POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: WORLD's WOMAN BLOGGERS ASSOCIATION

Blogger: shikha kaushik
हर तरफ मायूसियाँ ,चेहरों पर उदासियाँ ,थी जहाँ पर महफ़िलें ;है वहां तन्हाईयाँ !******************************************कुदरती इन जलजलों से कांपती इंसानियत ,उड़ गयी सबकी हंसी ;बस गम की हैं गहराइयाँ****************************************************क्यूँ हुआ ऐसा ;इसे क्या रोक हम न सकते थे ?बस इसी उलझन में बीत जाती ज़िन्दगानियाँ !*... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   3:11pm 26 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
ग़म का समंदर पी जाने को दिल मेरा तैयार है !मर -मर कर यूँ जी जाने को दिल मेरा तैयार !........................................................................दर्द नहीं अब दिल में होता किस्मत की मक्कारी पर ,ठोकर खाकर उठ जाने को दिल मेरा तैयार है !.........................................................................जितना शातिर बन सकता है बन जाने दो दुश्मन को ,रोज़ ... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   3:52pm 25 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
भावना को सब्ज़ी मंडी से लौटते  हुए अचानक अपनी सहेली अनु मिल गयी .इधर-उधर की बातों के बाद दोनों की बातों के केंद्र में दोनों के बच्चे आ गए .भावना मुंह बनाते हुए बोली - क्या बताऊँ ! मेरा बेटा आठ साल का है और फेसबुक पर दिन-रात पता नहीं अपनी गर्ल-फ्रेंड  से क्या चैट करता रहता ह... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   4:19pm 18 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
हम इंसान हो गए -लघु कथाखुशबू कालेज जा रही थी . बीच रास्ते में उसकी सेंडिल की हील निकल गयी . पीछे से आती एक बाइक रुकी .खुशबू ने मुड़कर देखा तो ये साहिल था .साहिल बाइक से उतरा और उसकी सेंडिल हाथ में लेता हुआ बोला -चलो इसे ठीक करा देता हूँ पास में ही एक मोची बैठता है .खुशबू थोड़ा... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   6:42pm 7 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
वो खूबसूरत लड़की जब सड़क पर चलती थी तब अपने में ही खोई रहती . उसको खबर न होती कि कोई लड़का उसका पीछा कर रहा है . एक दिन एक संकरी गली में उस पीछा करने वाले लड़के ने आगे आकर उसका रास्ता रोक लिया .वो घबराई .उसकी नीली झील सी आँखों में आंसू भर आये .उसने हाथ जोड़कर  कहा - ''मुझे जाने  दो '' .... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   6:19am 30 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
! रामनवमी पर्व की हार्दिक शुभकामनायें !किलकारी मारें बजाकर खन खन कंगना ,नन्हें से राम लल्ला खेलें  दशरथ के अंगना !मैय्या कौशल्या उर आनंद लहरे उमड़े ,पैय्या चले तो पकड़ने को वे दौड़े ,लेती बलैय्या आँचल में हैं छिपती ललना !नन्हें से राम लल्ला खेलें  दशरथ के अंगना !चा... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   3:35pm 27 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 Farmers commit suicide after rains devastate crops in UP .इस बार आसमान से जल नहीं बरसा बरसी है आग !जिसने जला  डाले किसानों के सारे ख्वाब !कोई सदमे से मर गया ,किसी ने खाया ज़हर ,कोई फांसी से लटक गया और कोई गया जल ,बरसात थी या थी कहर !ऊपर वाले कैसा तेरा इंसाफ ?खून-पसीने से खड़ी फसल का ये कैसा सत्यानाश ?हर अन्नदाता... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   4:40pm 23 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
पीत वसन में लगती हो तुममहारानी मधुमास की !ओढ़ दुपट्टा रंग गुलाबीलगती कली गुलाब की !वसन आसमानी कर धारणखिल जाता है गौर वदन !लाल रंग के वस्त्रों में तुमदहकी लता पलाश की !हरा रंग तो तुम पर जैसेनयी बहारें लाता है !हरियाली पीली पड़ जातीरूप तुम्हारा देखकर !श्वेत वसन में तुम्हे... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   5:31pm 21 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
