कि आज पीछे मुड़ने पर खुद हैरान हो जाता हूं। पढ़ाई से एक तरह से समझौता ही हो गया था- नो पढ़ाई, केवल खेल। यह खुद को तसल्ली देने के बराबर था क्योंकि क्रिकेट का एक तरह से नशा ... Read more
clicks 236 View   Vote 0 Like   9:22am 1 Dec 2013 #feature
Blogger: Rector Kathuria at पंजाब स्क्री...
11-अगस्त-2013 19:55 ISTसंस्थान के लिए नया अनुसंधान पोत -सिल्वर पोमपानो                                      जहाजरानी पर विशेष लेख  एल. सी. पोन्नुमोन * की कलम सेकेंद्रीय समुद्री मत्स्य अनुसंधान संस्थान (सीएमएफआरआई), कोच्चि ने हाल ही में 19.5 मीटर लंबा मत्स्य अनुसं... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   7:43pm 12 Aug 2013 #Feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
इतनी खुशियां क्यों पल भर में सिमट जाती हैं? क्यों ऐसा होता है जब कोई आपसे दूर होता है? क्यों लगता है ऐसा कि आप कुछ कहना चाह रहे थे और कह न सके? क्यों ये दिल धड़कता है किसी के लिए? क्यों थम जाती हैं सांसें उस वक्त जब आप के सामने बैठा हो कोई ऐसा जिससे कहने की हिम्मत आप अरसे से जु... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   8:17am 9 Aug 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
Pics of Tigri Dham by Harminder Singh for Gajraula Times.... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   4:07pm 22 Jul 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
मेरी परीक्षायें कभी खत्म नहीं होंगी। ऐसा मैं नहीं, लोग कहते हैं। उनका कहना है,‘तुम जिंदगी भरी एक्जाम ही देते रहोगे क्या?’ मेरा जबाव मुस्कान ही होता है। या फिर कभी-कभार कह देता हूं कि परीक्षायें हमें नया सीखने का मौका देती हैं।एक मित्र ने मुझे कहा था,‘10वीं करने के बाद सो... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   3:58pm 21 Jul 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
कभी-कभी खुद से हताशा बहुत होती है। इस कदर होती है कि सोचना भी मुश्किल हो जाता है। यह जीने का तरीका है या जिंदगी एक बोझ की तरह हो गयी है। दिमाग अपना संतुलन खोता जा रहा है या मैंने उसे ऐसा बनने पर मजबूर कर दिया। यह भी नहीं समझ पा रहा कि हकीकत क्या है? यह भी समझ नहीं आ रहा कि जिंद... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   5:06pm 12 Jul 2013 #feature
Blogger: harminder singh at School Live...
स्कूल तो खुल गये। अब वही कहानी दोहरायी जायेगी तो सदियों से चली आ रही है। वो फिल्म का गाना है न -‘‘कैसी ये कहानी, कुछ अनकही।’’मिंकी परेशान नहीं है अब। मिंकू हैरान नहीं है अब। आरजू को लगता है कि पढ़ाई नहीं है फालतू की चीज। नन्हीं शुभी के लिए क्रेजीनैस का टाइम फिर शुरु हो च... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   4:18pm 5 Jul 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
 प्रिय अंजलि....पता नहीं चल रहा कि किस तरह क्या लिखा जाये। यह कुछ-कुछ संशय में डालता है। खुद को मालूम नहीं होता कि क्या किया जा रहा है, लेकिन हैरानी का ऐसा मौसम है जिसकी हवा से बचना मुश्किल लगता है।   आज एक कर्मचारी ने विदाई ली। उसकी आंखें खुश थीं और दुख की एक छोटी सी परछाईं क... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   4:42pm 5 Jun 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
भीड़ में सब चलते हैं, कुछ लोग उसमें गुम भी हो जाते हैं। जो लोग उससे हटकर चलते हैं यह नहीं कि उनका रास्ता आसान हो और उन्हें सफलता उसी समय मिल जाये, लेकिन शानदार अनुभव उनके पास ही होते हैं.रिजल्ट आ गये। कई के लिए खुशियां आयीं ढेरों। कईयों को इस बात का मलाल है कि उन्होंने जै... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   4:40pm 31 May 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
मुझे कहीं का पता चाहिए था। मेरे लिए कई चीजें बहुत मायने रखती हैं। यही उन्हीं में से था। ऐसा नहीं था कि वह मेरी जिंदगी और मौत का सवाल था, बल्कि मुझे कुछ किताबें खरीदनी थीं।  एक इंसान से मेरी मुलाकात हाल ही में हुई। ऐसा नहीं कि मैं उससे घंटों बातें करता हूं या फिर हमारी जान ... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   9:21am 21 May 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
कभी-कभी मैं पहेलियों का झुंड अपने आसपास पाता हूं। पहेली बुझा तो नहीं सकता, लेकिन उनका हल ढूंढने की कोशिश जरुर कर सकता हूं। कभी-कभी इतना अकेला हो जाता हूं कि खुद की तलाश रहती है। दूर जाती जिंदगी जिसे पकड़ने की कोशिश भी रहती है। आड़ी-तिरछी रेखाओं के बीच उलझा जीवन घने जंगल म... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   4:35pm 26 Feb 2013 #feature
Blogger: harminder singh at School Live...
