POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: हास्य

Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
बिना शायरी के ही जीता हुआ हूँ।अभी शेर था, अब से चीता हुआ हूँ।किसी से नहीं जीत की चाह बाकी,फलों के जगत में पपीता हुआ हूँ।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   6:32am 22 May 2019 #हास्य
Blogger: M VERMA at जज़्बात...
पहचान करबयान देकर वापस लेने के ट्रेंड कोमाँ-बहन की अनगिनत गालियाँ दे डाली मैंने अपने फ्रेंड कोसोचा था मैं उसको सरप्राईज दूंगा बाद में अपनी गालियाँ वापस ले लूंगा,गालियाँ सुनकर उसका ब्लडप्रेशर बढ़ गया पारा भी सातवें आसमान पर चढ़ गया आव देखा न ताव छोड़ दिया उसने अपना अब तक ... Read more
clicks 233 View   Vote 0 Like   10:30pm 21 Apr 2019 #हास्य
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
एक मच्छर दूसरा तिलचट्टा है,एक सिल है तो दूसरा बट्टा है,थोड़ी खटर पटर ही सही,प्रेम में लुनाई न सहीथोड़ा मीठा है थोड़ा खट्टा है।।1।।तुम अनार का जूस पीती रहो,और हथिनी सा जीती रहो,चिन्ता ये नहीं कि तू ज्यादा जी जायेगी,चिन्ता ये है उठायी कैसे जायेगी।।2।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट कर... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   8:19am 29 Oct 2018 #हास्य
Blogger: Dr T S Daral at अंतर्मंथन...
मैसाज कराकर बॉडी का मन में हरियाली हो गई ,मैसाज के चक्कर में पर म्हारी घरवाली खो गई।इत् उत् जाने कित कित ना ढूंढा पर हम हार गए,इंतज़ार में उनके हम तीन कप कॉफी डकार गए।तन का तनाव किया था जो कम फिर बढ़ने लगा,अब तन के साथ मन पर भी संताप चढ़ने लगा।हमने मुनादी करा दी कि एक अनहोनी हो ... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   5:17am 26 Mar 2018 #हास्य
Blogger: dinesh chandra gupta ravikar at रविकर की कुण्...
काया को देगी जला, देगी मति को मार।क्रोध दबा के मत रखो, यह तो है अंगार।यह तो है अंगार, क्रोध यदि बाहर आये।आ जाये सैलाब, और सुख शान्ति बहाये।कभी किसी पर क्रोध, अगर रविकर को आया।सिर पर पानी डाल, बदन पूरा महकाया।।फेरे पूरे हो गये, खत्म हुआ जब जश्न।कहो ब्याह का हेतु क्या, दूल्हे... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   3:21am 31 Jul 2017 #हास्य
Blogger: Kavi Amrit Wani at काव्य कलश...
एक महान गणितज्ञमर्म-मर्म के मर्मज्ञविषय के ऐसे विशेषज्ञहर वक्तगणित के सवालों में खोए हुए रहते थेजगे हुए भी मानोसोए हुए लगते थे।भ्रकुटी फूल साइज में तनी हुईललाट पर सल पर सल दिखाई देते थे,मजाक है नाक पर मक्खी बैठ जाएघण्टो के सवाल, मिनटों में हल कर लेते थे,और उत्तर मिलने ... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   11:52am 1 Dec 2013 #हास्य
Blogger: Kavi Amrit Wani at काव्य कलश...
दीवाली आ गईभारी अफसोसकई महंगी रस्मे निभानी होगीगमगीन मासूम चेहरों परभारी नकली मुस्कानें लानी होगीढ़हने को व्याकुल खण्डहरों परडिस्टेम्पर करना होगाकाले तन तन मन को फिरसतरंगी वस्त्रों से ढकना होगाजल कर राख हो गए कभी केबुझे दिल से फिर दिप जलाने होंगे हमने खाए हजारों&n... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   11:27am 30 Nov 2013 #हास्य
Blogger: Kavi Amrit Wani at काव्य कलश...
Bikau Cycle   (Kavi Amrit Wani 09413180558)Bara Bind... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   4:11pm 19 Oct 2013 #हास्य
Blogger: Dr T S Daral at अंतर्मंथन...
टी वी पर बाबाओं की धूम देख कर समझ नहीं आता कि हालात पर हसें या रोयें ! फिर सोचा चलो कविता ही रची जाये :ज़वानों की  जुबानी सुनी, लाख तरकीबें अपनाई,पर ज़वानी जो गई एक बार, फिर लौट कर ना आई ! दिल में थी आरजू कि लहराएँ अपनी भी जुल्फें,हेयर कटिंग भी हमने तो हबीब के सैलू... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   1:25pm 12 Sep 2013 #हास्य
Blogger: vani sharma at ज्ञानवाणी...
