POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN
POPULAR POST - MONTH
    पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाईकोर्ट बेंच स्थापना संघर्ष समिति की बैठक कल दिनाँक 4.1.2020 को बिजनौर में हुई, बैठक में सभी दलों के नेताओं ने एक सुर में हाईकोर्ट बेंच की मांग का समर्थन किया। जिला पंचायत अध्यक्ष भाजपा नेता साकेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि हाईकोर्ट बेंच वेस्ट यू... Read more
clicks 74 View  Vote Like 0  11:30pm 5 Jan 2020
... Read more
clicks 70 View  Vote Like 0  5:32am 5 Jan 2020
यूँ तो गुजरता जाता है हर लम्हा इक बरस,दिल न जाने क्यूँ दिसम्बर की राह तकता है..तिवारी जी आदतन अक्टूबर खतम होते होते एक उदासीन और बैरागी प्राणी से हो जाते हैं. किसी भी कार्य में कोई उत्साह नहीं. कहते हैं कि अब ये साल तो खत्म होने को है, अब क्या होना जाना है. अब अगले बरस देखेंग... Read more
clicks 68 View  Vote Like 0  6:36am 5 Jan 2020
ऐ आसमां एक अहसान तो कर ,इनके लिये तुझ तक बना दे तु डगर ।जो चाहते हैं महबूब संग आसमां में रहना,चाहते हैं महबूब के लिये चांद तारों का गहना ।ऐ आसमां एक अहसान तो कर ,इनके लिये खोल दे तु अपनी बाहों का घर ।जिन्हें नहीं पसंद बंदिशों में जकड़ना ,जो चाहते हैं आज़ाद पंछी सा उड़ना ।ऐ आ... Read more
clicks 68 View  Vote Like 0  11:34pm 5 Jan 2020
हमारी टैक्सी जारवा के वन क्षेत्र से धीरे धीरे गुजर रही है। आगे पीछे और भी वाहन हैं। मेरे मन में जारवा लोगों को लेकर कई तरह के ख्याल आते जा रहे हैं। अंदमान आने वाले सैलानियों के लिए जारवा लोग कौतूहल का विषय हो सकते हैं। पर किसी जमाने में अंदमान द्वीप के बड़े हिस्से पर जार... Read more
clicks 63 View  Vote Like 0  12:00am 5 Jan 2020
जीवन-कोष्टक----------------एक वृहद दृश्यमान समक्ष हो, मन के बंद कपाट सके पूर्ण खुल अनावश्यक बाधाओं से न ऊर्जा-क्षय, निपुणता अंततः जीवन-लक्ष्य। व्यवसायी-मन में अनेक गुत्थी स्थित, एक-२ कर कुरेदती रहती सब  मन तो सदैव चलायमान, पर आवश्यक तो न सब बाधा हों विजित। ... Read more
clicks 61 View  Vote Like 0  1:03am 5 Jan 2020
आखिर वही हुआ ,,,निजी चिकित्सालयों की मार्केटिंग ,उनकी आमदनी को बढ़ाने की जो कार्ययोजना थी वोह कामयाब हुई ,और अब सभी निजी चिकित्सालय ,बच्चों के मरीज़ों से भरे पढ़े है ,वहां विश्वास है ,भरोसा है ,लेकिन आखरी लम्हे में ,जब लाइलाज हो जाये तो फिर ,रेफर सरकारी अस्पताल में ,और वहां के ... Read more
clicks 60 View  Vote Like 0  10:08am 5 Jan 2020
... Read more
clicks 59 View  Vote Like 0  4:33pm 5 Jan 2020
पिछले साल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की भारी पराजय और उसके बाद महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में मिली आंशिक सफलता दो तरह के संदेश दे रही है। पराजय के बावजूद उसके पास वापसी का विकल्प भी मौजूद है। सन 2014 के बाद से कई बार कहा जा रहा है कि कांग्रेस फीनिक्स पक्षी की भांति फिर से... Read more
clicks 59 View  Vote Like 0  11:05am 6 Jan 2020
... Read more
clicks 55 View  Vote Like 0  5:48am 5 Jan 2020
चूंकि नए साल पर कोई न कोई 'संकल्प'लेने की 'परंपरा'है तो मैं 'सर्दी में न नहाने'का संकल्प लेता हूं। काफी चिंतन-मनन के बाद एक यही संकल्प मेरी समझ में आया। अभी मौका भी है और मौसम भी। सर्दियों में नहाने को मैं बीवी की डांट खाने से भी बड़ा काम समझता हूं। एक बार को बीवी की डांट हजम ह... Read more
clicks 46 View  Vote Like 0  5:01pm 8 Jan 2020
इस वर्ष का पहला चंद्र ग्रहण 10 जनवरी (शुक्रवार) को लगेगा। इसका प्रभाव रात 10 बजकर 37 मिनट से 11 जनवरी को देर रात 2 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। चंद्र ग्रहण के दौरान, चंद्रमा का लगभग 90 फीसदी भाग पृथ्वी द्वारा आंशिक रूप से ढक लिया जाएगा। जो इसके उपछाया का कारण होगा। यह ग्रहण लगभग 4 घंटे 8 मि... Read more
clicks 40 View  Vote Like 0  5:48pm 7 Jan 2020
... Read more
clicks 40 View  Vote Like 0  8:02pm 7 Jan 2020
किताबों और लेखकों दोनों की दुनिया बदल चुकी है। किताबें अब भी खूब छप रही हैं। लेखक अब भी खूब लिख रहे हैं। बदलाव बस यह आया है कि दोनों के बीच अब बाजार आ गया है। बाजार ने ही दोनों को एक-दूसरे से जोड़ रखा है। आज हर किताब और हर लेखक का अपना बाजार है। इसी के सहारे वे अपने पाठकों तक ... Read more
clicks 40 View  Vote Like 0  5:10pm 8 Jan 2020
      मैं जिस दफ्तर में काम करता हूँ, एक दिन उसके भवन की एक दीवार के साथ-साथ चलते हुए मैंने कॉन्क्रीट के स्लेबस के बीच की दरार में से होकर एक पौधे को उगे हुए और उसमें बहुत सुन्दर फूल को लगे हुए देखा। मैं उसे देखकर बहुत चकित हुआ; उसकी विपरीत परिस्थितयों के बावजूद उस प... Read more
