POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: पंछी

Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
शांत झील के दर्पण पर जैसे कोई फूलों वाली डाल अचानक झर जाए, या फिर तपती भू पर बादल बरबस यूँ ही बरस जाए ! हो निस्तब्ध रात्रि बेला बिखरी हो ज्योत्स्ना मधुरिम, शांत झील के दर्पण पर या सोया हो पंकज रक्तिम ! नील गगन में ओढ़े बदली लुक-छुप नाज दिखाए चंदा, भोर अभी होने को ही ह... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   12:00pm 2 Dec 2014 #पंछी
Blogger: धीरेन्द्र सिंह at काव्यान्जलि...
हम पंछी थे एक डाल के.हवा चली और छूट गए मेरे सपने टूट गए ........अपना मुझे बताने वाले ,हँस-हंसकर अपनाने वाले !यादों की खुशबू-सा बनकर, प्राणों में बस जाने वाले !जीवन के किस पथ पर जाने-मुझसे,मुझको लूट गए  ! मेरे सपने टूट गए .....रोज समय की सही समीक्षा ,मगर प्राण में पली प्रतीक्षा !सं... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   2:41pm 20 Dec 2013 #पंछी
Blogger: Hardeep Rana at kunwarji's...
थोडा रूक कर सोचे तो देखेंगे कि हम इस तरह भी तो भगवद सेवा कर सकते है!हम मानव तो अपनी जरुरत की चीजो का संग्रह कर के रख ही लेते है और जितनी जरुरत होती है उस से कहीं अधिक ही संग्रह कर लेते है!पर ये बेजुबान,निरीह पशु-पक्षी.... अभी भूख लगी तो कही जाकर खा लिया और प्यास लगी तो जो पानी कह... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   2:48pm 4 May 2013 #पंछी
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
अपना-अपना स्वप्न देखते एक चक्र है सारा जीवन जन्म-मरण पर अवलंबित,एक ऊर्जा अविरत बहती हुई कभी न जो खंडित ! एक बिंदु से शुरू हुआ था वहीं लौट कर आता है, किन्तु पुनः नया जीवननए कलेवर में आता है ! पंछी, मौसम जीव सभी तो इसी चक्र से बंधे हुए, अपना-अपना स्वप्न देखते नयन सभी के मुंदे हु... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   6:19am 2 Mar 2013 #पंछी
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
खामोश खामोशी और हम की अगली कवयित्री हैं, वाराणसीमें जन्मी व पढीं डा. माधुरी लता पाण्डेय. सम्प्रति माधुरी जी अध्यापनरतहैं. इनका इ-मेल पता है- mip.7.n.63@gmail.com तथा ब्लॉग का पता है- http:/kavyanjali-madhuri.blog.spot.com,लिखना-पढ़ना, भारतीय संगीत सुनना एवं गुनगुनाना, घूमना और प्रकृति को निहारनाउन्हें भात... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   9:29am 16 Nov 2012 #पंछी
Blogger: Maheshwari Kaneri at अभिव्यंजना...
थकना नहीं ,ओ पंछी मेरेमंज़िल तेरी उस पार हैपंख फैला ,उड़ता चलहर सांस में विश्वास भरउड़ते हुए आकाश परकैसी थकन कैसी तपनभूल तन के पीर कोश्रम से किस्मत बदलबाधाओं से डरना नहींराह में रुकना नहींचाहे घनेरी रात होलक्ष पर रख कर नज़रतू चल अपनी डगरचिंता तज ,मत हो विकलक्यों बहाता... Read more
clicks 94 View   Vote 0 Like   2:25pm 3 Nov 2012 #पंछी
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
जीना इसी का नाम है अँधेरे कमरे में बंद आँखों से खाते हुए ठोकरेंवे चल रहे हैंऔर इसे जीना कहते हैं...बाहर उजाला है सुंदर रास्ते हैं वे अनजान हैं इस शहर में सो बाहर नहीं निकलते हैं.... जाने क्या आकर्षण है इस पीड़ा में कि दुःख को भी बना लेते हैं साथी बड़े एहतियात से बना कर घाव उस ... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   11:08am 11 Oct 2012 #पंछी
Blogger: drshyamgupta at श्याम स्मृति....
                                   ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...              ’ इन्द्रधनुष’ ------ स्त्री-पुरुष विमर्श पर एक नवीन दृष्टि प्रदायक उपन्यास (शीघ्र प्रकाश्य ....)....पिछले अंक चार  से क्रमश:......                                                     अंक पांच                         '... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   6:29am 14 Mar 2012 #पंछी
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3950) कुल पोस्ट (195984)