POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: योग

Blogger: Jagdanand Jha at Sanskritbhashi संस्कृ...
       योग की यात्रा उपनिषदों से शुरु होकर बौद्ध, जैन, तन्त्रागम, संहिता होते हुए गीता में पूर्ण होती है। इससे सिद्ध है कि योग के अनेक पथ परन्तु एक लक्ष्य है। उसे ही आत्मा और परमात्मा का मिलन अथवा समाधि कहा गया है। पातञ्जलयोग दर्शन में पतंजलि ने अपने से पूर्ववर्ती औपनिषद... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   3:41am 18 Jun 2017 #योग
Blogger: Jagdanand Jha at Sanskritbhashi संस्कृ...
विश्व योग दिवस पर विशेष-- योग एक शास्त्र है। इसमें मानव को सात्विक जीवन व्यतीत करने का उपाय बताया गया है। योगासान के अभ्यास से स्वास्थ्य में चमत्कारी परिवर्तन आता है। आइये इसकी उत्पत्ति तथा विस्तार पर विहगावलोकन करें। योग मधुविद्या है। अमृतानदोपनिषद् अमृतविन्दूप... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   9:43am 21 Jun 2016 #योग
Blogger: Niranjan at Reflection of thoughts . . ....
दोस्ती साईकिल से १: पहला अर्धशतक दोस्ती साईकिल से २: पहला शतक दोस्ती साईकिल से ३: नदी के साथ साईकिल सफरदोस्ती साईकिल से ४: दूरियाँ नज़दिकीयाँ बन गईं. . . दोस्ती साईकिल से ५: सिंहगढ़ राउंड १. . . दोस्ती साईकिल से ६: ऊँचे नीचे रास्ते और मन्ज़िल तेरी दूर. . .  शहर में साईकिलिंग  ... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   6:45am 1 Dec 2015 #योग
Blogger: Jagdanand Jha at Sanskritbhashi संस्कृ...
     पातञ्जल योगसूत्र में चित्तवृत्तियों के निरोध को योग कहा गया हैं। अन्तः करण की वृत्तियाँ योगक्रिया द्वारा क्रमशः शान्त होते-होते जब पूर्णतः शान्त हो जाती हैं, उस अवस्था का नाम योगयुक्त अवस्था हैं। उसी अवस्था में द्रष्टा अपने यथार्थ स्वरूप में प्रकट होता हैं। साध... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   10:28am 9 Jul 2015 #योग
Blogger: Jagdanand Jha at Sanskritbhashi संस्कृ...
        योग शब्द का अर्थ होता है मेल (मिलाना) अथवा जोड़ना। योगशास्त्र में शक्ति का शिव से मिलन अर्थात् मूलाधार की कुण्डलिनी शक्ति को सहस्रार में सदाशिव से मिलाना ही योग है किन्तु ज्योतिषशास्त्र में काल के दो अवयवों को मिलाना ही योग नाम से जाना जाता है। पञ्चाङ्गों में दो प्... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   2:56am 7 Feb 2015 #योग
Blogger: vedic bharat at प्राचीन समृद...
अहमदाबाद। पिछले 72 सालों से भूखा प्यासा रहने का दावा करने वाले प्रहलाद जानी पर डॉक्टरों और वैज्ञानिकों की स्टडी पूरी हो गई है। 15 दिन की इस स्टडी में डीआरडीओ के वैज्ञानिक और डॉक्टरों को आखिर मानना पड़ा की प्रहलाद जानी ने 15 दिनों तक कुछ नहीं खाया-पिया। स्टडी के 15 दिन पहले... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   4:51am 17 Sep 2013 #योग
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4005) कुल पोस्ट (191852)