clicks 40 View  Vote Like 0  8:45pm 2 Jan 2020
पोर्ट ब्लेयर के फोरशोर रोड पर जिसे कार्बाइन कोव रोड भी कहते हैं तिरंगा मेमोरियल से आगे और साइंस सेंटर से पहले एक मजार है। यह मजार है महान स्वतंत्रता सेनानी फजले हक खैराबादी की। पोर्ट ब्लेयर का यह इलाका साउथ प्वाइंट कहलाता है। समंदर के किनारे खूबसूरत सड़क पर यह मजार कि... Read more
clicks 39 View  Vote Like 0  12:00am 10 Jan 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में आधारभूत संरचना पर 100लाख करोड़ रुपये खर्च करने की बात कही थी. इसके बाद एक कार्यबल बनाया गया था, जिसने 102लाख करोड़ की परियोजनाओं की पहचान की है. नए साल पर अब केंद्र सरकार ने अब इंफ्रास्ट्रक्चर विकास की इस महत्वाक... Read more
clicks 38 View  Vote Like 0  9:16am 7 Jan 2020
गुनाहधर्म का ग़लत मतलब निकालना हैइश्क़ आत्मा हैभौतिकता द्वैत के साथ आई हैजन्म और मृत्यु के बीच ख़त्म होगीक्षणभंगुर जिस्म परसामाजिक नाच की समय सीमा ज़िंदगी हैघुँट घुँट पीने सेप्यास की मिठासरूह तक पहुँचती हैपहाड़ी से फूटने वाला सोताउसके लिये हैयह यक़ीन उसे कौन देग... Read more
clicks 38 View  Vote Like 0  10:16pm 6 Jan 2020
           वेस्ट यू पी हाई कोर्ट बेंच एक ऐसा मुद्दा है जिसे लेकर अब वेस्ट यू पी के वकील भी यह विश्वास करने से बच रहे हैं कि यह कभी भी सफल होगा क्योंकि अगर देखा जाए तो इस आंदोलन को लेकर सरकार का रवैय्या तो भेदभावपूर्ण रहा ही है साथ ही, अधिवक्ता भी इसे लेकर बंटे हुए ही नज... Read more
clicks 37 View  Vote Like 0  6:20pm 8 Jan 2020
आज रस्मों के सहारे जो अपने हुएकल वही लिखेंगे इबारतें दिल कीखुदा भी इबादत में अपना दर रखते हैंभागती-दौड़ती दुनिया में मन्जिल का पता किसकोइश्क की लौ ही काफी हैहम रौशनी में अपना घर रखते हैं... Read more
clicks 37 View  Vote Like 0  4:31pm 8 Jan 2020
नागरिकता संशोधन विधेयक से किसी भी नागरिक का नुकसान नही होना है- निलेश सोलंकीप्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर को सौपा ज्ञापनझाबुआ । संसद के दोनों सदनों द्वारा एकमत से परित तथा महामहिम राष्ट्रपति के हस्ताक्षर से  कानून का रूप  लेने वाले नागरिकता संशोधन अधिनियम अधि... Read more
clicks 34 View  Vote Like 0  5:22pm 7 Jan 2020
मेहनतकशो का चहेता शायर :मख्दूम.................................मेहनतकशो के चहेते इंकलाबी शायर मख्दूम मोहिउद्दीन का शुमार हिन्दुस्तान में उन शख्सियतो में होता है , जिन्होंने अपनी पूरी जिन्दगी आवाम की लड़ाई में गुजार दी | उन्होंने सुर्ख परचम तले आजादी की लड़ाई में हिस्सेदारी की और आजादी के ... Read more
clicks 34 View  Vote Like 0  12:26pm 6 Jan 2020
--घरवाली के साथ में, घर रहता गुलजार।जीवनसाथी के बिना, सूना है परिवार।।--सजनी भगिनी-बेटियाँ, रखती सबका ध्यान।कभी न करना चाहिए, नारी का अपमान।।--शक्तिस्वरूपा नार है, माता का अवतार।फिर भी सुनते हैं नहीं, इनकी लोग पुकार।।--नारी के सम्मान का, करें आज संकल्प।महिलाओं का जगत में, ... Read more
clicks 33 View  Vote Like 0  3:00am 8 Jan 2020
मंजुल मुद आनंद, राम-चरित कलि अघ हरण।भव अधिताप निकंद, मोह निशा रवि सम दलन।।हरें जगत-संताप, नमो भक्त-वत्सल प्रभो।भव-वारिध के आप, मंदर सम नगराज हैं।।शिला और पाषाण, राम नाम से तैरते।जग से हो कल्याण, जपे नाम रघुनाथ का।।जग में है अनमोल, विमल कीर्ति प्रभु राम की।इसका कछु नहिं तो... Read more
clicks 30 View  Vote Like 0  4:54pm 11 Jan 2020
/* custom css */ .td_uid_1_5e19cb8b3138a_rand { min-height: 0; } /* custom css */ .td_uid_2_5e19cb8b31e64_rand { vertical-align: baseline; } नैरोबी की सड़कों पर, आधिकारिक झुमके से बाहर, नर्सों का कहना है कि अवांछित शिशुओं को मारने के विभिन्न तरीके हैं। कुछ युवा माताएं अपने अंगों को ढहाने के लिए स्तन के दूध के बजाय कोका-क... Read more
clicks 30 View  Vote Like 0  5:12pm 11 Jan 2020
निर्भयाजैसेभीभत्सकांडकेबाद,औरसख्तकानूनबनने,कईतरहकीगाइडलाइनजारीहोनेकेबावजूदकईजघन्यअपराधहोचुकेहैं और भी होने की पूरी संभावना है।प्रश्नहैकिदेशकेनियंता माननीयअबतकमहिलाओंकेप्रतिहोनेवालेअपराधोंकेप्रतिजराभीसंवेदनशीलक्योंनहींहुएहैं? क्यायहदेशकीएकभया... Read more
clicks 30 View  Vote Like 0  5:44pm 13 Jan 2020
वो भी डोलती होगी किसी के अँगने में होगी वो भी किसी की जाँ ,झूलती होगी ममता के पलने में प्यार उमड़ता है मुस्करा उठते हैं अहसास उठते हैं रह-रह के सीने में सींचता है कोई माली हर फूल को आबाद रहे हर फूल की दुनिया गुलशन के कोने-कोने में बड़ा मुबारक है आज का दिन सूर... Read more
clicks 29 View  Vote Like 0  4:14pm 8 Jan 2020
