POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चिकोटी

Blogger: Anshu Mali Rastogi
ख्याली पुलावपकाने में हमारा जवाब नहीं। जब दिल किया किसी न किसी मसले पर ख्याली पुलाव पकाने बैठ गए। सबसे ज्यादा ख्याली पुलाव खाली दिमागों में ही पकते हैं। कभी-कभी इतना पक जाते हैं कि जलने की बू तक आने लगती है। लेकिन पकाने वाले को जलने की बू से कोई मतलब नहीं रहता। उसे तो सि... Read more
clicks 301 View   Vote 0 Like   4:13am 31 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
किस्मतवाले होते हैं वो जिन्हें किसी का गले लगना या आंख मारना नसीब होता है। वरना इस मतलबी दुनिया में किसे फुर्सत है, किसी के गले लगने या मौका भांप आंख मारने की।उन्होंने भी तो उस रोज संसद में यही किया था, भावावेश में जाकर उनके गले ही तो लगे थे। फिर, किसी को एक आंख मार अपना रू... Read more
clicks 277 View   Vote 0 Like   3:57am 24 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
अविश्वासप्रस्ताव को गिरना ही था, गिर गया। अब तक जिद के आगे जीत सुनते आए थे, इस दफा जिद के आगे हार देख ली। हार भी कोई ऐसी-वैसी नहीं, तगड़ी वाली। लेकिन गिरने या हारने का उन्हें कोई अफसोस नहीं। वे उनके चीख-पुकार युक्त भाषण में फिलहाल अपनी जीत देखकर ही मुतमईन हैं।देश का बुद्धि... Read more
clicks 217 View   Vote 0 Like   5:03am 23 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
किसीवक़्त मुझे थूक और थूकने वालों से बहुत चिढ़ होती थी। किसी को भी थूकते देख दिमाग भन्ना जाता और दिल भीषण घृणा से भर उठता था। जी तो करता अभी उस बंदे का गिरेबान पकड़ उसके गले में जितना थूक जमा है अपनी उंगलियां डाल सब निकाल लूं। न आंगन टेढ़ा होगा। न राधा नाचेगी।मतलब हद होती है, ... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   6:08am 20 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
योंतो ऊपर वाले का दिया मेरे पास सबकुछ है, बस स्मार्टफोन ही नहीं है। ऐसा नहीं है कि मैं स्मार्टफोन खरीद नहीं सकता। खरीद सकता हूं, लेकिन खरीदता इसलिए नहीं क्योंकि स्मार्टफोन मेरे लिए 'अशुभ'है!पिछले दिनों शहर के एक ऊंचे ज्योतिष ने- मेरे ग्रहों के बर्ताव को देखते हुए- मुझे ह... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   11:40am 17 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
मैंकई दिनों से इस कोशिश में लगा हूं कि अपना लक पहनकर चल सकूं। लेकिन लक है कि मेरे खांचे में ही नहीं आ पा रहा। जबकि लक की जरूरत के मुताबिक मैंने अपना आकार-प्रकार भी घटा लिया है। बात फिर भी बन नहीं पा रही।बार-बार दिल में यही ख्याल आता है कि मेरा लक दूसरों के लक से भिन्न क्यों ... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   8:46am 13 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जीते-जीइस बात का पता लगाना बेहद मुश्किल है कि ये दुनिया, समाज और नाते-रिश्तेदार आपके बारे में क्या और कैसा सोचते हैं। ये सब जानने के लिए आपको मरना पड़ेगा। क्योंकि इंसान की सामाजिक औकात का पता उसके मरने के बाद ही लगता है।तो, एक दिन मैंने भी यही सोचा क्यों न मर ही लिया जाए। य... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   9:11am 9 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
गिरना एक स्वभाविक प्रक्रिया है। कुछ मैदान-ए-जंग में गिरते हैं तो कुछ मैदान-ए-बाजार में। गिरकर जो उठ या संभल नहीं पाते, दुनिया उन्हें बहुत जल्द भूला देती है। जैसे- शेयर बाजार के जाने कितने ही शेयर। आज उन शेयरों का अता-पता तक नहीं। एक बार गिरे तो कभी उठ ही न सके।यह भी उतना ही... Read more
clicks 211 View   Vote 0 Like   4:24am 4 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
