POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: व्यवस्था

Blogger: दिनेशराय द्विवेदी at तीसरा खंबा...
प्रिय पाठको! तीसरा खंबा का सर्वर बदला जा रहा है। इस कारण से कुछ समय तक हम तीसरा खंबा में नयी पोस्ट नहीं डाल पा रहे हैं , क्यों कि वह सुरक्षित नहीं रह पाएगी। पाठकों को इस से होने वाली असुविधा के लिए हमें खेद है। हम जल्दी ही आप के बीच वापस लौटेंगे। […]... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   10:48am 13 Apr 2017 #व्यवस्था
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
   जिस भी बात पर मैं ध्यान करती हूँ, वही मेरी इस धारणा की पुष्टि करती है कि व्यवस्थित होना स्वाभाविक नहीं है। उदाहरण के लिए चाहे मेरे कार्यस्थल को ही ले लीजिए, मैं चकित हूँ कि कितनी शीघ्रता से, बिना किसी प्रयास के भी, मेरा दफतर अव्यवस्थित हो जाता है; लेकिन उसे पुनः व्यव... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   3:15pm 19 Apr 2016 #व्यवस्था
Blogger: Randhir Singh Suman at लो क सं घ र्ष !...
जब भी गोरख की लिखी यह कविता मेरे आँखों के सामने से गुजरती है सोचने पर मजबूर कर देती है की व्यवस्था में बैठे लोग अपनी नस्लों को राज करने का तरीका सिखाने के लिए  कहा तक गिर सकते है | एक आम इंसान कि कीमत उनकी नजरो में कुछ नही | मैना   एक दिन राजा मरले ... आसमान में उडत मैना बानिह ... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   1:14pm 3 Sep 2012 #व्यवस्था
Blogger: virendra jain at chikoti चिकौट...
व्यंग्यपड़ोसी की टॉगटूटने के सत्रह बरसवीरेन्द्र जैन            अपनी आदत के विपरीतमुंगेरीलाल काफी हाऊस में बहुत संयत और गंभीर होकर बैठा था। उसके पहने हुए कपड़ेधुले जैसे लग रहे थे वे जहॉ जहॉ भी फटे हों, वहॉ वहॉ फटे दिखाई नही दे रहे थे चाहेतो उन्हैं सिल लिया गया था या इस तर... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   10:12am 16 Mar 2012 #व्यवस्था
Blogger: virendra jain at नेपथ्यलीला ...
फिल्म समीक्षापान सिंह तोमर- बैंडिटक्वीन का पुरुष संस्करण वीरेन्द्र जैन        पानसिंह तोमर की कहानी देश के लिए मेडल जीतने वाले एक जाँबाज़ धावक के बागी हो जाने कीवैसी ही सच्ची कहानी है जैसी कि फूलन देवी के जीवन के पूर्वार्ध की कहानी थी औरजिस पर उसके जीवन काल में ही ‘बेंड... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   3:18pm 5 Mar 2012 #व्यवस्था
Blogger: Shankarfulara at टेंशन पॉइंट-च...
कभी हम बचपन में क्रांतिकारियों की कहानियांपढ़ते थे तो अकसर गद्दारों काजिक्र आता था | तो हम सोचते थे कैसे होते होंगे वो गद्दार ?उन्हें क्योंनहीं समझ में आती होगी वो बात ? जो देशभक्त क्रांतिकारियों को समझ में आतीहै |आज वैसा ही सब कुछ हमारे सामने घट रहा है हमें गद्दार देखन... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   12:54pm 25 Feb 2012 #व्यवस्था
Blogger: पत्रकार रमेश कुमार जैन उर्फ निर्भीक at रमेश कुमार नि...
लो दोस्तों, आपने पुराने साल को विदा कर दिया है. अब मुझे भी विदा करों. ज्यादा जानकारी एक दो दिन में दूँगा. अपनी विदाई पर इन शब्दों के साथ कर रहा हूँ. गौर कीजियेगा कि:- "अरी ओ फेसबुक, अगर जिन्दा रहे तो तेरे पास आ जायेंगे, वरना नए डाक्टरों के रिसर्च* (शोध) के काम आ जायेंगे" हाँ, दोस्... Read more
clicks 268 View   Vote 0 Like   8:45pm 3 Jan 2012 #व्यवस्था
Blogger: पत्रकार रमेश कुमार जैन उर्फ निर्भीक at सच्चा दोस्त...
"फ़ोन फ्रेंड्स क्लब-दोस्ती कम, अश्लील बातें ज्यादा" आजअपनी पत्नी द्वारा फर्जी मुकद्दमों के कारण मानसिक "डिप्रेशन" की बीमारी के अलावा अनेकों बिमारियों की वजय से कुछ अच्छी रचनाएँ /लेख  नहीं लिख/कह पाता  हूँ. न्याय व्यवस्था के अधिकारियों द्वारा अपना कर्तव्य ... Read more
clicks 225 View   Vote 0 Like   5:06pm 8 Mar 2011 #व्यवस्था
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3950) कुल पोस्ट (195984)