Hamarivani.com

मुकेश पाण्डेय "चन्दन"

 चलिए आज आपको मालवा के स्वर्ग यानि मांडू अथवा मांडवगढ़ की सैर पर ले चलते है . क्या कहा ? ये मालवा कहाँ है ?  तो बताते है ...भाई सब बताते है ..काहे इतनी जल्दी किये हो .....अब बताने के लिए ही तो ये पोस्ट लिखे है . तो मध्य प्रदेश भारत के कुछ प्राकृतिक सुन्दरता वाले राज्यों में से एक है . ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :यात्रा
  June 13, 2013, 12:29 am
जब कभी किसीग़ज़लकी गहराई में डूबता हूँ , या फिर किसीकब्बाली को सुनते हुए दिल झूम उठता है , या किसी भी भारतीय संगीत को सुनते हुए ढोलक - तबलेकी थाप या सितार की झंकार से दिल नाचने लगता है , तो मन उस महान आत्मा के सम्मान में अपने आप नतमस्तक हो जाता है , जिसकी पहेलियाँ बचपन में खूब ब...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :रोचक इतिहास
  June 6, 2013, 8:26 pm
नमस्कार मित्रो ,बहुत दिनों बाद आपसे से ब्लॉग पर मिलने के लिए क्षमा प्रार्थी हूँ . हुआ यूँ कि ३० जनवरी को मेरी पदस्थापना  आबकारी उप-निरीक्षक के पद पर मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में हुई . अब चूँकि नयी जगह - नया बदलाव तो था,  ही  साथ मैं अपना डेस्कटॉप यहाँ नही लाया , इसलिए ब्लॉग ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात . मनकी व्यथा
  May 27, 2013, 11:26 pm
मित्रो ,क्षमा सहित  नमस्कार ,                    आजकल  मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तैयारी में व्यस्त होने के कारण ब्लॉग जगत को समय नही दे पा रहा हूँ . परीक्षा के नए पैटर्न में प्रारंभिक परीक्षा के द्वितीय प्रश्न पत्र में  मैंने संचार कौशल टॉपिक के अंतर्गत देहभाषा (बॉ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :जानकारी
  December 17, 2012, 4:57 pm
हाईटेक नही होना चाहता , मेरा गाँव न धन-दौलत , न  सोना चाहता है मेरा गाँव  भरी बरसात में  , जब खेत होते लबालब किसी घर में प्रसव पीड़ा, सुन कांपते सब चारपाई पे रख के दौड़ते ,जब  चार कंधे कीचड़ -पानी सब भूल , भागे जाते बनके अंधे किस्मत हुई तो , सही वक़्त पे मदद देगा दूजा गाँव वरना उन्...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मेरा गाँव
  December 10, 2012, 1:07 pm
अबकी दिवाली ऐसी मनानादीयों में नहीं , दिल में भी ज्योत जलाना दूर हो मन का अँधेरा  , ऐसा हो प्रकाश बस घरों में ही नहीं , जीवन में भी हो उजासदीप मालाओं सा, प्रकाशित हो जीवन दूर हो अँधेरा , उज्जवल  हो मन  अपने ही नहीं , दूजों के जीवन में खुशियाँ लाना  अबकी दिवाली ऐसी मनानाखुशिय...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :
  November 5, 2012, 11:17 am
अभी हाल में पूरे देश में धूम धाम से रावण  का पुतला जलाया गया . समाचार पत्रों और टी ० वी० न्यूज चैनलों पर " बुराई पर अच्छाई की जीत " ," जीत गयी अच्छाई ", " हो गया बुराई का अंत "  जैसे जुमले प्रयोग हुए . लेकिन क्या सचमुच बुराई ख़त्म हो गयी ? बहुत पहले दशहरा पर एक कविता लिखी थ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :समसामयिक
  October 26, 2012, 6:40 pm
माँ हरसिद्धि नमस्कार मित्रो ,अभी पुरे देश में शारदीय नवरात्र बड़े धूम - धाम से मनाया जा रहा है , हिन्दू लोग माँ दुर्गा की उपासना  में रत है . आज मैं आप को बुंदेलखंड की एक प्रसिद्द देवी स्थल " माँ हरसिद्धि , रानगिर " के बारे में बताना चाहता हूँ .माँ हरसिद्धि स्वयं प्रकट होने के ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :पर्यावरण
  October 21, 2012, 8:56 am
