POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: बाजार

Blogger: prem prakash at अंगिका...
अच्छा है नभ बरस रहा हैबाहर-अंदर सब भींग रहा हैघोषित है हर ओर आद्रता                पानी से मनमानी खतरनाक है                शुष्कता अब शर्मनाक हैसोचा था वो एेसे होंगेसोचा था वो वैसे होंगेसोचा उसकी सोच के बाबत          &nbs... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   9:43am 22 Sep 2018 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
दुनिया में पहला वायरल फीवरगंदा पानी पीनेया कुछ भी ऐसा-वैसा खाने से नहीं हुआ होगामेडिकल साइंस को मान लेनी चाहिए यह बातऔर बंद करना चाहिएदुनिया के पहले रोगपहले बुखार के खिलाफ प्रोपेगेंडा वारवायरल फीवर की पहलीऔर आखिरी वजह एक हैऔर वह वजह सेव हैवह सेव जिसे कभी प्रेम कातो ... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   9:27am 2 Sep 2018 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
-प्रेम प्रकाशकेरल में अपनी सरकार बनाने की खुशी को बड़ी कामयाबी के तौर पर जाहिर करतेहुए माकपा ने अखबारों में पूरे-पूरे पन्ने के रंगीन विज्ञापन दिए।इससे पहले इस तरह का आत्मप्रचार वामदलों की तरफ से शायद ही देखने को मिलाहो। दरअसल, पिछले दो दशकों में और उसमें भी हालिया दो स... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   5:04am 24 Jun 2016 #बाजार
Blogger: कुलवंत हैप्‍पी at युवा सोच युवा...
फिल्‍मों का रिव्‍यू होता था। किताबों का रिव्‍यू होता था। फिर ट्रेलर और टीज़र का भी रिव्‍यू होने लगा। बहुत सारे विज्ञापन दिल को छू जाते हैं। कल Flipkart  का नया विज्ञापन देखने बाद खयाल आया, क्‍यूं न विज्ञापन की भी समीक्षा की जाए।आज के लोग कुछ नया करना चाहते हैं। हर चीज के सा... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   7:18am 7 Sep 2013 #बाजार
Blogger: हर्षवर्धन at बतंगड़ BATANGAD...
मेरे एक मित्र अभी हाल ही में बैंकॉक से लौटे। लौटने के बाद उनसे बात हुई तो बड़े ही निराश स्वर में वो बोले अरे यार अपनी असल औकात जाननी हो तो एक बार विदेश होकर आओ। बैंकॉक वैसे तो पर्यटन की वजह से भारतीयों और दुनिया के लोगों को पसंद आता है। लेकिन, एक दूसरी वजह ये भी कि इलेक्ट्र... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   10:21am 27 Aug 2013 #बाजार
Blogger: moomal at moomal Darshna...
आर्ट फंड में पैसा लगाने से कई जोखिम जुड़े हुए हैं। जब तक आप इस एसेट क्लास को बखूबी नहीं समझ लेते तब तक इसमें निवेश करने से बचना चाहिए। दिल्ली से मूमल के शुभ चिंतक संजीव सिन्हाने आर्ट फंड में निवेश से जुड़े  फायदे और नुकसान की जानकारी दी हैं...कई निवेशक आर्ट फंड में पैसा गं... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   5:16pm 15 May 2013 #बाजार
Blogger: नवगछिया समाचार at Naugachia samachar नवगछि...
नवगछिया नगर पंचायत के वार्ड संख्या आठ के पूर्व वार्ड पार्षद डा0 इंतसार आलम उर्फ बुल्लन (40) के शोक में 22 मार्च शुक्रवार को नवगछिया बाजार बंद रहेगा | जिसका निर्णय 21 मार्च को नगर पंचायत कार्यालय भवन में वार्ड पार्षदों एवं अन्य कर्मियों की एक बैठक में लिया गया  | पूरी खबर पढ़ने ... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:07pm 21 Mar 2013 #बाजार
Blogger: नवगछिया समाचार at Naugachia samachar नवगछि...
टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने कहा है कि दुनिया की सबसे सस्ती कार टाटा नैनो की संभावनाओं का पूर्ण दोहन करने के लिए उसे फिर से सजा-संवार कर पेश करने की तैयारी है। टाटा ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘इस कार के विपणन के लिए हमें जितनी तैयारी करनी चाहिए थी, उतनी तैयारी हम नह... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   12:40pm 16 Dec 2012 #बाजार
Blogger: sanjay kumar chourasia at "जीवन की आपाध...