1222   1222   1222   1222तेरे चहरे की रंगत अर्गवानी याद आएगी,हमें होली के रंगों की निशानी याद आएगी।तुझे जब भी हमारी छेड़खानी याद आएगीयकीनन यार होली की सुहानी याद आएगी।मची है धूम होली की जरा खिड़की से झाँको तो,इसे देखोगे तो अपनी जवानी याद आएगी।जमीं रंगीं फ़ज़ा रंगीं तेरे आगे न... Read more
clicks 29 View  Vote Like 0  12:10pm 6 Jan 2020
मुझे अपने बारे में नहीं कोई भरम,सत्य स्वीकारने में नहीं कोई शरम।सुगठित नहीं हैं मेरे विचार,मैं भावों का पसरट्टा हूँ।मैं करता हूँ सम्मोहित हूँ मोहन,आपकी भावनाओं का करता हूँ दोहन।रगड़ रगड़ कर करता हूँ समरस,मैं पत्थर का सिल बट्टा हूँ।सब रहते हैं मुझसे निराश,पूरी नहीं कर प... Read more
clicks 29 View  Vote Like 0  6:35pm 4 Jan 2020
उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में 18 जनवरी 1929 को जन्मे श्री त्रिलोकी नाथ चतुर्वेदी में अपने कैरियर की शुरुआत आईएएस अधिकारी के रूप में की और अपने कैरियर में उन्होंने बहुत ख्याति अर्जित की । सेवानिवृत्ति के बाद श्रीमती इंदिरा गांधी की सरकार ने उन्हें भारत का नियंत्रक एवं ... Read more
clicks 28 View  Vote Like 0  11:42am 7 Jan 2020
      मैंने अपनी सहेली, एमिली, से, उसकी बेटी द्वारा अपने छोटे से हाथों में पकड़ी हुई कपड़े की गुडिया की सराहना की, तो उसने मुझ से पूछा, “क्या तुम देखना चाहोगी कि उस गुड़िया के अन्दर क्या है?” तुरंत ही कौतुहल के कारण मैंने कहा, “अवश्य।” एमिली ने उस गुड़िया को लिया, घुमाकर उ... Read more
clicks 28 View  Vote Like 0  8:45pm 11 Jan 2020
पुरातत्वविद एलेग्ज़ेडर कंन्निघमआदि पुरातत्व वेत्ताओं का ऐसा मत है कि प्राचीन काल के मेगरी, मेगल्लाए ही वर्तमान समय के मेग या मेघ हैं. नृविज्ञान (anthropology) और अन्य इतिहासिक कड़ियों से मेघवाल भी मेगरी और मेगल्लाए से आ जुड़ते हैं. इन सभी शब्दों के मूल में मेग और मेगल्लाए की प... Read more
clicks 28 View  Vote Like 0  1:16pm 12 Jan 2020
प्रथम महिला छाताधारी ----डा गीता घोष 17 जुलाई , 1959 का एक अविस्मर्णीय दिन ! भारतीय महिलाओ की एक और छ्लांग - ऐसी छ्लांग , जो उचाइयों को छूनेवाली सभी पूर्व छ्लांगों से भिन्न थी | भिन्न ई नही अद्दितीय भी --- इस रूप मे की यह छ्लांग ज्ञान - विज्ञान की किसी उचाई को छूने के लिए धरती से आकाश ... Read more
clicks 27 View  Vote Like 0  11:41am 11 Jan 2020
 सरकार के नागरिकता कानून संशोधन बिल पास करने के बाद पुरे देश में लाखों लोग सड़कों पर हैं। इसके खिलाफ बड़े बड़े प्रदर्शन हो रहे हैं। इन प्रदर्शनों की अगुवाई देश के जाने माने विश्व विद्यालयों के छात्र कर रहे हैं। उनके समर्थन में प्रोफेसर और दूसरा बुद्धिजीवी तबका भी जुड़ र... Read more
clicks 27 View  Vote Like 0  12:58pm 12 Jan 2020
एक ग़ज़ल : झूठ इतना इस तरह ---झूठ इतना इस तरह  बोला  गयासच के सर इलजाम सब थोपा गयाझूठ वाले जश्न में डूबे  रहे -और सच के नाम पर रोया गयावह तुम्हारी साज़िशें थी या वफ़ाराज़ यह अबतक नहीं खोला गयाआइना क्यों देख कर घबरा गएआप ही का अक्स था जो छा गयाकैसे कह दूँ तुम नहीं शामिल रहेजब फ़ज़... Read more
clicks 27 View  Vote Like 0  6:27pm 21 Dec 2019
तेरे फ़लक से दोस्त मेरा आस्मां जुदा है तेरा अलग है मालिक मेरा अलग ख़ुदा है मेरे फ़लक में तारों के रंग दूसरे हैं सूरज के चमकने के ढंग दूसरे हैं ज़मीन एक ही है लेकिन हवा जुदा है तेरा अलग है मालिक मेरा अलग ख़ुदा है ग़लती से अपना चेहरा है बहुत मिलता जुलता दोनों की रग़ों में है लाल रंग पलता पँख एक से हैं परवाज़ अलग अपनी दिल के धड़कने की आवाज़ अलग अपनी एक दिल ने अम्मी अम्मी एक दिल ने माँ कहा है तेरा अलग है मालिक मेरा अलग ख़ुदा है लिखावटें अलग हैं अलफ़ाज़ दूसरे हैं मतलब बताने वाले उस्ताद दूसरे हैं लेकिन सबक नया अब एक सा पढ़ा है रब से भी ज़्यादा अपना, मज़हब कहीं बड़ा है कश्त... Read more
clicks 26 View  Vote Like 0  4:42pm 12 Jan 2020
एक और पन्ना कोशिश, माँ को समेटने की से ... आपका प्रेम मिल रहा है इस किताब को, बहुत आभार है आपका ... कल पुस्तक मेले, दिल्ली में आप सब से मिलने की प्रतीक्षा है ... पूरा जनवरी का महीना इस बार भारत की तीखी चुलबुली सर्दी के बीच ...  लगा तो लेता तेरी तस्वीर दीवार पर जो दिल के कोने वाले ह... Read more
clicks 26 View  Vote Like 0  6:57am 6 Jan 2020
स्नेहिल अभिवादन। विशेष रविवारीय प्रस्तुति में हार्दिक स्वागत है।मायका अर्थात माँ-पिता का घर जिसे छोड़कर ससुराल जानेवाली स्त्री अपनी जड़ों से हमेशा जुड़ी रहती है. मायके में यदि माँ न हो तो एक अपूर्णता, ममत्य का अभाव, एक ख़ालीपन और मनमीत की कमी सालती रहती है. मायका अर्थात ... Read more
clicks 25 View  Vote Like 0  12:01am 5 Jan 2020
... Read more
clicks 25 View  Vote Like 0  7:34am 9 Jan 2020
