feedji.com
हमारीवाणी ने बनाई नए युग की #BloggerCommunity जहाँ आप ना केवल आसानी से ब्लॉग लिख सकते हैं, अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, विषय आधारित चर्चा कर सकते हैं, बल्कि नए युग से कदमताल करते हुए सोशल मिडिया से जुडी अनेक सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

2
View
My ImageAuthor प्रमोद जोशी
एफ़एम, मोबाइल और वायरलेस तथा अन्य तरंगों का इंसानों और पशु पक्षियों पर क्या प्रभाव पड़ता है? आपने जो बातें पूछी हैं उनके अलावा कॉर्डलेस हैडफोन, वाइ-फाई, माइक्रोवेव अवन और ऑप्टिक फाइ... Read more
Tag :नॉलेज
1
View
My ImageAuthor प्रमोद जोशी
तकरीबन तीन साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु ने राजनीति के संदर्भ में भारतीय व्यवस्था को लकवा मार जाने के रूपक का इस्तेमाल किया था। उसके दो-तीन साल पहले से ... Read more
Tag :हरिभूमि
Blogs
Follow me
April 26, 2015, 8:38 am
3
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
वसुन्धरा कैसे सजे, भर सोलह सिंगार।धरती और पहाड़ पर, है कुदरत की मार।।--आदिकाल से चल रहा, कुदरत का यह खेल।मानव सब कुछ जानकर, बोता विष की बेल।।--सब अपने को कर रहे, सच्चा सेवक सिद्ध।... Read more
Tag :धरती और पहाड़ पर है कुदरत की मार
Blogs
Follow me
April 26, 2015, 7:05 am
0
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों। रविवार की चर्चा में आपका स्वागत है। देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') -- एक सपना  मेरे अनुभव पर Pallavi saxena  -- गीत "अमलतास के पीले गजरे"  अमलतास के पी... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 26, 2015, 4:00 am
View
My ImageAuthor S.M.MAasum
आज ११:३० बजे से ११:५० तक के बीच दो बार आये भूकंप ने सभी को दहला के रख दिया । पहली बार आये भूकंप का झटका करीब 1 मिनट तक महसूस किया गया। झटका महसूस करते ही डीएम एसपी समेत समस्त कर्मचारी अप... Read more
Tag :
0
View
My ImageAuthor shikha kaushik
ग़म का समंदर पी जाने को दिल मेरा तैयार है !मर -मर कर यूँ जी जाने को दिल मेरा तैयार !........................................................................दर्द नहीं अब दिल में होता किस्मत की मक्कारी पर ,ठोकर खाकर उठ जाने को दिल मेरा... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor rozkiroti
   बहुत साल पहले की बात है, युवकों के एक शिविर में मैं कुछ हठीले और अवाज्ञाकारी लड़कों के दल का संचालक एवं सलाहकार था। उनके आचरण तथा रवैये को देखते हुए उनके साथ सामन्य व्यवहार करना ए... Read more
Tag :धीरज
1
View
My ImageAuthor वन्दना गुप्ता
करते रहे दोहन करते रहे शोषण आखिर सीमा थी उसकी भी और जब सीमाएं लांघी जाती हैं तबाहियों के मंज़र ही नज़र आते हैं कोशिशों के तमाम आग्रह जब निरस्त हुए खूँटा तोडना ही तब  अंतिम... Read more
Tag :
0
View
My ImageAuthor shikha kaushik
  गौतम उदारतावादी स्वर में बोला -''लिव-इन कोई गलत व्यवस्था नहीं...आखिर कब तक वही पुराने..घिसे-पिटे सिस्टम पर समाज चलता रहेगा ..विवाह ....इससे भी क्या होता है ? गले में पट्टा डाल दिया बीवी क... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 8:34 pm
4
View
My ImageAuthor KUTBA
