feedji.com
हमारीवाणी ने बनाया नए युग का ब्लॉग एग्रीगेटर, जहाँ आप ना केवल आसानी से अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, बल्कि आज के युग की आवश्यकतानुसार सोशल मिडिया से जुडी अनेकों सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

0
View
My ImageAuthor डा. सुशील कुमार जोशी
शब्दों का भी सूखता है खून कम हो जाता है हीमोग्लोबिन शब्द भी हमेशा नहीं रह पाते हैं ताकतवर झुकना शुरु हो जाते हैं कभी लड़खड़ाते हैं कई बार गिर भी जाते हैं बात इस तरह की कुछ पचती नहीं है अज... Read more
Tag :ताकतवर
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 10:51 pm
2
View
My ImageAuthor Hemant Kumar
मुर्गे जी को मिला कहीं सेअखबार पुराना एकखबर सुनाकर सबको भैयाकाम करूं मैं नेक।खोज रहा खबरों में मुर्गाजंगल पर्वत नदी की बातेंपर इनकी ना खबर थी कोईना ही फोटो छपी थी एक।खबरें थीं बस लू... Read more
Tag :गुनगुनाएं।
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 9:39 pm
1
View
My ImageAuthor rozkiroti
   स्कूल के खेल के मैदान पर फुटबॉल के खेल के पश्चात एक लड़के राईली ने दूसरे लड़के एवरी के साथ झगड़ना आरंभ कर दिया। वहाँ उपस्थित अध्यापक ने दोनों को अलग किया और प्रधानाध्यापक के पास भेज... Read more
Tag :परेशानी
2
View
My ImageAuthor माधवी रंजना
( जन्नत में जल प्रलय - 4 )डल गेट यानी डल झील का दरवाजा। अनादि पूछ रहे हैं पापा ये दरवाजा किधर है.. तो हमें दिखाई दे गया इसका दरवाजा। डल गेट नंबर एक पर एक चैनल बना है. जब भी डल झील में बारिश का ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 7:48 pm
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
जीवन ! दो चक्रकभी सरलकभी वक्र,--जीवन !दो रूपकभी छाँवकभी धूप--जीवन!दो रुखकभी सुखकभी दुःख--जीवन !दो खेलकभी जुदाईकभी मेल--जीवन !दो ढंगकभी दोस्तीकभी जंग--जीवन !दो आसकभी तमकभी प्रकाश--जीवन !द... Read more
Tag :श्रणिकाएँ
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 7:13 pm
2
View
My ImageAuthor Abhishek Thakur
भोपाल शहर. न्यू मार्किट. जून का महीना. शाम के सात बजे. सूरज का गुस्सा शांत हो गया था पर हवा में गर्मी का भभका अभी भी मौजूद था जो रह रह के कनपटे पे बरस जाता था. मैं एक दो मंज़िला इमारत की खिड़क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 5:31 pm
2
View
My ImageAuthor zeashan zaidi
आज का दिन न केवल मेरे ब्लॉग बल्कि हिन्दी साइन्स फिक्शन के लिये भी एक स्वर्णिम क्षणहै. क्योंकि आज हिन्दी साइन्स फिक्शन कहानियोंपर आधारित मेरे इस ब्लॉग ने पाठन संख्या में एक लाखका ज... Read more
Tag :One Lakh
1
View
My ImageAuthor शिल्पा भारतीय
तेरी इक  नज़र का दिल पर कुछ यूँ असर हुआ है इक नज़र में ही दिल ये तुझको नज़र हुआ है है डूबा तेरी उल्फ़त भरी निगाहों में ये इस कदर कि कमबख्त अब खुद से ही बेखबर हुआ है तेरी इक नजर.. अपनी ही उधेड़... Read more
Tag :तेरी इक नजर
2
View
My ImageAuthor devduttaprasoon
(सरे चित्र 'गूगल-खोज'से साभार)जगे ‘कंस-रावण’ यहाँ, सोये ‘राम व श्याम’ !‘वित्तवाद’ की ‘प्रगति’ का,कैसा मिला ‘इनाम’ !!‘बड़े-बड़े अपराध’अब, बने हुये ‘व्यवसाय’ !‘न्याय’ छुपाकर ‘मुहँ’ चला, प... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor devduttaprasoon
