POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: मानसिकता

Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर at रायटोक्रेट क...
आए दिन रिश्तों की बदलती परिभाषा देखने को मिलती है। अचानक से सम्बन्धों की प्रगाढ़ता में नकारात्मक परिवर्तन उत्पन्न हो जाते हैं। रिश्तों, सम्बन्धों की ऐसी प्रगाढ़ता के अचानक से समाप्त होने के पीछे की स्थिति का आकलन लोग करने के बजाय सम्बन्धों, रिश्तों को तोड़ने में ज्याद... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   7:30am 30 Dec 2020 #मानसिकता
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर at रायटोक्रेट क...
जैसे-जैसे हमें अपनी वैचारिकी के प्रसार-प्रचार के माध्यम मिलते जा रहे हैं, वैसे-वैसे हमारे आसपास संकुचन की स्थिति बनती जा रही है. विचारों का प्रसार करने के साथ-साथ हम सभी लोगों के मन में भावना बनी रहती है कि हमारे उन विचारों को स्वीकारने वाले अधिक से अधिक लोग हों. इसी के स... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   4:45pm 9 Sep 2020 #मानसिकता
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर at रायटोक्रेट क...
इस पोस्ट से अपने आपको वे संदर्भित करें जो किसी न किसी तरह से खुद को राजनीति में या राजनैतिक विचारों से जुड़ा मानते हैं.ये चित्र कल, शिला पूजन के बाद से लगातार चर्चा में है. रामभक्तों को इस चित्र से कोई समस्या नहीं. समस्या उन्हें है जिनके आराध्य राम नहीं बल्कि 'रासो'नामधारी... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   6:21pm 6 Aug 2020 #मानसिकता
Blogger: mahendra verma at शाश्वत शिल्प ...
क्या आपको किसी ने कभी कहा है कि ‘ज़रा खुले दिमाग़ से सोचो’ या क्या यही बात आपने किसी से कभी कही है ?  इस बात से ऐसा लगता है कि सोचने वाला अब तक ‘बंद दिमाग़’ से सोच रहा था । क्या बंद दिमाग़ से भी सोचा जा सकता है ? सोचते होंगे कुछ लोग ! तभी तो कहने की ज़़रूरत पड़ी कि ‘खुले दिमाग से सोचो... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   10:38am 23 Dec 2019 #मानसिकता
Blogger: Sudha Singh at मेरी जुबानी : ...
मानसिकता         संजना ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं थी, बस इंटर पास थी ।पर आत्म विश्वास बिलकुल कम न था ।शादी से पहले उसने भी वही सपने देखे थे जो हर आम लड़की देखा करती है। मनीष से शादी करके जब अपने ससुराल आई तो उसने सोचा भी न था कि उसके ससुराल वाले इतने दकियानुसी विचारों वाले हों... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   2:42pm 4 Oct 2019 #मानसिकता
Blogger: Roopam Sadh at प्रेम धुन (कव...
अध्यात्मिकता का सम्बन्ध स्वतंत्रता से है और जब व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वतंत्र होता है तो उसे खुश होने के लिए त्यौहार की जरुररत नहीं होती,हमारे देश में व्यक्तिगत जीवन को सामाजिक दायरे में इस तरह से बाँधा गया है ,की वह परतंत्रता को ही अपना जीवन लक्ष्य समझता रहे. और इस साम... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   11:00am 13 Oct 2009 #मानसिकता
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4017) कुल पोस्ट (192789)