POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: दिल

Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर at रायटोक्रेट क...
मानव शरीर में दिल और दिमाग, दोनों का महत्त्वपूर्ण स्थान है. दोनों के अपने निर्णय होते हैं और जीवन के फैसलों में दोनों के निर्णयों को एक-दूसरे पर हावी नहीं होने देना चाहिए. किसी भी व्यक्ति के जीवन में कठिन स्थितियों में, नकारात्मक स्थितियों में, विवाद की स्थितियों में, त... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:18pm 24 May 2020 #दिल
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA at मेरी दुनिया...
दिलों के बीच भी सरहद होती है,जिसकी ऊँचाई बेहद होती है,बन तो बहुत जल्दी जाती है,किन्तु न मिटने की जिद होती है।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्र... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   2:13pm 13 Nov 2019 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
जिन्दगी का गीत मिलकर सादगी हो जिन्दगी में दिलों में थोड़ी शराफत, दिन कयामत अगर आये खुशदिली से करें स्वागत ! नफरतों की बात ना हो दूरियां मिट जाएंं दिल से, प्यार के किस्से कहेंं फिर फूल बन मुस्काएं खिल के ! 'शुक्रिया'हर साँस में हो  हर दिल से बन दरिया बहे, इश्क की ह... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   5:27am 2 Mar 2019 #दिल
Blogger: Dr T S Daral at अंतर्मंथन...
दिल धड़कता है तो समझो,जीवन का संचार है।दिल जोर से धड़कता है तो समझो,किसी से हुआ प्यार है।दिल फड़फड़ाता है तो समझो, बंदा दिल का बीमार है।दिल धड़कना बंद कर दे तो बाय बाय नश्वर संसार है।दिल बड़ा नाज़ुक होता है ,ये सदा टूटने को तैयार है।दिल का रखो पूरा ध्यान, यही तो&nbs... Read more
clicks 235 View   Vote 0 Like   9:33am 4 Oct 2018 #दिल
Blogger: Deepak Kumar Bhanre at मेरी अभिVयक्त...
दिल# में न जाने कितने गम# छुपाये रखे सीने# में ।यहाँ मिलता है हर शख्स मुस्कराहट के साथ,दिल में न जाने कितने गम छुपाये रखे सीने में ।लड़ता है वक्त बेवक्त आती परेशानियों के साथ ,मशरूफ हो जाता कुछ इस तरह जिंदगी जीने में ।मिलता है मौका तो खुश हो लेता हैं अपनों के साथ ,हौसले यूं ह... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   5:57pm 22 Mar 2018 #दिल
Blogger: Deepak Kumar Bhanre at .मेरी अभिव्यक...
दिल# में न जाने कितने गम# छुपाये रखे सीने# में ।यहाँ मिलता है हर शख्स मुस्कराहट के साथ,दिल में न जाने कितने गम छुपाये रखे सीने में ।लड़ता है वक्त बेवक्त आती परेशानियों के साथ ,मशरूफ हो जाता कुछ इस तरह जिंदगी जीने में ।मिलता है मौका तो खुश हो लेता हैं अपनों के साथ ,हौसले यूं ह... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   5:57pm 22 Mar 2018 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
गीत अंतर में छिपा है शब्द कुछ सोये हुए से भाव कुछ-कुछ हैं अजाने, गीत अंतर में छिपा है सृजन की कुछ बात कर लें ! बीज भीतर चेतना का फूल बनने को तरसता, बूंद कोई कैद भीतर मेघ बन चाहे बरसना ! आज दिल से कुछ रचें हम मन नहीं यूँ व्यर्थ भटके, तृषा आतुर तृप्त होगी ललक जब अंतर से प्... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   5:05am 30 Aug 2017 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
जो भी राह दिखाने आया एक मुखौटा ओढ़ा सुंदर चेहरे पर मुस्कान पहन ली, दिल में चाहे आग सुलगती   शीतल सी पहचान ओढ़ ली ! हालचाल सब ठीकठाक है जग को जब विश्वास दिलाया,  मदमाती जीवन की राह है दिल ने खुद को भी समझाया !   जो भी राह दिखाने आया उसको अपना दुश्मन माने, छलता जो मन पहल... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   7:44am 14 Oct 2016 #दिल
Blogger:  राजीव कुमार झा at यूं ही कभी...