मै ज़िम्मेदार हूँ,मै ही उस कभी बलात्कारी को रोक नहीं पायी,चुप देखती रही,अपने चारों तरफ,आदमी का चिल्लाना,औरत के आदर को कुचलना,औरत हो कर औरत को दबाना,मैं ही अपने बेटे,नहीं सिखा पायी,औरत का सही आदर,घर में, बस में,सड़क पे, दूकान पे,हर शहर, हर तरफ,जाने कितनी बार,औरत को इन्साफ ... Read more
clicks 25 View  Vote Like 0  6:42pm 9 Jan 2020
नई दिल्‍ली। आजादी के बाद देश की जवाहर लाल नेहरू सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के घर और परिवार की दो दशक तक जासूसी कराई थी। हाल में सार्वजनिक की गई दो खुफिया फाइलों की मानें तो यह जासूसी वर्ष 1948 से 1968 तक कराई गई। इस अवधि में नेहरू 16 साल तक देश के पीएम रहे। पश्चिम बंगाल सरक... Read more
clicks 25 View  Vote Like 0  9:07pm 3 Jan 2020
मै अक्सर चुप रहती हूँकहती तो हूँ, पर कम कहती हूँ।बात में हैशीतलतागंगाजल सी,बात में हैंज्वलनताअग्निकुंड सी,बात में हैंकोमलताखिले पुष्प सी,बात में है कठोरतानारियल सी,बात ही तो है जोबनाती है हमारी छवि,देती है हमारेरिश्तों को मजबूती,बनती है हमारेव्यक्तित्व की पहचान,जो... Read more
clicks 24 View  Vote Like 0  1:28pm 7 Jan 2020
स्नेहिल अभिवादन आज की प्रस्तुति में आदरणीय शास्त्री जी की अनुपस्थिति में मैं आपका हार्दिक स्वागत करती हूँ । धर्मपत्नी के अस्वस्थ होने के कारण वे उनकी देखभाल में व्यस्त है । आदरणीया श्रीमती शास्त्री जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना के साथ आपके सम्मुख आज की प्रस्... Read more
clicks 24 View  Vote Like 0  12:01am 8 Jan 2020
वैसे तो पूरा भारत कई अनेक मान्यताओ और सभी धर्मो के प्रति धार्मिक आस्था के लिए पूरे विश्व मे अलग ही पहचान रखता है परंतु यदि बात की जाए हमारे छत्तीसगढ़ की तो इस मामले मे भी हम किसी से कम नहींवो कहते है न “ सौ सुनार की तो एक लुहार की ” चाहे प्रकृतिक विविधता की बात हो या यहा बसन... Read more
clicks 23 View  Vote Like 0  6:38pm 6 Jan 2020
एशिया में पूरी तरह स्वतंत्र और संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों की संख्या 49 है। इनके अलावा 6 ऐसे देश हैं, जो आंशिक रूप से मान्यता प्राप्त हैं जैसे अबखाजिया, नागोर्नो कारबाख, उत्तरी सायप्रस, फलस्तीन, दक्षिण ओसेतिया और ताइवान। इनमें से दो देश ऐसे हैं, जो जिन्हें अंतरमहाद्व... Read more
clicks 22 View  Vote Like 0  9:35am 12 Jan 2020
... Read more
clicks 22 View  Vote Like 0  5:41pm 13 Jan 2020
मैं, पत्थर हूँ,पड़ा रहता हूँ कहीं भीचल-फिर नहीं सकतान कुछ बोल सकता हूँन ही देख-सुन सकने की क्षमता है मेरीफिर भी जाने क्यों काई सी जम जाती है मेरी आँखों के इर्द-गिर्द?शायद इसलिए कि महसूसता हूँजो भी घटित हो रहा हो मेरे इर्द-गिर्द।तुम, मानव होचल-फिर सकते होबोल सकते होदेख-सुन... Read more
clicks 22 View  Vote Like 0  5:02pm 9 Jan 2020
भारत में हर दस साल बाद जनगणना होती है. दुनिया में अपने किस्म की यह सबसे बड़ी प्रशासनिक गतिविधि है. पिछली जनगणना सन 2011 में हुई थी और अगली जनगणना अब 2021 में होगी. जनगणना में आबादी के साथ ही साक्षरता, शिक्षा, बोली-भाषा, लिंगानुपात, शहरी तथा ग्रामीण निवास तथा अन्य जनसांख्यिकीय ज... Read more
clicks 22 View  Vote Like 0  5:37pm 10 Jan 2020
झुमके ले लो !बिटिया झुमके ले लो !गुलाबी ठंड मेंगुलाबी दुपट्टे संगखूब फबेंगे तुम पर ।गुलाब सी खिल उठोगीबीबी इन्हें पहन कर !गुलाबी रंग के क्या कहने !और उस पर गुलाबी झुमके !चेहरे की रंगत बदल देंगे !गाल ग़ुलाबी कर देंगे !जब हौले-हौले हिलेंगेजी की बतियाँ कह देंगे ।पहन के तो देख... Read more
clicks 22 View  Vote Like 0  2:04pm 6 Jan 2020
हमलोग आटो रिक्शा से कारबाइन कोव की तरफ जा रहे थे तो रास्ते में एक नया स्मारक दिखाई दे गया। हां जी, पोर्ट ब्लेयर के फोरशोर रोड पर एक नया स्मारक बन गया है। वह जगह जहां 1943 में तिरंगा लहराया गया था। समंदर के किनारे बने इस स्मारक पर विशाल अंक स्थापित किए गए हैं। ये अंक है 1943 भला य... Read more
clicks 21 View  Vote Like 0  12:00am 7 Jan 2020
मितरों,आज जो कुछ हमारे इस देश मे हो रहा है, उसे देखकर सिर्फ हैरानी और अफसोस होता है। भगवान को साक्ष्य मानकर आपको आज की एक सच्ची घटना, जो मेरे साथ हुई और जिसे मैंने हर कोण से नापना चाहा, आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ।मैं जानता हूँ कि इस बात को हमारे ही बीच के बहुत से ज्ञानी ... Read more
clicks 21 View  Vote Like 0  9:07pm 7 Jan 2020
संस्मरण          आज के तापमान को देखते हुए अखबार में 1961- 62 की सर्दियों का जिक्र किया गया तो याद आया कि वह सर्दियां आज की तरह साधनों से सम्पन्न न थी और न ही उस समय  तापमान नापा जा सकता था । ना इतने सारे साधन थे कि इंसान सर्दी से अपने को सुरक्षित रख सके।             ... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  11:26pm 1 Jan 2020
