POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: पुस्तक समीक्षा

Blogger: Hemant Kumar at क्रिएटिव कोन...
पुस्तक समीक्षा                                                                                                         पुस्तक:प्यारा ... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   7:59am 21 May 2020 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
संवेदनाओं के स्वर हैं“भावावेग”       कुन्दन कुमार का नाम साहित्यजगत के लिए अभी अनजाना है। हाल ही में इनका काव्य संग्रह “भावावेग”प्रकाशित हुआ है। जिसमें कवि की उदात्त भावनाओं के स्वर हैं।     मेरे पास समीक्षा की कतार में बहुत सारी कृतियाँ लम्बित थीं। अ... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   7:30pm 2 Mar 2020 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
दिल से निकले ज़द्बातों की शायरी “सब्र का इम्तिहान बाकी है”      अभी कल ही की तो बात है। मैं तीन पुस्तकों के विमोचन के कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ। जिनमें डॉ. सुभाष वर्मा कृत कत्आत और ग़ज़लों का  एक संग्रह “सब्र का इम्तिहान बाकी है” भी था। कार्यक्रम में ही ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   2:09am 22 Oct 2019 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at शब्दों का दंग...
‘स्मृति उपवन’पठनीय और संग्रहणीयभी       संस्मरणों के संग्रह ‘स्मृति उपवन’ के पुस्तकाकार करने हेतु बधाई और शुभकामनाएँ स्वीकार करें। आपके संस्मरणों को पढ़ने  का अवसर प्राप्त हुआ और मैं भाग्यशाली हूँ कि आपके इस संग्रह के विषय में अपने विचार दे रही हूँ। आपक... Read more
clicks 264 View   Vote 0 Like   1:17pm 4 Jul 2018 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
दंतक्षेत्र : गतागत को जोड़ती समकालिक कृति - आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'विश्व वाणी हिंदी संस्थान, ४०१, विजय अपार्टमेंट, नेपियर टाउन जबलपुर 482001 विश्ववाणी हिंदी में प्रभूत लेखन होते हुई भी, समसामयिक परिदृश्य पर गतागत को ध्यान में रखते हुए सार्थक तथा दूरगामी सोच को आमंत्रित ... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   6:30pm 19 Mar 2018 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
   आज पुरानी अलमारी खोलकर सामान व्यवस्थित कर रहा था तो उसमें मुझे डॉ. सिद्धेश्वर सिंह द्वारा रचित मुझे एक कविता संग्रह मिला जिसका नाम था “कर्मनाशा”। साठ रचनाओं से सुसज्जित 128 पृष्ठों की इस पुस्तक को अन्तिका प्रकाशन, गाजियाबाद द्वारा प्रकाशित किया गया है। जिसका... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   10:19am 8 Nov 2017 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
रचनाकार परिचय:- देवी नागरानी 480 वेस्ट सर्फ स्ट्रीट, एल्महर्स्ट, IL-60126 बंद दरवाज़ों पर करारी दस्तक "एक थके हुए सच की गुहार"सच हमेशा कड़वे होते हैं पर थके हुए भी होते हैं यह पाकिस्तान की सिंधी लेखिका अतिया दाऊद की कविताओं को पढ़ कर ज्ञात हुआ। अपने वजूद का आधार वे सच को मान... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   6:30pm 28 Jun 2017 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
रचनाकार परिचय:- जन्म : २१ मार्च १९९४, यूपी के देवरिया जिले में. वर्तमान स्थिति नोएडा. शिक्षा व कार्य : स्नातक के छात्र. दैनिक जागरण, अमर उजाला, राष्ट्रीय सहारा, जनसत्ता आदि तमाम अखबारों में समसामयिक विषयों पर स्वतंत्र लेखन. ई-मेल : sardarpiyush24@gmail.com मोब : 08750960603 यदि आपको भारत के दक... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   6:10am 13 Feb 2017 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
  चार दिन फागुन के - नवगीत का बदलता रूप - आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' [कृति विवरण- चार दिन फागुन के, रामशंकर वर्मा, गीत संग्रह, वर्ष २०१५, आकार डिमाई, आवरण बहुरंगी, सजिल्द, जैकेट सहित, पृष्ठ १५९, मूल्य ३००/-, उत्तरायण प्रकाशन, के ९७ आशियाना, लखनऊ २२६०१२, ९८३९८२५०६२, नवगीतकार संपर... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   6:30pm 2 Feb 2016 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at शब्दों का दंग...