नोबल विजेता कैलाश सत्यार्थी कहते हैं कि बेटियां जानवरों की तरह बिकती हैं। उन्हें 5 हजार में खरीदकर एक लाख में बेचा जाता है। देशभर में भीख मांगने वाले बच्चों के पीछे भी बड़े गिरोह का हाथ है।तोल तराजू  इस  दुनिया  में औरत बेचीं जाती है ,आग लगे सारी  दुनिया में औरत बे... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   4:08pm 14 Mar 2015 #औरत बेचीं जाती है
Blogger: shikha kaushik
चुप क्यों रहती हो तुम घाव क्यों सहती हो तो क्या दर्द नहीं होता तुम्हे क्या कोई तकलीफ नहीं होतीआखिर किस मिट्टी की बनी हो तुम या सिर्फ मिट्टी की ही बनी हो तुम या इस देह के भीतर कोई आत्मा भी है क्या वो तुम्हे धिक्कारती नहीं क्या सम्वेदनाएँ तुम्हारी कभी तुम्हे खुद के लिये प... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   10:45pm 7 Mar 2015 #महिला-दिवस
Blogger: shikha kaushik
हमारी जीत को जो हार बना मात देते हैं !वही हंसकर गले मिलकर मुबारकबाद देते हैं !.................................................................बड़े हमदर्द बनकर दे रहे गम में जो तसल्ली ,वही तो साज़िशें रच क़त्ल को अंजाम देते हैं !................................................................मेरी बदनामियों पर हो खफा दुनिया से भिड़ जाते ,मुझे बदनाम कर ... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   4:40pm 25 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
मेरी बहन बहन ...तेरी बहन प्रेमिका !!![google se sabhar ]लड़का लड़की ने मिलकर सोचा ''प्रेम ही सब कुछ  है  ''हम दोनों  एक  दूजे  के  बिना   मर   जायेंगे  !माता  -पिता बहन-भाई ये सब क्या खाक साथ निभायेंगें ?वैसे भी हम अपनी भलाई जानते हैं इसीलिए मर्यादा ;नैति... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   5:47pm 24 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
शुक्र मना बिटिया रानी शुक्र मना बिटिया रानी लेने  दिया  हमने  जन्म तुझे ;वरना निपटाते  कोख में ही क्यों बात नहीं तू  ये समझे ?...................................................शुक्र मना बिटिया रानी तेरा ब्याह किया ; दहेज़ दिया ;तेरी खातिर तेरे बाप ने है अपमान का कितना गरल पि... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   3:56pm 21 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
बीवी और शौहररात भर जागी  बीवी दर्द से जो तडपा शौहर ;कभी बीवी के लिए क्यों नहीं जगता शौहर ?................................................................करे जो काम बीवी फ़र्ज़ हैं उसको कहते ;अपने हर  काम को अहसान क्यों कहता शौहर ?...........................................................रहो हद में ये हुक्म देता बीवी को ;मगर खुद पर कोई बंदिश नही... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   5:51pm 15 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
कहर बरसा  मेरे घर तो वो बोले सब सलामत है ,गई छींटें जो उनकें घर तो बोले अब क़यामत है !..........................................................................मेरे बच्चों ने पी पानी गुज़ारी रात सारी है ,बराबर के बड़े घर में सुना कुत्तों की दावत है !.................................................................बिना गाली के जिनकी गुफ्तगूं होती नहीं पूरी ,... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   5:23pm 18 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 जागरण ब्यूरो, कोलकाता। विकास के एजेंडे पर चल रही केंद्र सरकार की राह में भाजपा नेताओं के बेतुके बयान रोड़ा बन रहे हैं। हिंदुओं से चार बच्चे पैदा करने की अपील करने वाले भाजपा सांसद को पार्टी ने नोटिस भेजा ही था कि मंगलवार को पश्चिम बंगाल में भी एक भाजपा नेता ने ऐसा ह... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   5:06pm 15 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