पोर्ट ब्लेयर में अबरडीन बाजार के पास ही स्थित है गुरुद्वारा लाइन। इसका नाम गुरुद्वारा लाइन इसलिए है कि यहां पर स्थित है दीवान सिंह गुरुद्वारा। यह पोर्ट ब्लेयर के प्रसिद्ध गुरु घर में से एक है। पर ये दीवान सिंह कौन थे जिनके नाम पर यहां गुरुद्वारा बना है।गुरुद्वारा के ... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  12:00am 8 Jan 2020
उदात्त भावनाओं की अभिव्यक्तियाँ“अरी कलम! तू कुछ तो लिख”       रश्मि अग्रवाल का नाम साहित्यजगत में अनजाना नहीं है। हाल ही में इनका कविता संग्रह “अरी कलम! तू कुछ तो लिख”प्रकाशित हुआ है। आप न केवल एक कवियित्री हैं अपितु एक सफल गद्य लेखिका भी हैं और सुन्दर हस्तल... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  2:00am 9 Jan 2020
इस बार भी मैं पुस्तक मेला में नहीं जा रहा। जाऊं भी तो किस मुंह से! किताब मेरी कोई है नहीं। कोई प्रकाशक मुझे जानता नहीं। लेखक जरूर हूं पर लेखकों के बीच 'अनजान'ही हूं।पुस्तक मेला में लेखकों को अपनी-अपनी किताबों के प्रमोशन व लोकार्पण कराते हुए तस्वीरें सोशल मीडिया पर जब दे... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  4:32pm 9 Jan 2020
निर्भया दुष्कर्म मामले के दोषियों को फाँसी पर लटकाने का दिन और वक्त तय हो गया है. दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों के डैथ वारंट जारी कर दिए हैं. आगामी 22जनवरी की सुबह 7बजे उन्हें तिहाड़ जेल में फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा. गणतंत्र दिवस के ठीक पहले होने वाली ... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  7:08pm 9 Jan 2020
एक ग़ज़ल : नहीं जानता हूँ कौन हूँ--नहीं जानता कौन हूँ ,मैं कहाँ हूँउन्हें ढूँढता मैं यहाँ से वहाँ हूँतुम्हारी ही तख़्लीक़ का आइना बनअदम से हूँ निकला वो नाम-ओ-निशाँ हूँबहुत कुछ था कहना ,नहीं कह सका थाउसी बेज़ुबानी का तर्ज़-ए-बयाँ हूँतुम्हीं ने बनाया , तुम्हीं ने मिटायाजो कुछ भी ह... Read more
clicks 20 View  Vote Like 0  5:37pm 5 Jan 2020
नूतन वर्षाभिनन्दन!!आ गया है साल नूतन,ख़ुशियों की सौगात लेकर,करें इसका मिलके स्वागत जोश और ज़ज़्बात लेकर।याद मन में अपने कर लें, मुस्कुराते बीते कल कोउम्र-भर रोना नहीं, बिगड़े हुये हालात लेकर।आओ नज्मों में मिला लें, सबसे मीठी प्रेम-भाषा,हो ग़ज़ल कामिल हर शै, क़लम और दावा... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  10:34am 1 Jan 2020
स्नेहिल अभिवादन। विशेष शनिवारीय प्रस्तुति में हार्दिक स्वागत है।जिजीविषा अर्थात जीने की प्रबल इच्छा।  जीवन के प्रति सकारात्मकता ही उसे सार्थक बनाती है, नये रंग भरती है।  जीवन अपना पथ चुनता है और लक्ष्य की तलाश में जीवट भरे अनुप्रयोग उसे ख़ूबसूरती प्रदान कर... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  12:01am 11 Jan 2020
सत्रहवीं लोकसभा चुनाव के परिणाम 23 मई 2019 को आ गए हैं। इस चुनाव में देश भर में भाजपा 302 सीटों पर जीतकर पूर्ण बहुमत से सत्ता में एक बार फिर वापस लौटी है। पर केंद्र शासित प्रदेश अंदमान निकोबार की एक लोकसभा सीट पर इस बार कांग्रेस उम्मीदवार कुलदीप राय शर्मा ने जीत दर्ज की है। 24 त... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  12:00am 12 Jan 2020
जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने जो जानकारियाँ दी हैं, उन्हें देखते हुए किसी को भी देश की शिक्षा-व्यवस्था की दुर्दशा पर अफसोस होगा। जरूरी नहीं कि पुलिस की कहानी पर यकीन किया जाए, पर हिंसा में शामिल पक्षों की कहानियों के आधार ... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  8:28am 12 Jan 2020
वे वरिष्ठ कवि ही नहीं, वरिष्ठ विमोचक भी हैं। अब तक कितनी ही पुस्तकों का विमोचन कर चुके हैं। बड़ी-बड़ी दूर से उन्हें विमोचन करने के लिए बुलाया जाता है। ऐसी धारणा है कि उन्होंने जिस लेखक की पुस्तक का विमोचन कर दिया, समझ लीजिए वो 'पवित्र'हो गया। झूठ क्यों बोलूं, मेरे ही एक दोस्... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  12:36pm 10 Jan 2020
मेहनतकशो का चहेता शायर :मख्दूम.................................मेहनतकशो के चहेते इंकलाबी शायर मख्दूम मोहिउद्दीन का शुमार हिन्दुस्तान में उन शख्सियतो में होता है , जिन्होंने अपनी पूरी जिन्दगी आवाम की लड़ाई में गुजार दी | उन्होंने सुर्ख परचम तले आजादी की लड़ाई में हिस्सेदारी की और आजादी के ... Read more
clicks 19 View  Vote Like 0  12:26pm 6 Jan 2020
