feedji.com
हमारीवाणी ने बनाया नए युग का ब्लॉग एग्रीगेटर, जहाँ आप ना केवल आसानी से अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, बल्कि आज के युग की आवश्यकतानुसार सोशल मिडिया से जुडी अनेकों सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

आज ही सदस्य बने: http://www.feedji.com

0
View
My ImageAuthor satish saxena
कहीं क्षितिज में देख रही है जाने क्या क्या सोंच रही है किसको हंसी बेंच दी इसने किस चिंतन में पड़ी हुई हैनारी व्यथा किसे समझाएं, गीत और कविताई में !कौन समझ पाया है उसको, तुलसी की चौपाई मे... Read more
Tag :आंसू
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 7:49 pm
0
View
My ImageAuthor Arun Sathi
कुछश्रमजीवी मीडिया मजदूरधन-तरस कहलाते हैइसलिएधनतेरस पेखाली हाथ  घर जाते हैबीबी की डांट खाते हैऔरबेचारे दांत ही दिखाते हैकल से फिरछाती तानकाम पे लग जाते है..(श्रमजीवी को समर्पित ।... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 7:18 pm
0
View
My ImageAuthor डॉ आलोक त्रिपाठी
अंधेरे को तेजी से बढ़ने दोबढ़ते रहने दो और फिरसघनतम होने दो। …क्यूंकि उससे ही प्रस्फुटित होगा प्रकाशजो सनातन होगा, शाश्वत होगा, चिरंतम् होगाऔर सिर्फ वो ही होगा सिर्फ 'वो'आलोक ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 6:13 pm
0
View
My ImageAuthor KUTBA
मर जाने पर तो ,जान भी लेते है ,लोग की सामने वाले ,घर में रहता था कौन ,जिन्दा रहने पर,सामने रहता है ,कौन सुनकर साध ,लेते है मौन ,क्यों बना रहे है हम ,मौत से रिश्तों को , जानने का सिलसिला ,जिन्दा... Read more
Tag :
1
View
My ImageAuthor रश्मि
जो लोग मि‍ट्टी के दि‍ए में वर्ष भर भगवान के आगे दीप  जलाते हैं...उनके घर से लक्ष्‍मी कभी दूर नहीं जाती। पर अफसोस कि‍ आजकल हम भारतीय अपने संस्‍कार से दूर होते जा रहे हैं। एक तो हम पूजा ह... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 4:31 pm
2
View
My ImageAuthor Anshu Mali Rastogi
चित्र साभारः गूगलइधर, जब से 'अच्छे दिन' (!) आए हैं भगवान अधिक सक्रिय हो गए हैं। यों तो भगवान धरती और इंसान की हर अंदरूनी-बाहरी हकीकत को जानते हैं फिर भी स्वर्ग से आंखों-देखा हाल लेते रहते ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 4:26 pm
2
View
My ImageAuthor 
( L.S. Bisht ) - साल-दर-साल बढती आधुनिकता के बाबजूद तीज-त्योहारों से जुडी अनेक परंपराओं का स्वरूप बहुत बदला नही है । यह माना जाता है कि दीवाली की रात लक्ष्मी घरों में आती है इसलिए आज भी लक्ष्मी ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 4:24 pm
2
View
My ImageAuthor devduttaprasoon
                             रोग हरें, सब दुःख हरें, हे प्रभु देर-अबेर !            कृपा करें सब पर अरे, धन्वन्तरी- कुबेर !!            निर्धनता लक्ष्मी हरें, सुखी क... Read more
Tag :
2
View
My ImageAuthor devduttaprasoon
               (सरे चित्र 'गूगल-खोज'से साभार)                                       (1) एक गज़लिका (धन-तेरस) (नई रचना) अब की धन-तेरस में धन का अनुचित लोभ न जागे !ब... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 2:45 pm
2
View
My ImageAuthor dinesh chandra gupta ravikar