जिस तरह " पैसे "पेड़ों पर नहीं उगते , ठीक उसी प्रकार खुशियाँ भी किसी पेड़ पर नहीं उगती और ना ही बाजार में मिलती हैं कि , जिन्हें बाजार से खरीदा जा सके ...... फिर सवाल उठता है कि , खुशियाँ कहाँ से मिलती हैं ? ऐसा क्या किया जाय जिससे खुशियाँ हांसिल की जा सकें ! हर इंसान के जीवन में  ख... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   1:30am 1 Dec 2012 #बाजार
Blogger: ललित शर्मा at ललितडॉटकॉम...
राजमहल से महानदी का दृश्य प्राम्भ से पढ़ें विश्रामगृह से हम सिरपुर के ढाई हजार वर्ष पुराने मुख्य व्यापार केंद्र के लिए चल पड़े। बाजार में पहुँचते ही दुकानदारों-ग्राहकों का शोर सुनाई देने लगा। लोग-बाग़ हमे कौतुहल से देख रहे थे कि  किस नए ग्रह के प्राणी यहाँ आ टपके। ले जाइ... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   11:15pm 30 Oct 2012 #बाजार
Blogger: ललित शर्मा at ललितडॉटकॉम...
राजमहल से महानदी का दृश्य विश्रामगृह से हम सिरपुर के ढाई हजार वर्ष पुराने मुख्य व्यापार केंद्र के लिए चल पड़े। बाजार में पहुँचते ही दुकानदारों-ग्राहकों का शोर सुनाई देने लगा। लोग-बाग़ हमे कौतुहल से देख रहे थे कि  किस नए ग्रह के प्राणी यहाँ आ टपके। ले जाइये ले जाइये 5 सेर ... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   11:15pm 30 Oct 2012 #बाजार
Blogger: Randhir Singh Suman at लो क सं घ र्ष !...
 निवेशकोंकीपहलीपसंदउग्रहिंदुत्व, बाजारकेलिएपूरेदेशकोअबगुजरातबनानेकीतैयारी! पहलेचरणकेआर्थिकसुधारोंकाइतिहासउग्रधर्मोन्मादकीकथाहै, तोजाहिरहैकिदूसरेचरणकेआर्थिकसुधारोंकेलिएफिरइतिहासदुहरायाजानाहै।आडवाणीकीरथयात्रानेबाजारकाअश्वमेधशुरूकियातोफिरभ्... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   3:20am 29 Oct 2012 #बाजार
Blogger: Anita nihalani at एक जीवन एक कह...
आजउन्हें यहाँ पूरा एक हफ्ता हो गया, बाजार गयी थी, किताब तो मिली नहीं..कला संकाय के लिए थी वह किताब वैसे फार्म में तो ऐसा कोई वर्गीकरण नहीं था. अगले हफ्ते विज्ञान संकाय की पुस्तक भी आ जायेगी ऐसा दुकानदार ने कहा तो है. कल रात उसने पत्र लिखा, कल संभवतः उसका पत्र भी आयेगा, थोड़ा-... Read more
clicks 323 View   Vote 0 Like   8:39am 12 Sep 2012 #बाजार
Blogger: अवनीश at विमर्श...
 कृषक तू अभिशप्त है , तड़पने को धूप में जलने को, पाई-पाई जोड़ने को फिर उसे खाद बीज में खर्च करने को हर रोज अपना खून पसीना बहाने को, पर उसका नगण्य प्रतिफल पाने को हे कृषक तू अभिशप्त है तू अभिशप्त है क्योंकि तू गाँव में रहता है तू देहाती है, तू गँवार है मानवी जोंकों से अनभिज्ञ तू... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   8:57am 23 Apr 2012 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
आंखों से काजल चुराने वाले सियाने भले अब पुरानी कहानियों, कविताई  और मुहावरों में ही मिलें पर ग्लोबल दौर की चोरी और चोर भी कम नहीं है। दरअसल, चोरी एक ऐसी कर्म है जिसका इस्तेमाल विचार से लेकर संस्कार तक हर क्षेत्र में होता रहा है। जाहिर है जिस परंपरा का विस्तार और प्रसार इ... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   1:04pm 22 Apr 2012 #बाजार
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
1991 से ग्लोबल विकास की दौड़ में शामिल भारत भले आज एक दमदार अर्थव्यवस्था के रूप में पूरी दुनिया में देखा जाता हो पर देश के अंदरूनी हालात अब भी खासे विरोधाभासी हैं। सुपर इकोनोमिक पावर होने की हसरत रखने वाले देश की आधी आबादी आज भी खुले में शौच को मजबूर है। इसके उलट 63.2 फीसद आब... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   9:26am 8 Apr 2012 #बाजार
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
  1991 से ग्लोबल विकास की दौड़ में शामिल भारत भले आज एक दमदार अर्थव्यवस्था के रूप में पूरी दुनिया में देखा जाता हो पर देश के अंदरूनी हालात अब भी खासे विरोधाभासी हैं। सुपर इकोनोमिक पावर होने की हसरत रखने वाले देश की आधी आबादी आज भी खुले में शौच को मजबूर है। इसके उलट 63.2 फीसद आ... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   9:20am 8 Apr 2012 #बाजार
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
लोक और परंपरा के कल्याणकारी मिथकों पर भरोसा करने वाले आचार्यों की बातें अब विश्वविद्यालयों के शोधग्रंथों तक सिमट कर रह गई हैं। इन पर मनन-चिंतन करने का भारतीय समाजशास्त्रीय और सांस्कृतिक विवेक बीते दौर की बात हो चुकी है। ऐसा अगर हम कह रहे हैं तो इसलिए क्योंकि ऐसा मानन... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   5:47am 8 Mar 2012 #बाजार
Blogger: Prem Prakash at पूरबिया...