ढंग निराले होते जग में,  मिले जुले परिवार के।देते हैं आनन्द अनोखा, रिश्ते-नाते प्यार के।।--चमन एक हो किन्तु वहाँ पर, रंग-विरंगे फूल खिलें,मधु से मिश्रित वाणी बोलें, इक दूजे से लोग मिलें,ग्रीष्म-शीत-बरसात सुनाये, नगमे सुखद बहार के।देते हैं आनन्द अनोखा, रिश्ते-नाते प्यार ... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  1:30am 12 Jan 2020
      ली अपने कार्यस्थल में एक ईमानदार और भरोसेमंद कर्मचारी है। परन्तु फिर भी अपने मसीही विश्वास के निर्वाह के कारण वह अपने आप को औरों से अलग पाता है। और यह उसके व्यावाहारिक जीवन में प्रत्यक्ष दिखाई देता है, जैसे कि जब किसी संगति में कोई अनुचित अथवा भद्दी बातें ह... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  8:45pm 12 Jan 2020
प्यार करते रहे  *******   तुम न समझे फिर भी हम कहते रहे   प्यार था हम प्यार ही करते रहे !   छाँव की बातें कहीं, और चल दिए   जिंदगी की धूप में जलते रहे !   तुम न आए जब, जहां हँसता रहा   जिंदगी रूठी औ हम ठिठके रहे !   चैन दमभर को न आया था कभी   और तुम कहते हो, हम हँस... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  3:17pm 13 Jan 2020
      कई बार जब मैं इंटर्नेट चालू करके फेसबुक पर जाती हूँ, तो फेसबुक मुझे पिछले वर्षों में, उस दिन मैंने फेसबुक पर क्या पोस्ट किया था, उन बातों की स्मृतियाँ दिखाती है। ये स्मृतियाँ कुछ फोटो हो सकती हैं, जैसे कि मेरे भाई के विवाह की फोटो, या मेरी बेटी का मेरी दादी के स... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  8:45pm 9 Jan 2020
जो देखा जो सुना   *******   जो देखा जो सुना   जो जिया जो गुना   वह लिखा वह सब लिखा   जो मन ने कहा   जो मन में पला   वह लिखा बस वही लिखा   कब कौन सी विधा हुई   किस तराजू पे परखी गई   किस नियम में सजी लेखनी   वो त्रिभुज हुई या वृत्ताकार बनी   समीप रही ... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  9:41pm 1 Jan 2020
महाआरती के साथ हुआ ३ दिवसीय अध्यात्म महोत्सव का समापन झाबुआ। शहर के गोपाल काॅलोनी स्थित गोपाल मंदिर में शताब्दी समारोह-2020 के उपलक्ष में त्रि-दिवसीय महोत्सव के तहत अंतिम दिन गोपाल प्रभु की महाआरती का आयोजन हुआ। महाआरती दोपहर ठीक 12 बजे आरंभ हुई। इससे पूर्व भजन-किर्तन ... Read more
clicks 18 View  Vote Like 0  5:11pm 10 Jan 2020
इन सब आयोजनों में जैसे खाना-पीना और चाय वगैरह होता है, वैसे ही घंटे भर के लिए ''पंडत जी''का प्रवचन ! पंजाब भी विदेश बन गया है ! जैसे विदेशों में बसे प्रवासियों को अपने धार्मिक कार्यों के लिए एक अदद संस्कृत उवाचने वाले की जरुरत पड़ती है और उसके लिए कई ''रसूख''वाले यहां से निर... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  10:44am 10 Jan 2020
--सुबह करते हैं, शाम करते हैं हर खुशी तेरे नाम करते हैं --ओढ़ करके ग़मों की चादर कोकाम अपना तमाम करते हैं--जब भी दैरो-हरम में जाते हैंहम तिरा एहतराम करते हैं --देख करके जईफ लोगों को हम अदब से सलाम करते हैं --ज़िन्द्ग़ी चार दिन का खेला है किसलिए कत्लो-आम करते हैं--आशि... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  8:24am 11 Jan 2020
स्नेहिल अभिवादन।  रविवारीय प्रस्तुति में आपका हार्दिक स्वागत है।समर्पण एक महत्त्वपूर्ण भाव है जिसका जीवन में सामाजिक मूल्यों की पूँजी के रूप में ख़ास स्थान है. समर्पण अपने साथ अन्य सकारात्मक भावों को विकसित करने की भावभूमि तैयार करता है जिसका प्रस्फुटन प्रेम के... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  12:01am 12 Jan 2020
चुनाव का दिन क़रीब आ रहा था, जंगल, ज़मीन और रोज़गार के मुद्दे भरपूर उछाले जाने लगे। कई तरह के जुमले प्रचारित कर बाहरी-भीतरी की भावनाओं को जगाया गया जा रहा था। नतीजा सत्ता विरोधी वोट एकजुट होते दिखने लगा। विनायक भी टोले-टोले में घूम-घूमकर नुक्कड़ सभाएं करने लगा। 'टीयू'की पढ़ाई ... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  6:05pm 12 Jan 2020
पोर्ट ब्लेयर से बाराटांग जाते हुए सैलानियों को जारवा लोगों के बारे में तो कुछ पता चल जाता है पर अंदमान के आदिवासियों के बारे में आपको ज्यादा जानना है तो उसके लिए पोर्ट ब्लेयर की ट्राइबल म्यूजियम अच्छी जगह हो सकती है। यहां आप कुछ घंटे गुजारकर अंदमान में रहने वाले अलग अ... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  12:30am 13 Jan 2020
... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  4:44am 13 Jan 2020
अलीराजपुर। आबकारी विभाग की शराब माफियायो के विरूद्ध कार्यवाही मे अभी तक की सबसे बड़ी सफलता, लगभग 12 लाख रूपये की अवैध अंग्रेजी मदिरा सहित 5 लाख 50 हजार मूल्य  का आयशर वाहन पकडा गया है। जिले मे अवैध शराब पर अंकुश लगाने हेतु आबकारी आयुक्त श्री राजेश बहुगुणा से प्राप्त निर... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  5:29pm 13 Jan 2020
