POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: दोहे

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--सारा उपवन महकता, चहक रहा मधुमास।होली का होने लगा, जन-जन को आभास।।--गेहूँ का अब हो गया, कुन्दन जैसा रूप।सरसों और मसूर को, सुखा रही है धूप।।--प्रेम और सौहार्द्र है, होली का आधार।बैर-भाव को भूलकर, कर लो सबसे प्यार।।--सन्तों के सपने करो, जीवन में साकार।गले मिलो सब प्यार से, कहता ... Read more
clicks 5 View   Vote 0 Like   1:26am 27 Feb 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--सुमनों से करते सभी, प्यार और अनुराग।खेतों में मधुमक्खियाँ, लेने चलीं पराग।।-- आते ही मधुमास के, जीवित हुआ पराग।वासन्ती परिवेश में, रंगों का है फाग।।--उपवन में आकर मधुप, छेड़ रहे हैं राग।आम-नीम के बौर में, जीवित हुआ पराग।।--वासन्ती ऋतु आ गयी, शीत गया है भाग।फूलों का मधुमा... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   7:30pm 13 Feb 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--मात-पिता के चरण छू, प्रभु का करना ध्यान।कभी न इनका कीजिए, जीवन में अपमान।१।--वासन्ती मौसम हुआ, काम रहा है जाग।बगिया में गाने लगे, कोयल-कागा राग।२।--लोगों ने अब प्यार को, समझ लिया आसान।अपने ढंग से कर रहे, प्रेमी अनुसंधान।३।--खेल हुआ अब प्यार का, आडम्बर से युक्त।सीमाओं को ला... Read more
clicks 4 View   Vote 0 Like   2:37am 13 Feb 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--हग-डे (आलिंगनदिवस)--आलिंगन के दिवस में, करना मत व्यतिपात।कामुकता को देखकर, बिगड़ जायेगी बात।।--आलिंगन के दिवस पर, लिए अधूरी प्यास।छोड़ स्वदेशी सभ्यता, कामी आते पास।--अपनाओ निज सभ्यता, छोड़ विदेशी ढंग।आलिंगन के साथ हो, जीवनभर का संग।।--पश्चिम के परिवेश की, ले करके हम आड़।... Read more
clicks 4 View   Vote 0 Like   2:00am 12 Feb 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--केसरिया को छोड़कर, चढ़ा केजरी रंग।मोह देहली का हुआ, केसरिया से भंग।।--सारे एग्जिटपोल के, सही हुए अनुमान।बी.जे.पी. अध्यक्ष का, टूटा गर्व-गुमान।।--जनता अच्छे काम का, देती है ईनाम।धन-बल पर चलता नहीं, कोई कहीं निजाम।।--लड़ते सभी चुनाव को, मुद्दे लिए अनेक।शासन करता है वही, जिसक... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   9:35am 11 Feb 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--नहीं भूलना चाहिए, वीरों का बलिदान।सीमाओं पर देश की, देते जान जवान।।--उनकी शौर्य कहानियाँ, गाते धरती-व्योम।आजादी के यजन में, किया जिन्होंने होम।।--आज हमारे देश में, सबसे दुखी किसान।फाँसी खा कर मर रहे, धरती के भगवान।।--अमर शहीदों का जहाँ, होता हो अपमान।सिर्फ कागजों में बन... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   12:16am 27 Jan 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--नहीं भूलना चाहिए, वीरों का बलिदान।सीमाओं पर देश की, देते जान जवान।।--उनकी शौर्य कहानियाँ, गाते धरती-व्योम।आजादी के यजन में, किया जिन्होंने होम।।--आज हमारे देश में, सबसे दुखी किसान।फाँसी खा कर मर रहे, धरती के भगवान।।--अमर शहीदों का जहाँ, होता हो अपमान।सिर्फ कागजों में बन... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   2:41am 25 Jan 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--उत्तरायणी पर्व के, भिन्न-भिन्न हैं नाम।आया लेकर हर्ष को, उत्सव ललित-ललाम।।--गंगा में डुबकी लगा, पावन करो शरीर।नदियों में बहता यहाँ, पावन निर्मल नीर।।--जीवन में उल्लास के, बहुत निराले ढंग।बलखाती आकाश में, उड़ती हुई पतंग।।--सूर्य रश्मियाँ आ गयीं, खिली गुनगुनी धूप।शस... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   2:36am 14 Jan 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