Here are some Tips that surely Help in your Exams :1. Have all necessary material with youYou can't borrow items such as pens, pencils, rulers or special equipment while in an examination.2. Have a relaxing night before your examsHave an early night, and try to have a healthy breakfast.3. Read the entire paperWhere you have choices, decide which ones you plan to answer.4. Plan your timeSpend some time drafting a plan for the questions you choose to answer.5. Jot down ideas as they come to youWhile you are answering one question, information about another may suddenly occur to you. Jot it down somewhere because when you come to that question perhaps an hour later, you may have forgotten it.Fo... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   3:30pm 18 Feb 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
bushfire in jungle..मैं अंदर ही अंदर घबरा रही थी लेकिन मैंने अपना धैर्य नहीं खोया। मैं चाहती तो रो सकती थी, चिल्ला सकती थी, लेकिन मैं ऐसा करती क्यों? मैंने खुद को खुद से ही समझाया था कि ऐसा करने से कुछ भी तो अच्छा होने वाला नहीं, सिवाय इसके कि मैं ही खतरे में पड़ जाती...एक बार जब आप आग की भय... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   3:11pm 10 Feb 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
आज सुबह पता चला कि एक कैदी ने आत्महत्या कर ली। जेल में तरह-तरह की चरचायें हो रही हैं। जेल अधिकारी इधर से उधर दौड़ रहे थे। कुछ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता भी सुना है जेल का मुआयना कर चुके हैं।   शाम को कैदियों को भोजन दिया जाता है। उस समय कैदी केवल हल्की-फुल्की बातचीत करत... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:39pm 20 Jan 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
books...पढ़ना एक-एक अक्षर बोर करता है। किताबें तो दूर अखबार के भी मुख्य-मुख्य शीर्षक लोग जल्दबाजी में पढ़ते हैं। पता नहीं पढ़ने से इतनी दूरी क्यों?   मेरे साथ कई बार ऐसा होता है कि मैं जब किसी उपन्यास को पढ़ने बैठता हूं तो एक-दो पन्ने के तुरंत बाद बीस या तीसवें पन्ने को पढ़ने लग जाता... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   3:28pm 17 Jan 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
birthday cake..so nice..मैं अपना जन्मदिन नहीं मनाता। यों कह लीजिए मेरे लिए किसी विशेष दिन का उतना महत्व नहीं। साल के तीन सौ पैंसठ या हर चौथे साल वाला एक दिन बाकी की तरह सामान्य होता है। खुशी मिलती है मुझे लोगों को खुश देखकर और उनके उल्लास में शामिल होकर।  किसी ने पूछा,‘आप जन्मदिन नहीं ... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   3:14pm 17 Jan 2013 #feature
Blogger: harminder singh at वृद्धग्राम...
बूढ़े काका कंबल ओढ़कर अलाव जला रहे थे। उनके हाथों की नसें साफ दिख रही थीं। यह बुढ़ापे की पहचान है कि जर्जर काया एक अलग कहानी बयान करती है।   मैं उनके करीब जाकर बैठ गया। वे बोले,‘सूखी लकड़ियां तेजी से आग पकड़ रही हैं।’मैंने कहा,‘ठीक इंसानों की तरह.....।’काका ने एक पल मेरी ओर देखा, ... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   9:32am 12 Nov 2012 #feature
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3982) कुल पोस्ट (191454)