भूकम्प और प्रेम की तीव्रता मुझे नहीं मालूम कि आज आपको कैसा लगा पर प्रकृति ( नारी ) की लगातार उपेक्षा ने जिस तरह अपने अस्तित्व का बोध कराया वो करीब ८७६ जान लेकर शांत हुई | पर इन सबके बीच म... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor अर्चना तिवारी
“सारी दुनिया दीवानी थी उसके चेहरे की, 50 की उम्र में भी कितना हैण्डसम दिखता था।"“उन दीवानों में मेरे माँ-बाप भी शामिल थे।"“अच्छा, तब तो तुमने बड़े करीब से देखा होगा ?”“हाँ, मैंने बड़े करीब ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 8:28 pm
1
View
My ImageAuthor समय
हे मानवश्रेष्ठों,यहां पर द्वंद्ववादपर कुछ सामग्री एक श्रृंखला के रूप में प्रस्तुत की जा रही है। पिछली बार हमने संज्ञान के द्वंद्वात्मक सिद्धांत के अंतर्गत तर्कमूलक संज्ञान या अम... Read more
Tag :द्वंद्वात्मक भौतिकवाद
0
View
My ImageAuthor pallavi
प्राय: लोग कहते हैं कि पत्थरों को दर्द नहीं होता, उनमें कोई भावना ही नहीं होती। किन्तु न जाने क्‍यों मुझे उन्हें देखकर भी ऐसा महसूस होता है कि पत्थर सिर्फ नाम से बदनाम है। दुख-दर्द जैस... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor माधवी रंजना
देवगिरी यानी दौलतबाद का किला औरंगाबाद शहर से 11किलोमीटर उत्तर-पश्चिम दुर्जेय पहाड़ी पर स्थित है। यह किला की किसी तिलिस्म सा लगता है जिसे भेदना दुश्मन के लिए मुश्किल था। दौलताबाद न... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 1:00 pm
1
View
My ImageAuthor Neha
'कृष्णकुंजी'अश्विन सांघी की लिखी एक बेहतरीन किताब है.ये कहानी है एक ऐसे सीरियल कीलर की जो खुद को कलियुग का कल्कि अवतार मानता है और पाप को मिटाने की कोशिश में एक-एक करके वैज्ञानिकों की ... Read more
Tag :कृष्णकुंजी
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 12:43 pm
0
View
My ImageAuthor satish saxena
मन्नू महंत पिछले सप्ताह दिन में एक काल आयीं जिसमें अगर समय हो तो बात करने का अनुरोध था , दूसरी तरफ हरियाणा से मन्नू महंत नामक किन्नर मुझसे अपने समाज के बारे में बात करना चाह... Read more
Tag :eunuch
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 11:19 am
1
View
My ImageAuthor मनोज बिजनौरी
जैविक खेती से जुड़े पिछले तीन अंको में जैविक खेती के परिचय , फसलो की सुरक्षा हेतु जैविक विधिया एवं जैविक खेती में गौमूत्र के उपयोग के बारे में जाना।  जैविक खेती के इसी क्रम को आगे बढ़ा... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 9:28 am
0
View
My ImageAuthor श्यामल सुमन
है पानी में दूध या, मिला दूध में नीर।बसा कौन है प्राण में, किसका व्यक्त शरीर?आग जहाँ पर है धुआँ, अक्सर कहते लोग।धुआँ बिना भी आग तब, दिल से दिल का रोग।।लोग चाहते किस तरह, खुशियाँ मिले अपार... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 7:43 am
0
View
My ImageAuthor Dr.Divya Srivastava
दो गज़ की चादर से बैर नहीं , तो छटांक भर की टोपी से गुरेज़ कैसा? अजी, सज़दा ही करना था तो पूरे हुस्नो-ज़माल से करते उन्हें भी रंज ना रहता और अल्लाह का करम भी हो जाता !... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
April 25, 2015, 7:27 am
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3326) कुल पोस्ट (130488)