POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN
POPULAR POST - MONTH
चिरकाल से लड़कों को घर का चिराग माना जाता है, लेकिन मैं समझती हूँ कि यदि उन्हें घर का चिराग माना जाता है तो मेरे समझ से वे केवल एक घर के ही हो सकते हैं, जबकि लड़कियाँ एक अपने माँ-बाप का तो दूसरा ससुराल वाला घर रोशन करती हैं। इस हिसाब से उन्हें एक नहीं दो घरों की चिराग कहे तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। लड़के-लड़की का भेद आज भी अनपढ़ ही नहीं, बल्कि सभ्‍य कहे जाने वाले समाज में भी सहज रूप से देखने को मिल जाता है, जो कि बहुत कष्टप्रद, दुःखद और सोचनीय स्थिति की परिचायक है। एक ही माँ के पेट से दोनों जन्में हाड़-मांस के बने होने के बावजूद एक को श्रेष्ठ और दूसरे का कम आंकने वालों... Read more
clicks 182 View  Vote Like 0  12:05pm 20 Feb 2021
 ... Read more
clicks 165 View  Vote Like 0  10:15pm 10 Feb 2021
           मैं हमेशा इससे आश्चर्यचकित होती हूँ कि कैसे हमारे सबसे अधिक दुःख की घड़ी में भी शान्ति – अद्भुत,शक्तिशाली,समझ से बाहर शान्ति (फिलिप्पियों 4:7) – किसी-न-किसी रीति से हमारे हृदयों को भर सकती है। मैंने हाल ही में इस अपने दिवंगत पिता की स्मृति में रखी गई ... Read more
clicks 161 View  Vote Like 0  8:30pm 8 Feb 2021
 ... Read more
clicks 156 View  Vote Like 0  3:38pm 9 Feb 2021
 मोदी सरकार का वर्ष 2021 का बजट राजस्थान की घोर उपेक्षा के साथ देश के हर वर्ग , के साथ धोखे के सिवा कुछ नहीं है , सिर्फ बेचना , जनता की सब्सिडी खत्म करना ,, और टेक्स वसूली की लूटपाट वाला यह बजट जनता को स्वीकार नहीं है ,, देश के चालु वित्तीय वर्ष के बजट पर   उक्त प्रतिक्रिया व्... Read more
clicks 151 View  Vote Like 0  7:44am 3 Feb 2021
न न कोई न रो रहा। न कोई सरकार को कोस रहा। हर कोई खुश है। जिंदगी को अच्छे से एन्जॉय कर रहा है। जरा-बहुत ही तो तेल और सिलेंडर के दाम बड़े हैं। इतना तो आम जनता झेल सकती है। क्या पहले की सरकारों में दाम नहीं बढ़ते थे? बढ़ते थे, खुब बढ़ते थे। तब भी जनता झेल लेती थी, अब भी झेल रही है। लोकत... Read more
clicks 137 View  Vote Like 0  11:39am 19 Feb 2021
 रामपुर की जेल में कैद शबनम को अब जल्द ही फाँसी पर चढ़ाए जाने की खबरें आने के बाद से देश में फाँसी की सजा को लेकर बहस फिर से शुरू हो गई है। दुनिया में मानवाधिकारवादियों का एक बड़ा तबका मानता है कि मृत्युदंड समाप्त होना चाहिए। शबाना ने अब फाँसी की सजा टलवाने की आखिरी कोश... Read more
clicks 134 View  Vote Like 0  8:23pm 19 Feb 2021
सन 1962 के युद्ध के बाद से भारत में चीन को लेकर इतना गहरा अविश्वास है कि आम जनता की बात छोड़ दें, बड़े विशेषज्ञ भी कह रहे हैं कि देखिए आगे होता क्या है। संदेह की वजह यह भी है कि सीमाओं की बात तो छोड़िए, वास्तविक नियंत्रण रेखाएं भी अस्पष्ट हैं। लद्दाख का ज्यादातर सीमा-क्षेत्र ... Read more
clicks 134 View  Vote Like 0  7:37am 20 Feb 2021
                           देखने में यह एक साधारण सा दृश्य है।एक बैलगाड़ी, खुला मैदान जिसकी दाहिनी तरफ़ आधा बना कमरा है और ठीक उसके पास मंदिर जैसी कोई जगह। मगर मुझे दिख रहा.... बैलगाड़ी पर सामान लदवाते पापा और पीछे दोनों पाँव झुलाते बैलों के गले की टुनटुन के... Read more
clicks 119 View  Vote Like 0  3:52pm 22 Feb 2021
 ऐ मोहब्बत तेरी यहाँ क़द्र नहीं ,, यहां बेवफाई , झूंठ बेदर्दी है ,, यहां बहाने है , फरेबी है , ऐ मोहब्बत तेरी यहाँ क़द्र नहीं ,, अख्तरwww.akhtarkhanakela.blogspot.com... Read more
clicks 111 View  Vote Like 0  7:26am 22 Feb 2021
कोरोना अभी गया नहीं है किंतु हमने मान लिया है कि यह जा चुका है। चूंकि देश और राज्यों में अब सबकुछ खुल चुका है अतः बेपरवाही भी उसी प्रकार से बढ़ गई है। अब शायद ही कहीं दो गज की दूरी का पालन हो रहा हो। अब शायद ही- अपवादों को छोड़कर- कोई मास्क पहन रहा हो। बेफिक्र अंदाज में सब इधर-उधर घूम रहे हैं। सरकार और प्रशासन की तरफ़ से सख्ती भी अब उतनी नहीं रही। पहले जब सख्ती थी, तब ही हमने उसे कितना माना। बेफिक्र और लापरवाह बने रहना हमारी फितरत है। इसे कोई नहीं बदल सकता। शरीर को कितना ही कष्ट दे लेंगे मगर बने लापरवाह ही रहेंगे। पढ़ने व सुनने में आ रहा है कि कोरोना वायरस एक बार ... Read more
clicks 97 View  Vote Like 0  5:37am 20 Feb 2021