नमस्कार  मित्रो ,आज एक बात आप सभी से शेयर करना चाहता हूँ , खैर हो सकता है  , आप मेरी बात बातसहमत न हो मगर मेरी बात सुनकर अपनी राय तो दे सकते है . तो मैं ये कहना चाहता हूँ , कि अक्तूबर ( क्वांर -कातिक ) माह में पैदा होने वाले लोग अधिक विशेष होते है . इसका पर्यावरणीय कारण ये है , कि ये ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :रोचक इतिहास
  October 11, 2012, 1:03 pm
 १२ सितम्बर को साहित्य अकादमी , मध्य प्रदेश संस्कृति परिषद्  भोपाल तथा  हिंदी विभाग , डॉ हरी सिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय , सागर द्वारा आयोजित ' पद्माकर समारोह ' काव्यपाठ हुआ . जिसमे कई बड़े कवि-कवियत्रियो के साथ मैंने भी अपनी कवितायेँ पढ़ी . उनमे से एक कविता आप सभी ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात
  September 27, 2012, 11:11 am
 बहुत पहले गणेश चतुर्थी के समय ये कविता लिखी थी , आज आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ . गणेश चतुर्थी के पहले लोग पंडाल सजा रहे थे लेकिन धार्मिक की जगह , फ़िल्मी गीत बजा रहे थे बंगले के पीछे कांटा लगा, बुद्धि विनायक  सुन रहे थे मानो काँटों से बचने के लिए , जाल कोई बुन रहे थे बेरी क...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की व्यथा
  September 19, 2012, 5:49 pm
भस्म आरती के लिए पंक्तिबद्ध नमस्कार मित्रो , बहुत दिनों बाद आप से रु-ब-रु हो रहा हूँ . मैं मालवा दौरे में व्यस्त रहा . इस दौरे में उज्जैन में 'इंडियन  मीडिया सेंटर ' के मध्य प्रदेश चैप्टर में शामिल हुआ . जहाँ उज्जैन के चर्चित ब्लोगर ' श्री सुरेश चिपलूनकर ' से मुलाकात हुई...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :यात्रा
  September 9, 2012, 12:30 pm
नमस्कार मित्रो ,बहुत दिनों बाद मैं आज ब्लॉग लिखने बैठा हूँ . कुछ दिन सोचा इन्टरनेट की दुनिया से दूर होकर साहित्य की दुनिया की सैर की जाये . इस लिए मैं पिछले हफ्ते हिंदी  साहित्य का व्यंग्य का सर्वश्रेष्ठ और कालजयी उपन्यास " राग दरवारी " पढने में व्यस्त था . सच पूछो तो श्र...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात
  August 22, 2012, 10:10 pm
यही तो देश का कष्ट है कि सारे नेता भ्रष्ट है राजनीती तो अब नष्ट है तब भी नेता स्वस्थ्य है वे घोटालो के अभ्यस्त है और आम जनता त्रस्त है सारे मौका परस्त हैसब अपने में मस्त है वतन कि हालत पस्त है खुशहाली अस्त-व्यस्त है यही तो देश का कष्ट है कि अब सब ध्रतराष्ट्र  है- मुकेश पाण्...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात
  August 12, 2012, 11:03 am
अले याल फिल पानी गिलने लगा ,...तू भी तो अपने पापा से छतरी मँगा !इंटर नेट पर घुमते -फिरते वारिश के कुछ खुबसूरत पल मिले तो सोचा आप सभी को भी रु-ब-रु  कराया जाये ...आइये इन पलों में हम भी भीग जाये ...छई छप्पा छई ...चलो उठो ...फिर से खेलते है छई छप्पा छई !अक्सर बच्चे ही बारिश की बूंदों का मज...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :प्रकृति
  August 7, 2012, 9:02 pm
तब बारिश हो रही थी , था शायद सावन का महिना जब भीगता देख मुझे , मुस्कुराई थी एक हसीना उसकी मुस्कराहट , दिल में हलचल मचा गई एक पल में ही न जाने , कितने सपने सजा गई पास आते उसके कदमो ने , दिल में उमंग जगाई मन ख़ुशी से झूमा , मनो उसके कदमों में दुनिया समाई कदम-दर-कदम दिल की धड़कन ते...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :लतीफेबाजी
  August 4, 2012, 5:02 pm
सभी ब्लोगेर्स साथियों को पावन रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाये . रक्षाबंधन भारतीय संस्कृति का एक अनूठा त्यौहार है . इस दिन का सभी बहनों को बड़ी बेसब्री से इन्तजार होता है . लेकिन इस बार रक्षाबंधन के दिन मैं अपनी बहन को राखी बंधवाने के बाद  उसे जब स्टेशन छोड़ने जा रहा था , त...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की व्यथा