क्या-क्या न बयां कर जाते हैं तुम्हारे ख़त कभी हँसा कभी रुला जाते हैं तुम्हारे ख़त मौशिकी का ये अंदाज कोई तुमसे सीखे कौन सी संगीत सुना जाते हैं तुम्हारे ख़त खतो-किताबत का रिवायत तुमसे ही सीखा मजलूम को मकसूस कराते हैं तुम्हारे ख़त तनहा रातों में सुलग उठता है सीने में दर्दे दि... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   3:00am 26 Dec 2015 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
देखो पल में कहाँ खो गया बड़ी-बड़ी बातें करता था पा के रहेंगे दम भरता था था कितना दीवाना सा दिल मुट्ठी में रेत भरता था ! बात-बात पर रूठा करता घड़ी-घड़ी जो टूटा करता था कितना अनजाना सा दिल अपना दामन आप धो गया ! अपना कद ऊंचा करने की ज्ञान निधि भीतर भरने की तिकडम सदा लगाता ... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   9:08am 14 Oct 2015 #दिल
Blogger:  राजीव कुमार झा at यूं ही कभी...
         दिल की बात जुबां पर आए तो सहीबंद होठों के कोरों से मुस्कुराए तो सही खामोशी से जो बात न बन पाए थोड़ा कह कर बहुत कुछ कह जाए तो सही जीने का उल्लास रजनीगंधा सी महक उठती हैं मन का संताप खुद ही बह जाए तो सही सपनों में पलाश के रंग भर उठते हैं मुद्दत बाद जो तुमसे मिल पा... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   2:05am 26 Sep 2015 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
यूँ तो इस जहान में हजार फर्ज हैं दिल दीवाना एक ही धुन गुन रहा कब से होंगे हजारों मंजर नजरें जिसे ढूँढे दिल के मकां में छुप गया खामोश वह जब से नाता उसी की खातिर दुनिया से निभाया दिल को जंचा है दिलनशीं वह हसीं अब से थमती नहीं निगाहें लगता नहीं ये दिल जहनेजिगर में सूरत... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   10:23am 9 Sep 2015 #दिल
Blogger:  राजीव कुमार झा at यूं ही कभी...
गर तुमसे यूँ नहीं मिला होता कोई खटका दिल में नहीं हुआ होता तुम्हें भुलाने की लाख कोशिश की मैंने गर मेरे दिल में नश्तर नहीं चुभोया होता दोस्ती-दुश्मनी में फर्क मिटा दिया तुमने गर अहदे वफ़ा का सिला नहीं दिया होता रास्ते का पत्थर जो समझ लिया तुमने गर ठोकर में न उड़ा दिया होत... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   2:30am 27 Aug 2015 #दिल
Blogger: dayanand arya at ..जिंदगी के नश...
"क्या दादा आप इस 4G के टाइम में अभी भी 2G गड्डी हाँक रहे हो ।" "देखो दिल के मामले में सहूलियत से काम लेना चाहिए ।  प्यार को धीरे धीरे पनपने दो । धीमे आंच पर पकने दो । हर लम्हे को महसूस करो ।" "अच्छा ! तो पहले आप decide कर लो की प्यार करना इम्पोर्टेन्ट है की महसूस करना । क्योंकि महसूस क... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   7:21am 22 Aug 2015 #दिल
Blogger: Mayank bhatt at Dil Ki Kitaab ( दिल की ...
दिल की धड़कन सिर्फ इतना बताती है की इंसान जिंदा है या नही, पर आँखों की चमक ये बताती है की इंसान जी रहा है या नही…… <3 ‪#‎मयंक‬ <3Filed under: आँख, दिल, दिल की धड़कन, dil ki kitaaab, emotional shayri, Hindi poetry, Hindi shayari, inspirational shayri Tagged: #kavita, आँख, इन्सान, धड़कन, dil ki kitaab, emotional, hindi poetry, hindi shayri, insipirational, inspirational shayri, mayank shayri, motivational shayari, motivational shayri, Zakhmi di... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   4:44pm 31 May 2015 #दिल
Blogger: शिल्पा भारतीय at अभिव्यक्ति-अ...
ये बिन मौसम की बरसात भी न! बिलकुल तुम्हारी यादों की तरह है कमबख्त! हमेशा मुझे उलझन में डाल देती हैं कि इक तरफ तो इनमे भीगने की ख्वहिश भी रहती है तो दूसरी तरफ बीमार होने का डर भी! पर मेरी उलझनों से  मेरी परेशानियों से इन्हें क्या वास्ता ये भी तो बिलकुल तुम्हारे ही जैसी है न... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   5:31pm 1 Mar 2015 #दिल
Blogger:  राजीव कुमार झा at यूं ही कभी...