-- रहती है आकांक्षा, जब तक घट में प्राण।जिजीविषा के मर्म को, कहते वेद-पुराण।।-- जीने की इच्छा सदा, रखता मन में जीव।करता है जो कर्म को, वो होता सुग्रीव।।--आशायें जीवित रहे, जब तक रहे शरीर।जिजीविषा के साथ में, सब करते तदवीर।।--धन-दौलत की चाह में, पागल हैं सब लोग।जीवन के हर मो... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   1:22am 10 Jan 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--दुनिया में हिन्दीदिवस, भारत की है शान।सारे जग में बन गयी, हिन्दी की पहचान।।--चारों तरफ मची हुई, अब हिन्दी की धूम।भारतवासी शान से, रहे खुशी में झूम।।--हिन्दी है सबसे सरल, मान रहा संसार।वैज्ञानिकता से भरा, हिन्दी का भण्डार।।--युगों-युगों से चल रहे, काल-खण्ड औ’ कल्प।देवना... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   11:22am 9 Jan 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
जो मानवता के लिए, चढ़ता गया सलीब।वो ही होता कौम का, सबसे बड़ा हबीब।।--जिसमें होती वीरता, वही भेदता व्यूह।चलता उसके साथ ही, जग में विज्ञ समूह।।--मंजिल हो जिस राह में, उस पर चलते लोग।पालन करता नियम जो, वो ही रहे निरोग।।--जो जन सेवा के लिए, करता है पुरुषार्थ।उसके सारे काम ही, कह... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   1:06am 25 Dec 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--प्रजातन्त्र का सिरफिरे, भूल गये हैं अर्थ। सर्व धर्म समभाव से, बनता देश समर्थ।।--एक पन्थ में क्यों भरा, इतना आज जुनून।बना सभी के है लिए, भारत का कानून।।--अल्ला के इसलाम को, लोग गये हैं भूल।मुल्लाओं की बात को, करते लोग कुबूल।।--भारत के जो नागरिक, भूल गये है फर्ज।कर दो उनके ना... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   12:56am 22 Dec 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--निकला है तूणीर से, एक नया फिर तीर।बिन तैयारी के हुआ, रोड-टैग तामीर।।--बिना विचारे थोपती, नियम यहाँ सरकार।टोल-ठिकानों पर लगी, भारी आज कतार।।--ठगे हुए से देखते, लोग नये कानून।शासन के लिखता जा रहा, मनमाने मजमून।।--भेड़ हो गयी है प्रजा, भय से है लाचार।देख सामने भेड़िया, भ... Read more
clicks 5 View   Vote 0 Like   2:37am 18 Dec 2019 #दोहे
Blogger: Sudha Singh at मेरी जुबानी : ...
1:रिश्ते :यारों इस संसार में, रिश्तों का न मोल। जिन नातों में प्रेम है ,  हैं वे ही अनमोल।। 2:कालिमा :मन में हो जब कालिमा, जग भी बैरी होय।  हिय में प्यार जगाइये, मित्र लगे सब कोय।। 3:अनुबंध :सात फेरे लगते जब , बनते तब अनुबंध। जनमों का नाता बने,    फैले प्रेम सुगंध।।&... Read more
clicks 8 View   Vote 0 Like   6:01pm 13 Nov 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--न्यायालय तो साक्ष्य पर, करता सोच-विचार।आये जो भी फैसला, करो उसे स्वीकार।।--देते हैं सन्देश ये, गीता और कुरान।आपस में लड़ते नहीं, राम और रहमान।।--नहीं किसी की हार है, नहीं किसी की जीत।सत्य-तथ्य से है बँधा, होता काल-अतीत।।--सारी दुनिया जानती, भारत के थे राम।मचा हुआ फिर किसलि... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   2:01am 9 Nov 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--जिस बालक का ईश पर, था अनुराग अनन्य।उस नानक के जन्म से, देश हो गया धन्य।।--जाते हैं करतारपुर, जत्थों में सिख लोग।आया सत्तर साल में, आज सुखद संयोग।।--सरिताओं में बह रहा, अब तो पावन नीर।गंगा में डुबकी लगा, निर्मल करो शरीर।।--नदी-झील मिट गया, अब तो सारा पंक।पूनम की इस रात में, ... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   2:25am 8 Nov 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
 --आई चौदस रूप की, चहक रहे घर द्वार।कुटिया-महलों में सजे, झालर-बन्दनवार।१।--सारी दुनिया से अलग, भारत के अंदाज।दीपक यम के नाम का, जला दीजिए आज।२।--साफ-सफाई को करो, सुधरेगा परिवेश।देती नरकचतुर्दशी, सबको यह सन्देश।३।--जन्मे थे धनवन्तरी, करने को कल्याण।रहें निरोग... Read more