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले गुरुवार को चिकित्सा आपात स्थिति के दौरान दक्षिण एशिया और हिंद महासागर क्षेत्र के देशों के बीच डॉक्टरों, नर्सों और एयर एंबुलेंस की निर्बाध आवाजाही के लिए क्षेत्रीय सहयोग योजना के संदर्भ में कहा कि 21 वीं सदी को एशिया की सदी बनाने के ल... Read more
clicks 96 View  Vote Like 0  6:07pm 21 Feb 2021
 जब (भारी भारी) तौक़ और ज़ंजीरें उनकी गर्दनों में होंगी (और पहले) खौलते हुए पानी में घसीटे जाएँगे (71)फिर (जहन्नुम की) आग में झोंक दिए जाएँगे (72)फिर उनसे पूछा जाएगा कि ख़ुदा के सिवा जिनको (उसका) शरीक बनाते थे (73) (इस वक़्त) कहाँ हैं वह कहेंगे अब तो वह हमसे जाते रहे बल्कि (सच यूँ ह... Read more
clicks 96 View  Vote Like 0  7:28am 20 Feb 2021
           मेरे एक मित्र ने मुझे, अपने जीवन और अनुभवों के आधार पर,एक बहुत उपयोगी और बुद्धिमत्तापूर्ण सलाह दी। अपने व्यावसायिक जीवन के आरंभिक वर्षों में,जब मेरा मित्र,आलोचना तथा प्रशंसा,दोनों ही से व्यवहार करना सीखने में संघर्ष कर रहा था, तो उसे लगा कि परमे... Read more
clicks 90 View  Vote Like 0  8:30pm 19 Feb 2021
मंगलवार 16 फरवरी को दो खबरें एक साथ मिलीं। एक थी पुदुच्चेरी की उप-राज्यपाल किरण बेदी का हटाया जानाऔर दूसरी थी बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह की राजस्थान, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट-बेल्टके सांसदों, विधायकों और स्थानीय नेताओं से मुलाकात। प... Read more
clicks 78 View  Vote Like 0  10:00am 17 Feb 2021
प्रकाश... Read more
clicks 75 View  Vote Like 0  8:45pm 10 Feb 2021
 मित्रों।माता शारदे की आप सब पर कृपा बनी रहे।बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।देखिए कुछ ब्लॉगों के अद्यतन लिंक।--गीत  "बज उठी वीणा मधुर"  खिल उठा सारा चमन,दिन आ गये हैं प्यार के।रीझने के खीझने के,प्रीत और मनुहार के।। --कचनार की कच्ची कली भी,मस्त हो बल खा रही,हँ... Read more
clicks 75 View  Vote Like 0  12:01am 17 Feb 2021
 मेरी बात पढ़ने के पहले बीबीसी हिंदी की इस रिपोर्टको पढ़ें:पहले से सब जानते थे कि ये इस सदी का अनोखा बजट होगा। संकट से जूझ रही देश की अर्थव्यवस्था को इस बजट से ढेरों उम्मीदें थीं। सवाल थे कि आर्थिक गतिविधियों को एक बार फिर पटरी पर कैसे लाया जाएगा? संसाधनों और जीडीपी कम ... Read more
clicks 74 View  Vote Like 0  7:04pm 1 Feb 2021
म्यांमार की फौज ने लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार का तख्ता-पलट करके दुनियाभर का ध्यान अपनी तरफ खींचा है। सत्ता सेनाध्यक्ष मिन आंग लाइंग के हाथों में है और देश की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची तथा राष्ट्रपति विन म्यिंट समेत अनेक राजनेता नेता हिरासत में हैं। सत्ताध... Read more
clicks 72 View  Vote Like 0  5:36pm 8 Feb 2021
विश्राम... Read more
clicks 71 View  Vote Like 0  8:37pm 15 Feb 2021
किसान-आंदोलन को लेकर बातें देश की सीमा से बाहर जा रही हैं। इसके अंतरराष्ट्रीय आयाम को लेकर सचिन, तेन्दुलकर और लता मंगेशकर से लेकर बॉलीवुड के कलाकारों ने आवाज उठाई है। उधर दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को एक एफआईआर दर्ज की है, जिसका दायरा सोशल मीडिया से जुड़ा होने के कारण देश ... Read more
clicks 70 View  Vote Like 0  9:26am 7 Feb 2021
 एकै रहै देवरानी जिठानी। जिठानी के घर रही सम्पन्नता, औ बिचारी देवरानी रही गरीब। तो देवरानी बिचारी, जेठानी के घर करती रहै – घर का काम काज। औ उनके घर से जौन कुछो मिल जात रहै, उहिसे अपने बच्चन का पेट पालती रहै।अब एक दिन पडी, संकठै। अब उनके घरै मा तो कुछ रहै ना, तो कहेन अपने लड... Read more
clicks 70 View  Vote Like 0  4:31pm 31 Jan 2021
--वातावरण कितना विषैला हो गया है।मधुर केला भी कसैला हो गया है।।--लाज कैसे अब बचायेगी की अहिंसा,पल रही चारों तरफ है आज हिंसासत्य कहने में झमेला हो गया है।मधुर केला भी कसैला हो गया है।।--अब किताबों में सजे हैं ढाई आखर,सिर्फ कहने को बचे हैं नाम के घर,आदमी कितना अकेला हो गया है... Read more
clicks 69 View  Vote Like 0  2:00am 21 Feb 2021
सोशल मीडिया के खेल निराले हैं। यहां अक्सर कुछ न कुछ 'हास्यास्पद'चलता ही रहता है। यह भी दो धड़ों में विभक्त हो गया है। एक धड़े में 'ट्विटरजीवी हैं तो दूसरे धड़े में 'कूजीवी'। सत्ता के साथ तालमेल बैठाई सहमत आवाजें धीरे-धीरे 'कू'पर अपना अड्डा जमा रही हैं। मगर असहमत आवाजें अब भी ट... Read more
clicks 69 View  Vote Like 0  12:05pm 13 Feb 2021
