POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: पुकार

Blogger: Deepak Kumar Bhanre at .मेरी अभिव्यक...
                                इमेज गूगल साभारउठा लो मुझे इन आवारा राहों से ,न उछाला जाऊं इधर उधर बेकार ,न खाऊ ठोकरें पग पग की बार बार ,न लगे मुझसे राहगीरों को चोटों की मार ,न बनू में हिंसक प्रदर्शनों का हथियार ।कोई मिला दे मुझे नेक पनाहों से ,जिसकी नजर पारखी और ... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   4:09am 24 Nov 2019 #पुकार
Blogger: Deepak Kumar Bhanre at मेरी अभिVयक्त...
                                इमेज गूगल साभारउठा लो मुझे इन आवारा राहों से ,न उछाला जाऊं इधर उधर बेकार ,न खाऊ ठोकरें पग पग की बार बार ,न लगे मुझसे राहगीरों को चोटों की मार ,न बनू में हिंसक प्रदर्शनों का हथियार ।कोई मिला दे मुझे नेक पनाहों से ,जिसकी नजर पारखी और ... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   4:09am 24 Nov 2019 #पुकार
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
   मैं अपने सहकर्मियों के साथ हवाई अड्डे की सुरक्षा जाँच से निकल कर वायुयान में जाने की ओर बढ़ रही थी कि मुझे मेरा नाम दो बार पुकारे जाते हुए सुनाई दिया। क्योंकि मेरा नाम आम नामों से थोड़ा भिन्न है इसलिए मैं निश्चित थी कि यह पुकार मेरे लिए ही होगी। मुझे लगा कि शायद मैं अप... Read more
clicks 55 View   Vote 0 Like   3:15pm 27 Apr 2015 #पुकार
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
लौट-लौट आती है प्रतिध्वनि हर पुकार सुनी जाती है लौट-लौट आती है प्रतिध्वनि हर मनुहार चुनी जाती है ! यूँ ही तो नहीं गगन सज रहा तारों से रात्रि मंडित है, नव रंगों से उषा निखरती धरा पादपों से सज्जित है ! रोज बहार खिली आती है स्वागत करने उस प्रियतम का बन उपहार चली आती ह... Read more
clicks 46 View   Vote 0 Like   8:50am 31 Mar 2015 #पुकार
Blogger: हिमांशु कुमार पाण्डेय at अखिलं मधुरम्...
सच्चा कहता अरे बावरे! द्वारे द्वारेघूम रहा क्यों अपना भिक्षा पात्र पसारे।बहुत चकित हूँ, प्रबल महामाया की  मायाकिससे क्या माँगू, सबको भिक्षुक ही पाया॥९॥सब धनवान भिखारी हैं, भिक्षुक नरेश हैंकहाँ मालकीयत जब तक वासना शेष है।माँग बनाती हमें भिखारी यही पहेलीनृप को भी द... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   2:55pm 9 Mar 2013 #पुकार
Blogger: हिमांशु कुमार पाण्डेय at अखिलं मधुरम्...
संत बहुत हैं पर सच्चा अद्भुत फकीर है गहन तिमिर में ज्योति किरण की वह लकीर है।राका शशि वह मरु प्रदेश की पयस्विनी हैअति सुहावनी उसके गीतों की अवनी है॥१॥ सच्चा अद्वितीय अद्भुत है, उसको जी लोबौद्धिक व्याख्या में न फँसो, उसको बस पी लो। मदिरा उसकी चुस्की ले ले पियो न ऊबोउस फक... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   11:16am 5 Mar 2013 #पुकार
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3950) कुल पोस्ट (195984)