ऐसेलोग मुझे बेहद पसंद हैं, जो बुरा मानते हैं। या कहूं, धरती पर जन्म ही उन्होंने बुरा मानने के लिए लिया होता है। वे इसी खुशफहमी में डूबे रहते हैं कि यह दुनिया टिकी ही उनकी बुरा मानने की आदत पर है। वे अगर बुरा नहीं मानेंगे तो विश्वभर की तमाम बुरी आत्माओं का भविष्य खतरे में ... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   4:15am 3 Jul 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
इनदिनों मेरे साथ कुछ भी ठीक नहीं हो रहा। कभी बनता काम बिगड़ जाता है, तो कभी सड़क चलते कोई भी लड़ लेता है। चार रोज हुए, उल्टे पैर की कन्नी उंगली में ऐसी चोट लगी कि दिन में चांद-सितारे नजर आने लगे। जैसे-तैसे उससे करार पाया तो अभी कोई मेरी फुटबॉल चुरा ले भागा। कल जेब से पांचों का न... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   7:36am 29 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
मुझेसपने नहीं आ रहे। सपनों के न आने से मैं खासा परेशान हूं। पूरा दिन इसी सोच-विचार में निकल जाता है कि आखिर क्या कारण है, जो सपनों ने मुझसे किनारा कर लिया है।सपने न आने की समस्या जब भी पत्नी या यार-दोस्तों के समक्ष रखता हूं तो यह कहकर मुझे टाल देते हैं कि 'अच्छा है जो तुम्ह... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   7:35am 28 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जिसका'डर'कम 'यकीन'ज्यादा था, वही हुआ। एक और 'राजनीतिक गठबंधन' (बीजेपी-पीडीपी) 'ब्रेकअप'की भेंट चढ़ गया। देश का बच्चा-बच्चा जानता था कि 'गठबंधन'की बुनियाद खोखली है मगर फिर भी दोनों ने निभाने की जिद पकड़ रखी थी। गठबंधन में ऐसी 'जिदें'भला कहां कामयाब हुई हैं! इतिहास उठाकर देख लीजि... Read more
clicks 169 View   Vote 0 Like   4:09am 26 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
कई दिनोंसे मैं समाज को सुधारने की सोच रहा हूं! न न आप गलत समझ रहे हैं। मैं समाज को समाज के बीच जाकर नहीं, अपने लेखन के दम पर सुधराना चाहता हूं। समाज के लिए कुछ सुधार-पूर्ण लिखना चाहता हूं। समाज को बताना चाहता हूं कि वो ये-ये उपाय कर खुद को कैसे और किस हद तक सुधार सकता है।हाला... Read more
clicks 211 View   Vote 0 Like   5:51am 22 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
अगरवो बताते नहीं तो हमें भी कहां पता नहीं चल पाता कि महाभारत काल में भी 'इंटरनेट का अस्तित्व'था! मैं समझ नहीं पा रहा महाभारत के रचयिता और सीरियल बनाने वालों ने हमसे इस 'महत्त्वपूर्ण रहस्य'को छिपाए क्यों रखा? महाभारत काल में 'इंटरनेट'का होना कोई छोटी-मोटी घटना नहीं थी। यह ... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   4:01am 11 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जीवनमें सफलता का रास्ता अच्छा पढ़ने या अच्छा करियर बनाने से ही नहीं निकलता, 'पाथ ब्रेकिंग'से भी निकलता है। 'पाथ ब्रेकिंग'की अवधारणा को काफी हद तक स्वरा भास्कर ने साबित भी किया है। खुलकर बताया कि मनुष्य के 'चरम सुख'का सुख 'पाथ ब्रेकिंग'में ही निहित है। हालांकि हमारा ऊपर से '... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   7:06am 9 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
डांसहर कोई नहीं कर सकता। न डांस हर किसी को कराया जा सकता है। जो डांस नहीं कर सकते, उन्हें आंगन हर वक्त टेढ़ा ही नजर आता है। लेकिन विदिशा (मध्य प्रदेश) वाले फूफा जी ऐसे नहीं हैं। वे शादी में आए अन्य फूफओं से बहुत अलग हैं। आजकल तो अपने 'अद्भुत डांस'के चलते पूरी दुनिया में वायर... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   8:22am 8 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जबभी किसी को बिकते देखता हूं तो खास आश्चर्य नहीं होता। सोचता हूं, अगले में बिकने का गुण रहा होगा, इसीलिए तो बिका। वरना, इस घोर प्रतिस्पर्धा के समय में बिकना-बिकाना इतना आसान कहां।मैं तो जब आईपीएल के खिलाड़ियों को बिकते देखता हूं तो यह हौसला मन में जगा रहता है कि बिकना इतन... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   6:24am 7 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
