POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: लेख

Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
दिल्ली से जो दिल दहला देने वाला समाचार आया है कि अग्निकांड में 43 लोगों की मृत्यु हो गई है व दो दिन पीछे से जो देश के विभिन्न स्थानों से रेप व रेप पीड़िताओं की मृत्यु आदि के समाचार आ रहे हैं पढ़ सुनकर ऐसा लग रहा है जैसे हम अपने चारों ओर जलती हुई आग से घिरे हैं। तन-मन अशान्त है औ... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   1:31pm 8 Dec 2019 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
आजकल #बनारस-हिंदू-विश्वविद्यालय में #प्रो0-फिरोज-खान की नियुक्ति को लेकर काफी विवाद चल रहा है। कुछ लोग पक्ष में तो कुछ लोग &... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   3:04pm 24 Nov 2019 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
महत्वाकांक्षा इतनी बड़ी हो गई कि जनता का निर्णय सिर के बल खड़ा हो गया।  सबसे बड़ी पार्टी होकर भी बीजेपी महाराष्ट्र में सरका... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   11:28am 12 Nov 2019 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
देशकाल के अनुसार भाषा का विकास होता रहता है। एक समय था जब हिन्दी में देशज शब्दों का प्रयोग बहुतायत में होता था। रचनाकार ... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   7:02am 29 Oct 2019 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
अभी तो किसी दिन आधी रात को आवाज गूँजनी बाकी है, मेरे प्यारे भाइयों, देश की सभी बैंकों में जबरदस्त घाटा हुआ है उद्योग व्याप&#... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   11:52am 16 Oct 2019 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
 गर्मियों में बच्चों की स्कूल की छुट्टियाँ  लगते ही सुबह-सुबह की खटरगी कम होती है, तो स्वास्थ्य लाभ के लिए सुबह की सैर करना आनंददायक बन जाता है। यूँ तो गर्मियों की सुबह-सुबह की हवा और उसके कारण आ रही प्यारी-प्यारी नींद के कारण बिस्तर छोड़ने में थोड़ा कष्ट जरूर होता है, लेकि... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   2:30am 31 May 2019 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
 गर्मियों में बच्चों की स्कूल की छुट्टियाँ  लगते ही सुबह-सुबह की खटरगी कम होती है, तो स्वास्थ्य लाभ के लिए सुबह की सैर करना आनंददायक बन जाता है। यूँ तो गर्मियों की सुबह-सुबह की हवा और उसके कारण आ रही प्यारी-प्यारी नींद के कारण बिस्तर छोड़ने में थोड़ा कष्ट जरूर होता है, लेकि... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   2:30am 31 May 2019 #लेख
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
आज पांडे जी के बेटे से मुलाकात हो गई, बेचारा बहुत परेशान है इन दिनों। गर्लफ्रेंड तो गर्लफ्रेंड बहन भौजाइयाँ सभी कन्नी काट के निकल जाते हैं और बीबी शक की नजर से देखती है सो अलग। ऐसा हो भी क्यों न जब खुले आम उसके मुँह से कहलवाया जा रहा है, "पांडे जी का बेटा हूँ, चिपक के चुम्मा ... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   11:20am 26 May 2019 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
होली पर्व से सम्बन्धित अनेक कहानियों में से हिरण्यकशिपु के पुत्र प्रहलाद की कहानी बहुत प्रसिद्ध है। इसके अलावा ढूंढा नामक राक्षसी की कहानी का वर्णन भी मिलता है, जो बड़ी रोचक है।  कहते हैं कि सतयुग में रघु नामक राजा का सम्पूर्ण पृथ्वी पर अधिकार था। वह विद्वान, मधुरभाषी ... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   2:30am 19 Mar 2019 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
होली पर्व से सम्बन्धित अनेक कहानियों में से हिरण्यकशिपु के पुत्र प्रहलाद की कहानी बहुत प्रसिद्ध है। इसके अलावा ढूंढा नामक राक्षसी की कहानी का वर्णन भी मिलता है, जो बड़ी रोचक है।  कहते हैं कि सतयुग में रघु नामक राजा का सम्पूर्ण पृथ्वी पर अधिकार था। वह विद्वान, मधुरभाषी ... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   2:30am 19 Mar 2019 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
दीपावली जन-मन की प्रसन्नता, हर्षोल्लास एवं श्री-सम्पन्नता की कामना के महापर्व के रूप में मनाया जाता है। कार्तिक की अमावस्या की काली रात्रि को जब घर-घर दीपकों की पंक्ति जल उठती है तो वह पूर्णिमा से अधिक उजियारी होकर 'तमसो मा ज्योतिर्गमय'को साकार कर बैठती है। यह पर्व एक द... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   6:40pm 4 Nov 2018 #लेख
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at हिन्दी चिट्ठ...