                 हम जब भी मिला करते हैं           क्यों लोग गिला करते हैंकदम तपती राहों पर कब थमते हैं फूल प्यार के खिजां में खिला करते हैं तनहाइयों से डर क्यूँ जाते होआँखों के कटोरों को नम क्यों कर जाते हो फासले जमीं-आसमां के कब मिटा करते हैंदर्दे दिल यू... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   2:30am 15 Jan 2015 #दिल
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
अपने भारी हो गये सिर को हलका करने के लिये अच्छा रास्ता है रास्ते पर ला कर रख देना बेकार पड़े हुऐ पत्थर की तरह आने जाने वालों के देखने समझने के लिये और कुछ के ठोकर खाने के लिये भी सब करते हैं अपने अपने हिसाब से कुछ के छोटे मोटे कंकड़ कुछ के थोड़े बड़े कुछ के तेरे जैसे अझेल अब किय... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   2:18pm 27 Oct 2014 #दिल
Blogger: ajay kumar jha at बिखरे आखर ....
हम जानते हैं तुम जिस देस के वासी हो ,उस देश को अर्से से इस खेल का चाव है ,दिल थाम के बैठना सामने चुनाव है ॥बडे भोले हो ओ बाउजी , फ़न्ने बने फ़िरते हो ,वो पपलू बनाए जा रहे हैं ,पप्पू सा स्वभाव है ,दिल थाम के बैठना सामने चुनाव है साला मुर्गा टंगा है उलटा अस्सी रुपए में,एक किलो टमाटर&... Read more
clicks 320 View   Vote 0 Like   11:17am 23 Apr 2014 #दिल
Blogger: naresh thakur at NARESH THAKUR...
आज विश्व की आबादी के 90 प्रतिशत व्यक्ति हृदय रोग से पीड़ित है जो अनियमित भोजन, अनियमित दिनचर्या के साथ फास्ट फूड अत्यधिक प्रोटीन तथा कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से एसिडिटी, गैस, उच्च रक्तचाप, मोटापा तथा मधुमेह जैसे रोग के साथ हृदय रोग की उत्पत्ति करता है,... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   3:28pm 12 Apr 2014 #दिल
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
कौन है वह दिल की गहराई जो जाने उसके सम्मुख ही दिल खोलें जन्मों का जो मीत पुराना मन की बात उसे ही बोलें दूर तलक जो साथ चलेगा पथ में उसके संग ही डोलें काँटों को जो फूल बना दे संग उसके ही स्वप्न पिरो लें अंतर वीणा को जो गा दे उसके ही नयनों को तोलें   सम्भव सब है इस ... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   7:55am 18 Mar 2014 #दिल
Blogger: श्रवण कुमार शुक्ल at जीवन: एक संघर...
श्रवण शुक्लप्रेम पर क्या लिखूं...सबकुछ तो लिखा जा चुका हैगजलों, नज्मों, शेरोंके रुप में।मैं तो जरा सा सिपाही हूंजो प्रेमी भी है,लड़ता भी है..ये भी लिख चुके हैं सभी।मगर दिल नहीं मानताकहता है कि बोलो कुछअरे हद है यारक्या दादा गिरी...।कह तो रहे हो लिखने कोलेकिन तुम तो खाली हो... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   7:20am 18 Feb 2014 #दिल
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at सृजन मंच ऑनला...
तुमको देखा तुमको जाना तुमको चाहा जांना ;जानकर आपको कुछ और नहीं जाना जांना |आपकी चाह में कुछ और की चाहत न रही -तेरी चाहत को ही पूजा और पूजा  जाना || लिख दिया अपने  दिल पे तुम्हारा नाम यारा ,गुल से भी नाज़ुक है ये दिल हमारा यारा |आप यूं  तोड़कर इसको न जाइयेगा कभी -अक्स बसता ह... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   5:53am 10 Sep 2013 #दिल
Blogger: Ashutosh Mishra at My Unveil Emotions...
दिले नादान को बहला रहा हूँ अभी सावन के नगमे गा रहा हूँ मिला है चाँद यूं तनहा फलक पर अभी मैं चाँद से बतिया रहा हूँ मिटा दूं कैसे वो यादें तुम्हारी तुम्हे सीने में जब धड़का रहा हूँ भुलाना तुम को चाहा पर ना भूला भुलाता कैसे जब याद आ रहा हूँ तेरे क़दमों की आहट रोज सुनकर गुलों क... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   10:19am 30 Jul 2013 #दिल
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
क्यूं दिल कीपरवाह करूँदिल तोबना ही टूटने के लिएकभी अपनों सेकभी परायों सेकोई तोड़े नहीं तोकभी खुद अपने हाथों सेखुद ही मार लेगाकुल्हाड़ी अपने पैरों परलग जाएगाकिसी के दिल से858-42-23-11-2012दिलDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 62 View   Vote 0 Like   1:30pm 24 Dec 2012 #दिल
[Prev Page] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3975) कुल पोस्ट (190943)