 आज अचानक मेरे मन में राजेन्द्र माथुर के एक पुराने आलेख को फिर से छापने की इच्छा पैदाहुई है। यह इच्छा निर्मला सीतारमन के बजट पर मिली प्रतिक्रियाओं के बरक्स है। यह लेख शायद नई दुनियाके समय का यानी सत्तर के दशक का है। इसमें आज के संदर्भों को खोजने की जरूरत नहीं है। इसमे... Read more
clicks 68 View  Vote Like 0  10:00am 4 Feb 2021
अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने पद संभालने के बाद पहली बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर जो बात की, उसमें केंद्रीय विषय हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्‍वतंत्र और मुक्‍त आवागमन और चीनी दादागिरी था। दोनों नेताओं ने कहा कि क्वॉड के जरिए हिंद-प्रशांत क्षेत... Read more
clicks 68 View  Vote Like 0  9:41am 9 Feb 2021
क्षमा... Read more
clicks 67 View  Vote Like 0  8:50pm 1 Feb 2021
- जीवन से सारे संबंध धीरे-धीरे वि‍लग क्‍यों होते जाते हैं ? - अलग होने पर ही नए पत्‍ते आते हैं। शायद एक दि‍न मैं भी... - तुम पत्‍ता नहीं हो मेरे लि‍ए !- तो क्‍या हूं ?- थोड़ी जड़, थेड़ी मि‍ट्टी, थोड़ा धूप, थोड़ा पानी - कवि‍ता है .. - न, बस आग्रह...छोड़ के मत जाना। सहन नहीं होगा। .............. Read more
clicks 66 View  Vote Like 0  2:13pm 21 Feb 2021
25वीं अखिल भारतीय डाक कैरम प्रतियोगिता का 9 फरवरी, 2021 को लखनऊ के केडी सिंह बाबू  स्टेडियम में शुभारम्भ किया गया। इसका उद्घाटन उत्तर प्रदेश परिमण्डल के चीफ पोस्टमास्टर जनरल श्री कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने किया। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि श्री रुद्र प्रताप सिंह... Read more
clicks 66 View  Vote Like 0  8:50pm 10 Feb 2021
Signal vs. WhatsApp vs. Telegram: Major security differences between messaging apps मैसेजिंग ऐप्स सिग्नल बनाम व्हाट्सएप बनाम टेलीग्राम इनमें: प्रमुख सुरक्षा एवं प्राइवेसी अंतर क्या है? अगर आप एक नया मैसेंजर ऐप ट्राई करने की सोच रहे है? तो यहां कुछ सबसे बड़े खिलाड़ियों द्वारा उपलब्ध कराई गई सेवा के बीच महत्वपूर्ण प... Read more
clicks 65 View  Vote Like 0  5:23pm 4 Feb 2021
इतिहास गवाह है, बचपन से लेकर जवानी तक मैंने एक भी टीका नहीं लगवाया। डॉक्टर्स ने भतेरा समझाया, घर वालों ने खूब जिद की लेकिन मैं अड़ा रहा। क्यों लगवाऊं टीका? नहीं लगवाता। मेरी मर्जी। कान खोलकर सुन ले हर कोई मैं कोरोना का टीका भी नहीं लगवाऊंगा। ईश्वर जाने टीके में क्या हो! टीका लगते ही कहीं मैं बुद्धिजीवी बन गया तो! टीका लगते ही कहीं मैं ज्ञानी बन गया तो! टीका लगते ही कहीं मेरा हृदय परिवर्तन हो गया तो! टीका लगते ही कहीं मैं खुद में मिथुन चक्रवर्ती को महसूस करने लगा तो! नहीं, नहीं इतना बड़ा रिस्क मैं कतई नहीं ले सकता। बिना टीके के ही मेरी जिंदगी ठीक-ठाक चल रही ह... Read more
clicks 65 View  Vote Like 0  6:25pm 8 Feb 2021
बहुत ही असंतोषजनक बात है कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा पश्चिमी उत्तर प्रदेश से चयनित बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के चैयरमैन श्री रोहिताश्व अग्रवाल जी को बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के पूर्वी उत्तर प्रदेश के खेमे के प्रभाव में कार्य नहीं करने दिया जा रहा है. बार काउ... Read more
clicks 65 View  Vote Like 0  10:35am 31 Jan 2021
 सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक और भूमिका आदरणीय शास्त्री सर जी की रचना से )"ऋतुओं का राजा हमें, देता है सन्देश।दिल से सच्चे मिलन का, उपजाओ परिवेश।।--छोड़ो ढोंग-ढकोसले, तजो पश्चिमी रीत।अमर हमेशा जो रहे, वो होती है प्र... Read more
clicks 64 View  Vote Like 0  12:01am 9 Feb 2021
दृष्टि... Read more
clicks 62 View  Vote Like 0  8:34pm 12 Feb 2021
 ... Read more
clicks 60 View  Vote Like 0  1:24pm 11 Feb 2021
2021 के 10 नवीनतम (सबसेखतरनाक) वायरसऔरमैलवेयर  खतरेलगातारनए-नएवायरसऔर मैलवेयर  विकसितहोरहेहैं, तथाहरनयामैलवेयरपुरानेसेअधिकउन्नतऔरअधिकखतरनाकसाबितहोताजारहाहै।जिसकेकारणआपकेडेटाकोसंरक्षितरखनाबेहदमुश्किलहोजाताहै।जबतकआपठीकसेप्रोटेक्टेडनहींहोतेहैं (असल... Read more
clicks 60 View  Vote Like 0  9:31am 13 Feb 2021
 ... Read more
clicks 59 View  Vote Like 0  6:43pm 16 Feb 2021
