POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Tag: अहसास

Blogger: मधुलिका पटेल at मेरी स्याही क...
कभी फादर्स डे कभी मदर्स डेहर साल आते हैं सब कुछ मिलता है बाज़ारों में उपहारों के लिए पर नहीं मिलता तो वो वादों के शब्दजो चाहिए होते हैं हर माता - पिता को क्योंकि वो दुकानों में नहीं दिलों में बिकते हैं और एक आश्वासन और विश्वास कीनज़रों के नर्म गिफ्ट पेपर से लिप... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   9:14pm 3 Apr 2019 #अहसास
Blogger: renuka aditi at किताब ज़िन्दग...
ज़िन्दगी , एक किताब ही तो है ... जिसके कुछ पन्ने खट्टी-मीठी दास्तानों से भरे हैं तो कुछ पन्नों में कड़वाहट की सीलन भी बसी है. कभी किसी ने बड़ी मोहब्बत  से खुशियों का गुलिस्ता भेंट किया, तो उसका एक फूल ज़िन्दगी के किसी पन्ने में बड़े नाज़ों से सहेज कर रख लिया, और कभी किसी से लगायी उ... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   4:13pm 5 May 2018 #अहसास
Blogger: vijay kumar sappatti at बस यूँ ही..........WR...
कुछ सपने है जो मेरा पीछा नहीं छोड़ते हैऔर कुछ सपने है जिनका पीछा मैं नहीं छोड़ता हूँ.पुराने सपने जीने नहीं देते हैऔर नये सपने मरने नहीं देते हैऔर ज़िन्दगी कहती है.....यार मेरे, मैं भी तो तेरा एक सपना हूँ, आ सांस ले ले ज़रा.© विजय का 3 AM लेखन... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   5:02am 6 Dec 2015 #अहसास
Blogger: श्रवण कुमार शुक्ल at जीवन: एक संघर...
सोच रहा थासुना दूं वोजो, दिल में हैपहले मैं कहूँ कैसे, उधेड़बुन में था दिल मेराऔर उसने आसां कर दियाकहके ये, हां!है मोहब्बत तुमसेऐसा था वो पल शब्दों में बयांन कर पाने लायकअहसास अनोखा थाउसका भी दिल खुशऔर मेरे लिए दोहरी ख़ुशी।(C) श्रवण शुक्ल... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   1:02pm 9 Mar 2014 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
आज गुज़ारिश पर 100 वीं पोस्ट के साथ आप सबका आशीर्वाद चाहती हूँ जो मुझे निरंतर आगे बढ़ने में सक्षम करेगा |कुछ पंक्तियाँ आप सबकी नजर ..........................................फरवरी 2012 में मैंने ब्लॉग बनाया जो अपना है, लिखते हुए 'गुजारिश'पर सच किया एक सपना है| 'मेरी सच्ची बात'बता कर आपके संग बति... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   7:30pm 7 Jul 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
पिता की छत्र-छाया वो ,हमारे सिर पै होती है |उंगली पकड़ हाथ में चलना ,खेलना-खाना, सुनी कहानी |बचपन के सपनों की गलियाँ ,कितने जीवन मिल जाते हैं ||वो अनुशासन की जंजीरें ,सुहाने खट्टे-मीठे दिन |ऊब कर तानाशाही से,रूठ जाना औ हठ करना |लाड प्यार श्रृद्धा के पल छिन,कितने जीवन मिल जाते ह... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   11:30pm 20 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
ऊँगली पकड़ा कर उसने कहा ,चल तुझे दुनिया की राह बताऊँ,धीरे धीरे लडखडाते हुए इन,नन्हे क़दमों को आगे बढाऊँ,तू थक जाये या रुक जाए ,तो मेरी छावं में सो जाना ,मैं तेरा साया हूँ अभीमीलों तक है तेरे संग जाना,मैंने तुझे जनम न दिया,ऐसी कोई बात नहीं ,पर तुझमे मेरा लहू है ,हर क्षण बात सा... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   2:51am 20 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
मुझे पिता नही , एक भगवान मिला है,जीता जागता एक वरदान मिला है,ऊँगली पकड़कर जिसकी,चलना है सिखा हमने,जिन्दगी जीने की समझ ,सीखी है जिनसे हमने ,आकाश से भी ऊँचा है कद जिनका,गहराई है बातो में उनकी,अश्क न आने दिए आँखों में मेरी ,परवरिश इतने प्यार से की है,हर दर्द को समेट कर अपने आगोश... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   11:30pm 18 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
मैं पिता हूँ तो क्या मुझमें दिल नहीमैं पिता हूँ तो क्या मुझमें दिल नहीक्यूँ मुझे कमतर समझा जाता हैक्या मुझमें वो जज़्बात नहीक्या मुझमें वो दर्द नहीजो बच्चे के कांटा चुभने परकिसी माँ को होता हैक्या मेरा वो अंश नहीजिसके लिए मैं जीता हूँमुझे भी दर्द होता हैजब मेरा बच्च... Read more