कौन कृषक का मित्र कहाये ।कौन भूमि भुरभुरी बनाये ।अगर बदन दो में बँट जाए । दोनों ही नव जीवन पाये ॥ नया केंचुवा मद में माता । जोड़ रहा साँपों से नाता । धीरे धीरे तन मन बाढ़ा । झ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 1:59 pm
3
View
My ImageAuthor मनोज बिजनौरी
दोस्तों कल शाम  हम अपने एक मित्र के साथ बैठे बतिया रहे थे ,  शहर में एक जादूगर आया हुआ है इन दिनों , शहर  के एक सिनेमा हाल में रोज 4  शो चलते हैं उनके जादू के , अचानक से मित्र बो... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 1:43 pm
2
View
My ImageAuthor दिगम्बर नासवा
हसीनों की निगाहों से गुज़रनाहै मुश्किल डूब के फिर से उभरनावो जिसने आँख भर देखा नहीं होउसी के इश्क में बनना संवरनातुम्हें जो टूटने का शौंक है तोकिसी के ख्वाब में फिर से उतरनाकिसी कागज़... Read more
Tag :प्रेम
2
View
My ImageAuthor milap singh
मिट्टी के दीये मेंसरसों का तेलअक्षित से लक्ष्मी के पैर उकेरमंगलमय हो सबको दिवाल... Read more
Tag :Deepawali shayari image
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 1:20 pm
3
View
My ImageAuthor Himkar Shyam
चाक घुमा कर हाथ से, गढ़े रूप आकार। समय चक्र ऐसा घुमा, हुआ बहुत लाचार।। चीनी झालर से हुआ, चौपट कारोबार। मिट्टी के दीये लिए, बैठा रहा कुम्हार।। माटी को मत भूल तू, माटी के इंसान। माटी का दी... Read more
Tag :कविता
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 11:24 am
View
My ImageAuthor Kavita Rawat
कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज तक मनाया जाने वाला पांच दिवसीय सुख, समृद्धि का खुशियों भरा दीपपर्व ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ अर्थात् 'अंधेरे से प्रक... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 10:48 am
4
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
धनतेरस के पर्व पर, सजे हुए बाज़ार।घर में लाओ आज कुछ, नये-नये उपहार।।झालर-दीपों से सजे, आज सभी के गेह।मन के नभ से आज तो, बरसे मधुरिम नेह।।रहे हमेशा देश में, उत्सव का माहौल।मिष्ठानों का स... Read more
Tag :धनतेरस
Blogs
Follow me
October 21, 2014, 8:04 am
1
View
My ImageAuthor सुनील दीपक
Brazilia, Brazil: Giant statues of the apostles welcome the guests outside the cathedral. Today I am leaving for a journey through different countries (Germany, Brazil, Ireland and Italy) so over the next 3 weeks, my posts will not be regular.ब्राज़िलिया, ब्राज़ीलः केथेड्रल के बाहर ईसाई संतों की भीमकाय मूर्तियाँ लोगों का स्वागत... Read more
Tag :Culture
3
View
My ImageAuthor दिनेशराय द्विवेदी
समस्या- सतवन्त जी ने आर्यपुरा सब्जीमंडी, दिल्ली से समस्या भेजी है कि- मैं जम्मू की रहने वाली हूँ, मेरी शादी 1993 मे दिल्ली निवासी से हुई थी। शादी जम्मू में हुई थी, उनके रिश्तेदार भी वहीं र... Read more
Tag :Hindu
3
View
My ImageAuthor Pratibha Saksenas
(धन-तेरस  के शुभ-दिवस हेतु  मेरी मित्र  'शार्दुला नोगजा 'ने यह सुन्दर 'धनवंतरि-वंदना 'प्रेषित की है ,ये कल्याणकारी भावनाएँ मेरे सभी मित्र एवं परिजन  आत्मस्थ कर सकें , इसलिए यहाँ  ... Read more
Tag :
[Prev Page] [Next Page]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3212) कुल पोस्ट (120035)