सोमवार 22 फरवरी को पुदुच्चेरी में वी नारायणसामी के इस्तीफे के बाद दक्षिण भारत में कांग्रेस की एकमात्र सरकार का पतन हो गया। अब केवल पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकारें हैं। इनके अलावा महाराष्ट्र और झारखंड के सत्तारूढ़ गठबंधनों में वह शामिल है। एक साल ... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  8:07am 25 Feb 2021
तो, किसान आंदोलनकारी नहीं आंदोलनजीवी हैं! और उनके समर्थक परजीवी। देश में सचमुच रामराज्य आया हुआ है। कोई किसी को कुछ भी कह-बोल सकता है। ध्यान केवल इस बात का रखना है कि स्वर में असहमति या आलोचना का पुट न हो। नहीं तो भक्त मंडली तैयार खड़ी है समझाने को। उनके समझाने में भी प्रायः दादागिरी झलकती है। मगर झेलिए कि आप न्यू इंडिया में हैं। इस वक़्त किस्म-किस्म के जीवी मेरे मन-मस्तिष्क में उमड़ रहे हैं। बात बुद्धिजीवी से बहुत आगे निकल चुकी है। मैं बुद्धिजीवियों को ही अब तक जीवियों की पहचान समझता था लेकिन मुझे क्या पता था कि यहां आंदोलनजीवी भी हैं। मगर आंदोलनजीविय... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  8:42am 12 Feb 2021
प्रार्थना... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  8:39pm 13 Feb 2021
 बहुत बार ये बात मैं पहले भी कह चुका हूँ क़ी ठीक तलवे के बीचों बीच काला तिल देख कर माँ अक्सर कह दिया करती थी कि इस लड़के के पाँव में चक्कर लगे हैं।  कारण था मेरा लगातार घूमते रहना और सड़क , सफर जैसे उन दिनों किताब ,रेडियो ,चिट्ठी की तरह बिलकुल करीब के साथी थे मेरे।   कॉलेज ... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  6:39pm 14 Feb 2021
 27 जनवरी 2021 को विमोचन की गई यह किताब अमेज़न पर ₹125 मूल्य पर उपलब्ध है. इस किताब को सुर्खियों में लाने के लिए हामिद अंसारी ने नरेंद्र मोदी के साथ हुए उनके वार्तालाप और घटनाओं को सनसनीखेज बनाकर प्रस्तुत किया है. इसके अतिरिक्त इस किताब में कुछ भी खास नहीं है.इस किताब के बारे ... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  6:58pm 31 Jan 2021
एक राजनीतिक कार्यकर्ता को गिरफ्तार करके ले जाते सैनिकपड़ोसी देश म्यांमार एकबार फिर से अस्थिरता का शिकार हुआ है। सेना ने फिर से सत्ता पर कब्जा कर लिया है। पिछले पाँच साल में धीमी गति से जो लोकतांत्रिक प्रक्रियाएं शुरू हुईं थीं, उन्हें धक्का लगा है। दुनिया के लोकतांत्... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  10:42am 1 Feb 2021
30 जनवरी को Freelance Journalist यानि स्वतंत्र पत्रकार मनदीप पुनिया को पुलिस ने हिरासत में लिया ! मंदीप पुनिया इन दिनों लगातार सिंघु बाॅर्डर की हालिया स्थिति पर कवरेज कर रहे थे! शनिवार यानि 30 जनवरी को देर रात एक विडियो वायरल हुई जिसमें मंदीप पुनिया को पुलिस ज़बरदस्ती घसीटते हुए ले जाती हुई दिखी ! सिंघु बार्डर पर आंदोलनकारियों के मुताबिक पुलिस ने मंदीप पुनिया को बड़ी ही बेरहमी से पीटा! लेकिन यह वाक्या सिर्फ इतना ही नहीं था!... Read more
clicks 58 View  Vote Like 0  8:44pm 2 Feb 2021
जैसे बचपन में रेल गाड़ी के साथ साथ चाँद भागा करता था और रेल रुकी और चाँद भी थम जाता था। चाँद को भागता देखने के लिए रेल का भागना जरूरी है। जो इस बात को समझता है वो जानता है कि देश के विकास को देखना है तो खुद का विकसित होते रहना आवश्यक है। खुद का विकास रुका तो देश का विकास रुका ही नजर आयेगा। हम आप सब मिलकर ही तो देश होते हैँ। ... Read more
clicks 57 View  Vote Like 0  3:50am 15 Feb 2021
सादर अभिवादन आज की प्रस्तुति में आप सभी का हार्दिक स्वागत है (शीर्षक और भूमिका आदरणीय यशवन्त माथुर जी की रचना से )'धारयति इति धर्मः'- जिसे धारण किया जाए वही धर्म है अच्छे कर्म करना ही जीवन का मर्म है। धर्म के सही अर्थ को समझते हुए और उसे अपने जीवन में धारण ... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  12:02am 23 Feb 2021
पहचान... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  8:45pm 9 Feb 2021
खबर है कि चीन के एक स्टार्टअप ने क्वांटम कंप्यूटर के लिए ऑपरेटिंग सिस्टमविकसित कर लिया है। इस खबर के दो मायने हैं। एक तो यह अमेरिका के तकनीकी वर्चस्व को चुनौती है और दूसरे इस प्रकार दुनिया में अगली पीढ़ी की तकनीक के विस्तार का दरवाजा खुल रहा है। इसके पहले दिसंबर 2020 में ... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  9:40am 10 Feb 2021