clicks 54 View   Vote 0 Like   11:30pm 17 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
बचपन के इक बाबूजी थे सीधे सरल अनुशासन प्रिय थे मेरे बाबूजी ।मुझे वैज्ञानिक बनाया, पोस्टमास्टर थे मेरे बाबूजी ।।समय प्रबंधन का पाठ पढ़ा गए मुझे मेरे बाबूजी ।गलती पर समझाते, डांटते, मारते थे मुझे मेरे बाबूजी ।।स्वाभिमानी धार्मिक ज्ञान के सागर थे मेरे बाबूजी ।मेरी शिक... Read more
clicks 55 View   Vote 0 Like   12:30am 17 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
आज 'पिता दिवस' है |सभी पिताओं से अनुरोध कि बच्चों के सही मार्गदर्शक बनकर उन्हें सही गलत के चयन में उनका साथ दें |एवं सभी बच्चे अपने पिता के सही चुनाव को आज्ञापूर्वक स्वीकार करें |' सभी को पितादिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ '  मेरे पितामाँ ने जो बेशुमार प्यार दिया,पिता ने ... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   12:30am 16 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
दोस्तो आज से''पिता''पर स्वरचित रचनाएँ'गुज़ारिश'पर पोस्ट की जाएंगीजैसे जैसे हमें प्राप्त हुई हैंउसी क्रम में पोस्ट होंगीसभी को अपना स्नेह देकर अनुग्रहीत करें |पितापिता मील पत्थरजो ,सचाई की राह बतातेपिता पहाड़जो ,जिंदगी के उतार-चढ़ाव समझातेपिता जोहरीजो ,शिक्षा के हीरे... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   6:43am 15 Jun 2013 #अहसास
Blogger: सरिता भाटिया at गुज़ारिश ...
आज 14 जून को मेरे पिता जी का जन्मदिवस है तो कुछ श्रद्दा सुमन मेरी तरफ से आज ही वैसे हम कल से पिता दिवस पर भेजी गई रचनाएँ 'गुज़ारिश' पर आप सबके साथ साँझा करेंगे 1.थाम ऊँगली जो चलाये वो पिता होता है प्यार छुपा जो डांट से समझाए वो पिता होता है कंधे बिठा सारी दुनिया घुमाये वो प... Read more
clicks 51 View   Vote 0 Like   5:38am 14 Jun 2013 #अहसास
Blogger: Rachana Dixit at रचना रवीन्द्...
अहसास मेरे बालों में रह रह के,महकता बादल.मेरे होंठों पे,बसने को,मचलता बादल.मेरे बाजुओं में आकर के,पिघलता बादल.मेरी पाजेब से मिलकर के,फिसलता बादल.ये बादल नहीं,स्पर्ष है किसी का.जो तन मन भिगोये,ये प्यार है उसी का.मेरी सांसों में आकर के,सुलगता ये बादल.मेरी आँखों से जब तब,छलक... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   1:30am 3 Mar 2013 #अहसास
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
उसे देखते हीमोहब्बत के बादलदिल में गरजने लगेखुशी से झूम कर बरसेंगेप्यार की नदियाँउफन कर बहने लगेगीदोनों के बीचकोई दूजा ना होगादो हो कर भी हम एक होंगेदो साज़ एक सुर होंगेबस उसकी रज़ा काइंतजार हैजब तक नहीं मिलेबरसात के मौसम में भीसूखे का अहसासहोता रहेगा21-08-2012666-26-08-12Dr.Rajendra Tel... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   4:13pm 21 Sep 2012 #अहसास
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर at "निरंतर" क...
उनका हमारी तरफ देख कर मुस्काराना कुछ ऐसा अहसास दे गया मानो किसी पेड़ के धूल  से भरे पत्तों को बरसात ने धो कर फिर से चमका दियापत्ते जो पीले पड़ने वाले थे उनमें जीने के लिए नया जोश से भर दियाअब कमी है तो सिर्फ एक बात की बस वो एक बार कह दें उन्होंने हमें अपना मान लियाहमें भी कु... Read more
clicks 48 View   Vote 1 Like   10:38am 15 Feb 2012 #अहसास
Blogger: सु-मन (Suman Kapoor) at बावरा मन...
मैं आभारी हूँ रविन्द्र प्रभात जी और वटवृक्ष की पूरी टीम की जिन्होंने मेरी रचना को पत्रिका में स्थान दिया .....तेरा अहसास........‘मन’मेरेतेरा अहसास.....‘मन’मेरे मेरे वजूद को सम्पूर्ण बना देता हैऔर मैंउस अहसास केदायरे में सिमटीबेतस लता सीलिपट जाती हूँतुम्हारे स्वप्निल स्वरू... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   3:34pm 28 Oct 2011 #अहसास
[Prev Page] [Next Page]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3967) कुल पोस्ट (190511)