अट्ठावन कविताएँ“महाभारत जारी है”      कुछ दिनों पूर्व मुझे स्पीडपोस्ट से “महाभारत जारी है” नाम की एक कृति प्राप्त हुई। मन ही मन मैं यह अनुमान लगाने लगा कि यह ऐतिहासिक काव्यकृति होगी। “महाभारत जारी है” के नाम और आवरण ने मुझे प्रभावित किया और मैं इसको पढ़ने के लि... Read more
clicks 422 View   Vote 0 Like   2:10pm 20 Jan 2016 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
पुस्तक चर्चा प्रगतिशील कृषि के स्वर्णाक्षर – डॉ. नारायण चावड़ा हिन्दी में कृषि सन्दर्भों पर बहुत कम अच्छी किताबें उपलब्ध हैं और बात अगर किसी किसान की जीवनी की हो तो न्यूनतम। लेखक राजीव रंजन प्रसाद की पुस्तक “प्रगतिशील कृषि के स्वर्णाक्षर” कई कारणों से महत्व की कृत... Read more
clicks 62 View   Vote 0 Like   6:30pm 8 Oct 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
पुस्तक समीक्षा राहुल देव : नवीन सम्भावना के अन्यतम पर्याय डा0 गोपाल नारायन श्रीवास्तव, लखनऊ ईमेल- srivastavagopalnarain@gmail.com हिन्दी के नवोदित कवि एवं कथाकार राहुल देव (ज0 1988) का प्रथम कथा-संग्रह “अनाहत एवं अन्य कहानियां” अभी-अभी पढ़कर पाठ समाप्त किया है और मेरा मन मेरे कानों में धीरे स... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   6:30pm 14 Sep 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
पुस्तक समीक्षा उत्तर आधुनिकता, साहित्य और मीडिया पर एक उपयोगी पुस्तक यों तो उत्तर आधुनिक विमर्श पर केंद्रित अनेक पुस्तकें बाजार में उपलब्ध हैं जो विद्वत्तापूर्ण सामग्री से लबरेज हैं, किंतु उनकी एक बड़ी सीमा यह है कि प्रायः विद्वत्ता के बोझ के कारण विषय की संप्रेषणी... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   6:30pm 22 Jul 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: Dipak Kumar at दीपक राजा (बर...
स्वातंत्र्य चेतना का दस्तावेज ‘अरावली के मुक्त शिखर’मुगल बादशाह जलालुउद्दीन अकबर के काल में महाराणा प्रताप के स्वातंत्र्य संघर्ष की गाथा ‘‘अरावली के मुक्त शिखर’ उपन्यास के रूप में पाठकों के बीच प्रस्तुत की है कलमकार डॉ. शत्रुघ्न प्रसाद ने और प्रकाशक है शिवांक। म... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   7:01pm 20 Jun 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: Hemant Kumar at क्रिएटिव कोन...
पुस्तक-लू लू ली सनक(बाल कहानी संग्रह)लेखक-दिविक रमेशचित्र-अतुल वर्धनप्रकाशक-नेशनल बुक ट्रस्ट,इंडियानेहरू भवन,5,इंस्टीट्युशनल एरिया,फ़ेज-2वसंत कुंज,नई दिल्ली-110070संस्करण-2014 मूल्य-रू075/मात्र।        हिन्दी में बाल साहित्य लिखा तो खूब जा रहा है,प्रकाशित भी हो रहा है।लेक... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   7:09pm 9 Jun 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at आपका ब्लॉग...
समाज के सभी वर्गों के लिए सुपाठ्य (बाल कहानी संग्रह) “चिड़िया मैं बन जाऊँ”      1975 से कथा विधा को निरन्तर गति प्रदान करने वाली श्रीमती पवित्रा अग्रवाल जालजगत पर एक जाना पहचाना नाम है। इनकी कहानियों की विशेषता यह है कि ये हर कथा में अपनी सार्थक सोच के साथ एक सन्दे... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   7:31am 13 May 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: Neha at सोचा ना था.......
साल की शुरुवात हुई आनंद नीलकंठन की लिखी किताब “असुर:पराजितों की गाथा”से. जैसा की नाम से ही जाहिर है ये किताब बयां करती है,असुरों की गाथा,यानि रावण की कहानी. रामायण की कहानी तो हम सभी जानते हैं,पर रावण के विषय में कितना पता है हमें,कई बार ये प्रयास हुआ भी कि रावण की कहानी कह... Read more
clicks 281 View   Vote 0 Like   12:23pm 8 Apr 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: साहित्य शिल्पी at साहित्य शिल्...