अनुच्छेद 370 का स्वरूपअनुच्छेद 370 का वर्णन हमारे संविधान में है। यह एक अस्थायी प्रबंध है, जिसके जरिये जम्मू और कश्मीर को विशेष स्वायत्तता वाले राज्य का दर्जा दिया गया है। इससे संबंधित प्रावधानों की चर्चा संविधान के भाग 21 में है, जो अस्थायी, परिवर्ती और विशेष प्रबंध वाले ... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   5:22pm 1 Aug 2018 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
जरा इन मासूम बच्चों को अपनी संवेदनशील नजरों से देखिए, जिसमें 14 वर्ष की सपना और उसकी 11 वर्ष की बहिन साक्षी और 11 वर्ष के भैया जिन्हें अभी कुछ दिन पहले तक माँ-बाप का सहारा था, वे 1 जुलाई 2018 रविवार को भयानक सड़क दुर्घटना भौन-धुमाकोट मोटर मार्ग पर होने से बेसहारा हो चुके हैं। इस दर... Read more
clicks 299 View   Vote 0 Like   6:58am 5 Jul 2018 #लेख
Blogger: ललित शर्मा at ललितडॉटकॉम...
छत्तीसगढ़ के बालोद जिला मुख्यालय से लगभग दस किमी दूर दिसम्बर 2010 में एक गांव में कुम्हार परिवार से मिलने गया था। गांव का नाम भूल रहा हूँ। उस कुम्हार ने मिट्टी के भाण्डों को नवोन्मेष कर नया रुप दिया था।  उपरोक्त चित्र में दिख रहा मिट्टी का कूकर उसने तैयार किया था, जो धातु... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   11:00pm 8 Jan 2018 #लेख
Blogger: ललित शर्मा at ललितडॉटकॉम...
वर्तमान में जल संकट का सामना ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर शहरों तक मनुष्य को करना पड़ रहा है। नदियाँ सूख रही हैं, कूप एवं तालाब सूख जाते हैं, बांधों में जल का स्तर कम हो जाता है, घर घर में बोरवेल के कारण भूजल का स्तर भी रसातल तक पहुंच रहा है। जहाँ दस हाथ की खुदाई से जल निकल आता थ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   11:00pm 24 Dec 2017 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
           कहा गया है, कि साधना जब सरस्वती की अग्निवीणा पर सुर साधती है तो साहित्य की अमृतधारा प्रवाहित होती है, जिससे हित की भावनाएं हिलकोरें मारने लगती है । इन हिलकोरों में जब सृजन की अग्नि की धाह आंच मारती है तो वह कलुषित परिवेश की कालिमा जलाकर उसके बदले एक खुशहाली से भरे ... Read more
clicks 260 View   Vote 0 Like   2:30am 1 Nov 2017 #लेख
Blogger: धीरज झा at कलमबाज़ ( धीर...