असफलता से मिलेगी ;राह सफलता की ,है जरूरत नर नहीं ;किंचित विकलता की ,खुद में छिपी जो शक्ति है ,उसको तो पहचानो !अभी हार मत मानो !............................लूट गया सर्वस्व ;अश्रु मत बहाओ तुम ,होकर सचेत फिर उठो ;न यूँ रहो गुमसुम ,बिगड़े हुए काम कोऐसे संवारो   !अभी हार मत मानो !.........................................गिर ... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   3:59pm 10 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
जीवन एक ऐसी पहेली है जिसके बारे में बात करना वे लोग ज्यादा पसंद करते हैं जिन्होंने कदम-कदम पर सफलता पाई हो.उनके पास बताने लायक काफी कुछ होता है. सामान्य व्यक्ति को तो असफलता का ही सामना करना पड़ता है.हम जैसे साधारण मनुष्यों की अनेक आकांक्षाएं  होती हैं. हम चाहते हैं क़... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   4:24pm 6 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
थोड़े आंसू बचा के रखना  ,दर्द  दबा लेना इस दिल में ,नहीं आखिरी गम ये अपना ,सपने अभी और टूटेंगे !......................................किसे मनाएं मिन्नत कर के ,कब तक मांगें रोज़ दुआएं  ,मौत के आगे बेबस होकर ,अपने अभी कई छूटेंगें !.................................नए ज़ख्म मिलते जाते हैं ,पिछले भरते कहाँ यहाँ !आहें रख ... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   8:12am 21 Dec 2014 #
Blogger: shikha kaushik
 काश उस मनहूस दिन सूरज निकलने से कर देता मना !.......................काश अब्बा न जगातेस्कूल जाने के लिए रोज़ की तरह  !..........................काश स्कूल के लिए तैयार होते समय  टूट जाता जूते का फीता और बन जाता न जाने का एक बहाना !...................................काश अम्मी ही कह देती क्या रोज़ रोज़ जरूरी ... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   5:32pm 19 Dec 2014 #
Blogger: shikha kaushik
Pakistan Taliban: Peshawar school attack  दरिंदगी की इन्तहां ,कैसा है ये जूनून !खून से नहला दिए , खिलखिलाते फूल  !...............................अब्बा के दिल के टुकड़े थे ,अम्मी के दुलारे ,स्कूल की वर्दी में ,लगते बड़े प्यारे ,उनके ख्वाब पूरे करने जाते थे स्कूल !खून से नहला दिए , खिलखिलाते फूल  !..................................... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   5:04pm 17 Dec 2014 #
Blogger: shikha kaushik
अति मेधावी युवक राम ने अपने लैपटॉप पर उच्च शिक्षा आयोग की वेबसाइट खोली  और डिग्री कॉलेज प्रवक्ता परीक्षा के हिंदी विषय के साक्षात्कार के परिणाम के लिंक पर क्लिक कर दिया .पी.डी.ऍफ़. फ़ाइल खुलते ही राम का दिल धक-धक करने लगा .उसकी आँखों के सामने चयनित अभ्यर्थियों की सूची ... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   5:35pm 14 Dec 2014 #
Blogger: shikha kaushik
घर का सैप्टिक टैंक लबालब भर गया था .सारू का दिमाग बहुत परेशान था .कोई सफाईकर्मी नहीं मिल पा रहा था .सैप्टिक टैंक घर के भीतर ऐसी जगह पर था जहाँ से मशीन द्वारा उसकी सफाई संभव न  थी .सारू को याद आया कि उसके दोस्त अजय की जानकारी में ऐसे सफाईकर्मी हैं जो सैप्टिक टैंक की सफाई का ... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   6:05pm 3 Dec 2014 #
Blogger: shikha kaushik
होगी  सुबह ,दिनकर उदित होगा पुनः ,निज रथ  पे हो सवार !...................हर लेगा तम ,होगा सुगम ,जीवन का सब व्यापार !..............................छोडो न  आशा  ,हो व्यथित ,किंचित करो विचार !..........................मानव  हो तुम ,निज बुद्धि -बल की,तेज करो धार  !........................गिर कर उठो ,उठकर  बढ़ो  ,हो तीव्र नित रफ़्तार !........... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   6:21pm 21 Nov 2014 #
Blogger: shikha kaushik
मत बहको इतना  कवि-कलम,मर्यादित हो करना वर्णन ,श्रृंगार -भाव की आड़ में तुम ,नारी को मत यूँ करो नग्न !.............................................कामदेव के दास नहीं ,तुम मात शारदा-तनय हो ,न हो प्रधानता रज-तम की ,अब सत्व-गुणों की प्रलय हो !अनुशासित होकर करो सृजन !नारी को मत यूँ करो नग्न !.................................नारी-त... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   6:47pm 5 Nov 2014 #

Publish Post