कवितायें लिखी नहीं जाती वे एक भिन्न मानसिक स्थिति में कवि के अवचेतन से अवतरित होती हैं। अमन दलाल की कविताओं में कुछ इसी तरह की अनुभूति, मौलिकता और ताजगी है। इन कविताओं को किसी सांचे में फिट कर के देखना मुश्किल है, नदी की तरह हैं ये कवितायें और आपको अपने साथ बहा ले जाने मे... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   6:30pm 10 Mar 2015 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at मयंक की डायरी...
जयप्रकाश चतुर्वेदी का महाकाव्य"शकुन्तला-महाकाव्य”         लगभग एक वर्ष पूर्व जयप्रकाश चतुर्वेदी का महाकाव्यसंकलन मुझे प्राप्त हुआ। लेकिनव्यस्तता के कारण इस पुस्तक के बारे में कुछ लिख ही नहीं पाया। आज जब अपनी बुकसैल्फ इस पुस्तक पर नज़र पड़ी तो सोचा कि सारे काम... Read more
clicks 496 View   Vote 0 Like   4:45am 18 Nov 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at शब्दों का दंग...
श्रीमती आशा लता सक्सेना का पंचम काव्य संकलन"सिमटते स्वप्न"         लगभग एक सप्ताह पूर्व श्रीमती आशा लता सक्सेना का पंचम काव्य संकलन मुझे प्राप्त हुआ। लेकिनआज समय मिला है अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का।        पठनीय रचनाओं से सुसज्जित 186 पृष्ठों की इस पुस्... Read more
clicks 455 View   Vote 0 Like   2:54pm 17 Nov 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: RAVINDRA PRABHAT at परिकल्पना...
पड़ताल एक पुस्तक के माध्यम से : हर घर में रखी और पढी जाने लायक इस पुस्‍तक ‘फलित ज्‍योतिष कितना सच कितना झूठ’ के लेखक श्री विद्या सागर महथा जी हैं। ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष’ को स्‍थापित करने का पूरा श्रेय अपने माता पिता को देते हुए ये लिखते हैं कि‘‘मेरी माताजी सदैव भाग्य ... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   8:31am 22 Sep 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: ललित शर्मा at ललितडॉटकॉम...
आत्मकथा कहना "खांडे की धार"पर चलना है। सच है आत्मकथा लिखना किसी "बिगबैंग"से कम नहीं है।अगर विस्फ़ोट कन्ट्रोल्ड हो तो गॉड पार्टिकल मिल जाता है और विस्फ़ोट अनकंट्रोल्ड हो तो समाज के समक्ष जीवन भर का बना हुआ प्रभामंडल छिन्न-भिन्न हो जाता है। प्रत्येक मनुष्य के जीवन के दो पह... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   4:58pm 22 Jul 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: Dipak Kumar at दीपक राजा (बर...
रोजगारपाने और शिक्षित होने की जद्दोजहद में व्यक्ति को अपने घर-द्वार, पैतृक गांव तक से पलायन करना पड़ता है। कई बार कुछ समय के लिए तो कभी हमेशा के लिए। ऐसे पलायन करने वाले लोगों को कभी-कभी अपने गांव समाज की बरबस याद भी आती है। यादों की जुगाली में वह उस दौर में लौटने का असफ... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   4:59pm 20 Jul 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: lokendra singh rajput at अपना पंचू...
 ते ज रफ्तार इलेक्ट्रोनिक मीडिया के महत्वपूर्ण और प्रमुख संवाददाता की जिंदगी भागम-भाग की होती है। वह भारत की वाचक परंपरा का प्रतिनिधि होता है। नियमित लेखन के लिए समय निकालने वाले इलेक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकार विरले ही होते हैं। एबीपी न्यूज के मध्यप्रदेश के ब्यूर... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   11:26am 19 Jun 2014 #पुस्तक समीक्षा
Blogger: lokendra singh rajput at अपना पंचू...
लेखक लोकेन्द्र सिंह की पुस्तक 'देश कठपुतलियों के हाथ में'विमोचित ग्वालियर, २४ मई।पत्रकारिता सिर्फ सूचनाओं का संप्रेषण नहीं होना चाहिए। पत्रकारिता में संवेदनशील लेखन होना चाहिए। आज देश में जिस प्रकार से पत्रकारिता और राजनीति में विकृतियां उत्पन्न हो रही हैं, उनक... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   12:13pm 26 May 2014 #पुस्तक समीक्षा
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4004) कुल पोस्ट (191833)