POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: नदी

Blogger: mukesh pandey 'chandan' at मुकेश पाण्डे...
ओरछा में बेतवा किनारे छतरियों के पीछे : सूर्यास्त इसके पहले के भाग पढ़ने के लिए क्लिक करें  राम राम मित्रों ,                      जैसे कि आपने अभी तक पढ़ा , कि ओरछा भ्रमण के प्रथम सत्र के बाद सभी वापिस होटल खाना  खाने के लिए लौट आये। खाने में पूड़ी, मटर-पनी... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   2:35am 18 Jan 2017 #नदी
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
अरुणाचल प्रदेश के रोइंग जिले का ‘मिशिमी हिल कैम्प’ दो दिनों के लिए हमारा घर बन गया है. जिसे श्री पुलू चलाते हैं. इस प्रदेश की यह हमारी पहली यात्रा नहीं है, पिछले कई वर्षों के दौरान खोंसा, मियाओ, बोमडिला, तवांग, देवांग, परशुराम कुंड, आदि स्थानों को देखने के बाद इस वर्ष के दो ... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   8:50am 12 Jan 2016 #नदी
Blogger: Himkar Shyam at शीराज़ा [Shiraza]...
(पर्यावरण दिवस पर एक पुरानी रचना) (एक) शहर की बेचैन भीड़ में गुम हो गयी है वो नदी जो सदियों से बहती थी यहां के वन-प्रांतरों में यहां के परिवेश में सिखाती थी अनुशासन बाँटा करती थी संस्कार। नदी जो साक्षी रही है हर्ष-विषाद, सुख-दुख, संघर्षों और विकास की समृद्धि और ऐश्... Read more
clicks 223 View   Vote 0 Like   9:29am 5 Jun 2015 #नदी
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at सृजन मंच ऑनला...
                                          ...             सरस्वती -वसंत पंचमी पर विशेष                                  पाश्चात्य विद्वानों के आक्षेप ठीक ही हैं य... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   1:39pm 23 Jan 2015 #नदी
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
नदी में आग लगी हुई है और मछलियाँ पेड़ पर चढ़ कर सोई हुई हैं अब आप कहेंगे नदी में किसने आग लगाई मछलियाँ पेड़ पर किसने चढ़ाईअरे इतना भी नहीं अगर जानते हो तो इधर उधर लिखे लिखाये को छलनी हाथ में लेकर क्यों छानते हो होना वही होता है जो राम ने रचा हुआ होता है राम कौन है पूछने से पहल... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   5:17pm 6 Jan 2015 #नदी
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
अँधेरे के पार प्रकाश की एक दूधिया नदी बहती है भीतर जिसका कोई तट नजर नहीं आता एक अंतहीन सन्नाटे की गूँज जिसकी लहरों में सुनाई देती है अदृश्य कमलों की गंध भी चली आती है खो जाते हैं स्पंदन.. और जम जाता है शिराओं में बहता रक्त थम जाता है ज्यों सृष्टि का सारा व्यापार ... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   3:29am 17 Jul 2014 #नदी
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
नदी के बहते पानी की तरह बातों को लेने वाले देखते जरूर हैं पर बहने देते हैं बातों को बातों के सहारे बातों की नाँव हो या बातें किसी तैरते हुऐ पत्ते पर सवार हों बातें आती हैं और सामने से गुजर जाती है और वहीं पास में खड़ा कोई उन बातों में से बस एक बात को लेकर बवंडर बना ले जाता है ... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   1:41pm 16 Jun 2014 #नदी
Blogger: dayanand arya at Kora Kagaj (कोरा काग़...
तुझे मेरे लिये नदी बनाना होगा प्रिये  !उनका बहाव भी और कल-कल स्वर भी ;फूल भीपत्ते भीडालियाँ भीऔर पूरा का पूरा पेड़ भी ;घाँस भीउनपर पड़ी ओस की  बूँदें भीऔर उनमे प्रतिबिम्बित स्वर्ण रश्मियाँ भी;रात भीचाँद भीऔर चांदनी भी ;धूप  भी सूरज भीउषा में  उसका आगमन भीऔर संध्या ... Read more
clicks 232 View   Vote 0 Like   12:12pm 10 May 2014 #नदी
Blogger: dayanand arya at ..जिंदगी के नश...
तुझे मेरे लिये नदी बनाना होगा प्रिये  ! उनका बहाव भी और कल-कल स्वर भी ; फूल भी पत्ते भी डालियाँ भी और पूरा का पूरा पेड़ भी ; घाँस भी उनपर पड़ी ओस की  बूँदें भी और उनमे प्रतिबिम्बित स्वर्ण रश्मियाँ भी; रात भी चाँद भी और चांदनी भी ; धूप  भी  सूरज भी उषा में  उसका आगमन भी और संध्या म... Read more
clicks 235 View   Vote 0 Like   12:12pm 10 May 2014 #नदी
Blogger: Rachana Dixit at रचना रवीन्द्...
परिवर्तन या स्थाइत्व पिछली कविता की व्यथाकल सागर को क्या सुना दीमेरी बात समाप्त होने से पहले हीहाहाकार कर चीत्कार उठा वोभिगो गया मुझे नख शिखबोला,परिवर्तन के लिए मुझे बाध्य करेगा जोमिटा दूँगा उसे, समाहित कर लूँगा अपने मेंमैं भयभीत हो भागने को आतुर हुई.सो बोल उठा, ये त... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   2:00am 22 Apr 2012 #नदी
Blogger: Roopam Sadh at प्रेम धुन (कव...
अच्छा लगे बड़ा ही , कुदरत का ये  वर्ताव.चढ़ने को है सूरज ,बढ चली है नाव.वृक्षों की पत्तियों पर ,ओस का ये छिडकाव.अकड़ी सी टहनियों में , यूँ बला का घुमाव.नटखट सी नदी का , अलबेला सा ठहराव.महकी सी हवा का , शर्मीला सा बहाव .चहकते से पंछियों का ,तट पर ये जमाव .गुनगुनाते से दिल में ,उमड़... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   3:44pm 19 Feb 2010 #नदी
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193765)