--वासन्ती परिधान पहनकर, मौसम आया प्यारा है।कोमल-कोमल फूलों ने भी, अपना रूप निखारा है।।तितली सुन्दर पंख हिलाती, भँवरे गुंजन करते हैं,खेतों में लहराते बिरुए, जीवन में रस भरते हैं,उपवन की फुलवारी लगती कंचन का गलियारा है।कोमल-कोमल फूलों ने भी, अपना रूप निखारा है।।बीन-बीनकर ... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  2:00am 13 Feb 2021
हर साल बजट के ठीक पहले जारी होने वाला चालू वित्त वर्ष का आर्थिक सर्वेक्षण दो मायनों में महत्वपूर्ण होता है। इससे अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य का पता लगता है और दूसरे अगले साल की बजट प्राथमिकताओं पर रोशनी पड़ती है। इस साल की आर्थिक समीक्षा के अनुसार अगले वित्त वर्ष यानी 2... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  8:27am 31 Jan 2021
 ... Read more
clicks 56 View  Vote Like 0  4:59am 1 Feb 2021
--लक्ष्य तो मिला नहीं, राह नापता रहा।काव्य की खदान में, धूल चाटता रहा।।--पथ में जो मिला मुझे, मैं उसी का हो गया।स्वप्न के वितान में, मन नयन में खो गया।शूल की धसान में, फूल छाँटता रहा।काव्य की खदान में, धूल चाटता रहा।।--चेतना के गाँव में, चेतना तो सो गयी।अन्धकार छा गया, सुबह से ... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  8:00am 4 Feb 2021
 ... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  12:19pm 6 Feb 2021
 ... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  11:27am 8 Feb 2021
 ... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  8:32am 9 Feb 2021
आज के बिजनेस स्टैंडर्ड में ‘निजी क्षेत्र का बचाव’शीर्षक से प्रकाशित संपादकीय में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकार के निजीकरण के एजेंडे का बचाव करते हुए जिस प्रकार निजी क्षेत्र का मजबूती से पक्ष लिया उससे एक बात एकदम साफ हो गई कि आर्थिक सुधारों को चोर... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  9:50am 12 Feb 2021
 मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है।--"दो फरवरी" (छोटेपुत्र की वैवाहिक वर्षगाँठ) बदल जाएगा मौसमआयेगा मधुमासअब होगाचमत्कारफिर से फैलेगाधवल प्रकाशडॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक', उच्चारण --आँख सूनी जोवे बाट  राजस्थानी लोक भाषा में एक नवगीत।--गोधुली की ... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  12:01am 3 Feb 2021
अमां, छोड़िए भी- क्या कीजिएगा इतनी प्राइवेसी का! व्हाट्सएप या फेसबुक पर रहकर प्राइवेसी पर चिंता जतलाना हमें शोभा नहीं देता। वहां हमने प्राइवेसी लायक कुछ रख छोड़ा ही नहीं फिर काहे की हाय-हाय, काएं-काएं। व्हाट्सएप अखबारों में बड़े-बड़े विज्ञापन देकर कह तो रहा है कि सबकी प्राइवेसी सुरक्षित है, तो मान लीजिए- है। हैरान हूं, प्राइवेसी की बात वे लोग कर रहे हैं, जिनका सवेरा ही आज क्या खाया, आज क्या पिया, आज क्या पहना, आज कहां की सैर की, आज किस करवट बिस्तर पर सोए- टाइप स्टेटस अपडेट करने से होता है। जिन्हें जरा-सी छींक भी आ जाए तो तुरंत फेसबुक पर पोस्ट कर देते हैं। फिर कम... Read more
clicks 54 View  Vote Like 0  12:49pm 21 Feb 2021
           हम विदेश में भ्रमण कर रहे थे,और हमारी यह यात्रा अभी तक अच्छी नहीं रही थी। कई बार लोग हम पर चिल्लाए,हमें धोखे दिए गए,और हम से वस्तुओं की अनुचित कीमत ली गई। अब हम एक मार्ग में थे,कि एक हट्टा-कट्टा अजनबी व्यक्ति हमारे ओर बढ़ा;हमें डर लगा कि अब फिर से हम से ... Read more
clicks 54 View  Vote Like 0  8:30pm 7 Feb 2021
एकआकर्षकसंपूर्णवेबपेजबनानेकेलिएआवश्यक 10 महत्वपूर्णएचटीएमएलटैगआपकेपहलेसबसेमहत्वपूर्ण 10 HTML टैगयहांहमआपकोएचटीएमएलHTML के 10 आवश्यकऔरसबसेमहत्वपूर्णटैगसमझारहेहैं, जिन्हेंआपकोअपनावेबपेजबनातेसमयजाननाजरूरीहोगा।यदिआपजानजाएंगेकिये 10 टैगकैसेकामकरतेहैंतोआपकोअ... Read more
clicks 54 View  Vote Like 0  2:58pm 10 Feb 2021
 ... Read more
clicks 54 View  Vote Like 0  9:47am 20 Feb 2021
"आज मौसम जो उभरा"आज मौसम जो उभरा।  सदियों से इंतजार था।।जो शायद अब नहीं बुरा।  मौसम तो ढ़लते उभरते रहते है।।कल हो या परसों या हो पूरा साल।  अगर वो मौसम चला गया।।तो दुबारा आने लगेगा पूरा साल।  या फिर क्या तुम्हें  पता है।।या फिर मुझे क्या पता है। इसका न आने का मन हो प... Read more
clicks 53 View  Vote Like 0  10:05am 11 Feb 2021
रूसी समाचार एजेंसी ‘तास’ने जानकारी दी है कि पिछले साल जून में गलवान घाटी में हुए संघर्ष में 45 चीनी सैनिक मारे गए थे। ‘तास’के अनुसार उस झड़प में ‘कम से कम 20 भारतीय और 45 चीनी सैनिक मारे गए थे।’ भारत ने अपने 20 सैनिकों की सूचना को कभी छिपाया नहीं था, पर चीन ने आधिकारिक रूप से क... Read more