भयंकर प्रतिस्पर्धी इस युग में अधिकांश मानव चाहे अनचाहे तनाव , कुंठा ,मनोविकार , अवसाद से  गुजरते ही हैं . संतुष्ट ख़ुशी  जीवन बिताने वाले भी कभी न कभी ऐसे कठिन पलों का सामना करते हैं . इसलिए आजकल तमाम प्रकार के शिक्षण शिविर जैसे   जीवन जीने की कला , योग , तनावमु... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   1:47am 21 Jul 2013 #हास्य
Blogger: vani sharma at ज्ञानवाणी...
सर्दियों में खिडकियों से ताक झांकी कर लेने वाला चाँद या  गर्मियों में छत पर टहलते चौदस और पूर्णिमा का चन्द्रमा जाने कितनी बार किस किस तरह मोह लेता है .हलकी बहती ठंडी हवा , दूर तक शांत माहौल और उसपर   धीमी आवाज़ में रेडिओ पर बज रहे , रात का समां  झूमे चन्द्रमा , खोया -खोया च... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   4:07am 4 Mar 2013 #हास्य
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
पहली बारजब मिला उससेतो झिझक रहा थादिल घबरा रहा थाउसने घबराहट कोपहचान लिया फ़ौरन बोलीतुम्हारा कोई दोस्तइस तरह नहीं घबरायातुम क्यों घबरारहे हो20-04-2012468-49-04-12Dr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   9:55am 22 Jun 2012 #हास्य
Blogger: satish saxena at मेरे गीत !...
(यह ख़त प्रोफ़ेसर अली की क्लास में फेंक कर सतीश सक्सेना भाग रहे हैं) सन्दर्भ : कुछ पिछली घटनाएं  संतोष त्रिवेदी : आपकी इस दार्शनिक-टाइप पोस्ट को एक बार पढके चक्कर खा गया हूँ.लोककथाएं कथाएं भी दुरूह होती हैं ? ( समझ न आने की मजबूरी  )प्रोफ़ेसर अली सय्यद क्षात्र संतोष त्र... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   7:52am 25 May 2012 #हास्य
Blogger: अशोक पुनमिया at अशोक पुनमिया ...
*******************************************************.......जीनहीं.....अपुन का मगज खराब नहीं हुआ है....!न ही अपुन का भेजा फिरा है!!और ठर्रा तो अपुन पीता ही नहीं,इस लिए बहकी-बहकी बात करने का भी सवाल ही नहीं!!!ये महान ख्याल अपुन के दिल में ऐसे ही नहीं आ गया.अगर ऐसे ही आ जाता तो आप ला के दिखाईये....आया क्या ? नहीं ना! .......अजी... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   4:26pm 18 May 2012 #हास्य
Blogger: लक्ष्मण बिश्नोई at Bahut-kuch : बहुत कुछ...
अभी जब मैं बाबा का ढाबा पोस्ट कर रहा था तो अचानक देखा कि ब्लॉग की 99 पोस्ट पूरी हो गयी है, तो इसका मतलब ये पोस्ट 100 वीं पोस्ट है। ओह 100 वीं। शतक पूरा।फिर अचानक ख्याल आया कि ब्लॉग को 8 मई को 1 साल पूरा हो गया है, सो खुद को बधाई भी देनी है, तो सोचा वो ही पोस्ट कर दू.... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   7:37am 12 May 2012 #हास्य
Blogger: लक्ष्मण बिश्नोई at Bahut-kuch : बहुत कुछ...
कुछ दिन पहले मैं घर पर बैठा बैठा यूं ही अखबार पढ़ रहा था तो चारो और निर्मल बाबा के चर्चे पढने को मिले। लाइट गयी हुई थी सो अलग. तब मैने यह कविता लिखी थी। छोटा सा प्रयास दोस्तों मेरा यह प्रयास कैसा लगा, जरुर बताइयेगा हमारे भारत देश में, फिर पनपे कई बाबा,कृ... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   7:11am 12 May 2012 #हास्य
Blogger: प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पल...
एक मित्र ने अंग्रेजी का एक धारावाहिक सुझाया था, 'द बिग बैंग थ्योरी'। शीर्षक आधुनिक विज्ञान से संबंधित है पर विषय वस्तु एक विशुद्ध हास्य है। एक कड़ी देखकर ही मन बना लिया था कि जब भी समय मिलेगा, उसे पूरा देखा जायेगा। मित्र ने ही अभी तक के सारे सत्रों की एक सीडी भी दे दी थी, १२... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   10:30pm 1 May 2012 #हास्य
Blogger: Yashwant Yash at जो मेरा मन कह...
