POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: आत्मा

Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
माया की माया जो देख सकती है, वह आँख नहीं जानती भले-बुरे का भेद जो देख नहीं सकती, वह आत्मा  सब जानती है, फिर भी गिरती है गड्ढ में ! जो सुन सकता है, वह कर्ण नहीं जानता सच-झूठ का भेद जो सुन नहीं सकती, वह आत्मा  सब जानती है, फिर भी गिरती है भ्रम में ! देह और आत्मा के मध्य कोई ह... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   8:25am 2 Apr 2019 #आत्मा
Blogger: प्रभाकर पाण्डेय "गोपालपुरिया" at भूत-प्रेत की ...
सादर नमस्कार,भूत-प्रेत की चुनिंदा कहानियों को नए कलेवर के साथ लेकर हम लाए हैं....आपके लिए....इस लिंक से आप प्रीआर्डर कर सकते हैं। धन्यवाद।भूत-प्रेत की कहानियाँ में पहली पुस्तक... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   3:42am 13 Oct 2018 #आत्मा
Blogger: दिगम्बर नासवा at स्वप्न मेरे...
अपने मन मोहने सांवले रंग में श्याम रँग दो हमें सांवरे रंग में मैं ही अग्नि हूँ जल पृथ्वी वायु गगनआत्मा है अजर सब मेरे रंग में ओढ़ कर फिर बसंती सा चोला चलोआज धरती को रँग दें नए रंग में थर-थराते लबों पर सुलगती हंसीआओ रँग दें तुम्हें इश्क के रंग मेंआसमानी दुपट्टा छलकते नयन स... Read more
clicks 264 View   Vote 0 Like   5:02am 28 Nov 2017 #आत्मा
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
   हमारे बेटे ने नर्सरी स्कूल जाना आरंभ ही किया था। पहले दिन वह बहुत रोया, और कहा, "मुझे स्कूल पसन्द नहीं है।"मेरे पति और मैंने उससे उसे समझाया, और आश्वस्त किया, कि हम चाहे शरीर में उसके निकट न भी हों, परन्तु हम उसके लिए प्रार्थना करते रहते हैं; और प्रभु यीशु तो सदा उसके सा... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   3:15pm 25 Nov 2017 #आत्मा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
तब  जब मन ही मन है भीतर    एक पहेली सा भरमाता है जीवन खो जाता है जब मन आत्मा के सान्निध्य में    बन जाता है  क्रीड़ांगण आत्मा भी जब चकित हुई सी  तकती है अस्तित्व को  परमात्मा जग जाता है   खिल उठता है वृन्दावन   परमात्मा भी निहार जिसे    जब मुग्ध हुआ हो  तब ? ... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   4:33am 20 Jan 2017 #आत्मा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
यह पल  अतीत के अनन्त युग सिमट  आते हैं  वर्तमान के एक नन्हे से क्षण में  भविष्य की अनंत धारा भी  छोटा सा यह पल कितना गहरा है  साक्षी है जो बीते  बरसों का  और छिपा है जिसमें भावी का हर स्वप्न  हर क्षण अतीत की कोख से जन्मा  है और  निज गर्भ में समेटे है  कल  नहीं टूटती है यह ... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   8:13am 15 Jul 2016 #आत्मा
Blogger: mahendra verma at शाश्वत शिल्प ...
सदियों से‘अँधेरे’ में रहने के कारण‘वे’अँधेरी गुफाओं में रहने वाली मछलियों की तरहअपनी ‘दृष्टि’ खो चुके हैं ।उनकी देह में अँधेरे से ग्रसितमन-बुद्धि तो हैकिंतु आत्मा नहींक्योंकि आत्माअँधेरे में नहीं रहतीवह तो स्वयं ‘उजाले का स्रोत’ होती है ।          &nbs... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   6:32am 23 Nov 2015 #आत्मा
Blogger: डा. सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स...
बकरे और मुर्गे चैंन की साँस खींच कर ले रहे हैं सारे नहीं देश में बस एक दो जगह पर कहींवहीं मारिया जी की पदोन्नति हो गई है शीना बोरा को आरूषि नहीं बनने दूँगा उनसे कहा गया उनके लिये लगता है  फलीभूत हो गया है मृतक की आत्मा ने खुश हो करसरकार से उनको अपने केस को छोड़ आगे बढ़ाने के... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   4:31pm 8 Sep 2015 #आत्मा
Blogger: Kailash C Sharma at आध्यात्मिक य...
                          प्रथम अध्याय (१.१२-१.१६)                        (with English summary)आत्मा पूर्ण, मुक्त,साक्षी है,निस्पृह,चेतन और असंग|सांसारिक लगती है भ्रम वश, व्यापक, निर्मल और निसंग||(१.१२)(The Soul is perfect, free, witness, actionless, and all pervading. It is desireless, peaceful and is not attached to anything. It is only only our illusion that we see Soul ... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   1:29pm 10 Aug 2015 #आत्मा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
मृत्यु और जीवन मौत एक पल में छीन लेती है कितना कुछ माथे का सिंदूर हाथों की चूड़ियाँ मन का चैन और अधरों की हँसी पत्नी होने का सौभाग्य ही नहीं छीनती मौत एक स्त्री से उसके कितने छोटे-छोटे सुख भी पिता का आश्रय ही नहीं उठता सिर से पुत्र की निश्चिंतता, उसका भरोसा भी अश्रु... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   3:49am 14 May 2015 #आत्मा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
नई दुनिया में नहीं, उसका मिलना ऐसा नहीं था जैसे कोई बिछड़ा मीत मिल जाये उसने तो छुड़ा दिए थे सारे नाते और फिर से मिला दिया था सबसे किसी और तल पर दुनिया भी अब पहले वाली नहीं रही थी न ही वह खुद ! सारे समीकरण ही बदल गये थे इस नई दुनिया में यहाँ पाने का अर्थ देना होता था    व... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   3:54am 25 Feb 2015 #आत्मा
Blogger: Anita nihalani at मन पाए विश्रा...
गणतन्त्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनायें अमृत बरसे है अम्बर से सूर्य देव को करें प्रणाम, धरती पर नदियाँ, झीलें पुण्य धरा सींचें दिन-याम ! संतों की है दीर्घ श्रंखला  परम सत्य भी यहीं मिला, योग-संख्य, वेदांत अनूठे पुष्प भक्ति का यहीं खिला !   हिम पर्वत से धुर दक्षिण तक ... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   7:24am 26 Jan 2014 #आत्मा
Blogger: sanjay kumar chourasia at "जीवन की आपाध...
प्रकृति की गोद में अठखेलियाँ करनाहमारी हर इक ख़ुशी परवो भी मुस्कुरा जायेहमारा हर इक गम-दर्द ,उसका खुदका हो जैसे ,उस पर हक यूँ होजैसे खुद पर हुआ करता हैये सब देकर भीकौन होगा जो खुदये सब पाना ना चाहेगाइन्तजार की हद तक ............इसके बाददो आत्मा एक जिस्मऔर फिरउसके भी बाददो आत... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   8:32am 27 Feb 2013 #आत्मा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
कब जागेगी इच्छा ?कब कहेगा मन ? कब आयंगे भाव ?कब चलेगी कलम ? पता नहीं चलताजब भी चलती रुकती नहीं कलमजोडती शब्दों कोउकेरती भावों को लेती आकार सृजन होता कविता कातृप्त होता मनमिलती संतुष्टी आत्मा को 20-03-2012410-144-03-12Dr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   6:40pm 24 May 2012 #आत्मा
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194459)