clicks 53 View  Vote Like 0  6:24pm 13 Feb 2021
(नेताजी)आज तेइस जनवरी है याद नेताजी की कर लें,हिन्द की आज़ाद सैना की हृदय में याद भर लें,खून तुम मुझको अगर दो तो मैं आज़ादी तुम्हें दूँ,इस अमर ललकार को सब हिन्दवासी उर में धर लें।(2122*4)*********तुलसीदास जी की जयंती पर मुक्तक पुष्पलय:- इंसाफ की डगर पेतुलसी की है जयंती सावन की शुक्ल सप... Read more
clicks 53 View  Vote Like 0  11:21am 15 Feb 2021
देश के पत्रकारों और उनके संस्थानों की राजनीतिक समझ को लेकर अतीत में जो धारणाएं थीं, वे समय के साथ बदल रही हैं। मैं यहाँ मीडिया शब्द का इस्तेमाल जानबूझकर नहीं कर रहा हूँ, क्योंकि मीडिया में इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया भी आ जाते हैं, जिन्हें मैं यहाँ शामिल करना नहीं चाहत... Read more
clicks 53 View  Vote Like 0  9:38am 2 Feb 2021
आम जन हैं तो आम जन की तरह ही सुबह सुबह उठते ही फेसबुक खोल कर बैठ जाते हैँ। वो जमाने अब गुजरे जब मियां फाकता उड़ाया करते थे या लोग कहा करते थे कि समय बिताने के लिए, करना है कुछ काम, शुरू करो अंताक्षरी, ले कर हरि का नाम!! फेसबुक पर रोज का पहला काम कि अपनी आखिरी पोस्ट पर कितने लाइक आए और दूसरा वो जो फेसबुक मुस्तैदी से बताता है कि आज किस किस का जन्म दिन है। १०० -२०० मित्र थे तो हर एक दो दिन में एकाध का जन्म दिन होता था बस १ जनवरी और १ जुलाई को कुछ ज्यादा लोगों का। ५० पार लोगों में अधिकतर उस जमाने को याद कर सकते हैं जब मोहल्ले के चाचा बच्चों को स्कूल ले जाकर भर्ती करा दे... Read more
clicks 52 View  Vote Like 0  6:20am 21 Feb 2021
सादर अभिवादन ! शुक्रवार की प्रस्तुति में आप सभी विज्ञजनों का पटल पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन !आज की चर्चा प्रस्तुति का शीर्षक चयन - आदरणीया डॉ. वर्षा सिंह जी की ग़ज़ल से ।--प्रस्तुत हैं आज के चयनित लिंक्स व रचनाकारों के सृजन की झलकियां-उसूल बाँटता रहा- डॉ.रूपचन्द्र शा... Read more
clicks 52 View  Vote Like 0  12:01am 5 Feb 2021
साल 2020 के 5 सबसेखतरनाकवायरसमालवेयरऔरउनसेबचनेकेउपाय "टॉपफाइवकंप्यूटरवायरस-2020"निश्चयहीयहबातआपकोविचित्रलगसकतीहैं।आपकोऐसालगसकताहैकियहकंप्यूटरवायरस, हैकरवअन्यकंप्यूटरखतरोजैसीकुख्यातचीजोंकामहिमामंडनकियाजारहाहै।आपसोचतेहोंगेकिक्यावास्तवमेंवायरसजैसी... Read more
clicks 52 View  Vote Like 0  5:57pm 8 Feb 2021
--सेमल के इस महावृक्ष का,पतझड़ में गदराया तन है।पत्ते सारे सिमट गये हैं,शाखाओं पर लदे सुमन हैं।।--टेसू के पेड़ों पर भी तो,लाल अँगारे दहक रहे हैं।अद्भुत् छटा वनों में फैली,कुसुम डाल पर चहक रहे हैं।।--देते हैं सन्देश हमें यह,अब बसन्त आने वाला है।धूप गुनगुनी बोल रही ... Read more
clicks 52 View  Vote Like 0  2:00am 1 Feb 2021
विद्यार्थियों के साथ,नैत्रदान-अंगदान पर कुछ बात विद्यार्थियों के साथ नैत्रदान-अंगदान विषय पर कार्यशाला ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~संभाग में शाइन इंडिया फाउंडेशन द्धारा पुनः वृहद स्तर पर नैत्रदान-अंगदान-देहदान की जागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन होना प्रारंभ हो गया है । जेस... Read more
clicks 51 View  Vote Like 0  8:18am 21 Feb 2021
कुछ भी लिखने कहने का दौर नहीं हैं।अर्थहीन शब्द मात्र,भावों के छोर नहीं हैं।उम्मीद के धागों से भविष्य की चादर बुन लेते हैंविविध रंगों से भ्रमित कोई चटक चित्र चुन लेते हैंसमय की दीर्घा में बैठे गुज़रती नदी की धार गिनतेबेआवाज़ तड़पती मीनों को नियति की मार लिखतेभेड़ों में ह... Read more
clicks 51 View  Vote Like 0  10:01pm 22 Feb 2021
निवर्तमान मुख्यमंत्री वी नारायणसामी और राज्यपाल तमिलसाई सौंदरराजनपुदुच्चेरी में कांग्रेस सरकार की पराजय के बाद कहा जा रहा है, हालांकि पार्टी को भरोसा है कि आगामी चुनाव में उसे हमदर्दी का लाभ मिलेगा, पर मुख्यमंत्री वी नारायणसामी तथा हाईकमान ने पार्टी के भीतर असंतो... Read more
clicks 51 View  Vote Like 0  9:04am 23 Feb 2021
 मेरे खिलाफ पूरे देश मे कही भी आज तक कोई पुलिस में शिकायत दर्ज नही है। मुझे हमारे विधायक मदन दिलावर जी ने गुंडा कहा और कहा कि मेरे खिलाफ खबरे चलाता है । दिलावर जी ने मेरे खिलाफ धारा 3 में मुकदमा भी दर्ज कराया। मेरे समर्थन में पत्रकार साथी आ रहे है जिसके लिए में पत्रकार स... Read more
clicks 51 View  Vote Like 0  7:22am 12 Feb 2021
