POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: कोशिश

Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
कुछ कहने का कुछ लिखने का कुछ दिखने का मन किसका नहीं होता है सब चाहते हैं अपनी बात को कहना सब चाहते हैं अपनी बात को कह कर प्रसिद्धि के शिखर तक पहुँच कर उसे छूना लिखना सब को आता है कहना सब को आता है लिखने के लिये हर कोई आता है अपनी बात हर कोई चाहता है शुरु करने से पहले ही सब कुछ ... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   4:53pm 24 May 2017 #कोशिश
Blogger: सुशील बाकलीवाल at जिंदगी के रंग...
             एक गांव में आग लगी । सभी लोग उसको बुझाने में लगे हुए थे । वहीं एक चिड़िया अपनी चोंच में पानी भरती और आग में डालती, फिर भरती और फिर आग में डालती । एक कौवा डाल पर बैठा उस चिड़िया को देख रहा था । कौवा चिड़िया से बोला - "अरे पागल तू कितनी भी मेहनत कर ले,  त... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   5:35am 19 Aug 2016 #कोशिश
Blogger: मधुलिका पटेल at मेरी स्याही क...
माँ तुम्हारी परछाई कोधीरे धीरे अपने मेंसमाहित होते देख रही हूँ बचपन का खेलतुम्हारी बिंदी और साड़ी से अपने को सजाना फिर कुछ वर्षों बादतुम्हारी जिम्मेदारियों में तुम जैसा बन्ने कीकोशिश में तुम्हाराहाथ बटानाजब विदा हुई नए परिवेश मेंतब हम तुम एक परछाई के दो हि... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   6:36pm 28 May 2016 #कोशिश
Blogger: मधुलिका पटेल at मेरी स्याही क...
धीरे -धीरे जिंदगी से शिकायतों की गठरी भर ली उस गठरी से बहुत कुछ अच्छापीछे छूटकार बिख़रता गयाजिसे न बटोर पाए न वक्त से देख़ा गया अब जिंदगी बेतरतीबि से रख़े सामान की तरह हो गई हैमन करता है की काश?जिंदगी रेशम पर पड़ी सिल्वटों सी होती मुट्ठी भर पानी के छीटें मारते प्... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   7:24pm 24 Sep 2015 #कोशिश
Blogger: sunny kumar at Life iz Amazing...
हर मौके पर न सही, हर आवाज को न सही, पर कुछ से कहु, कुछ को सुनूं, ये कोशिश हर बार करता हूँ, हर महफ़िल में न सही, हर मंच पे न सही, पर खुद से मिलु किसी मेले में, सहेजु कल की तस्वीरों को, कोशिश आज भी सरेआम करता हूँ। ;) – सन्नी कुमार ————————————————————R... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   4:43pm 25 Mar 2015 #कोशिश
Blogger: दिगम्बर नासवा at स्वप्न मेरे...
तू साथ खड़ी मुस्कुरा रही थी    तेरा अस्थि-कलश जब घर न रख के मंदिर रखवाया गया   यकीनजानना    वो तुझे घर से बाहर करने की साजिश नहीं थी   बरसों पुराने इस घर से जहाँ की हर शै में तू ही तू है तुझे दूर भी कैसे कर सकता था कोई   देख ... मुस्कुरा तो तू अब भी रही है &n... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   7:17am 9 Sep 2013 #कोशिश
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3965) कुल पोस्ट (190499)