पिछलेदिनों एक सज्जन के घर ठहरने का मौका मिला। सज्जन की सज्जनता तब बहुत भा गई, जब रात को सोने से पहले ही उन्होंने मुझे बता दिया कि उनकी खटिया और बिस्तर में खटमल हैं! खटमल का नाम सुनते ही मेरा मन प्रसन्न हो उठा। मैंने उन्हें खटमल वाली खटिया और बिस्तर पर मुझे सुलाने के लिए त... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   7:59am 5 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
मेरेशुभचिंतक अक्सर मुझे यह सलाह देते हैं कि मैं अपने लेखन पर आत्मचिंतन करूं! उनका मानना है कि निरंतर आत्मचिंतन से मैं अपने लेखन को और भी निखार सकता हूं।उनकी सलाह सिर-आंखों पर। ऐसा तो हो ही नहीं सकता कि मेरे शुभचिंतक मुझे सलाह दें और मैं न मानूं। मैंने धरती पर जन्म ही अप... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   6:41am 1 Jun 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
एकसर्वे में एंवाई 14 शहरों को बदनाम कर डाला कि वो 'गंदे'हैं। शहर भला गंदे क्यों होने लगे! शहरों ने खुद को थोड़े न गंदा किया है। शहर तो गंदे इंसानों ने मिलकर किए हैं। सड़क से लेकर हवा-पानी तक को इतना दूषित कर दिया कि रहना तो छोड़िए, सांस लेना तक मुश्किल। शहरों की गंदगी जब खुद से स... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   9:34am 31 May 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
कुछ लोग धरती पर जन्म सिर्फ विरोध करने के लिए लेते हैं। विरोध क्यों कर रहे हैं? किसलिए कर रहे हैं? इससे उन्हें खास कोई मतलब नहीं रहता। उन्हें विरोध करना है तो करना है।आप यह न समझिएगा कि वे विरोधी स्वभाव के होते हैं। न न ऐसा उनके साथ कुछ नहीं होता। विरोध तो वे इसलिए जताते रह... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   8:18am 30 May 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
जबभी फुर्सत पाती है, मंटो की 'आत्मा'मेरे पास चली आती है। हालांकि मंटो को गुजरे पचास साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है मगर उसकी आत्मा में खास बदलाव नहीं आया है। वो दुनिया-समाज से तब भी नाराज थी, आज भी उतनी ही नाराज है। नाराज हो भी क्यों न! जिस समाज ने हमेशा उसे 'पागल'और उसके लि... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   4:14am 16 May 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
मनुष्यबड़ा ही डरपोक किस्म का प्राणी है। किसी न किसी बात पर हर वक्त डरा-सहमा सा रहता है। लेकिन 'डर के आगे जीत'होने का दावा भी करता है। हालांकि इस तरह के दावे विज्ञापनों में ही किए जाते, वास्तव में जब डर सामने होता है, तब सारी जीत दस्त बनकर निकल जाती है।फिलहाल, इन दिनों मनुष्य... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   4:35am 10 May 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
बातबहुत बड़ी नहीं, बस इतनी-सी है। कि, सरकार लाल किले की देख-भाल का जिम्मा एक निजी ग्रुप को सौंप रही है। तो क्या...! सौंपने दीजिए न। जब खुद से नहीं संभल-संवर पा रहा तो निजी ग्रुप ही देखे। इस बहाने लाल किला लाल किला तो नजर आएगा। निजी ग्रुप उसकी साफ-सफाई तो करता रहेगा। रंगाई-पुता... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   4:19am 2 May 2018 #
Blogger: Anshu Mali Rastogi
उनकेउपवास को उपहास का केंद्र खामखां बनाया गया। जबकि ऐसा किसी इतिहास या कानून की किताब में नहीं लिखा है कि उपवास मतलब नितांत 'भूखा'रहना। पहले या बीच-बीच में थोड़ी-बहुत टूंगा-टांगी चलती है। बंदा उपवास कर रहा है, कोई अपनी जान देने थोड़े न बैठा है। जीवन अनमोल है।सोशल मीडिया त... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   4:01am 26 Apr 2018 #

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4011) कुल पोस्ट (192140)