बौर बन चुके आमकीमत बस खास की हैसोच का काम तमामआज़ादी बकवास की है। ......पढ़ना वढ्ना मैं न जानूँलढना भिड़ना जानूँ मैंदोस्त कोई न नाता मेराकीमत पूरी मांगू मैं । .........मैं मैं- मैं मैंचें चें- पें पेंक्या लिख रहा हूँपता नहीं हैझेलने वाले झेल रहे हैंक्या कहेंगे समझ नहीं है । ........पेन ... Read more
clicks 23 View   Vote 0 Like   11:11am 27 Apr 2012 #हास्य
Blogger: Yashwant Yash at जो मेरा मन कह...
बौर बन चुके आमकीमत बस खास की हैसोच का काम तमामआज़ादी बकवास की है। ......पढ़ना वढ्ना मैं न जानूँलढना भिड़ना जानूँ मैंदोस्त कोई न नाता मेराकीमत पूरी मांगू मैं । .........मैं मैं- मैं मैंचें चें- पें पेंक्या लिख रहा हूँपता नहीं है झेलने वाले झेल रहे हैंक्या कहेंगे समझ नहीं है । ........पेन ... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   11:11am 27 Apr 2012 #हास्य
Blogger: satish saxena at मेरे गीत !...
अली सर  से आज फोन पर बात करते हुए उनकेनए लेख की  चर्चा हुई जिसमें उन्होंने किशोरावस्था में किसी विदेशी लड़की को स्वप्न में  देखा था और उसका चेहरा मोहरा और आकृति आज भी उन्हें याद है ! समाज वैज्ञानिक अली जैसे विद्वान् के लिए भी यह गुत्थी पहेली जैसी है जिसका जवाब वह आज तक  न... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   5:38am 6 Apr 2012 #हास्य
Blogger: anju choudhary (anu) at अपनों का साथ...
आज कल मैंने बहुत बिज़ी हूँ किस काम में ?जानना  चाहते हैं आप ..तो पढ़िए ....(एक हास्य जो सच में रसोई में काम करते करते ये ख्याल आ गया ...कि अगर कभी कुछ ऐसा हो जाए तो ??...मेरा क्या होगा ???????  हा हा हा हा हा ) घर में हैं बच्चेकाम हैं ज्यादा , सोचते सोचते ...दिमाग हैं गुल टेंशन हैं फुल  ...कि फेसब... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   10:59am 4 Apr 2012 #हास्य
Blogger: mukesh pandey 'chandan' at मुकेश पाण्डे...
मित्रो सर्वप्रथम आप सभी को राम नवमी की हार्दिक शुभकामनायेइसके बाद मैं आपको मुर्ख दिवस की शुभकामनाएं नही दूंगा , क्योंकि आप सभी मुर्ख तो है नही !(जरुरी नही कि मेरी सोच सही ही हो )तो आज सुबह से राम नवमी से ज्यादा अप्रेल फूल की शुभकामनाएं मेरे मोबाइल के इन्बोक्स में आ रही है... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   6:09am 1 Apr 2012 #हास्य
Blogger: padmsingh at ढिबरी...
सदाश्वेत वस्त्रम, खुंसे अंगशस्त्रम, च वाहन विशालादि सत्ता सुखम ... चमचा कृपालम, विरोधस्यकालम, सुवांगी श्रुतमचैव लारम भजे... नमो भ्रष्ट पोषी, च स्विस बैंक कोशी, न जांचम, न दोषी, समेटाsधनम अनर्गल प्रलापम,च वादा खिलाफम,बकम रात्रि दिवसमअनापम शनापमनिपोराणि खीसम, च निर्लज्जमी... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   6:28pm 28 Jan 2012 #हास्य
Blogger: padmsingh at ढिबरी...
कई बार मज़ाक मे लिखी गयी दो चार पंक्तियाँ  अपना कुनबा गढ़ लेती है... ऐसा ही हुआ इस जूता पचीसी के पीछे... फेसबुक पर मज़ाक मे लिखी गयी कुछ पंक्तियों पर रजनीकान्त जी ने टिप्पणी की कि इसे जूता बत्तीसी तक तो पहुँचाते... बस बैठे बैठे बत्तीसी तो नहीं पचीसी अपने आप उतर आई... अब आ गयी है तो आ... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   1:45pm 24 Jan 2012 #हास्य
Blogger: Shah Nawaz at छोटी बात...
एक यात्री ने उत्सुक्तावश  ड्राइवर से मालूम किया:  ड्राइवर साहब आप बस में कितने घंटे रहते हैं? ड्राइवर भी हाज़िर जवाब था, फट से यात्री से बोला: चौबीस घंटे।यात्री ने हैरानगी दिखाते हुए मालूम किया: यह कैसे संभव है?ड्राइवर फट से बोला: मित्र, आठ घंटे सरकार की बस में और सौलह घं... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   9:42am 7 Oct 2011 #हास्य
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3950) कुल पोस्ट (195984)