POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: ज्‍योतिषनामा

Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN...
        पूजन में तिलक लगाना महत्‍वपूर्ण एवं लाभकारी है। तिलक ललाट पर या छोटी सी बिंदी के रूप में दोनों भौहों के मध्य लगाया जाता है। मस्तिष्क में सेराटोनिन व बीटाएंडोरफिन नामक रसायनों का संतुलन होता है। इनसे मेघाशक्ति बढ़ती है तथा मानसिक थकावट के विकार नहीं होते हैं।   ... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   4:49am 28 Jun 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN SANDESH...
        लोक सेवा आयोग प्रत्‍येक वर्ष आईएएस की परीक्षा आयोजित करता है और लाखों युवक-यु‍वतियां आईएएस की परीक्षा देते हैं, पर सभी सफल नहीं होते हैं। वे सफल होते हैं जो कठिन परिश्रम करते हैं और उनका भाग्य भी साथ देता है। सफल युवक-युवतियां सरकारी व प्रशासनिक नौकरी में आकर मान-... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   8:25am 20 Jun 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN SANDESH...
      आप नेत्रों के कष्ट से परेशान है। आए दिन नेत्र संबंधी कोई न कोई कष्ट मिलता ही रहता है। आजकल कॅम्प्यूटर पर अधिक समय कार्य करने से भी नेत्र की ज्योति कम हो रही है और नेत्रों में जलन रहती है। आप नेत्र के किसी भी कष्ट से परेशान हैं तो आपको यहां एक अनुभूत मन्त्र बताते हैं ज... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   10:52am 14 Jun 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN SANDESH...
          हम और हमारा शरीर अन्य जीवों की तुलना में अत्‍यधिक संवेदनशील होता है। इसीलिए भावी घटना के प्रति हमारा शरीर पहले ही आशंकित हो उठता है। शरीर के विभिन्न अंगों का फड़कना भी भावी घटनाओं के होने का संकेत है। कहने का तात्‍पर्य यह है कि आम जीवन में रोजाना हमारे साथ होने व... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   8:13am 3 Jun 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN...
        कहा जाता है कि शरीर पंच तत्त्वों से निर्मित है। शरीर है और शरीर पर अलग-अलग जगह तिल भी दिखाई देते हैं। शायर के शब्‍दों में-अब मै समझा तेरे रूखसार पर तिल का मतलब, दौलते हुस्न पर दरबान बिठा रखा है। स्त्रियों के चेहरे पर तिल उनकी सुंदरता में सदैव चार चांद लगा देता है। इन ... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   1:40pm 29 May 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN SANDESH...
        वर्तमान में प्रत्‍येक व्‍यक्ति उच्‍च शिक्षा पाना चाहता है अथवा अपनी सन्‍तान को उच्‍च शिक्षा दिलाना चाहता है जिससे वह भविष्‍य में अच्‍छी नौकरी या व्‍यापार करके सुख व समस्‍या रहित जीवन जी सके। दूसरे शब्‍दों में यह कह लीजिए कि प्रत्‍येक व्‍यक्ति सन्‍तान को उच्‍... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   11:22am 24 May 2011 #ज्‍योतिषनामा
Blogger: डॉ. उमेश पुरी 'ज्ञानेश्वर' at JYOTISH NIKETAN...
       सूर्य को जल चढ़ाने के लिए एक तांबे का लोटा ले लें। उसमें शुद्ध जल ले लें, थोड़े चावल के दाने डाल लें, थोड़ी रौली डाल लें एवं थोड़ा सा गुड़ का टुकड़ा डाल लें।     तदोपरान्‍त सूर्य को जल चढ़ाते समय अर्थात् जल का लोटा खाली होने तक अधोलिखित सूर्य के द्वादश नामों का जाप करे... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   5:15pm 13 May 2011 #ज्‍योतिषनामा
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3968) कुल पोस्ट (190581)