लोक और परंपरा के कल्याणकारी मिथकों पर भरोसा करने वाले आचार्यों की बातें अब विश्वविद्यालयों के शोधग्रंथों तक सिमट कर रह गई हैं। इन पर मनन-चिंतन करने का भारतीय समाजशास्त्रीय और सांस्कृतिक विवेक बीते दौर की बात हो चुकी है। ऐसा अगर हम कह रहे हैं तो इसलिए क्योंकि ऐसा मानन... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   10:57am 28 Feb 2012 #बाजार
Blogger: moomal at moomal Darshna...
जयपुर के कई आर्ट कलेक्टर बताते हैं कि उनके पास दिल्ली, हैदराबाद, सूरत, भोपाल, लखनऊ और गया जैसे शहरों से लोगों के फोन आते हैं। वे यहां के आर्ट और आर्टिस्टों के बारे में जानना चाहते हैं। वे यहां के कलेक्शंस को खरीदने में रुचि दिखाते हैं। उनके पास पैसा तो है लेकिन यहां के आर... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   2:03pm 22 Jan 2012 #बाजार
Blogger: sudha tiwari at saara aakash...
सिल्क, एक ऐसी लड़की की कहानी है जो अस्सी की दशक में पैदा तो हुई लेकिन वह अपने समय से काफी आगे की सोच रखती है. व्यक्ति स्वातंत्रय की उस आदिम भावना को अपने जिस्म के लिफाफे में लपेटे वह लड़की अपने रास्ते खुद चुनती है और सोचती है कि वह अपनी मंजिल भी चुनेगी,ये उसका नितांत निजी च... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   6:54am 10 Dec 2011 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
ठंडा पानी मीठा पांवरुठे पांव दबाता गांवपाहुन गीत सुनाता गांव बीत चुका है रीता गांवघुटता-पिसता रिसता गांवचढ़ते-चढ़ते गिरता गांवखड़े समय में झुकता गांवतेज समय पर रुकता गांवसपना टूटा टूटा गांवहड्डी टूटी टूटा पांवसब टूटे तो टूटा गांवसब आगे बस छूटा गांवकोलतार बीच कच्चा ग... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   4:39pm 15 Oct 2011 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
कॉलोनी का सातवां  और उसके आहाते का   आखिरी पेड़ थाजमा कर आया जिसे वह अजन्मे पत्तों के साथ बैंक मेंइससे पहले बेसन मलती बरामदे की धूपआलते के पांव नाचती सुबह बजती रंगोलियां रहन रखकर खरीदा था उसने हुंडरु का वाटरफॉलनिवेश युग के सबसे व्यस्त चौराहे परगूंजेंगी जब उसके नाम क... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   10:16am 13 Sep 2011 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
सदी के आखिर में बंधतेलाखों-करोड़ों असबाबों के बीचछूट गयी है वह किसी पोंगी मान्यता की तरहनहीं लेना चाहता कोई अपने साथनहीं चाहता होना कोईनयी सदी में उसके पासआने-जाने वाले हर रास्ते परचलते-फिरते हर शख्स को जागो और चल पड़ो की अहद दे रही हैं नयी रफ्तारेंसांझ के दीये की तरह क... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   9:09am 1 Sep 2011 #बाजार
Blogger: prem prakash at अंगिका...
नल की चाबी कुछ नहीं करती इशाराआदत हो गयी है उसे अब बेइशारा बगैर शोरगुल के रहने कीफिर टपकती रहे बूंद या बहती रहे मोटी धारफर्क तो उसे तब भी न पड़े शायदजब नदारद दिखे वहबिगड़ जाये या बेच दे कोई कबाड़ मेंकलपुर्जे ऐसे कितने ही हैं आज हमारे आसपासजिनके इशारे कभी गांधीजी की लाठी से... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   8:44am 3 Aug 2011 #बाजार
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4004) कुल पोस्ट (191828)