बदले की भावना के साथ काम कर रहा जिला प्रशासनझाबुआ। भारत में नागरिकता संशोधन कानून 12 दिसम्बर को बनाया गया जिसमें बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान में रहने वालेे सिक्ख, ईसाई, बौद्ध, जैन, पारसी, हिन्दु अल्पसंख्यक होकर धर्म के आधार पर प्रताडित होने के चलते जो 31 दिसम्बर 2014... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  4:44pm 9 Jan 2020
कोटा पुलिस और अपराधियों से सांठगांठ ,,कोटा [पुलिस और लापरवाही ,,मनमानी ,हरगिज़ नहीं ,हरगिज़ नहीं ,यह सब अब नहीं चलेगा ,,कोटा पुलिस रेंज के डी आई जी ,कोटा शहर और देहात के पुलिस अधीक्षक अब ,,सर्वेक्षण के आधार पर ,मुखबिरी सूचनाओं के आधार पर ,,व्यक्तिगत एसेसमेंट के आधार पर ,ऐसे सभी ... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  7:47am 14 Jan 2020
... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  10:12am 14 Jan 2020
सादर अभिवादन। साल का प्रथम सप्ताह बीतने को है,जीवन का कोई कोना रीतने को है। ऋतु का अपना अलग मिज़ाज है,पीछे मुड़ें क्यों आगे बढ़ना रिवाज़ है।  -रवीन्द्र सिंह यादव आइए अब पढ़ते हैं मेरी पसंद की कुछ रचनाएँ -  *****राग-वैराग्यपर मिली ना मंज़िलें, ना रास्तों का था पताहम त... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  12:01am 6 Jan 2020
स्नेहिल अभिवादन सर्वप्रथम तो आप सभी को हिंदी दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएँहमारी राष्ट्रीय भाषा हिंदी बोलचाल में तो ठीक है परंतु जब हमें इसे लिखना होता है तो कई सारी अशुद्धियाँ नज़र आती आजकल कई सारी पुस्तक मेलों के आयोजन किए जा रहे हैं ,और उनमें पाठक गण हिंदी की पुस्त... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  5:16am 10 Jan 2020
यदि आप सुदूर क्षेत्र में रह रहे हैं, जहाँ पर बैंक की शाखा या एटीएम सुविधा नहीं है तो अब आपको पैसे निकालने के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। शहरों में भी बैंक या एटीएम की लाईन में लगने की बजाय अब आप घर बैठे अपने इलाके के डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से पैसे निकाल सक... Read more
clicks 17 View  Vote Like 0  11:06pm 10 Jan 2020
एक ओर जहाँ दुनिया में विश्वयुद्ध का खतरा मँडरा रहा है, वहीं हमारे देश में भी आये दिन हिंसक प्रदर्शन और जुलूसों का दौर थमता दिखाई नहीं दे रहा है। जो चिन्ता का विषय है। नागरिकता कानून भारत के हित में है लेकिन देश के चन्द धर्मान्ध लोगों और कुछ राजनीतिज्ञों ने वर्गवि... Read more
clicks 16 View  Vote Like 0  1:00am 7 Jan 2020
अंदर ही अंदर वह अपनीशर्मसार आंखों से झांकती है मुझेऔर कतराता रहा हूँ मैं उससे बाहर ही बाहर,बहुत सी ऐसी पंक्तियांइसलिए ह... Read more
clicks 16 View  Vote Like 0  9:46pm 6 Jan 2020
हिंद नाम के सूरज को, इस तरह नही ढलने देंगेहम हृदय प्रेम से भर देंगे, अब द्वेष नही पलने देंगेये चिंगारी जो भड़की है, ना दिल में घर करने पाएसींचा है खून से धरती को, बस्ती को ना जलने देंगे सूनी गोदें ना होंगी अब, सिंदूर ना पोछा जाएगाहम जाति-धर्म की बातों पर, बेटों को ना लड़ने दे... Read more
clicks 16 View  Vote Like 0  1:21pm 13 Jan 2020
झुमके ले लो !बिटिया झुमके ले लो !गुलाबी ठंड मेंगुलाबी दुपट्टे संगखूब फबेंगे तुम पर ।गुलाब सी खिल उठोगीबीबी इन्हें पहन कर !गुलाबी रंग के क्या कहने !और उस पर गुलाबी झुमके !चेहरे की रंगत बदल देंगे !गाल ग़ुलाबी कर देंगे !जब हौले-हौले हिलेंगेजी की बतियाँ कह देंगे ।पहन के तो देख... Read more
clicks 16 View  Vote Like 0  2:04pm 6 Jan 2020
--कुहरे और सूरज दोनों में,जमकर हुई लड़ाई।जीत गया कुहरा, सूरज ने मुँहकी खाई।।--ज्यों ही सूरज अपनी कुछ किरणें चमकाता,लेकिन कुहरा इन किरणों को ढकता जाता,बासन्ती मौसम में सर्दी ने ली अँगड़ाई।जीत गया कुहरा, सूरज ने मुँहकी खाई।।--साँप-नेवले के जैसा ही युद्ध हो रहा,कभी सूर्... Read more
clicks 15 View  Vote Like 0  6:31am 13 Jan 2020
अरुण साथीसैयां झूठों का बड़ा सरताज निकला, चोर समझी थी मैं थानेदार निकला। वैसे तो अब यह गीत ओल्ड है पर  ओल्ड इज गोल्ड है। आजकल झूठों का बड़ा सरदार कौन यह प्रतियोगिता जारी है और इस प्रतियोगिता में शामिल कई प्रतिस्पर्धी एक दूसरे को विजेता बनाने में लगे हुए है। हालांकि क... Read more
clicks 15 View  Vote Like 0  7:39am 13 Jan 2020
ये स्थान है माँ खल्लारी का प्रथम निवास....महासमुंद से मात्र 4 कि.मी. कि दूरी पर ग्राम बेमचा मे स्थित है बड़ी खल्लारी माता मंदिर इस मंदिर कि ग्रामीणो मे बहुत मान्यता है कहते है सबसे पहले खल्लारी माता का आगमन इसी गाँव मे हुआ था। इसके बाद माँ भीमखोज स्थित पहाड़... Read more
clicks 15 View  Vote Like 0  8:02pm 7 Jan 2020
महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कोंग्रेस अल्पसंख्यक की गोष्टि 11 जनवरी को कोटा में : - महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कोंग्रेस अल्पसंख्यक की गोष्टि 11 जनवरी को दिन में एक बजे दादाबाड़ी थाने के पास सीनियर चिल्ड्रन स्कूल के मुख्य सभागार में रखी ग... Read more
clicks 15 View  Vote Like 0  6:34am 10 Jan 2020
 बात सत्तावन साल पुरानी है हमारे पड़ोस में एक वृद्ध महिला रहती थी। जिसको पूरा मुहल्ला अम्मा के नाम से पुकारता था, लेकिन उनका नाम हरदेई था।    उन दिनों हमने एक गइया पाली हुई थी। घर में हम लोग सुबह गुड़ के साथ मट्ठा पी लिया करते थे। और माता जी उसके लिए घास लेने चली जात... Read more
clicks 15 View  Vote Like 0  2:00am 6 Jan 2020
सच सच ही होता है और झूठ झूठ ही होता है फिर कहा जाता है किसी की भलाई के लिए बोला गया झूठ सच से बढ़कर होता है। लेकिन विडंबना देखिये कि फिर भी ''सत्यम शिवम सुंदरम''ही कहा जाता है। हम मस्ती मज़ाक में भी सहजता से झूठ बोल जाते है और गंभीर विषय में भी, शायद इसलिए कि झूठ बोलने में हमें ज... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  12:28pm 12 Jan 2020
सादर अभिवादन। सोमवारीय प्रस्तुति में आपका स्वागत है। --दोहे "फिर से नूतन हर्ष" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')*****MatruBharti. ने पुस्तक मेला में द‍िए रीडर्स च्वाॅइस अवार्डगौरतलब है कि मातृभारती डॉट कॉम ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जो 30 हज़ार से अधिक लेखकों की रचनाएं 1.5 लाख से अधिक पाठक... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  12:01am 13 Jan 2020
डाक विभाग दिनों-ब-दिन अपने को अद्यतन कर रहा है, चाहे वह सेवाओं का मामला हो या टेक्नालॉजी का। वर्ष 2019 में भी डाक सेवाओं में तमाम नवाचार हुए। लखनऊ (मुख्यालय) परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि वर्ष 2019 में ग्रामीण डाकघरों को टेक्नोलॉजी से अद्यतन कर... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  12:37pm 14 Jan 2020
बिजनौर कोर्ट में हुई घटना के बाद प्रशासन अदालतों की सुरक्षा के लिए सक्रिय हुआ है और उसे लेकर अदालतों के परिसर की दीवार ऊंची कराना, अदालतों में प्रवेश के लिए मेटल डिटेक्टर लगाया जाना, वकीलों को, मुन्शीयों को परिचय पत्र जारी किया जाना आदि कदम उठाए जा रहे हैं, ऐसे में बहुत ... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  12:39pm 14 Jan 2020
Ingredients:चिकन लैग - Chicken Leg Peace – 6  मेरीनेट Marinate:(नमक - Salt - 1 Tea Spoonहल्दी - Turmeric - 1/2Tea Spoon नींबू का रस - Lemon Juice – 1 /2 Tea Spoon)भुना मसाला Dry Roast:(जीरा - Cumin Seed – 1 Tea Spoonकाली मिर्च - Black Pepper – 5हरी इलायची - Green Cardamom - 4बड़ी इलायची - Black Cardamom - 1खड़ी लाल मिर्च - Dry Red Chilli – 3 to 4लौंग - Clove – 4)सरसों का तेल - Mustard Oil – 3 Tea Spoonप्याज़ - Onion– 2 Medium Sized –cut in small piecesअदरक ल... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  7:08am 10 Jan 2020
एक क़ातिल प्रशासनिक अंदाज़ ,एक क़ातिल अल्फ़ाज़ों से बने जुमले ,,एक क़ातिल सादगी ,एक क़ातिल मुस्कुराहट ,,एक क़ातिल मधुर संबंध ,,एक क़ातिल चौधराहट ,एक क़ातिल रिसर्च पत्रकारिता ,एक क़ातिल इलेक्ट्रॉनिक चैनल ,,एक क़ातिल समन्वय ,,एक क़ातिल सियासी मैनेजमेंट ,,और संतुलित पत्रकारिता ,,सच ऐसी ... Read more
clicks 14 View  Vote Like 0  6:56am 15 Jan 2020
  राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी कोई व्यक्ति नहीं ,कोई विचार नहीं ,वोह भारत की विचारधारा का ऐसा डी ऍन ऐ है , जो देश के हर नागरिक को सुरक्षित ,,खुशहाल ,एकजुट देखना चाहता है ,,,उक्त उद्गार प्रकट करते हुए कोटा जिला कलेक्टर ओम प्रकाश कसेरा ने,कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग कोटा संभा... Read more
clicks 13 View  Vote Like 0  8:10am 12 Jan 2020
कभी यह स्थान देवल ऋषि का बसेरा था..... ज़िला महासमुन्द से केवल 8 कि.मी. कि दुरी पर स्थित है ग्राम बम्हनि, ग्राम बम्हनि स्थानिय शिवभक्तो के लिये प्रमुख आकर्षण का केन्द्र है। इसकि खास वजह है यहा स्थित श्री ब्रम्ह्नेश्वरनाथ मन्दिर। यह मन्दिर कितना पुराना है इस कोई साफ अनुमा... Read more
clicks 13 View  Vote Like 0  8:31pm 8 Jan 2020
चंडीमातामन्दिरमहासमुंदजिलाअंतर्गतग्रामघुंचापाली मेंस्थितहै।ग्राम  घुंचापाली - बागबाहराप्राकृतिकसौंदर्यसेपरिपूर्णहै।चारोओर सेजंगलोऔरपहाड़िओसेघिरेग्राममेंविराजमानहैमाँचंडी। माँ चण्डी मंदिर माताचंडीरूपदेखतेहीबनताहैलगभग 9 फिटऊचीमाँकीविश... Read more
clicks 13 View  Vote Like 0  8:59pm 13 Jan 2020

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3927) कुल पोस्ट (194165)