  #दशग्रीवा_रावण_और_मैं (विजयदशमी विशेष)pic via- https://www.artstation.com/artwork/obkaW     कल रात मैं अपना ज़रा सा स्वस्थ बिगड़ने के कारण थोड़ा बेचैन सा था । ऊपर से ये भी सोच मेरे दिमाग को आराम नहीं करने दे रही थी कि कल विजयदशमी है और मुझे उस दुराचारी रावण के लिए कुछ बहुत बुरा लिखना है जिससे मैं असत्य ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   7:09am 30 Sep 2017 #लेख
Blogger: धीरज झा at कलमबाज़ ( धीर...
      सुनो, कसम है तुम्हे अपनी मर्दानगी की जो इन लड़कियों के साथ खड़े हुए, कसम है तुम्हे अपनी उस गदरायी जवानी कि जो तब तब तुम्हारे अन्दर ऐंठती है जब जब तुम किसी लड़की को टाईट कपड़ों में देखते हो, तुम उन लड़कियों की भीड़ का हिस्सा नहीं बनोगे । छोड़ दो उन्हें अपने हाल पर, बड़ी मुश्क... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   3:41pm 23 Sep 2017 #लेख
Blogger: pratibha kushwaha at ठिकाना ...
मैं सुबह की मीठी नींद सो रहा था कि किसी भारी-भरकम आवाज का कानों में प्रवेश हुआ। और मैं स्वप्न लोक से इहलोक में आ गया। आंख खोलकर देखा तो मेरे सात जन्मों की संगनी भृकुटी चढ़ाये खड़ी है। मुझे अलसाते देख यथाशक्ति कोमल स्वर में बोली-‘आपकेा आपिफस नहीं जाना है?’ ‘हां! जाना है पर इ... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   12:25pm 15 Aug 2017 #लेख
Blogger: धीरज झा at कलमबाज़ ( धीर...
​#और_नारीवाद_का_नकली_झंडा_गिर_गया  “दिदिया मेरे पिता जी कह रहे हैं अब आगे मत पढ़ो । ज़्यादा पढ़ लोगी तो हमारी हैसीयत का लड़का मिलना मुश्किल हो जाएगा । क्या आप कुछ कर सकती हैं ।” बी. ए सैकेंड पार्ट की एक बेबस कन्या ने बी.ए थर्ड पार्ट की एक लड़की से कहा । “क्या नाम है तेरा ल... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   1:42pm 5 Jul 2017 #लेख
Blogger: Kavita Rawat at KAVITA RAWAT...
 22 मार्च पानी बचाने  का संकल्प, उसके महत्व को जानने  और संरक्षण के लिए सचेत होने का दिन है।   अनुसंधानों से पता चला है  कि विश्व के 1.5 अरब लोगों को पीने का शुद्ध पानी नही मिल रहा है। पानी के बिना मानव जीवन की कल्पना अधूरी है। इस विषय पर आज सबको गहन मंथन की आवश्यकता है कि 'जल की ... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   6:49am 22 Mar 2017 #लेख
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
  रचनाकार परिचय:- ललित गर्ग ई-253, सरस्वती कुंज अपार्टमेंट 25 आई. पी. एक्सटेंशन, पटपड़गंज, दिल्ली-92 फोनः 22727486, 9811051133 एक और वर्ष अलविदा हो रहा है और एक नया वर्ष चैखट पर खड़ा है। उम्र का एक वर्ष खोकर नए वर्ष का क्या स्वागत करें? पर सच तो यह है कि वर्ष खोया कहां? हमने तो उसे जीया है और ज... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   6:30pm 1 Jan 2017 #लेख
Blogger: HARSHVARDHAN SRIVASTAV at हिन्दी चिट्ठ...
इन दिनों जब हम अपने रोजमर्रा के जीवन को नए सिरे से ढालने में जुटे हैं, तो ऐसा लगता है कि हमने हाशिये पर खड़े लोगों की तरफ से अपनी आंखें मूंद ली हैं। उन गरीबों को हम बिसरा बैठे हैं, जो सुदूर देहात में रहते हैं। नोटबंदी जैसी किसी नीति को आकार देने और उसे लागू करने से पहले कोई ह... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   4:59am 18 Dec 2016 #लेख
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3967) कुल पोस्ट (190519)