clicks 46 View   Vote 0 Like   1:31am 25 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--तन के हों निर्धन भले, मन रक्खो धनवान।मन के भीतर है भरा, दुनियाभर का ज्ञान।।--माटी का दीपक भले, कितना रहे कुरूप।जलकर बाती नेह की, फैला देती धूप।।--दीवाली पर द्वार को, कभी न करना बन्द।झिलमिल करते दीप ही, देते हैं आनन्द।।--सदा स्वदेशी का करो, जीवन में उपयोग।मत चीनी सामा... Read more
clicks 48 View   Vote 0 Like   1:02am 23 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--कह देती हैं सहज ही, सुख-दुख-करुणा-प्यार।कुदरत ने हमको दिया, आँखों का उपहार।।--आँखें नश्वर देह का, बेशकीमती अंग।बिना रौशनी के लगे, सारा जग बेरंग।।--मिल जाती है आँख जब, तब आ जाता चैन।गैरों को अपना करें, चंचल चितवन नैन।।--दुनिया में होती अलग, दो आँखों की रीत।होती आँखें चार तो, ... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   9:30pm 15 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--भाव सुप्त अब हो गये, हुई शायरी बन्द।नहीं निकलते कलम से, नये-पुराने छन्द।। --अँधियारा छाने लगा, गया भास्कर डूब।लिखने-पढ़ने से गया, मेरा मन अब ऊब।।-- थकी हुई है लेखनी, सूखे कलम-दवात।वृद्धावस्था में नहीं, यौवन जैसी बात।।-- मंजिल से पहले हुए, डगमग दोनों पाँव।जाने कित... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   11:30pm 13 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
शरद पूर्णिमा आ गयी, खुलकर हँसा मयंक।गंगा जी के नीर की, दूर हो गयी पंक।।--धान घरों में आ गये, कृषक रहे मुसकाय।अपने मन के छन्द को, रचते हैं कविराय।।--हरी-हरी उग आयी है, चरागाह में घास।धरती से आने लगी, सोंधी-तरल सुवास।।--देख-देख कर फसल को, खुश हो रहे किसान।माता जी का हो रहा, घ... Read more
clicks 58 View   Vote 0 Like   1:49am 12 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
--विजयादशमी ने दिया, दुनिया को उपहार।अच्छाई के सामने, गयी बुराई हार।।--विजयादशमी विजय का, पावन है त्यौहार।आज झूठ है जीतता, सत्य रहा है हार।।--रावण के जब बढ़ गये, भू पर अत्याचार।लंका में जाकर उसे, दिया राम ने मार।।--तब से पुतले दहन का, बढ़ता गया रिवाज।मन का रावण आज तक, जला न सक... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   1:31am 7 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
माता जी की कृपा से, मिला छन्द का दान।इसीलिए हूँ बाँटता, मैं दोहों में ज्ञान।१।--छोटी-छोटी बात पर, करते यहाँ विवाद।देते बालक-बालिका, कुल को बहुत विषाद।२।--जिसका नहीं इलाज कुछ, ऐसा है ये रोग।बिना विचारे खुदकुशी, कर लेते हैं लोग।३।--करते हैं जो खुदकुशी, वो तो हैं ... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   3:08am 6 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
गाँधी बाबा मत करो, आज राम को याद।जन्मभूमि पर हो रहे, जमकर वाद-विवाद।।--हुआ नहीं इस वाद का, अब तक पूर्णविराम।न्यायालय की शरण में, हैं जन-जन के राम।।--सारी दुनिया जानती, भारत के थे राम।फिर क्यों भारत देश में, मचा हुआ कुहराम।।--मन्दिर-मसजिद तक हुई, सीमित अब तो सोच।राम और र... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   2:00am 3 Oct 2019 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
सज्जनता का हो गया, दिन में सूरज अस्त।शठ करते हठयोग को, होकर कुण्ठाग्रस्त।।--नित्य-नियम से था दिया, जिनको भी गुण-ज्ञान।वो चोरी में लिप्त हो, बन बैठे शैतान।।--भूल गये कर्तव्य को, पण्डित और इमाम।पका-पकाया खा रहे, सारे नमक हराम।।--रोज बदलते जा रहे, चोला और जबान।बन्दीग्रह में ... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   1:31am 18 Sep 2019 #दोहे
[Prev Page] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3941) कुल पोस्ट (195174)