किसी भी यूट्यूब वीडियो को अपनी इच्छा अनुसार कम या ज्यादा स्पीड में कैसे चलाएं? कम से कम कितनी स्पीड में चला सकते हैं? अधिक से अधिक कितनी स्पीड में चला सकते हैं?हम आमतौर पर यूट्यूब वीडियो यूट्यूब द्वारा निर्धारित सामान्य स्पीड में देखते हैं । कई बार हम चाहते हैं ... Read more
clicks 51 View  Vote Like 0  3:59pm 14 Feb 2021
शब्द... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  8:47pm 20 Feb 2021
उत्तराखंड के पंच प्रयाग हैं। विष्णुप्रयाग, नंदप्रयाग, कर्णप्रयाग, रूद्रप्रयाग और देवप्रयाग। नदियों का संगम भारत में बहुत ही पवित्र माना जाता है। नदियां देवी का रूप मानी जाती हैं। प्रयाग में गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम के बाद गढ़वाल-हिमालय के क्षेत्र के संगमों को ... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  9:30am 21 Feb 2021
... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  12:06pm 5 Feb 2021
अरेराज से पटना जाने वाली बस में बैठा हूं। बस खजुरिया से आगे बढ़ती हुई केसरिया पहुंचती है। खजुरिया मोड पर लोगों ने बताया था कि यहां से केसरिया की दूरी महज 10 किलोमीटर है। खजुरिया नेशनल हाईवे नंबर 27 पर है। यहां से आप अरेराज और केसरिया दोनों जगह सुगमता से जा सकते हैं। खजुर... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  12:00am 13 Feb 2021
ऐसी अनगिनत कहावतें, लोकोक्तियाँ या मुहावरे हैं जिनके शब्द कुछ और होते हैं पर अर्थ कुछ और ! कहती कुछ और हैं, समझाती कुछ और ! नाम किसी का लेती हैं काम किसी और का करती है ! यानी कहीं पे निगाहें कहीं पे निशाना...............!#हिन्दी_ब्लागिंग वर्षों से चली आ रही बहुतेरी कहावतों या मुह... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  12:42pm 13 Feb 2021
 ... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  8:35am 14 Feb 2021
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने गत 4 फरवरी को अपने विदेशमंत्री और विदेश विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच जो पहला बयान दिया है, उसे काफी लोग उनका विदेश-नीति वक्तव्य मान रहे हैं। एक मायने में वह है भी, क्योंकि उसमें उन्होंने अपनी विदेश-नीति की कुछ वरीयताओं का हवाला दिया ... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  10:58am 15 Feb 2021
 और ये लोग वहाँ तकिये लगाए हुए (चैन से बैठे) होगें वहाँ (खु़द्दामे बेहिश्त से) कसरत से मेवे और शराब मँगवाएँगे (51)और उनके पहलू में नीची नज़रों वाली (शरमीली) कमसिन बीवियाँ होगी (52) (मोमिनों) ये वह चीज़ हैं जिनका हिसाब के दिन (क़यामत) के लिए तुमसे वायदा किया जाता है (53)बेशक ये हमा... Read more
clicks 50 View  Vote Like 0  7:20am 1 Feb 2021
१४  फरवरी दुनियाभर में प्रेमी–प्रेमिका, प्रेम और प्रेम करने वालों के लिए प्रणय दिवस के रूप में मनाया जाता है।वैलेन्टाइन-डे का इतिहास जिसे लोग प्यार का त्यौहार मानकर सेलिब्रेट करते हैं। भारत में लोग अपने पार्टनर को तोहफे, चॉकलेट आदि देकर प्यार का जश्न मनाते हैं. ले... Read more
clicks 49 View  Vote Like 0  12:01am 14 Feb 2021
 पत्रकारिता के अभिमन्यु , जनसम्पर्क के समन्वयक , समाजसेवा क्षेत्र में अव्वल ,, तीन भाषाओं के कमांडर , ,बहुमुखी  प्रतिभा के धनी , हर दिल अज़ीज़  ,, भाई जितेंद्र बग्गा ,,   अल्फ़ाज़ों के जादूगर है ,  ,,वोह नगर निगम   कोटा की  विकास योजनाए हों ,,  देश की लोकसभा अध्यक्ष के ज... Read more
clicks 49 View  Vote Like 0  7:18am 2 Feb 2021
--आयी लेकर फरवरी, हर्ष और अवसाद।कुदरत के दरबार में, सब करते फरियाद।।--लगता मध्यम वर्ग को, भूल गई सरकार।चुनी हुई सरकार का, बजट करो स्वीकार।।--होते कडुए फैसले, सबको नहीं मुफीद।करना मत इस बजट से, राहत की उम्मीद।।--खाद्य वस्तुओं के सतत, बढ़ते जाते दाम।महँगाई पर तेल की, लग... Read more
clicks 49 View  Vote Like 0  3:00pm 2 Feb 2021
 ... Read more
clicks 48 View  Vote Like 0  10:13am 25 Feb 2021
--आया है ऋतुराज अब, समय हुआ अनुकूल।बौराये हैं पेड़ भी, पाकर कोमल फूल।।--टेसू अंगारा हुआ, खेत उगलते गन्ध।सपने सिन्दूरी हुए, देख नये सम्बन्ध।।--पंछी कलरव कर रहे, देख बसन्ती रूप।शाखा पर बैठे हुए, सेंक रहे हैं धूप।।--सरसों फूली खेत में, गेहूँ करे किलोल।कानों में पड़ने लगे, कोयल... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  7:17am 10 Feb 2021
