POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: मुक्तिका

Blogger: Kumar Gaurav Ajeetendu at hindu0007...
प्रस्तावना - ग़ज़ल एक काव्य विधा है जिसका प्रयोग किसी भी भाषा में किया जा सकता है ! इसलिए ग़ज़ल विधा को उर्दू की सीमित परिधि से बाहर निकालकर विस्तार देने के लिए हिंदी में ग़ज़ल लेखन को प्रोत्साहित करना आवश्यक है l बहती सरिता का जल निर्मल रहता है जबकि ठहरे हुए पोखर का जल सड़ने लगत... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   3:14am 1 Sep 2014 #मुक्तिका
Blogger: Kumar Gaurav Ajeetendu at hindu0007...
मौसम जो दिखता था, बड़ा उदास।भरा आपने उसमें, नव उल्लास।स्वप्न-कोयलें चहकीं, देख बसंत,हृदयतलों में फैला, पुनः उजास।सुनी आहटें कोमल, मचले भाव,लगा आ गई मंजिल, दिल की पास।साँसों का आलसपन, भागा दूर,लगीं काम में वो सब, लिए हुलास।जिह्वा को तो थामे, बैठी लाज,प्रणय निवेदन का दृग, कर... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   2:21pm 8 Apr 2014 #मुक्तिका
Blogger: Kumar Gaurav Ajeetendu at hindu0007...
भाव सभी पाने लगें, शब्दों का यदि संग।जाने इस संसार का, क्या होगा तब रंग।तम के कारागार में, अरसे से हैं आप,हँस लेते कैसे सदा, देख हृदय है दंग।नयी समस्या आ रही, मुँह बाये क्यों नित्य,बदल जरा देखो प्रिये, अब जीने के ढंग।कितने हैं जो पा रहे, प्रेम-नगर में शांति,अपनी मित्रों बन ग... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   3:11pm 20 Mar 2014 #मुक्तिका
Blogger: अशोक पुनमिया at अशोक पुनमिया ...
*****************************'पर' खोले है अभी तो,मेरी उड़ान बाकी है ! नापने को धरती और आसमान बाकी है !! हारा हुआ मुझको ना समझ लेना ए दोस्तों, होसलों में मेरी अभी तलक जान बाकी है !! वो 'मुफलिस' खा रहा भूखों संग मिल-बाँट कर, पगला-अजूबा है,उसमें अभी 'इंसान' बाकी है ! मुझ पर है क़र्ज़ जिनका,वो सो जाए चैन से,... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   10:32am 20 Jul 2012 #मुक्तिका
Blogger: अशोक पुनमिया at अशोक पुनमिया ...
*********************************************------------- बरसाती मुक्तिका -------------आबाद हल-बैलों से अब खेत-खलिहान हो गए !बादल गाँव पर मेरे,जम कर मेहरबान हो गए !!खा कर थपेड़े लू के,मरणासन्न थे जो बेचारे,पौधें वो लिपट के बारिशों से बांके-जवान हो गए !छेड़ा है राग भौरों ने,कलियों के पास मंडरा कर,शाख पे लटकते फूलों के,... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   5:07am 13 Jul 2012 #मुक्तिका
Blogger: अशोक पुनमिया at अशोक पुनमिया ...
*******************************प्यार,मुहब्बत,इश्क,वफ़ा तू करके देख ! कसमो-वादों की गली से गुज़र के देख !!नज़रों से नज़रें मिला कर हासिल क्या,दिलबर को कभी बाहों में भी भरके देख !!ना कर पायेगा तू जुल्मों-सितम कभी,अपने खुदा से बस थोड़ा सा डर के देख !! देकर खैरात मुफलिसों को मत भाग यूँ,ज़ख़्म उनके द... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   9:41am 21 Apr 2012 #मुक्तिका
Blogger: अशोक पुनमिया at अशोक पुनमिया ...
************************देख बन्दे देख हर रोज एक नया घोटाला देख !किस नेता ने किया मुंह अपना अब काला देख !!देशवासी है मुखर भ्रष्ट-सफेदपोशों की चालों पर,कब खुलेगा 'मनमोहन' के मुंह पे लगा ताला देख !बच्चा-बच्चा देख रहा है चोरों और बेईमानों को,सी.बी.आई.की आँख से कब हटेगा जाला देख !सुनो बंधू जरा गौ... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   9:27am 18 Apr 2012 #मुक्तिका
Blogger: Kusum Thakur at Kusum's Journey (कुसुम ...
"मैं न उसमे बही सही"मैंने मन की कही सही जो सोचा वह सही-सही भूली बिसरी यादें फिर भी आज कहूँ न रही सही  कितना भी दिल को समझाऊँ  आँख हुआ नम यही सही वह रूठा न जाने कब से प्यार अलग सा वही सही रंग अजब दुनिया की देखी मैं न उसमे बही सही - कुसुम ठाकुर- ... Read more
clicks 128 View   Vote 1 Like   7:43am 5 Nov 2011 #मुक्तिका
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4010) कुल पोस्ट (192063)