 (सरे चित्र 'गूगल-खोज'से साभार)मेरे मन में प्रश्न जले हैं,इन प्रश्नों का उत्तर तो दो !कौन मसीहा बन कर आये ? अनाचार की आग बुझाये ??ऊबड़ खाबड़ इस अशान्ति में, कौन शान्ति का पन्थ सुझाये ??अपने म... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 2:25 pm
1
View
My ImageAuthor dinesh chandra gupta ravikar
कोड़े खाते तुर्क वो, जो इराक में रॉक । गरबा पूजा के लिए, फिर रगड़ो क्यों नाक । फिर रगड़ो क्यों नाक, समझ लो मित्र कायदा । मंसूबे नापाक, उठाते रहे फायदा । रविकर लव-जेहाद, राह म... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor milap singh
जोश हो प्रगति के लिएहथियारों के मुंह खामोश रहेमानवता की भलाई के लिएबस कारीगरों क... Read more
Tag :milap singh shayari
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 1:36 pm
1
View
My ImageAuthor subodh
ज़िन्दगीमें आपको आगे बढ़ने से कौन रोक रहा है ? आपके पैरों में ज़ंज़ीर डालने वाला कौन है ? मुकाबले में खड़े हुए बिना ही आपकी हार की घोषणा करने वाला कौन है ? वो कौन है जो इस बहुतायतवाले संसार मे... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 12:59 pm
1
View
My ImageAuthor Akshitaa (Pakhi)
काश वो बचपन फिर लौट आए। वो प्यारे-प्यारे गीत जिनसे बचपन की पहचान जुडी हुई है। जिन्हे हम दिल से गाते-गुनगुनाते थे और खेल खेलते थे। तो वो यादें फिर से ताज़ा कर लीजिये और एक बार फिर से गुन... Read more
Tag :बाल गीत/कविता
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 12:54 pm
3
View
My ImageAuthor sunil kumar
इसे किस्मत का करिश्मा मानूँ या कहूँ कि उसकी तदवीर थी ऐसी | आज नोटों को गिन रहा है वह ,कल तक जो सिक्कों का हिसाब रखता था ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 12:01 pm
View
My ImageAuthor वन्दना गुप्ता
जाने कितने युग गुजर गये व्यक्त करते करते मगर क्या कभी हुआ व्यक्त ?पूरी तरह क्या कर पाया कोई परिभाषित ? नहीं , प्रेम- विशुद्ध प्रेम परिभाषाओं का मोहताज नहीं होता तो कैसे उसे उल्लखित किय... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 11:59 am
1
View
My ImageAuthor सतनाम सिंह साहनी (पथिक अनजाना)
विचार सागर मंथन -----पथिक अनजानाबहुत खेद होता—पथिकअनजाना-- 681http://pathic64.blogspot.comबहुत खेद होता पाते अपने इर्द गिर्द पाझूठे आडम्बरी प्यारों का चतुर सायाप्यार जिन्हें दिया राह दिखाई बैठायाकभी ... Read more
Tag :
6
View
My ImageAuthor satish saxena
सिर्फ इक बात याद रखता हूँ !मौत हर वक्त याद रखता हूँ !मुझ पे यारों के कर्ज बाकी हैं !एक एक लम्हा याद रखता हूँ !कौन जख्मों को, सोंच कर रोये ! सिर्फ खुशियों को याद रखता हूँ !मौलवी और पंडितों ... Read more
Tag :kavita
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 11:34 am
1
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
दिल्ली उन्हीं के वास्ते, दिल जिनके पास हैखाली है अगर जेब तो, दिल्ली उदास हैचारों तरफ मची हुई है भाग-दौड़ सीरिश्तो में अब मिठास के बदले खटास हैचलता है टेढ़ी चाल सियासत का पजामामैला... Read more
Tag :नंगा आदमी भूखा विकास
Blogs
Follow me
September 21, 2014, 11:22 am
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3175) कुल पोस्ट (118044)