  August 2, 2012, 12:50 pm
कुछ दोस्त मिलकर डेल्ही घूमने का प्रोग्राम बनाते है और रेलवेस्टेशन से बहार निकलकर एक टेक्सी किराए पर लेते है , उसटेक्सी का ड्राइवर बुढ्ढा सरदार था,यात्रा के दौरान बच्चो को मस्ती सुजती है औरसब दोस्त मिलकर बारी बारी सरदार पर बनेजोक्स को एकदुसरे को सुनाते हैउनका मकसद उस ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :सरदार
  July 30, 2012, 9:21 pm
जिन्दगी में कुछ छूट जाता है , जाने कहाँ होता है सब कुछ साथ, है पर दिल तनहा अतीत  की होती है , कुछ रंगीली यादें कुछ खाली पन्ने , तो कुछ अधूरे फ़लसफ़ामन करता है, कि फिर लौट चले पीछे  पर बाकी है, अभी देखना आगे का जहाँ हम तनहा ही चले थे , इस सफ़र में फिर तनहा , छूटे जाने कितने कारवां...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात . मनकी व्यथा
  July 26, 2012, 3:28 pm
नमस्कार ,मित्रो आज हम इतिहास से कुछ खोज कर बड़ी ही मजेदार चीज लाये है !अरे भाई ! इतना जल्दी क्या है ?जब खोज कर लाये है , तो आप को भी बताएँगे ही , यहाँ तो आप ही के लिए आते है न !आज हम ब्राह्मणों के बारे में कुछ ज्ञान खोज के लाये है ! हां लेकिन ये सब आपकी जानकारी के लिए है , इसमें कोई ज...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :ब्राह्मण
  July 12, 2012, 2:04 pm
हमअक्सरअपनेबड़े- बुजुर्गोसेलोकोक्तिया / कहावतें  सुनतेआयेहै, इन  कहावतोमेंजहाँरोचकता, मधुरताहोती  है, वहीइनकेसाथकोईकहानीऔरसन्देशभीछुपारहताहै .आजकलतोइनकाप्रयोगबहुतकमसुननेमेंमिलताहै. अक्सरलोगकहावतोंऔरलोकोक्तियोंकोएकहीसमझतेहै . मगरइनमेभीकुछअंतरहै . जहाँ...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :
  July 9, 2012, 7:36 pm
मित्रो ,सावन ने दस्तक ने दस्तक दे दी है , मगर मन  है  कि मानने को तैयार ही नही है ! अरे सावन ऐसे आता है ? इस बार के सावन को देख कर लग रहा है, इन्द्र के यहाँ भी यूपीए कि सरकार बन गयी है. लगता है सावन भी घोटाले का शिकार हो गया है . अब प्रणब दा सरकार में रहे नही वरना  आंकड़े पेश करते और ब...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :
  July 4, 2012, 4:59 pm
अमरकंटक में नर्मदा  कुंडनमस्कार मित्रो , आज हम चर्चा करेंगे मध्य प्रदेश की जीवनरेखा कही जाने वाली एक अति महत्पूर्ण नदी "नर्मदा " की , जिसे पुराणों मेंरेवा के नाम से जाना गया है . भारत में बहने वाली लगभग सभी नदिया विवाहित मानी जाती है , जबकि सौमोदेवी - नर्मदाही एक मात्...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात
  June 29, 2012, 2:12 pm
मित्रो नमस्कार ,मैंने अपनी पक्षी श्रृंखला के अंतर्गत भारत में पाए जाने वाले कुछ जाने -पहचाने तो कुछ अनजाने से प्यारे- प्यारे पक्षियों के बारे में बताया था . मेरी ये श्रृंखला काफी लोकप्रिय भी हुई थी . जो लोग इसे पहले नही पढ़ पाए है , वे मेरे ब्लॉग पर 'पक्षी'या' पर्यावरण 'लेबल प...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :प्रकृति
  June 22, 2012, 4:00 pm
इन लम्बे -लम्बे दरख्तों के बीच अपने को  बौना पाता हूँ  इन जिंदगियों  की खरीद-फरोख्त के बीच , अपने को खिलौना पाता हूँ कुछ हसीं चेहरों में न जाने क्यों खौफ  नज़र आता  है फैशन के नाम पर बदन  पर बस चिथड़ा नज़र आता है  दर्दनाक चीखो में अपनी मुस्कान भी छीन गयी मौत के सौदागरों के बीच...
मुकेश पाण्डेय "चन्दन"...
Tag :मन की बात
  June 20, 2012, 1:43 pm


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3889) कुल पोस्ट (190079)