आपकागमआपकीरुस्वाइयाँलेजाऊँगा.देखते ही देखतेपरछाइयाँलेजाऊंगा . आपनेमुझकोकभीमानानहींअपनामगर,ज़िन्दगीसेआपकीकठिनाइयाँलेजाऊँगा. हाथसेछूकरकभीमहसूसतोकरलोहमें, आपकेसरकीकसमतन्हाइयाँलेजाऊँगा. आपकीमहफ़िलमेंआकरआपकेपहलूसेमें, शोखनज़रोंसेसभीअमराइयाँल... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  12:07am 12 Feb 2021
 शीर्षक पंक्ति: आदरणीया अँजना जी की रचना से। सादर अभिवादन। शनिवासरीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है।आज भूमिका में वरिष्ठ साहित्यकार आदरणीया अँजना जी की रचना का काव्यांश--जंगो से तबाह शहरों को देखो, बिखरी हुई इमारतों को देखो,  सूनी बद... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  12:01am 13 Feb 2021
प्रेमिका जब भूतपूर्व हो जाती है तब वह अधिक आकर्षित करती है। उसके प्रति चाह और चार्म बढ़ जाता है। नॉस्टेल्जिया बना रहे ऐसा मन करता है। जीवन में उमंग और तरंग वापस लौट आती है। तब बीवी का भी इतना डर नहीं रहता। बार-बार दिल करता है वेलेंटाइन डे भूतपूर्व प्रेमिका संग ही सेलिब्रेट किया जाए। बता दूं कि मैं- जमाने की परवाह किए बगैर- अपना हर वेलेंटाइन डे भूतपूर्व प्रेमिका संग ही मनाता हूं। यह बात मैं अपने निजी अनुभव के आधार पर कह रहा हूं कि भूतपूर्व प्रेमिका संग वेलेंटाइन मनाने में जो सुख है, वो बीवी संग मनाने में नहीं। हो सकता है कि पत्नीव्रत पतियों को मेरी बात अ... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  6:13am 14 Feb 2021
--मात-पिता के चरण छू, प्रभु का करना ध्यान।कभी न इनका कीजिए, जीवन में अपमान।१।--वासन्ती मौसम हुआ, काम रहा है जाग।बगिया में गाने लगे, कोयल-कागा राग।२।--लोगों ने अब प्यार को, समझ लिया आसान।अपने ढंग से कर रहे, प्रेमी अनुसंधान।३।--खेल हुआ अब प्यार का, आडम्बर से युक्त।सीमाओं को ... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  2:00am 14 Feb 2021
दिन 12 फरवरी 1948 के दिन शाम 3 बजे महात्मा गांधी की अस्थियां नाव से कोटा चंबल के बीच , रामपुरा महात्मा गांधी स्कूल , पुराना बस स्टैंड महात्मा गांधी आश्रम वर्तमान , विकास भवन में रखकर ,, नदी की धारा में प्रवाहित की गईं। इस दौरान कोटा के पूर्व महाराव भीम सिंह के अलावा हजारों लोग ... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  8:20am 14 Feb 2021
उसे बहने दोवह बहना चाहता है निर्विरोध निर्विकल्प हमारे माध्यम से प्रेम और आनंद बन पाहन बन यदि रोका उसका मार्ग तो वही बहेगा रोष और विषाद बनकर !वह हजार-हजार ढंग से प्रकट होता है यदि राम बनने की सम्भावना न दिखे तो रावण बन सकता है वह उस ऊर्जावान नदी की तरह है जिसे मार्ग न ... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  10:36am 15 Feb 2021
दोहा गीत--बात-बात पर हो रही, आपस में तकरार।भाई-भाई में नहीं, पहले जैसा प्यार।।(१)बेकारी में भा रहा, सबको आज विदेश।खुदगर्ज़ी में खो गये, ऋषियों के सन्देश।।कर्णधार में है नहीं, बाकी बचा जमीर।भारत माँ के जिगर में, घोंप रहा शमशीर।।आज देश में सब जगह, फैला भ्रष्टाचार।भाई-भाई मे... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  6:35am 20 Feb 2021
 ... Read more
clicks 47 View  Vote Like 0  2:59pm 2 Feb 2021
नल से जलअपने दो कमरों वाले घर से महज कुछ ही गज़ की दूरी पर स्थित अपने छोटे से खेत में काम कर रही हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले के बल्लही गांव की निवासी एकदम खुश है. अब से पहले करीब दो दशक तक फूलकली अपने परिवार की रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करने के लिए नजदीकी सप्लाई पॉइंट से ब... Read more
clicks 46 View  Vote Like 0  1:56pm 24 Feb 2021
अब ! आप तो स्तब्ध !! कहीं और से भी कुछ इंतजाम नहीं हो सकता ! फोन पर चिल्लाने का भी कोई फायदा नहीं ! हालांकि आपके पैसे वापस मिल जाएंगें ! आप कहीं कम्प्लेन भी दर्ज करवा देंगे ! पर उस समय सर पर आई मुसीबत का क्या ! अच्छे-खासे माहौल-मूड का सत्यानाश ! हार -थक कर वही ब्रेड-बटर, नमकीन और ... Read more
clicks 46 View  Vote Like 0  7:30am 31 Jan 2021
 ... Read more
clicks 46 View  Vote Like 0  6:21pm 1 Feb 2021
 में यूँ बिखरा बिखरा सा ,में यूँ सिसका सिसका सा , वजह तुम्हारी खुशी की हूँ,में तुम्हारी खुशी की खातिरअब आंसू ,सिसकियाँ, दर्द खुद पर रोज़ आज़माता हूँ ,www.akhtarkhanakela.blogspot.com... Read more
clicks 45 View  Vote Like 0  8:10am 9 Feb 2021
कल्पना... Read more
clicks 44 View  Vote Like 0  8:33pm 23 Feb 2021
Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193395)